Showing posts with label व्यापार. Show all posts
Showing posts with label व्यापार. Show all posts

Monday, January 27, 2020

फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगी ग्रेसिम नागदा से प्रदूषित चंबल नदी के पानी की जांच

फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगी ग्रेसिम नागदा से प्रदूषित चंबल नदी के पानी की जांच







TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
नागदा, 27 जनवरी की बड़ी खबर अधिमान्य पत्रकार कैलाश सनोलिया जी से मिली जानकारी के अनुसार, मशहूर बिड़ला घराना के उज्जैन जिले के नागदा स्थित ग्रेसिम उद्योग के प्रदूषण का मामला अब भारत को लांघकर सात समुंदर पार पेरिस तक जा पहुुंच है। समूचे विश्व के लोग अब प्रदूषण से प्रभावित लोगों के जीवन की कहानी को देख सकेंगे ओर पढेंगे भी।

दरअसल, ग्रेसिम उद्योग से प्रदूषित चंबल नदी के पानी की जांच अब फ्रांस की राजधानी पेरिस की प्रयोगशाला में होगी। साथ ही प्रदूषित पानी से जूझ रहे लोगों के जीवन पर एक डाक्यूमेटरी फिल्म भी बनेगी। चंबल में घुल रहे रसायनों से ग्रेसिम पर केंद्रित एक पुस्तका का भी प्रकाशन होगा। इस कार्य के लिए विश्व प्रसिद्ध फ्रांस निवासी पत्रकार एडवर्ड पैरीन के नेतृत्व में विदेशी  पत्रकारों का दल नागदा पहुंचा था और सारी जानकारियों को जुटाकर दल सोमवार को इंदौर से पेरिस के लिए हवाई यात्रा से रवाना हो गया।

फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगी ग्रेसिम नागदा से प्रदूषित चंबल नदी के पानी की जांच


इस दल ने पांच दिनों तक गुपचुप से अपने कार्य को अंजाम दिया। पेरिस रवाना होने से पहले समाचार एजेंसी  से बातचीत में पत्रकार एडवर्ड पैरीन ने बताया कि गांव परमार खेड़ी के समीप से चंबल नदी के पानी का नमूना ले लिया गया है। साथ ही बीमारियों से प्रभावित दर्जनों लोगों की वीडियो शूटिंग का कार्य पूरा कर लिया गया है। लगभग तीन चिकित्सकों के साक्षात्कार भी लिए गए हैं और प्रदूषण से संबधित कई दस्तावेजों को जुटाया गया है।
कैसे नागदा आए विदेशी पत्रकार
  
नागदा के पत्रकार द्वारा ग्रेसिम से प्रदूषित पानी को लेकर कई स्टोरियों को राष्ट्रीय स्तर पर रिलीज किया गया था। इन खबरों के बाद पैरिस के पत्रकार एडवर्ड ने सीधे श्री सनोलिया से दूरभाष पर बातचीत की। तकरीबन 2 माह तक दोनों के बीच चर्चा का आदान-प्रदान हुआ। उसके बाद नागदा आने का कार्यक्रम तय हुआ। इस कार्य में इंडिया टूडे व आउट लुक पत्रिका में लेखनी चलाने वाले पत्रकार अनुपदत्ता भी सहभागी बने।

फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगी ग्रेसिम नागदा से प्रदूषित चंबल नदी के पानी की जांच

गंदा नाला अब दिखेगा डाक्यूमेटरी में

पत्रकार दल ने गांव पारदी, परमार खेड़ी एवं नागदा शहर मेें प्रदूषण से प्रभावित बीमार लोगों से साक्ष्य जुटाए हैं। उनसे बातचीत तो की साथ ही उनकी बीमारी से संबधित दस्तावेजों का भी अवलोकन किया। ग्रेसिम उद्योग से लगातार 24 घंटे जो नाला चंबल नदी में मिल रहा है , उसकों भी अपने कैमरों में कैंद किया। 

मौत के शिकार लोगों से बातचीत

ग्रेसिम उद्योग मेें दुर्घटना आदि से मौत के शिकार लोगों से दल के लोगों ने बातचीत की। न्यायालयों में प्रबंधन के खिलाफ  चल रहे प्रकरणों के दस्तावेज भी जुटाए गए हैं।

कौन है पत्रकार एडवर्ड

पत्रकार एडवर्ड ने अपनी पत्रकारिता से कई घोटालों का भंडाफोड़ किया है। एक विश्व प्रसिद्ध घोटाला उजागर करने के बाद वे प्रताडऩा के शिकार भी हुए थे। लेकिन कोर्ट से सही पाए गए। उसके बाद एडवर्ड का नाम दुनिया में जाना जाने लगा। इस पूरी कहानी को श्री सनोलिया के समक्ष पत्रकार एडवर्ड ने बयां किया।

फ्रांस की राजधानी पेरिस में होगी ग्रेसिम नागदा से प्रदूषित चंबल नदी के पानी की जांच

एक हजार पेज के दस्तावेज का अवलोकन

इस पूरी कहानी में मप प्रदूषण बोर्ड से सूचना अधिकार में उपलब्ध लगभग एक हजार दस्तावेज का सहारा भी पत्रकारों के दल ने लिया। इन दस्तावेजों में ग्रेसिम के खिलाफ  एनजीटी की रिपोर्ट, आदि शामिल है।

मशीन भी पहुंची नागदा

वातावरण की हवा को संचित  करने के लिए विदेशी तकनीकी से बनी एक मशीन भी कोरियर से यहां पहुुुची थी, जो कि श्री सनोलिया के नाम से पेरिस से यहां आई थी। बताया जा रहा है कि इस मशीन की यह विशेषता है कि वातावरण की हवा को अपने अंदर एकत्रित करती है। इस हवा में प्रदूषण की मात्रा को नापा जा सकता है।

आदित्य बिड़ला की महान एल्युमिनियम प्लांट (हिंडाल्को) बरगवां (सिंगरौली) द्वारा मौखिक आश्वासन के बाद आंदोलन कराया गया समाप्त या गंभीर षणयंत्र

आदित्य बिड़ला की महान एल्युमिनियम प्लांट (हिंडाल्को) बरगवां (सिंगरौली) द्वारा मौखिक आश्वासन के बाद आंदोलन कराया गया समाप्त या गंभीर षणयंत्र

TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 
सिंगरौली. आखिर कार एक बार फिर यह साबित हो ही गया कि ईस्ट इंडिया कम्पनी की नीति से देश वासियों पर राज किया जाना आसान हैं | जिसे चरितार्थ किया गया बरगवां विस्थापितों के विरुद्ध | जिस प्रकार से हिंडाल्को विस्थापितों द्वारा किये जा रहे भूख हड़ताल को सरे आम रौंदा गया हैं | 
उससे यह तो साबित होता नजर आ रहा हैं कि हम कम से कम एक बार और किसी न किसी ईस्ट इंडिया कम्पनी की नीति पर चलने वाली कम्पनी के गुलाम आवश्य ही होंगे | जिसका आगाज आज मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिला के बरगवां स्थित हिंडाल्को द्वारा किया जा चुका है | जिसके मुख दर्शन स्थानीय जनप्रतिनिधि, जिला प्रशासन व हमारी ही दोनों राज्य व केंद्र सरकारें ही हैं | बड़े बुजुर्ग का यह कहना कि इतिहास एक बार पुनः जरूर दोहराता ही हैं | यह साबित होने की एक छोटी सी पहल कहना कही से गलत न होगा | 

एक बार फिर आश्वासन का हुआ खेल 

गौरतलब है कि जिस प्रकार हिंडाल्को विस्थापितों द्वारा किये जा रहे भूख हड़ताल को मात्र मौखिक आश्वासन के साथ समाप्त करवाने में सफलता प्राप्त किया गया | जिससे यह तो तय माना जा रहा कि एक बार फिर आश्वासन की जीत हुआ हैं | और विस्थापितों की हार | आखिर इसका जिम्मेदार कौन, कौन बताएगा ???? 

क्या हिंडाल्को प्रबंधक विस्थापितों की समस्याये निपटायेगा या होगा एक और गंदा खेल

आश्वासन पे आश्वासन के बीच यह सवाल का उठना लाजमी होता दिख रहा हैं कि क्या हिंडाल्को प्रबंधक विस्थापितों की समस्याये निपटा पायेगा या यह खेल निरंतर जारी रहने के आसार लगातार होता रहेगा | क्योंकि जिस प्रकार आज हिंडाल्को प्रबंधक व जिला प्रशासन द्वारा मात्र मौखिक आश्वासन के साथ विस्थापितों के साथ खेला गया गंदा खेल से यह तो साफ हैं कि हिंडाल्को अभी भी विस्थापितों की मांगों को पूरा करने के मूड़ में नही हैं | फिर यह आश्वासन किस काम का यह कौन बताएगा ???

क्या प्रशासन, जनप्रतिनिधि विस्थापितों का हक दिलापाएंगे या फिर होगा कई और आश्वासन

जिस प्रकार उक्त भूख हड़ताल को मात्र मौखिक आश्वासन के साथ डरा-धमका कर समाप्त करने में सफलता प्राप्त किया गया हैं | इससे यह सवाल उत्पन्य जरूर होता नजर आ रहा हैं कि क्या जिला प्रशासन व स्थानीय जनप्रतिनिधि विस्थापितों को न्याय दिला पाएंगे या कई और आश्वासन दिलाने में होंगे सफल यह कौन बतायेगा???

आखिर किस कमी से एक और आश्वासन के साथ समाप्त हुआ विस्थापितों का भूख हड़ताल 

स्थानीय विस्थापितों की माने तो अनुभव की कमी व खुद की राजनीति चमकाने में कई बार कोशिश करने में लगे रहे नारायण दास विश्वकर्मा द्वारा उक्त भूख हड़ताल के माध्यम से विस्थापितों का बनाया गया एक भद्दा मजाक, जिसका जीता जागता सबूत यह हैं कि खुद की राजनीति रोटी सेंकने दिनांक 26/01/2020 को शाम से ही स्थानीय विस्थापितों को बहकाने / भड़काने व्हाट्सएप पर एक संदेश वायरल कर दिया गया | जिसमें यह बताया गया कि -

 आवश्यक सूचना 

आज दिनांक 26/01/2020 दिन रविवार को भी  39 सूत्रीय मांगो को लेकर धरना प्रदर्शन एवं भूख हड़ताल लगातार जारी है, इसके निराकरण के सम्बन्ध में सूचना प्राप्त हुई है कि कल दिनांक 27/01/2020 को माननीय जिला कलेक्टर एवं उपखण्ड अधिकारी देवसर निराकरण हेतु हिंन्डाल्को 1 नं. गेट पर उपस्थित होने वाले हैं, जिसमें आप सभी श्रमिक एवं  विस्थापित अपने-अपने विस्थापित कार्ड ,गेट पास एवं समस्त जरुरी दस्तावेज कल सुबह ही अपने साथ में  लेकर उपस्थित होवें। 
                   मीडिया सेल 

महान विस्थापित एवं श्रमिक संघ सिंगरौली मध्य प्रदेश 

जसके बाद स्थानीय विस्थापितों द्वारा उग्र हो स्वयं का आपा खो हिंडाल्को गेट नंबर 1 को बंद करने उकसाया भी गया | गमिनियत यह रही कि सिंगरौली पुलिस प्रशासन हमेशा की भांति मुस्तैद नजर आई | जिससे वहां कोई अप्रिय घटना नही घटी वरना स्थिति कुछ और भी हो सकती थी | जिसकी पूरी जिम्मेदारी उक्त भूख हड़ताल को संचालित करने वाले नारायण दास की ही माना जाना कही से भी गलत नही माना जा सकता | 

उक्त हड़ताल संचालनकर्ता ने लगाए सी.एस.आर. प्रमुख यशवंत कुमार पर गम्भीर आरोप

वही उक्त भूख हड़ताल को संचालित करने वाले नारायण दास की माने तो उक्त भूख हड़ताल को कुचलने कम्पनी के सी0एस0आर0 प्रमुख यशवंत कुमार हिंडाल्को के विश्वस्थ कर्मचारियों को भी उक्त भूख हड़ताल में सम्लित करवा व हमला करवाने लाठीयो के कई गड्ढे भी तैयार किये गए थे | जिससे उक्त भूख हड़ताल को आज के आज कुचला जा सके | और ऐसा हुआ भी | जिससे यह तो स्पस्ट हैं कि जिस प्रकार हिंडाल्को विस्थापितों की आवाज को कुचला जा रहा है | कभी ईस्ट इंडिया कम्पनी भी देशवाशियों की आवाज कुचला करती थी | तब हम गुलाम हुए होंगे | और ऐसी आशंकाएं हैं कि जल्द से जल्द एक बार फिर हम गुलाम अवश्य ही होने वाले हैं |

Sunday, January 26, 2020

ईस्ट इंडिया कम्पनी की भांति आदित्य बिड़ला की महान एल्युमिनियम प्लांट (हिंडाल्को) बरगवां (सिंगरौली) द्वारा स्थानीय विस्थापियों को गुलाम बनाने की पहल हुई तेज

आदित्य बिड़ला की महान एल्युमिनियम प्लांट (हिंडाल्को) बरगवां (सिंगरौली) द्वारा स्थानीय विस्थापियों को गुलाम बनाने की पहल हुई तेज 

TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 
सिंगरौली . गौरतलब है कि देश के तमाम नागरिकों द्वारा देश की आजादी का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाना हर देशवासियों का अधिकार भी है और जिम्मेदारी भी, जिसे बड़े हर्सोल्लास से मनाया भी जाता हैं | परन्तु अगर इसके और पीछे चले तो कोई यह नही बता पाता कि आखिर-कार हम गुलाम ही किन कारणों से हुए थे | आखिर वो कौन सी मनहूस घड़ी थी जब ईस्ट इंडिया कम्पनी देश मे पहली बार कदम रखा था | और वो कौन सा कारण था | जिस वजह से ईस्ट इंडिया कम्पनी देश मे कदम जमाया था | 
आखिर कभी न कभी कही न कही ईस्ट इंडिया कम्पनी देश मे पहली बार ठीक वैसे ही आई होगी जैसे आज देश के कई विभिन्न स्थानों में गैर सरकारी कंपनियों द्वारा वहां के स्थानीय विस्तापितों के खेत खलियान, जमीन, घर ले कर उन्हें छोड़ देते है भूखों मरने को ठीक वैसे ही जैसे आज ईस्ट इंडिया से तर्ज पर कई गैर सरकारी कंपनियां जो देश के कई विभिन्न स्थानों में स्थापित हो वहां के स्थानीय विस्तापितों के साथ अन्याय, व अत्याचार करने के अलावा कुछ और नही करती हैं | वैसे तो देश के तमाम स्थानों में यह देखने को मिल ही जाता हैं | जिसमे मुख्य रूप हम सिर्फ मध्य प्रदेश के सिंगरौली जिला में स्थित बरगवां में आदित्य बिड़ला के महान एल्युमिनियम प्लांट (हिंडाल्को) की ही बात किया जाए तो उसके अधिकारी - कर्मचारी किसी ईस्ट इंडिया कम्पनी के अधिकारियों के ही भांति खुद को समझ वहां के विस्तापितों के साथ अन्याय व अत्याचार करने में कम नही आका जा सकता |

देश के गणतंत्र पर्व में भी विस्थापित भूख हड़ताल में

जी हां हम बात कर रहे हैं बरगवां में स्थित हिंडाल्को की | जंहा पूरा देश पूरे हर्सोल्लास के साथ गणतंत्र दिवस का पर्व मनाकर एक - दूसरे को खुसिया ब्यप्त करते नजर आए, वही बरगवां स्थित हिंडाल्को के स्थानीय विस्तापितों द्वारा गणतंत्र दिवस के पर्व पर भी खुद की खेत, खलिहान और जमीन, घर सब कुछ दे भूखों मरने की कगार में जीवन ब्यतीत कर कम्पनी के गेट नम्बर 1 के सामने भूख हड़ताल करने को मजबूर हैं | जो दिनांक 17/01/2020 से धरना प्रदर्शन व हड़ताल करते आ रहे | जो दिनांक 21/01/2020 से लगातार भूख हड़ताल में तब्दील हो चुका हैं | भूख हड़ताल में 8 विस्थापितों राजेन्दर प्रसाद साकेत, विजय साकेत, राम केश साकेत, त्रिलोकी नाथ साहू, हरि प्रसाद साकेत, संतालिया देवी विश्कर्मा, बीरमति पाल, धनाऊ साकेत सहित 5 पुरुष व 3 महिला भूख हड़ताल में सम्लित रहे | मजाल हैं कि सिंगरौली शासन - प्रशासन या कम्पनी प्रबंधन या देश के चौथे स्तम्भ कहे जाने वालों के सशक्त प्रहरी व सिंगरौली जिला मीडिया बंधु (कुछ को छोड़ कर) इतना सब होने के बाद भी किसी ने उक्त मामले को देश को दिखाने की जरूरत भी की हो|

प्रशासन एवं कम्पनी के बीच हुये अनुबन्ध पर अमल नही

विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार जब कम्पनी स्थापित होने से पहले प्रशासन से जो अनुबंध हुआ था | उसको आज तक हिंडाल्को के अधिकारियों - कर्मचारियों द्वारा मानने को भी तैयार नजर नही आ रहे | जबकि प्रशासन व कम्पनी के बीच हुये अनुबंधों के अनुसार स्थानीय विस्तापितों को व उनके बच्चों को भी रोजगार मुहैया कराना, उन्हें अन्यत्र वसाने और उनके जीवन यापन करने के सभी जरूरतों को मुहैया कराने का अनुबंध मात्र कागजों तक ही सीमित रह गई | जो अब वो भी कही धूल खाती नजर आ रही हैं | जबकि प्रशासन और कम्पनी के बीच हुई अनुबंध के अनुसार मुख्य रूप से विस्तापितों को स्वस्थ, शिक्षा, सड़क, बिजली, पानी, स्वरोजगार और नौकरी सम्लित हैं | हिंडाल्को कम्पनी से मुख्य रूप से क्रयन्वित गावँ बरगवां, बरहवाटोला, ओडगडी, गिधेर, धौडर और बरैनिया सम्लित हैं | जिनके विस्तापितों के विकास का दायित्व भी इन्ही कम्पनी के अंतर्गत आता हैं | परन्तु जमीनी हकीकत काल के गाल में समाने जैसा ही हैं |

बार - बार आंदोलनों के बाद भी स्थित और बनी बिकराल

विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार हिंडाल्को के स्थापना से लेकर अब तक विस्तापितों के साथ हो रहे अन्याय व अत्याचार को देखते हुए जिले के कई राजनैतिक संघठनों व राजनैतिक पार्टियों द्वारा भी अनगिनत बार धरना प्रदर्शन किया गया | पर स्थानीय विस्तापितों की स्थित और बिकराल रूप लेता गया |

कम्पनी में नौकरी में गड़बड़ झाला

विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार कम्पनी में अगर किसी भी स्थानीय लोगों को नौकरी मिली हैं तो उसके पीछे रोजगार पाने वालों की काबिलियत को न देखते हुए उनके द्वारा कितना पहचान की ताकत को ज्यादा तवज्जो दिया गया | जिससे जिनकी भी खेत, खलियान या जमीन, घर को कम्पनी ने लिया हैं उन्हें या तो सम्मान का नौकरी नही दिया गया या उनके बच्चों को यह कह कर नही दिया गया कि वो अभी वालिक नही | हैरत तो यह हैं कि जब कम्पनी स्थापित हो रही थी तब के 15 या 17 वर्ष के नौजवान अभी तक वालिक (18 वर्ष ) के नही हो पाए हैं | जिससे यह कहना कि कम्पनी में रोजगार देते वक्त गड़बड़ झाला का किया जाना कहीं से भी गलत नही माना जा सकता |

सी0एस0आर0 (सामाजिक दायित्व) में घोटाले ही घोटाले

विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार कम्पनी के सी0एस0आर0 में लगभग 3 - 4 करोड़ का फंड क्षेत्र के विकास के लिए आना बताया जा रहा हैं लेकिन जब पत्रकार की बात कुछ महीने पहले सी0एस0आर0 प्रमुख यसवंत कुमार से हुई तब उनके द्वारा बताया गया कि क्षेत्र के विकास के लिए कम्पनी द्वारा मात्र 1 करोड़ ही मिलते हैं जिसमें कम्पनी के अंदर खुद कम्पनी के खर्च से ले कर क्षेत्र के विकास तक सम्लित हैं | परन्तु कम्पनी का ही खुद का इतना खर्च हो जाता हैं कि क्षेत्र के विकास के बारे में सोचना बहुत दुश्वार हो जाता हैं फिर भी कोई माई का लाल नही जो इतने कम फंड में यसवंत कुमार जैसा मैनेजमेंट कर सके | यशवंत कुमार का कहना हैं कि जितना क्षेत्र का विकास वो करते हैं इतने फंड में, उतना विकास कही कोई भी नही किया होगा | यशवंत कुमार के यह दावे कितना सच हैं यह तो कम्पनी प्रबंधन ही बता सकते हैं | पर जिस तहजिज से कम्पनी के सी0एस0आर0 प्रमुख यशवंत कुमार द्वारा पत्रकार को वयान दिया गया ऐसा लगता हैं पत्रकार का खुद का अनुभव यह कहता हैं कि इस तरह का तहजिज कोई गली का गुंडा या मवाली ही इस तरह का ब्यवहार किसी पत्रकार से करता होगा |

Saturday, January 11, 2020

बिरलाग्राम को नागदा सिटी से जोडने वाले रास्ते पर लग जाता हैं जाम

बिरलाग्राम को नागदा सिटी से जोडने वाले रास्ते पर लग जाता हैं जाम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
ग्रेसिम इंडस्ट्री में मालगाड़ी द्वारा कोयले का रैक आता हैं तो लगता हैं जाम
नागदा के ग्रामीण क्षेत्र व बिरला ग्राम को नागदा सिटी से जोड़ने वाले मार्ग में जाम लग जाता जिसकी वजह से निकलने वाले राहगीरो को परेशानीयो का सामना करना पड़ता हैं। नागदा के सबसे बड़े उधोग ग्रेसिम इंडस्ट्रीज में कोयले का रैक पहुँचता हैं तो वहा से निकले वाले राहगीरों को घंटो जाम में खड़े रहना पड़ता हैं।
आपको बता दे कि इस मार्ग पर सरकारी अस्पताल से जनसेवा अस्पताल मरीजो को रेफर किया जाता हैं । निकलने वाले कोयले के रैक से लगेने वाले जाम से एम्बुलेंस तक रुक जाती हैं और मरीज की जान तक जाने का खतरा बना रहता हैं दूसरी ओर उद्योगों से निकलने वाले बड़े वाहनो से लोगो की जान का खतरा बना रहता हैं

प्रशासन का इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नही है उधोगों के अधिकारियों का मोन रहना किसी बड़ी घटना होने को चुनोती देता दिखाई दे रहा है

Tuesday, January 7, 2020

शहर में हर तरफ जहरीला रसायन, प्रदुषण विभाग का उच्चस्तरीय दिल्ली जांच दल नागदा पहुॅंचा, प्रदुषण देख टीम के होश उड़े

शहर में हर तरफ जहरीला रसायन, प्रदुषण विभाग का उच्चस्तरीय दिल्ली जांच दल नागदा पहुॅंचा, प्रदुषण देख टीम के होश उड़े

TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
उज्जैन/नागदा । नागदा के उद्योगों का प्रदुषण का मामला लोकसभा में उठने के बाद सोमवार को प्रदुषण विभाग का उच्चस्तरीय जांच दल नागदा पहुॅंचा। जांच दल में प्रदुषण विभाग की दिल्ली टीम के अधिकारियों के अलावा भोपाल व उज्जैन के विभाग के अधिकारी भी शामिल थे। पहले दिन जांच दल ने औद्योगिक इकाईयों का निरीक्षण किया। मंगलवार को उनके नदी क्षेत्र व अन्य स्थानों पर पहुॅंचे जाने की जानकारी मिली है। जांचदल इस दौरान विभिन्न स्थानों से नदी, जल, मिट्टी आदि के नमुने भी प्राप्त करेगा। 

जांच समिति द्वारा पुनः की जायेगी प्रदूषण की जांच

मध्यप्रदेश शासन के समक्ष नागदा शहर में गंभीर जल, वायु एवं भूमि प्रदूषण तथा गंभीर अनियमितता की जांच हेतु विभिन्न विभागो के अधिकारियों से गठित जांच समिति द्वारा जांच की जा रही थी। उक्त जांच मुझ शिकायतकर्ता को बिना बताये की जा रही थी जिस पर माननीय जिला कलेक्टर एवं दंडाधिकारी महोदय उज्जैन, अनुविभागीय दंडाधिकारी नागदा एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष को मेरे द्वारा आपत्ति दर्ज करवाई गई थी जिस पर संज्ञान लेने के पश्चात् नागदा तहसीलदार द्वारा मुझे दोपहर में जांच समिति के समक्ष अपना पक्ष रखने हेतु बुलाया गया था और मेरा पक्ष रखने के पश्चात् जांच समिति द्वारा मेरे बताए गए बिंदुओं से पानी और मिट्टी के सैंपल लेने सहित अन्य बिंदुओं पर कार्यवाही हेतु निर्देश समिति को दिए गए है और जांच दल द्वारा कल से पुनः नए सिरे से मेरी शिकायत के आधार पर जांच की जायेगी। नागदा तहसीलदार अंजू जैन द्वारा इस बात की पुष्टि की गई है कि 9 सदस्यों की यह जांच समिति मेरी शिकायत पर ही आई है और मेरी शिकायत के 10 बिंदुओं पर उक्त समिति द्वारा प्रतिवेदन शासन को प्रस्तुत किया जाएगा।
दुसरी तरफ प्रदुषण को लेकर नागदा में जांचदल के आने तथा उनके यहाॅं पहुॅंचने की पूर्व सूचना उद्योगों को होने की जानकारी लोगों के मुॅंह से सुनने को मिली है। बताया जा रहा है कि उच्च स्तरीय दल के इस निरीक्षण को लेकर उद्योगों ने भी दो दिन पहले से ही अपनी व्यवस्थाऐं जमाना शुरू कर दी थी।
प्रमुख उद्योगों में जहाॅं उत्पादन प्रक्रिया को घटाया गया है वहीं प्रदुषण फैलाने से जुडे आरोपों में घीरे केमिकल उद्योगों ने भी अपने प्रतिष्ठानों के भीतर उन सभी कमीयों को ढकने की कोशिश की जो जांचदल की पकड में आने पर उद्योगों की परेशानी का कारण बन सकती थी। जांच दल ने उद्योगों के भीतर क्या और किस तरह का निरीक्षण पहले दिन किया इस बात की जानकारी तो नहीं मिल सकी है ना ही इस टीम में शामिल किसी भी छोटे स्तर के अधिकारी ने अपना मुॅंह खोला है। सर्कीट हाउस पर शाम को जिले के प्रदुषण अधिकारी श्री द्विवेदी सेे पत्रकारों ने निरीक्षण संबंधी कार्रवाई को लेकर बातें जाननी चाही लेकिन वह गोलमोल जवाब देते हुए दिखाई दिए।
शहर में हर तरफ जहरीला रसायन, प्रदुषण विभाग का उच्चस्तरीय दिल्ली जांच दल नागदा पहुॅंचा, प्रदुषण देख टीम के होश उड़े

शहर में हर तरफ गडा हुआ है जहरीला रसायन

सर्कीट हाउस पर ही वर्धमान क्षेत्र स्थित एक मकान के भीतर हजारडस्ट तथा अन्य केमिकल गाडे जाने की शिकायत लेकर एक व्यक्ति प्रदुषण अधिकारी श्री द्विवेदी के सामने जा पहुॅंचा। उसने मामले की शिकायत स्थानिय कार्यालय तथा एसडीएम को किए जाने की जानकारी श्री द्विवेदी को की तथा इस संबंध में हुई कार्रवाई का ब्यौरा मांगा तो श्री द्विवेदी इस पर कोई जवाब नहीं दे पाए। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में इस बात का उल्लेख किया है लैंक्सेस उद्योग द्वारा वर्धमान काॅलोनी स्थित गुलमोहर सदन जो उनके आधिपत्य व स्वामित्व की जगह है के भीतर गड्डे खोदकर हजारडस्ट वेस्ट अन्य घातक केमिकल कई दिनों तक रात्रि में यहाॅं लाकर दफनाऐ हैं। 
उद्योग के कर्मचारियों ने जिन गड्डों में केमिकल दबाया है उन पर मिट्टी आदि डालकर पुनः भूमि को व्यवस्थित करते हुए बगदीचे का निर्माण कर दिया गया है। शिकायतकर्ता ने शिकायत के साथ गड्डे खोदकर रसायन गाडे जाने से जुडे चित्र भी अधिकारियों को उपलब्ध करवाऐं है। रसायन गाडे जाने से क्षेत्र का भूमिगत जल पुरी तरह से प्रदुषित हो चुका है साथ ही उक्त रसायन अब रिसकर चंबल नदी में भी जाने लगा है जिससे पेयजल स्त्रोत भी प्रदुषित हो गया है। 

कार्बन उगलने वाले उद्योग पर कार्रवाई कब

एक और पुरा विश्व कार्बन उत्सर्जन को लेकर चिंतित है वहीं दूसरी और नगर में कार्बनिक पदार्थो का उपयोग कर विभिन्न रसायन बनाने वाला एक उद्योग क्लीयरेंट यहाॅं दबे-छीपे तरीके से हजारों टन कार्बनिक पदार्थो से फायबर को रंगने के उपयोग में आने वाली श्याही का निर्माण कर रहा है। बताया जाता है कि उद्योग में उत्पादन प्रक्रिया में अत्यधिक कार्बन का उपयोग होता है जिसके चलते क्षेत्र का वातावरण गंभीर रूप से प्रदुषित हो चुका है 
तथा यहाॅं के हवा में कार्बन के अंश निर्धारित मापदण्ड से कई गुना अधिक पहुॅंच गए हैं। प्रदुषण विभाग द्वारा जो माॅनीटर कार्बन मापने हेतु लगाए गए है उन्हें भी उद्योग के इशारों पर एक निर्धारित मात्रा पर सेट कर दिया गया है जिससे वास्तविक रिर्पोट भी शासन को नहीं पहुॅंच पा रही है। क्षेत्र के नागरिकों के स्वास्थ्य पर क्लीयरेंट उद्योग के चलते गंभीर बिमारियाॅं हो रही है। जिसकी जांच भी आए जांचदल को करना चाहिए। 

Thursday, November 28, 2019

हायटेक & नई टेक्नोलॉजी के माध्यम से NTPC & NCL के तत्वाधान में सिंगरौली स्कूलों का किया जा रहा कायापलट

हायटेक & नई टेक्नोलॉजी के माध्यम से NTPC & NCL के तत्वाधान में सिंगरौली स्कूलों का किया जा रहा कायापलट

TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 
सिंगरौली. गौरतलब हैं कि मानव जाति के विकास के लिए तरह-तरह के आविष्कार सदियों से किया जाता रहा हैं | जिसमे हाल के इक्कीसवीं सदी में सबसे महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजी का आविष्कार से मानव जाति को उचाईयों के शिखर में ला के खड़ा कर दिया हैं | जिससे मानव जाति में तरह-तरह के विकास का होना संभव हो सका हैं | आज इन्ही टेक्नोलॉजी के मदद से मानव जाति विशालतम विकास की ओर अग्रसर हैं |
इसी तर्ज पर टेक्नोलॉजी की मदद से नितिन खन्ना जी द्वारा मानव जाति के उत्थान व विकास के लिए एक संस्थान भारत लर्न सन 2013 में प्रारम्भ किया गया था | नितिन खन्ना जी ने भारत लर्न में बतौर सी0ई0ओ0 के पद पर रहते हुए टेक्नोलॉजी के मदद से मध्य प्रदेश के एक मात्र जिला "सिंगरौली जिला" के विद्यालयों की शिक्षा पध्दति को एक नई दिशा व विकास की ओर अग्रसर होने NTPC व NCL कम्पनी के साथ सन 2016 से जिला के विभिन्न इलाकों के अलग-अलग 5 - 5 स्कूलों के विकास का सफल प्रयोग किया गया |
वीडियो.......वीडियो : इनका कहना है -
जो क्रमशः NTPC के द्वारा पी0एस0 शाहपुर, पी0एस0 मतवई, पी0एस0 हर्रई वेस्ट, पी0एस0 चंदूली, सुहासनी स्कूल गहिलगढ़ और NCL के द्वारा पी0एस0 करैला, पी0एस0 चुर्कि, पी0एस0 पिपरखड़, पी0एस0 पंजरीह, जी0पी0एस0 पंजीह स्कूलों के विद्यार्थियों पर उक्त योजना का प्रयोग कर प्रशिक्षण दिया गया | जिसमे वहा के विद्यार्थियों को हायटेक व टेक्नोलॉजी से लैस क्लास रूम में वीडियों व टेक्नोलॉजी के माध्यम से बच्चों को शिक्षा मुहैया कराने का कार्य किया गया |
जिसमे नितिन खन्ना जी द्वारा बताया गया कि उन विद्यालयों के बच्चों में लगभग 80℅ - 85℅ तक विकास का हो पाना संभव हो सका | जिससे क्षेत्र के विकास के लिए तत्पर्य NTPC की ओर से 10 और विद्यालयों जिसमे को हायटेक व टेक्नोलॉजी से लैस क्लास रूम बनाने आज दिनांक 27/11/2019 को ऐलान किया गया हैं | जो इस प्रकार हैं - पी0एस0 चरगोरा, एम0एस0 काम, एम0एस0 मझौली, पी0एस0 तियरा, पी0एस0 बलियरी, जी0एस0 जैतपुर, पी0एस0 बनौली, पी0एस0 विंध्य नगर, पी0एस0 गहेलगढ़ ईस्ट, और पी0एस0 गहेलगढ़ वेस्ट सम्लित हैं |

क्या है खास हायटेक व टेक्नोलॉजी क्लास रूम में -

नितिन खन्ना जी का कहना हैं कि मानव जाति को हमेशा से खेल-खेल में सीखने का हुनर सदियों से रहा है | जो सबसे ज्यादा बच्चों में पाया जाता हैं | जो बच्चों में मात्र देखने मिलता हैं | जिसे टेक्नोलॉजी के मदद से वीडियों के माध्यम से बच्चों को शिक्षा देना आसान होना बताया गया | इसी तर्ज पर NTPC व NCL के तत्वाधान में किया गया सफल प्रयास किया बताया गया |

भारत लर्न के मेंबर

सी0ई0ओ0 नितिन खन्ना, सी0ओ0ओ0 वरुण खन्ना, एडमिन दीपाली रस्तोगी और प्रोजेक्ट आफिसर मो. सद्दाम, अंकज कुमार, रूवी गुप्ता, विमल कुमार, शैफुल हुदा
मुख्य अतिथि देबाशीष सेन जी ED, अभिषेक जी सी0एस0आर0 , AGM (HR) श्री एस0 भट्टाचार्या, डी0जी0एम0 (RLI) श्री ऋषि कपूर, अभिषेक मेहरा सीनियर मैनेजर (HR-CSR) व अन्य कई पदाअधिकारि और साथ नए 10 विद्यालयों के कई शिक्षक मौजूद रहे

नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ( एनसीएल ) के 35वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम

नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ( एनसीएल ) के 35वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 
सिंगरौली. नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के 35वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित किए जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों के मुख्य अतिथि एनसीएल की होल्डिंग कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक (सीएमडी) श्री अनिल कुमार झा को कंपनी मुख्यालय में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ़) के जवानों की टुकड़ी ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया।
इस अवसर पर एनसीएल के पूर्व सीएमडी श्री वी. के. सिंह, श्री टी. के. नाग एवं श्री बी. आर. रेड्डी, मौजूदा एनसीएल सीएमडी श्री पी॰ के॰ सिन्हा, निदेशक ( तकनीकी/संचालन ) श्री गुणाधर पाण्डेय, निदेशक ( वित्त एवं कार्मिक ) श्री नाग नाथ ठाकुर, मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) श्री आशीष कुमार श्रीवास्तव, जेसीसी सदस्य श्री अशोक दूबे एवं श्री मुन्नीलाल यादव और सीएमओएआई महासचिव श्री सर्वेश सिंह उपस्थित थे।
इसके बाद सीआईएल सीएमडी श्री अनिल कुमार झा की अगुवाई में एनसीएल सीएमडी एवं निदेशक मंडल सहित कंपनी मुख्यालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने रोज सुबह कंपनी काम-काज से पहले होने वाली प्रार्थना में भाग लिया।
सीआईएल सीएमडी श्री अनिल कुमार झा ने एनसीएल मुख्यालय में लगाए गए भारत की आन-बान-शान तिरंगे के 120 फुट ऊंचे ध्वज स्तंभ का शुभारंभ किया। इस अवसर पर राष्ट्र गान का सामूहिक गायन भी किया गया। श्री अनिल कुमार झा के नेतृत्व में एनसीएल मुख्यालय के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने खनिक प्रतिमा एवं शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

Tuesday, November 26, 2019

धूमधाम के साथ मनाया जाएगा नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ( एनसीएल ) का 35वां स्थापना दिवस

धूमधाम के साथ मनाया जाएगा नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ( एनसीएल ) का 35वां स्थापना दिवस

TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 
28 नवंबर, 2019 को आयोजित किए जाएंगे कई कार्यक्रम
सिंगरौली. नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) का 35वां स्थापना दिवस आगामी 28 नवंबर (बृहस्पतिवार) को धूमधाम से मनाया जाएगा। इस दौरान अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें एनसीएल की होल्डिंग कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक (सीएमडी) श्री अनिल कुमार झा बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहेंगे।
साथ ही, एनसीएल के कई भूतपूर्व सीएमडी, मौजूदा सीएमडी श्री पी॰ के॰ सिन्हा, निदेशक (तकनीकी/संचालन) श्री गुणाधर पाण्डेय, मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) श्री आशीष कुमार श्रीवास्तव, निदेशक (वित्त एवं कार्मिक) श्री नाग नाथ ठाकुर और निदेशक (तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री एम॰ के॰ प्रसाद बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित रहेंगे।
 
कार्यक्रमों की शुरूआत प्रातः साढ़े आठ बजे एनसीएल मुख्यालय स्थित अमर शहीद स्थल पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ होगी। इसके बाद खनिक प्रतिमा पर माल्यार्पण और एनसीएल ध्वज का आरोहण किया जाएगा। तत्पश्चात एनसीएल सीएमडी श्री सिन्हा कंपनी के अधिकारियों-कर्मचारियों को संबोधित करेंगे।
एनसीएल स्थापना दिवस समारोह का केंद्रीय कार्यक्रम सुबह 11 बजे से जयंत क्षेत्र के विजय स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा।
इसे भी पढ़ें :- 95000 करोड़ के आरोपी को मोदी ने बना दिया महाराष्ट्र का उप मुख्यमंत्री
 
कार्यक्रम में सीआईएल सीएमडी श्री अनिल कुमार झा एनसीएल परिवार को संबोधित करेंगे। साथ ही, एनसीएल के पूर्व सीएमडी एनसीएल से जुड़े अपने अनुभवों को साझा करेंगे। कार्यक्रम में सिंगरौली एवं सोनभद्र जिले की राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतिभाओं और कंपनी स्तर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले एनसीएल के क्षेत्रों (एरिया)/इकाइयों एवं अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा। 
इसे भी पढ़ें :- ‘श्वेत हनी’ का चमड़ीखोर ‘छोटू’… IAS एस. के. मिश्रा : ”लोक स्वामी” की पोल खोल वीडियो ख़बर

शाम 5 बजे सीआईएल सीएमडी श्री अनिल कुमार झा एनसीएल की निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) योजना के तहत जयंत में नव निर्मित बस स्टैंड का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद शाम 7 बजे सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा, जिसमें सुप्रसिद्ध लोक गायिका श्रीमती मालिनी अवस्थी अपनी रंगा-रंग प्रस्तुतियां देंगी।
कंपनी के सभी क्षेत्रों/इकाइयों में भी एनसीएल स्थापना दिवस कई कार्यक्रमों के आयोजन के साथ मनाया जाएगा।

Monday, November 18, 2019

ग्रेसिम केमिकल ड़िविजन के खिलाफ थाने में मामला दर्ज

ग्रेसिम केमिकल ड़िविजन के खिलाफ थाने में मामला दर्ज

TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
ग्रेसिम केमिकल ड़िविजन के खिलाफ थाने पहुचे ग्रामीण
नागदा जिला उज्जैन में स्थित ग्राम टकरावदा जो शहर ओर ग्रेसिम केमिकल फेक्ट्री से लगा हुवा है । आज शाम के समय केमिकल डिविजन से निकलने वाले रासायनिक पानी को पीने से ग्रामीणों के लगभग 7 मवेशी बेजुबान काल के ग्रास बन गये। सभी मृत जानवरो में 2 भैसे व 5 गायें है इन सभी मवेशियो की मौत तीन दिनो के भीतर हुई है।
जब घटना की जानकारी एएनआई न्यूज़ इंडिया को लगी तो मौके पर ग्रामवासीयों की शिकायत पर पहुच मौका मुहायना किया तो ग्रामीणों द्वारा बताये गये नाले के पास गाय और भैसे मृत अवस्था मे वही देखी गई ।
ओर देखने मे यह भी आया की ग्रेसिम केमिकल डिवीजन के पीछे से बहने वाले नाले के माध्यम से रासायनिक गंदा पानी निकलता है। जिसकी वजह से आज टकरावदा ग्राम के संरपंच राधेश्याम पटेल ओर साथ ही ग्रामीणों द्वारा बिरलाग्राम थाने का घेराव कर दिया गया ।
बिरलाग्राम थाना प्रभारी मनोहर मीणा द्वारा ग्रामिणो की शिकायत दर्ज कर मृत जानवरो का पोस्टमार्टम कराने की बात कही गई जिसकी वजह से कारणो का पता लगाया जा कर एफआरआई दर्ज करने की बात सरपंच व ग्रामीणों से कहीं।
अब देखना यह है की बिरला ग्राम थाना ग्रेसिम केमिकल डिवीजन पर क्या कार्यवाही करता है ओर मृत जानवरो के पोस्टमार्टम मे कुछ निकल कर सामने आता भी है या .....?

Sunday, November 17, 2019

एनसीएल की 600 बच्चों को स्कूल यूनिफॉर्म की सौगात, खिरवा ग्राम-पंचायत के 04 शासकीय विद्यालयों के छात्र-छात्राएं हुए लाभान्वित

नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड, एनसीएल की 600 बच्चों को स्कूल यूनिफॉर्म की सौगात

TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 
नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड ने 600 जरूरतमंद ग्रामीण बच्चों के अध्यापन में सहयोग देते हुए उन्हें स्कूल यूनिफॉर्म दी है।
सिंगरौली जिले के त्वरित एवं समग्र विकास के लिए जिला प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे ‘ट्रांसफॉर्म सिंगरौली’ अभियान में योगदान देने की लंबी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए कंपनी के दुधीचुआ क्षेत्र ने अपने निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) कार्यक्रम के तहत बाल दिवस के अवसर पर खिरवा ग्राम-पंचायत के 04 शासकीय विद्यालयों में यूनिफॉर्म वितरण किया।
दुधीचुआ क्षेत्र के महाप्रबंधक (खनन) श्री पी॰ सी॰ सिंह की अगुवाई में क्षेत्र की टीम ने प्राथमिक विद्यालय टिकुरी टोला, प्राथमिक विद्यालय खिरवा, प्राथमिक बघनारा और माध्यमिक विद्यालय खिरवा के सभी विद्यार्थियों को यूनिफॉर्म के साथ-साथ जूते एवं मोजे भी दिए। 
श्री सिंह ने सभी स्कूली बच्चों को हर रोज स्कूल आकर पूरे मनोयोग से पढ़ाई करने के प्रति प्रेरित किया। साथ ही, उन्होंने पढ़ाई को बच्चों के लिए और अधिक रुचिकर बनाने के लिए अध्यापक-अध्यापिकाओं से खेल-खेल में सिखाना जैसी रोचक पद्धतियां अपनाने का आह्वान किया।
नई स्कूल यूनिफॉर्म और जूते-मोजे पाकर सभी बच्चो में खुशी लहर छा गई। दुधीचुआ क्षेत्र के स्टाफ अधिकारी (कार्मिक) श्री पी. के. दूबे ने स्कूली बच्चों की हौसला अफजाई करते हुए उनकी शिक्षा में भविष्य में भी एनसीएल की ओर से हरसंभव मदद देते रहने का आश्वासन दिया।
यूनिफॉर्म वितरण में दुधीचुआ क्षेत्र के सहायक प्रबंधक (सामुदायिक विकास) श्री विवेक गौतम एवं सीएसआर टीम, खिरवा ग्राम-पंचायत की सरपंच श्रीमती सीमा साहू एवं अन्य प्रतिनिधियों और सभी विद्यालयों के अध्यापक-अध्यापिकाओं ने सहयोग दिया।

CCH ADD

CCH ADD
CCH ADD

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news