Showing posts with label अंतरराष्ट्रीय. Show all posts
Showing posts with label अंतरराष्ट्रीय. Show all posts

Saturday, June 29, 2019

पीएनबी धोखाधड़ीः स्विस अधिकारियों ने नीरव मोदी और उनकी बहन के चार खातों से लेन-देन पर लगाई रोक

पीएनबी धोखाधड़ीः स्विस अधिकारियों ने नीरव मोदी और उनकी बहन के चार खातों से लेन-देन पर लगाई रोक
पीएनबी धोखाधड़ीः स्विस अधिकारियों ने नीरव मोदी और उनकी बहन के चार खातों से लेन-देन पर लगाई रोक
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्ली: स्विट्जरलैंड के अधिकारियों ने दो अरब डॉलर से अधिक पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी और उसकी बहन के चार स्विस खातों से लेनदेन पर रोक लगा दी है. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी.
भारत में नीरव मोदी के खिलाफ चल रहे आपराधिक धन शोधन मामले में ये कार्रवाई की गयी है.
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वर्तमान में इन खातों में कुल 283.16 करोड़ रुपये जमा है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध पर स्विटजरलैंड के अधिकारियों ने इन बैंकों के परिचालन पर रोक लगायी है. ईडी ने कहा कि दोनों ने भारत में बैंक धोखाधड़ी से अर्जित राशि इन बैंक खातों में जमा करायी है.
उसके मुताबिक ईडी ने कुछ समय पहले स्विस अधिकारियों से इस बाबत अनुरोध किया था और धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत आधिकारिक तौर पर अनुरोध भेजा था.
सूत्रों के मुताबिक बैंक धोखाधड़ी मामले में लंदन में गिरफ्तार नीरव मोदी के खाते में 3,74,11,596 डॉलर जमा है जबकि उसकी बहन पूर्वी मोदी के खाते में 27,38,136 पौंड (जीबीपी) जमा हैं. उनके मुताबिक कुल जमा 283.16 करोड़ रुपये के आसपास है.
इस बात की उम्मीद है कि केंद्रीय जांच एजेंसी अब पीएमएलए के तहत इन बैंक खातों को कुर्क करने की दिशा में कदम उठाएगी.
प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) पंजाब नेशनल बैंक को 13,000 करोड़ रुपये का चूना लगाने के मामले में नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी और अन्य के खिलाफ धनशोधन एवं भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहे हैं.
इस कथित घोटाले का खुलासा पिछले वर्ष हुआ था. ईडी ने मुंबई की एक अदालत में दाखिल किये गए अपने आरोपपत्र में पूर्वी मोदी का नाम भी आरोपी के रूप में शामिल किया है.

Tuesday, June 18, 2019

पश्चिम एशिया में एक हजार अतिरिक्त सैनिक तैनात करेगा अमेरिका

पश्चिम एशिया में एक हजार अतिरिक्त सैनिक तैनात करेगा अमेरिका
वाशिंगटन। अमेरिका ने ओमान की खाड़ी में तेल के टैंकरों पर हुए हमले के मद्देनजर पश्चिम एशिया में अपने एक हजार अतिरिक्त सैनिक तैनात करने का फैसला किया है। अमेरिका के कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शानाहन ने सोमवार को एक वक्तव्य जारी कर यह जानकारी दी।
शानाहन ने कहा, ‘‘अमेरिका की सेंट्रल कमान की ओर से अतिरिक्त सैनिकों की मांग को देखते हुए और ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ तथा व्हाइट हाउस से सलाह करने के बाद, मैंने पश्चिम एशिया में वायु, नौसैनिक समेत तमाम रक्षा चुनौतियों का सामना करने के लिए लगभग एक हजार अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती को अधिकृत किया है।’’
शानाहन ने कहा कि अमेरिका ईरान के साथ किसी भी प्रकार का संघर्ष नहीं चाहता है। क्षेत्र में अपने हितों और कर्मियों की सुरक्षा के लिए वह अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती कर रहा है। अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘ हाल में ईरान की ओर से किए गए हमलों से हमें मिली खुफिया जानकारी और पुख्ता हुई है जिसमें ईरानी सुरक्षाबलों के उद्देश्यों का पता चलता है।’’ ओमान की खाड़ी में गुरुवार को होरमुज जलडमरूमध्य के नजदीक दो तेल टैंकरों अल्टेयर और कोकुका करेजियस में विस्फोट किया गया था।
ईरान और अरब के खाड़ी देशों के जल क्षेत्र में हुए इस हादसे के कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने इसके लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। श्री पोम्पियो के मुताबिक अमेरिका ने खुफिया जानकारी के आधार पर ये आरोप लगाए हैं। अमेरिकी सेना ने अपने दावे के पक्ष में एक वीडियो जारी किया है जिसमें ईरानी सुरक्षाबल एक टैंकर से विस्फोटक हटाते हुए दिख रहे हैं। ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय ने ईरानी सेना के रिवोल्यूशनरी गार्ड दल को ओमान की खाड़ी में तेल के टैंकरों पर हमले के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

Tuesday, June 11, 2019

PNB घोटाला: भगौड़े नीरव मोदी की जमानत अर्जी पर सुनवाई पूरी, कल 10 बजे आएगा फैसला

PNB घोटाला: भगौड़े नीरव मोदी की जमानत अर्जी पर सुनवाई पूरी, कल 10 बजे आएगा फैसला
लंदन. ब्रिटेन के उच्च न्यायालय ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई शुरू की. नीरव (Nirav Modi) ने निचली अदालत के जमानत देने से इनकार करने के फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी है. 

हीरा कारोबारी का प्रयास है कि पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उसे भारत को न सौंपा जाए. नीरव मोदी (Nirav Modi) की कानूनी टीम ने न्यायाधीश न्यायमूर्ति इंग्रिड सिमलर की अदालत के समक्ष दलील रखना शुरू किया था. उनकी टीम की कोशिश है कि मोदी को न्यायिक हिरासत में जेल में बंद रखने के मजिस्ट्रेटी अदालत के फैसले को पटल दिया जाए.

वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत नीरव मोदी (Nirav Modi) की जमानत की अर्जी तीन बार खारिज कर चुकी है क्यों की उसको लगा है कि यह हीराकारोबारी जमानत तोड़ कर ब्रिटेन से भाग सकता है. नीरव मोदी (Nirav Modi) की वकील क्लेयर मोंटगोमरी ने उच्च न्यायालय में कहा, " हकीकत यह है कि नीरव मोदी (Nirav Modi) कोई दुर्दांत अपराधी नहीं है जैसा की भारत सरकार की ओर से दावा किया जा रहा है. वह एक जौहरी हैं और उन्हें ईमानदार और विश्वसनीय माना जाता है.

कोर्ट में नीरव (Nirav Modi) के वकील ने कहा कि स्विट्जरलैंड और अन्य स्थानों पर उनकी संपत्ति फ्रीज की गई हैं. फायरस्टार की घटना के बाद ज्यादातर मामलों में ऑफिस होल्डर्स ग्रुप की संपत्ति रखते हैं।अब इस मामले पर कोर्ट कल 10 बजे अपना फैसला सुनाएगी.
न्यायमूर्ति सिमलर ने इस पर हस्तक्षेप करते हुए इस आशंका का संकेत दिया कि नीरव मोदी (Nirav Modi) जमानत पर छूटने के बाद भाग सकता है. उन्होंने कहा मोदी के पास ब्रिटेन से भागने के साधन हैं और इस मामले में इस बात को ध्यान में रखना होगा. उन्होंने कहा कि " काफी भारी भरकम " रकम का मामला है.

Monday, May 20, 2019

ईरान अगर लड़ना चाहता है तो उसका अंत हो जाएगा : डोनाल्‍ड ट्रंप

ईरान अगर लड़ना चाहता है तो उसका अंत हो जाएगा : डोनाल्‍ड ट्रंप

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई‍ दिल्‍ली: अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ईरान को बेहद कड़े शब्‍दों में चेतावनी दी है. ट्रंप ने कहा है कि अगर ईरान ने वाशिंगटन के हितों पर हमला किया तो वह तबाह कर दिया जाएगा. 
एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा, “अगर ईरान लड़ना चाहता है तो वह ईरान का आधिकारिक अंत होगा अमेरिका को फिर कभी धमकी मत देना.” ट्रंप ने अपनी धमकी ईरान की रिवोल्यूशनरी गार्डस के कमांडर हुसैन सलामी के रविवार को दिए उस बयान के कुछ घंटों बाद ही जारी की है जिसमें उन्होंने कहा था कि ईरान को युद्ध से डर नहीं लगता लेकिन अमेरिका को लगता है.
जब से अमेरिका ने युद्धपोत और B-52 बमवर्षकों को संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) के फुजैराह में तैनात करने का आदेश दिया है, ईरान और अमेरिका के बीच तल्‍खी बढ़ गई है. इसके अलावा अमेरिका ने ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी कॉर्प्स को एक आतंकी समूह के रूप में नामित किया है. ईरानी तेल निर्यात पर वह पहले ही पूरी तरह से प्रतिबंध लगा चुका है.

ईरान के भी तेवर तल्‍ख

गल्‍फ को-ऑपरेशन काउंसिल (GCC) ने अरबियन खाड़ी में और सैनिक तैनात करने की अमेरिका की दरख्‍़वास्‍त मान ली है. अमेरिका का कहना है कि इससे उसे ईरान की तरफ से उठने वाले किसी भी खतरे से निपटने में मदद मिलेगी. ईरान की सरकारी एजंसी IRNA ने विदेश मंत्री मोहम्‍मद जवाद जरीफ के हवाले से कहा कि उन्‍हें नहीं लगता कि क्षेत्र में युद्ध होगी क्‍योंकि तेहरान संघर्ष नहीं चाहता और कोई देश ‘ईरान का सामना करने की गलतफहमी’ में नहीं है.
ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खमेनेई ने भी विवादित मुद्दों पर अमेरिकी सरकार के साथ किसी तरह की बातचीत करने से इनकार किया है. खाड़ी क्षेत्र में मौजूदा तनाव के बीच संयुक्त राष्ट्र ने सभी पक्षों से ज्यादा से ज्यादा संयम बरतने का आह्वान किया है. संयुक्त राष्ट्र एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि गुटेरेस हालात पर करीबी नजर बनाए हुए हैं.

Saturday, May 11, 2019

पाकिस्तान के ग्वादर में फाइव स्टार होटल में घुसे आतंकी, गोलीबारी जारी

पाकिस्तान फाइव स्टार होटल में घुसे आतंकी के लिए इमेज परिणाम
पाकिस्तान के ग्वादर में फाइव स्टार होटल में घुसे आतंकी, गोलीबारी जारी
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
इस्लामाबाद. बलूचिस्तान के ग्वादर में एक फाइव स्टार होटल में कुछ आतंकी घुस गए हैं। पाकिस्तान मीडिया की मानें तो इन आतंकियों की संख्या 3-4 हो सकती है। इसके अलावा मौके से गोलियों के चलने की आवाज भी आ रही है। पाक मीडिया ने ग्वादर के स्टेशन हाउस ऑफिसर असलाम बंगुलजई के हवाले से बताया कि यहां के पर्ल कॉन्टिनेंटल होटल में फायरिंग हो रही है।
होटल में 3-4 आतंकियों के होने की आशंका है। आईजीपी का कहना है कि होटल से ज्यादातर लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। गौरतलब है कि बलूचिस्तान का ग्वादर क्षेत्र चीन के लिए काफी महत्वपूर्ण है, जहां वह पाक सरकार के साथ ग्वादर एयरपोर्ट विकसित कर रहा है।
एसएचओ ने कहा, 'दोपहर बाद करीब 4:50 पर हमें खबर मिली कि पीसी होटल में 3-4 आतंकी घुसे हैं। हमें जानकारी मिली कि वहां गोलियां चलने की आवाज भी आ रही हैं, लेकिन अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं हैं।' पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया कि पर्ल होटल में कोई विदेशी नागरिक नहीं है।
एसएचओ का कहना है, 'स्थिति को संभालने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल, एटीएफ (ऐंटी टेररिस्ट फोर्स) और आर्मी के लोग मौके पर मौजूद हैं।' आईजीपी मोहसिन हसन भट्ट ने भी इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा, '2-3 हथियारबंद आतंकियों ने पहले फायरिंग की और उसके बाद होटल में घुसे। होटल से 95 प्रतिशत गेस्ट को बाहर निकाल लिया गया है। अब कुछ गेस्ट और होटल स्टाफ वहां है।'
पाक मीडिया का कहना है कि पुलिस ने आसपास के पूरे इलाके को सील कर दिया है। यह होटल ग्वादर के कोह-ए-बाटिल पहाड़ी पर मौजूद है। बिजनस या घूमने के मकसद से आने वाले लोगों के बीच यह होटल काफी लोकप्रिय है। ग्वादर होटल में यह हमला उस समय हुआ, जब एक हफ्ते पहले ही 11 नेवी, एयर फोर्स और कोस्टल गार्ड कर्मियों समेत 14 लोगों को एक बंदूकधारी ने ग्वादर के ओरमारा के पास मार दिया था।
बता दें कि अभी चीन पाक सरकार के साथ मिलकर कनेक्टिविटी और व्यापार को बढ़ावा देने के लिए ग्वादर पोर्ट को विकसित कर रहा है। पेइचिंग पाकिस्तान में काफी बड़ा निवेश कर रहा है।

Thursday, May 2, 2019

तीन तलाक और सात बच्चों के बाद 66 साल के थाईलैंड के राजा ने अपनी बॉडीगार्ड से रचाई शादी

थाईलैंड के राजा माहा वाजिरालोंगकोर्न के लिए इमेज परिणाम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
थाईलैंड के राजा माहा वाजिरालोंगकोर्न ने बुधवार को अपने निजी सुरक्षा बल की डिप्टी हेड से विवाह कर लिया है। वाजिरालोंगकोर्न ने अपनी पत्नी को रानी सुथिदा की उपाधि दी है। यह उनकी चौथी शादी है। उनका तीन बार तलाक भी हो चुका है। उनके सात बच्चे भी हैं।
 
66 साल के वाजिरालोंगकोर्न को किंग रामा X के नाम से जाना जाता है। उनकी शादी की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वाइरल हो गई। शाम तक थाईलैंड के सभी टीवी चैनलों पर शादी की वीडियो और तस्वीरें दिखाई जा रही थीं।
 
वाजिरालोंगकोर्न अपने पिता राजा भूमिबोल अदुलयादेज की अक्टूबर, 2016 में हुई मौत के बाद संवैधानिक सम्राट बनाए गए थे। उन्हें शनिवार को आधिकारिक रूप से ताज पहनाया जाएगा।
 
कौन हैं रानी सुथिदा : 
 
वाजिरालोंगकोर्न ने साल 2014 में सुथिदा तिदजई को बॉडीगार्ड यूनिट की डिप्टी कमांडर के तौर पर नियुक्त किया था। सुथिदा थाई एयरवे में फ्लाइट अटेंडेंट रह चुकी हैं। पहले भी कई बार लोगों ने वाजिरालोंगकोर्न का नाम सुथिदा के साथ जोड़ा। लेकिन राजमहल की ओर से कभी इस बारे में कुछ नहीं कहा गया। दिसंबर, 2016 में सुथिदा को रॉयल थाई आर्मी की फुल जनरल बना दिया। सुथिदा को 2017 में किंग के निजी सुरक्षा बल की डिप्टी कमांडर बनाया गया। 

Wednesday, May 1, 2019

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को इंग्लैंड में जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए 50 हफ्तों की सजा

संबंधित इमेज
विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्ली : इंग्लैंड में जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को 50 सप्ताह की जेल की सजा सुनाई गई है। गौरतलब है कि लंदन में इक्वाडोर के दूतावास में सात वर्षों बिताने के बाद 47 वर्षीय असांजे को इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किया गया था।
असांजे ने 2012 में दूतावास में शरण ली थी ताकि स्वीडन में वह बलात्कार के आरोपों से बच सकें। इक्वाडोर द्वारा उनके शरणार्थी का दर्जा समाप्त किए जाने के बाद 11 अप्रैल को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।
दुनियाभर में गोपनीय दस्तावेजों के जरिए तहलका मचाने वाले विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को गुरुवार को लंदन स्थित इक्वाडोर दूतावास में करीब 7 सालों तक रहने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। असांज 2012 से ही यहां शरण लिए हुए थे। असांज को गिरफ्तार करने वाली पुलिस का कहना था कि उन्‍हें कोर्ट में पेश नहीं होने के लिए हिरासत में लिया गया है।
जानें असांजे के बारे में और भी बहुत कुछ -
37 स्कूल किए अटैंड
3 जुलाई 1971 को ऑस्ट्रेलिया में जन्मे अंसाज के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने बचपन और जवानी के दिनों को मिलाकर कुल 37 स्कूल अटेंड किए। असांज ने यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न से फिजिक्स और मैथ्स में डिग्री हासिल की। कंप्यूटर में रूचि रखने वाले असांज ने 1990 में एक कंप्यूटर प्रोगामर बने और बाद में सॉफ्टवेयर डेवलपर बन गए। अंसाज को हैंकिग में महारत हासिल थी। 
ऐसे की विकिलीक्स की शुरूआत
2006 में उन्होंने विकिलीक्स ( wikileaks.org) की शुरूआत की तांकि वह बिना ट्रेस में आए बगैर इंटरनेट पर गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक कर सके। उसके बाद उन्होंने अपनी वेबसाइट की जरिए ऐसे-ऐसे खुलासे किए कि विश्वभर में तहलका मच गया। विश्व की कई सरकारों की गोपनीय जानकारियों को अपनी वेबसाइट पर डाला तो मानों वैश्विक जगत में भूकंप आ गया। इसे लेकर काफी बवाल भी हुई। 
रेप का लगा आरोप
2010 में प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने असांज को 'पर्सन ऑफ द ईयर' के खिताब से नवाजा। 2010 में असांज पर स्वीडन की दो महिलाओं ने रेप और यौन शोषण का आरोप लगाया जिसके बाद उनके खिलाफ स्वीडन की एक अदालत ने अरेस्ट वारंट भी जारी किया, लेकिन असांज ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये झूठे और बेबुनियाद आरोप हैं।
 2010 में असांज की विकिलीक्स ने अफगानिस्तान और इराक युद्ध में सेना से जुड़े कई गोपनीय दस्तावेज प्रकाशित किए। इसका असर ये हुआ कि अमेरिका ने असांज को बहिष्कृत कर दिया। 2012 में ब्रिटेन द्वारा स्वीडन को प्रत्यर्पित किए जाने से बचने के लिए उन्होंने इक्वाडोर के दूतावास में शरण ली और तभी से वह लंदन में शरणार्थी के रूप में रह रहे थे।
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप का आरोप
असांज पर 2016 में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के दौरान हस्तक्षेप का आरोप भी लगा। विकिलीक्स ने तब डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन की टीम की कई ऐसे गोपनीय मेल सार्वजनिक कर दिए जो चुनावी अभियान से जुड़े थे और इसका सीधा असर चुनावों पर भी पड़ा। असांज पर आरोप लगा कि उन्होंने रूस की मदद से ये गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक किए। 2017 में स्वीडन में उनके खिलाफ लगा रेप का आरोप हट गया जिसके बाद उन्होंने इक्वाडोर की नागरिकता ले ली।
इक्‍वाडोर के राष्‍ट्रपति का कहना है कि असांज द्वारा लगातार अंतराष्‍ट्रीय कानूनों के उल्‍लंघन के कारण उन्‍हें दिया गया राजनीतिक शरणार्थी का दर्जा वापस ले लिया गया है। हालांकि विकिलीक्‍स का कहना है कि इक्‍वाडोर ने उन्‍हें दी गई राजनीतिक शरण वापस लेते हुए अंतरराष्‍ट्रीय कानूनों का उल्‍लंघन किया है।

Tuesday, April 30, 2019

ISIS का खूंखार मुखिया बगदादी का जारी हुआ वीडियो: ली श्रीलंका हमले की जिम्मेदारी

ISIS का खूंखार मुखिया बगदादी का जारी हुआ वीडियो: ली श्रीलंका हमले की जिम्मेदारी…
TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
डेस्क: सीरिया को तबाह कर देने वाले खूंखार आतंकी संगठन ISIS के मुखिया बगदादी ने कई साल बाद अपना एक वीडियो जारी कर श्रीलंका आतंकी हमले की जिम्मेदारी ले ली है. सबसे ख़ास बात यह है कि बगदादी के मारे जाने की कई बार खबर आ चुकी थी.
बतादें कि ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी खुद ISIS आतंकी संगठन के प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी ने ली है. इसे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि बगदादी ज़िंदा है. बगदादी ने पांच साल बाद वीडियो जारी किया और श्रीलंका में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है.

एक न्यूज़ एजेंसी द्वारा जारी किये गये बगदादी के वीडियो में वह, तीन लोगों से बात करता हुआ दिखाई दे रहा है, जिनको बगदादी ये कहता हुए सुनाई दे रहा है कि ‘सीरिया के बागूज की लड़ाई खत्म हो गई है’. वीडियो में इन तीनों व्यक्तियों के चेहरे धुंधले किए गए हैं. बगदादी और आईएस का सीरिया में पिछले कई सालों से कब्जा था.

जिनपर हमला करके फरवरी में अमेरिका ने आईएस को खत्म करने का दावा किया था. लेकिन अब बगदादी के वीडियो जारी करना और श्रीलंका आतंकी हमले की जिम्मेदारी लेना यह साबित करता है कि वह मरा नहीं है, हालाँकि अभी तक इसे वीडियो की पुष्टि नहीं हुई है, क्योंकि इससे पहले कई बार मृत घोषित किया जा चुका है.

Sunday, April 28, 2019

किम जोंग की बीवी की वो असलियत, जिसे पूरी दुनिया से छिपाकर रखा गया था

Kim Jong's wife

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
किम जोंग की शादी 2009 में रि सोल जू नाम की एक लड़की से हुई, किम ने यह शादी अपने पिता की मर्जी से की थी और इसके एक साल बाद वह पिता बन गये। खबरों के मुताबिक रि का जन्म 1985 में हुआ था और उसकी मां एक डॉक्टर और उसके पिता प्रोफेसर है।
रि सोल जू ने प्योंगयांग से अपनी उच्च शिक्षा हासिल की और चीन में ही उन्होंने म्यूजिक की शिक्षा ली और इसके बाद उन्होंने एक ऑक्रेस्ट्रा में सिंगर का काम शुरू कर दिया था। नॉर्थ कोरिया में और दुनिया में ये चर्चा है, कि रि 2005 में एशियन एथलीट चैंपियनशिप के दौरान नॉर्थ कोरिया आई थी और वो 90 चीयरलीडर्स में से एक थीं।
जैसा की आप लोग को पता ही होगा की किम जोंग की गर्लफ्रेंड होने के चर्चे भी आम है। ये बताया जाता है, कि किम की गर्लफ्रेंड ह्योन सोंग वोल एक खूबसूरत सिंगर थीं, जो अपना म्यूजिकल ग्रुप चलाती थीं। लेकिन उस ग्रुप पर पॉर्न फिल्म बनाने के आरोप लगे जिसके बाद इस सनकी शासक ने उस पूरे म्यूजिकल ग्रुप को ही गोली से भून डाला था।
दोस्तों अगर यह जानकारी अच्छी लगी हो तो लाइक का बटन जरूर दबाए, कमेंट में अपने सवाल पूछना ना भूले और इस चैनल को फॉलो कर ले ताकि ऐसी जानकारियां मिलती रहें, धन्यवाद।

Sunday, April 21, 2019

ईस्टर में 8 धमाकों से दहला श्रीलंका, 200 से ज्यादा लोगों की मौत, 7 संदिग्ध गिरफ्तार

ईस्टर में 8 धमाकों से दहला श्रीलंका के लिए इमेज परिणाम
ईस्टर में 8 धमाकों से दहला श्रीलंका, 200 से ज्यादा लोगों की मौत, 7 संदिग्ध गिरफ्तार
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
कोलंबो . दुनिया भर के देशों की तरह श्रीलंका के चर्चों में भी रविवार को ईस्टर के मौके पर ईसाई समुदाय के लोग प्रभु ईसा मसीह की याद में जुटे थे। ईस्टर संडे को ईसा मसीह पुनर्जीवित हुए थे, लेकिन आतंकियों ने इसी पवित्र दिन को खूनी खेल खेलने के लिए चुना।
सुबह पौने नौ बजे से लेकर दोपहर तीन बजे तक आतंकियों ने 8 सीरियल बम ब्लास्ट कर श्रीलंका को दहला दिया, जिसमें अब तक 200 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है। अब तक किसी आतंकी संगठन या समूह ने इन हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है। 
ईस्टर में 8 धमाकों से दहला श्रीलंका के लिए इमेज परिणाम

आतंकियों ने सुबह पौने नौ बजे के करीब ईस्टर प्रार्थना सभा के दौरान कोलंबो के सेंट एंथनी चर्च, पश्चिमी तटीय शहर नेगेम्बो के सेंट सेबेस्टियन चर्च और बट्टिकलोवा के एक चर्च में धमाके किए। इन धमाकों के बाद द्वीपीय देश में अफरातफरी मच गई। यीशु की दिव्यात्मा को याद करते लोग अपनों के चिथड़े उड़ते देख बदहवास हो गए। हर कोई अवाक था, शांति का संदेश देने वाले चर्चों में लाशों का ढेर लग गया।

द्वीपीय देश में प्रशासन जब तक इस अफरातफरी के बीच बचाव अभियान चलाता तीन 5 सितारा होटलों में भी धमाकों की खबरें आने लगीं। आतंकियों ने शंगरीला, द सिनामोन ग्रांड और द किंग्सबरी होटलों को निशाना बनाते हुए धमाके किए। इन बम धमाकों में 35 विदेशी लोग भी मारे गए हैं। ईस्टर संडे की खुशनुमा सुबह में उठे श्रीलंका की शाम खूनी मंजर में तब्दील हो गई। महज 6 घंटों में आतंकियों ने 200 से ज्यादा लोगों को बम धमाकों से मौत के घाट उतार दिया। 
ईस्टर में 8 धमाकों से दहला श्रीलंका के लिए इमेज परिणाम
ईस्टर में 8 धमाकों से दहला श्रीलंका, 200 से ज्यादा लोगों की मौत, 7 संदिग्ध गिरफ्तार

एक घर में हुआ 8वां ब्लास्ट, आतंकियों ने खुद को उड़ाया
6 धमाकों के बाद प्रशासन अफरातरफरी के बीच किसी तरह बचाव में जुटा ही था कि चिड़ियाघर के सामने एक होटल में सातवें धमाके की खबर मिली। यही नहीं इसके कुछ देर बाद दोपहर करीब तीन बजे आतंकियों ने एक आवासीय परिसर में आठवां धमाका किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह आत्मघाती बम विस्फोट था। एक इमारत में पुलिसकर्मी जब जांच के लिए घुसे थे, उसी दौरान आतंकियों ने खुद को बम विस्फोट से उड़ा लिया, जिसमें 3 पुलिसकर्मी मारे गए।

सीरियल धमाकों से जुड़े 7 संदिग्ध हिरासत में
इस बीच श्रीलंका के रक्षा मंत्री ने बम धमाकों से जुड़े 7 संदिग्धों को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी है। करीब 2.15 करोड़ की आबादी वाले द्वीपीय देश के उप-परिवहन मंत्री ने भी धमाकों में अब तक 207 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है।

शाम 6 बजे से श्रीलंका में रात भर के लिए कर्फ्यू
इस बीच श्रीलंका प्रशासन ने अफवाहों, हिंसा और अराजकता की स्थिति से बचने के लिए सोशल मीडिया पर बैन लगाया है और रात भर के लिए कर्फ्यू की घोषणा की है। कर्फ्यू शाम छह बजे से शुरू होगा और सोमवार सुबह छह बजे तक जारी रहेगा। यदि स्थिति नियंत्रित नहीं हुई तो इसे बढ़ाया भी जा सकता है।

PM मोदी ने किया फोन, हरसंभव मदद का दिया भरोसा
पीएम नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका में हुए भीषण आतंकी हमले के बाद वहां के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से फोन पर बात की है। पीएम मोदी ने श्रीलंका के नेताओं से बात कर आतंकी हमले की निंदा करते हुए करोड़ों भारतीयों की तरफ से 207 लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया। इस दौरान पीएम मोदी ने श्रीलंका की सरकार को हरसंभव मदद करने का भरोसा भी दिया। इस आतंकी हमले को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि इसे पूरी तरह योजना बनाकर और बर्बरता के साथ अंजाम दिया गया, जिसने एक बार फिर समूची मानवता को हिलाकर रख दिया है। 

Friday, April 19, 2019

पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या में शामिल दो आतंकी पाकिस्तान में पकड़े गए

JOURNALIST MURDER OF DANIEL PEAR ani news india

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
पेशावर, अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या और देश में कई दूसरी आतंकी गतिविधियों में शामिल दो पाकिस्तानी तालिबानी आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। खैबर पख्तूनख्वा के मनशेरा जिले के आतंकवाद निरोधी विभाग ने कहा कि वे तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के सबसे दुर्दांत आतंकवादी हैं।
अधिकारियों ने कहा कि अजीम जान और मुहम्मद अनवर को खुफिया सूचना के बाद चलाए गए अभियान के दौरान गिरफ्तार किया गया। वे 2002 में अमेरिकी पत्रकार पर्ल के अपहरण और हत्या में शामिल थे। पर्ल ‘द वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के दक्षिण एशिया ब्यूरो प्रमुख थे और पाकिस्तान में आतंकवादियों ने उनका अपहरण कर सिर कलम कर दिया था।
उन्होंने बताया कि अजीम एक प्रशिक्षित आतंकवादी और आत्मघाती बम प्रशिक्षक है जो टीटीपी को प्रशिक्षित आत्मघाती हमलावरों की आपूर्ति करता है। इसके अलावा वह मीरानशाह में टीटीपी के वित्तीय मामलों का भी प्रमुख है।
वह फ्रांसीसी दूतावास के कर्मचारी पर आतंकी हमले में भी शामिल था। अनवर ने खैबर में प्रशिक्षण प्राप्त किया था और वह पेशावर के देवू बस अड्डे पर हुए हमले का मुख्य साजिशकर्ता था जिसमें दो पुलिस कर्मियों की मौत हुई थी।

Tuesday, April 16, 2019

कारपोरेट सेक्टर में घटी नौकरियां और सैलरी, देश छोड़ कर भागे 36 बिजनेसमैन

रवीश कुमार के लिए इमेज परिणाम
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
रवीश कुमार 
क्या आप जानते हैं कि हाल फिलहाल के वर्षों में भारत से 36 बिजनेसमैन भाग चुके हैं? क्या आप इन सभी के नाम जानते हैं? इनके अपराध और घोटालों का विस्तार जानते हैं? मीडिया के ज़रिए हमें दो चार नाम मालूम हैं। विजय माल्या, नीरव मोदी, संदेसरा बंधु, मेहुल भाई।
प्रत्यर्पण निदेशालय(ED) के वकील अगुस्ता वेस्टलैंड हेलिकाप्टर ख़रीद के आरोपी सुषेण मोहन गुप्ता की ज़मानत का विरोध कर रहे थे। वकील साहब ने अपनी दलील को मज़बूत करने के लिए कहा कि हाल के वर्षों में माल्या और मोदी जैसे 36 बिजनेसमैन भाग चुके हैं। इसके भी भाग जाने की संभावना है। बस इसी दलील से भेद खुल गया कि 36 बिजनेसमैन फरार हैं। आज के टाइम्स आफ इंडिया में यह ख़बर है। हम जनता को कितना कम पता होता है। सरकार के अंदर बैठे अधिकारी जनता और प्रेस की अज्ञानता पर हंसते होंगे।
बिजनेस स्टैंडर्ड में महेश व्यास का रोज़गार पर कॉलम आया है। बड़ी कंपनियों में नौकरी करना नौजवानों का सपना होता है। सेंसेक्स और निफ्टी में जो कंपनियां सूचीबद्ध होती हैं सिर्फ उन्हीं को बताना होता है कि कितने नए लोगों को नौकरी दी गई है। कितने लोग नौकरी करते हैं। 2014-15 में ही इस नियम को बनाया गया था। महेश व्यास करते हैं कि इस नियम को सभी कंपनियों पर लागू कर देना चाहिए।
महेश व्यास इन कंपनियों का डेटा देखने के बाद कहते हैं कि नौकरी भी कम हो रही है और सैलरी भी। 2012-13 में कंपनसेशन( सैलरी वगैरह) 25 प्रतिशत की दर से बढ़ा था। 2014-15 में आधा हो गया, 12 प्रतिशत। 2016-17 में 11 प्रतिशत हो गया। 2017 में 8.4 प्रतिशत हो गया। इससे ज़ाहिर है कि कोरपोरेट सेक्टर अब नई भर्तियां कम कर रहा है। उसकी क्षमता कम होते जा रही है। 2017-18 में तो पिछले आठ साल में सबसे कम वृद्धि हुई है। मात्र 7.7 प्रतिशत। महेश व्यास के आंकड़े बताते हैं कि निवेश और नौकरी दोनों में कमी आते जा रही है। यह गिरावट भयंकर है।
महेश व्यास ने लिखा है कि कर्मचारियों की सैलरी में वृद्धि दर को मुद्रा स्फीति के असर को घटा कर देखें तो 2017-18 में उनकी सैलरी मात्र 4.6 प्रतिशत की दर से बढ़ी। तीन साल में यह सबसे खराब औसत है। जिस सर्विस सेक्टर में सैलरियां काफी बढ़ती थीं वहां ठहराव देखा जा रहा है।
बड़े कोरपोरेट में नौकरियां और निवेश काफी घट गए हैं। इसके बाद भी नरेंद्र मोदी को आर्थिक नीतियों के संदर्भ में महान बताया जा रहा है। मुमकिन है कि बेरोज़गारों के लिए मोदी महत्वपूर्ण हैं, नौकरी नहीं। चुनाव की रिपोर्टिंग करने निकले कई पत्रकारों ने भी लिखा है कि बेरोज़गार युवा कहता है कि उसके लिए बड़ा सवाल राष्ट्रीय सुरक्षा का है। बेरोज़गारी का नहीं है। बेरोज़गारी किसी भी लोकप्रिय नेता को डरा देती है। लोकप्रियता घटा देती है।
अगर मीडिया रिपोर्ट सही है, उनसे नौजवानों ने यही कहा है तो फिर नरेंद्र मोदी का यह कमाल ही माना जाएगा कि उन्होंने बेरोज़गारों के बीच ही बेरोज़गारी का मुद्दा ख़त्म कर दिया। ऐसा बहुत कम नेता कर पाते हैं। थोड़ा श्रेय बेरोज़गारों को भी मिलना चाहिए कि वे इस तंग हालत में अपनी राजनीतिक निष्ठा नहीं बदल रहे हैं। आसान नहीं होता ऐसा करना।
मैं कई बैंकरों से मिला। इनके काम करने के हालात ख़राब हुए हैं। सैलरी नहीं बढ़ रही है। बेशक कई बैंकर इसके लिए मोदी को ज़िम्मेदार मानते हैं मगर उन्हीं में से ऐसे बहुत से बैंकर हैं जो अभी भी मोदी मोदी कर रहे हैं। इस तरह की लोकप्रियता कम नेताओं को मिलती है। अपने राजनीतिक समर्थन को आर्थिक तकलीफ से ऊपर रखना कुछ और कहता है। अगर मोदी जीतते हैं तो इन कारणों का भी बड़ा योगदान होगा।
आम तौर पर माना जाता है कि नौकरी जाएगी तो वह मोदी विरोधी हो जाएगा। नौकरी नहीं मिलेगी तो मोदी विरोधी हो जाएगा और सैलरी नहीं बढ़ेगी तो मोदी विरोधी हो जाएगा। सर्वे और पत्रकारों की रिपोर्ट में बेरोज़गारों के बीच मोदी की बढ़ती या बरकरार लोकप्रियता बता रही है कि ऐसे मतदाताओं के मन में जेब नहीं है। मोदी हैं। अगर ऐसा है तो यह बड़ी बात है।

Saturday, April 13, 2019

अनिल अंबानी की कंपनी का टैक्स माफ होने का रफाल सौदे से कोई संबंध नहीं

‘फ्रांस में अनिल अंबानी की कंपनी का टैक्स माफ होने का रफाल सौदे से कोई संबंध नहीं है’
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
भारतीय रक्षा मंत्रालय ने फ्रांस में 2015 के दौरान अनिल अंबानी की एक कंपनी का करोड़ों रुपये का टैक्स माफ होने से जुड़े मामले में यह सफाई दी है ‘फ्रांस में अनिल अंबानी की कंपनी का टैक्स माफ होने का रफाल सौदे से कोई संबंध नहीं है’
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भारतीय रक्षा मंत्रालय ने फ्रांस में अनिल अंबानी की एक कंपनी का टैक्स माफ होने के मामले को रफाल सौदे से जोड़ने वाली मीडिया रिपोर्टों को खारिज किया है. रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि भारत और फ्रांस के बीच रफाल विमान सौदे को लेकर जो समझौता हुआ था, उसका इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है.  शनिवार को रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एक प्रेस रिलीज में कहा गया है,
‘कुछ मीडिया रिपोर्टों में भारत सरकार द्वारा रफाल लड़ाकू विमानों की खरीद और एक निजी कंपनी को टैक्स से छूट मिलने के मामले को जोड़ने की कोशिश की गई है. लेकिन टैक्स में मिली इस छूट और इसकी समयावधि का भी वर्तमान सरकार के कार्यकाल में रफाल खरीद से दूर-दूर तक कोई संबंध नहीं है.’  आज भारतीय मीडिया में फ्रांस के चर्चित अखबार ला मोंद के हवाले से कुछ ऐसी रिपोर्टों में प्रकाशित हुई थीं जिनके मुताबिक वहां 2015 के दौरान अनिल अंबानी की एक कंपनी का टैक्स माफ हुआ था.
इन रिपोर्टों में जानकारी दी गई है कि फरवरी और अक्टूबर 2015 के बीच में फ्रांस सरकार ने ‘रिलायंस फ्लैग एटलांटिक फ्रांस’ (आरएफएएफ) नाम की एक फ्रांसीसी कंपनी पर 14 करोड़ 37 लाख यूरो यानी एक हजार करोड़ रु से भी ज्यादा की टैक्स वसूली रद्द की थी. यह वही वक्त था जब भारत और फ्रांस के बीच 36 रफाल विमानों के सौदे पर बात चल रही थी. आरएफएएफ का स्वामित्व अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशंस के पास है. 
भारत में विपक्ष बीते कुछ समय से लगातार इस सौदे पर भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार को घेरे हुए है. राहुल गांधी तो इस मामले में सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा चुके हैं. उनका दावा है कि प्रधानमंत्री ने खुद पेरिस जाकर यह सौदा इसलिए किया कि वे अपने मित्र अनिल अंबानी को फायदा पहुंचा सकें. उधर, सरकार और अनिल अंबानी इन आरोपों को खारिज करते रहे हैं.

Thursday, March 28, 2019

अमेरिका ने आतंकी मसूद अज़हर को प्रतिबंधित सूची में डालने के लिए एक और प्रस्ताव पेश किया

अमेरिका ने आतंकी मसूद अज़हर को प्रतिबंधित सूची में डालने के लिए एक और प्रस्ताव पेश किया के लिए इमेज परिणाम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
पाकिस्तान में मौज़ूद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के सरगना मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंधित सूची में डालने का मामला ठंडा नहीं पड़ा है. ख़बरों के मुताबिक अमेरिका ने फिर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस बाबत एक प्रस्ताव पेश किया है. इससे अमेरिका और चीन के बीच टकराव की स्थिति बनने की संभावना भी जताई जा रही है.

मसूद अज़हर से संबंधित अमेरिकी प्रस्ताव को फ्रांस और ब्रिटेन का भी सक्रिय समर्थन हासिल है. यह प्रस्ताव बुधवार को पेश किया गया है. इस पर मतदान कब होगा, इस बारे में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है. यह भी साफ नहीं है कि इस प्रस्ताव पर अबकी बार चीन का रुख़ क्या होगा.

ग़ौरतलब है कि अभी लगभग दो सप्ताह पहले फ्रांस की अगुवाई में अमेरिका और ब्रिटेन के सक्रिय समर्थन से इसी तरह का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश किया गया था. लेकिन चीन ने सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य के तौर पर मिले वीटो (निषेधाधिकार) का इस्तेमाल करते हुए उस प्रस्ताव को अटका दिया था. उसने चौथी बार इस प्रस्ताव को अटकाया था.

याद रखने की बात ये भी है कि इसी 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय आरक्षित पुलिस बल के काफ़िले पर आत्मघाती आतंकी हमला हुआ था. इस हमले में 42 जवान मारे गए थे. इसकी ज़िम्मेदारी जेईएम ने ली थी. तब से ही मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकियों की सूची में शामिल करने के प्रयासाें में तेजी आई है. बल्कि फ्रांस तो अपने स्तर पर मसूद अज़हर को प्रतिबंधित आतंकी घोषित कर ही चुका है.

Monday, March 25, 2019

इमरान ने दो हिंदू किशोरियों के जबरन धर्म परिवर्तन, विवाह की खबरों पर दिए जांच के आदेश

संबंधित इमेज
इमरान ने दो हिंदू किशोरियों के जबरन धर्म परिवर्तन, विवाह की खबरों पर दिए जांच के आदेश
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने रविवार को यह जानकारी दी। 13 वर्षीय रवीना एवं 15 वर्षीय रीना को होली की पूर्व संध्या पर सिंध के घोटकी जिले में उनके घर से कुछ “दबंग” पुरुषों ने कथित तौर पर अगवा कर लिया था।
इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सिंध प्रांत में दो हिंदू किशोरियों के अपहरण, जबरन धर्म परिवर्तन एवं कम उम्र में विवाह कराए जाने की खबरों की जांच के आदेश दिए हैं। सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने रविवार को यह जानकारी दी। 13 वर्षीय रवीना एवं 15 वर्षीय रीना को होली की पूर्व संध्या पर सिंध के घोटकी जिले में उनके घर से कुछ “दबंग” पुरुषों ने कथित तौर पर अगवा कर लिया था। अपहरण के कुछ समय बाद ही एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें एक मौलवी दोनों लड़कियों का निकाह कराते हुए कथित तौर पर दिख रहा है।
वहीं एक अन्य वीडियो में दोनों नाबालिगों को यह कहते हुए सुना गया कि उन्होंने अपनी इच्छा से इस्लाम कुबूल किया है। सूचना मंत्री चौधरी ने रविवार को उर्दू में ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा कि प्रधानमंत्री ने सिंध के मुख्यमंत्री से उन खबरों की जांच के लिए कहा है जिनमें उक्त लड़कियों को पंजाब के रहीम यार खान ले जाने की बात कही गई है। साथ ही चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सिंध एवं पंजाब सरकारों को घटना के संबंध में एक संयुक्त कार्य योजना बनाने और ऐसी घटनाओं को दोबारा होने से रोकने के लिए मजबूत कदम उठाने को कहा है। उन्होंने कहा, “पाकिस्तान के अल्पसंख्यक हमारे झंडे का सफेद रंग हैं और हमारे झंडे के सारे रंग हमारे लिए कीमती हैं। हमारे झंडे का संरक्षण हमारा कर्तव्य है।”

Saturday, March 23, 2019

पीएम मोदी ने पाकिस्तान के नैशनल डे पर शुभकामनाएं दी, पाक प्रेम कांग्रेस ने साधा निशाना

pm NARENDRA modi writes to imran khan

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'पाकिस्तान दिवस' के मौके पर शुभकामना संदेश भेजा है और वहां की जनता को बधाई दी है. इमरान खान ने ट्वीट कर कहा, ‘पीएम मोदी ने अपने संदेश में लिखा है कि अब वक्त है उप-महाद्वीप में लोकतंत्र, शांति के लिए एक साथ आया जाए. जिस माहौल में आतंक और हिंसा की कोई जगह न हो.’
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने प्रधानमंत्री मोदी के संदेश का स्वागत करते हुए भारत से बातचीत की पेशकश की. खान ने कहा कि भारत के साथ व्यापक बातचीत होनी चाहिए और कश्मीर समेत सभी मुद्दों पर बात होनी चाहिए.

इमरान के ट्वीट पर कांग्रेस का रिएक्शन

इमरान खान के इस ट्वीट के बाद कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी मोदी सरकार पर हमलावर दिखीं. लगे हाथ उन्होंने पीएम मोदी से जवाब भी मांग लिया है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है किएक तरफ तो भारत सरकार नेशनल डे पर पाकिस्तान का बहिष्कार कर रही है, वहीं दूसरी तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इमरान खान को ट्वीट कर बधाई दे रहे हैं. प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, देश जानना चाहता है पीएम मोदी अपना रुख साफ करें.
इससे पहले ये खबर थी कि भारत दिल्ली में स्थित पाकिस्तान उच्चायोग में होने वाले 'पाकिस्तान दिवस' के कार्यक्रम में किसी भी ऑफिशियल को नहीं भेजेगा.
वाह जी वाह एक बार फिर आप के पाक प्रेम की पोल खोल दी इमरान खान ने चुपके चुपके पाक को आप ने लव लेटर भेजे सुविधा के राष्ट्रभक्त जो ठहरे यह वीडियो देखो रंगा सियार

बता दें, पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी जारी है. पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से हमले के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा था. पाकिस्तान के सबूत मांगने के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में एयर स्ट्राइक की थी, जिससे दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया था.
हालांकि, पाकिस्तान में बंदी बना लिए गए भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान को छोड़ देने के बाद से हालात ठहरे हुए हैं.

Wednesday, March 20, 2019

पीएनबी घोटाला: भगोड़ा नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, नहीं मिली जमानत, 29 मार्च तक जेल में रहेगा

भगोड़ा नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार,  जेल में रहेगा के लिए इमेज परिणाम
पीएनबी घोटाला: भगोड़ा नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार, नहीं मिली जमानत, 29 मार्च तक जेल में रहेगा
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
पीएनबी को 13,500 करोड़ रुपये का चूना लगाकर विदेश भागे हीरा कारोबारी नीरव मोदी को लंदन के होलबोर्न से गिरफ्तार कर लिया गया है। दो दिन पहले ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के प्रत्यर्पण अनुरोध पर लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। 
 
गिरफ्तारी के बाद नीरव को लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में चीफ मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। ब्रिटेन की अदालत ने नीरव मोदी को जमानत देने से इनकार करते हुए 29 मार्च तक हिरासत में भेज दिया। अब इस मामले की अगली सुनवाई 29 मार्च को होगी। इस बीच नीरव मोदी को जेल में रखा जाएगा।

नीरव की गिरफ्तारी को भारत सरकार के लिए बड़ी कामयाबी माना जा रहा है। इसके बाद यह उम्मीद जगी है कि उसे भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है। देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले में ईडी और सीबीआई को उसकी तलाश है। बताते चलें कि नीरव जनवरी, 2018 में भारत से फरार हो गया था।

इसके बाद भारत सरकार ने उसका पासपोर्ट रद्द कर दिया था। फरार होने के कुछ महीने बाद से ही वह ब्रिटेन में रहा है। भारत ने पिछले साल अगस्त में ब्रिटेन सरकार से 48 वर्षीय नीरव को प्रत्यर्पित करने की मांग की थी।

हाल में उसे लंदन की सड़कों पर बेखौफ घूमते देखा गया था। सूत्रों का कहना है कि नीरव का मामला भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्य के केस की तरह ही चलेगा। माल्या को भी लंदन में 2017 में गिरफ्तार किया गया था। हालांकि, कुछ ही देर में उसे जमानत मिल गई थी।

नीलाम होंगी 173 पेंटिंग्स, 11 लग्जरी कारें

बुधवार को मुंबई की विशेष अदालत ने ईडी को नीरव की 173 महंगी पेंटिंग्स और 11 लग्जरी कारों को बेचने की मंजूरी दे दी है। पेंटिंग्स की कीमत 57.72 करोड़ रुपये बताई जा रही है। इसके अलावा कोर्ट ने 68 और पेंटिंग्स नीलाम करने की इजाजत दी है।

पत्नी के खिलाफ भी गैर जमानती वारंट जारी

मुंबई की अदालत ने हाल ही में नीरव की पत्नी एमी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। इससे पहले पीएनबी घोटाले में ईडी ने नई चार्जशीट दायर की थी। इसमें पहली बार एमी का नाम भी शामिल करते हुए उसे आरोपी बनाया गया है।

जब्त हो चुकी है 1800 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति 

पीएनबी घोटाला सामने आने से पहले ही नीरव और उसका मामा मेहुल चोकसी भारत से फरार हो चुके थे। ईडी मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत अब तक नीरव की 1873.08 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुकी है। नीरव और उसके परिवार से जुड़ी 489.75 करोड़ की संपत्ति भी जब्त की जा चुकी है।

लंदन में 72 करोड़ रुपये के अपार्टमेंट में रह रहा नीरव

हालिया मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नीरव लंदन के वेस्ट एंड इलाके में 72 करोड़ रुपये के अपार्टमेंट में रह रहा है। इसके लिए हर महीने 15.5 लाख रुपये किराया चुका रहा है। वह हीरे का बिजनेस भी कर रहा। 

इस वजह से गिरफ्तारी के बावजूद भारत नहीं लाया जा सकेगा भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी

इस वजह से गिरफ्तारी के बावजूद भारत नहीं लाया जा सकेगा भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
देश के पंजाब नेशनल बैंक से हजारों करोड़ लेकर फरार हुए हीरा कारोबारी नीरव मोदी की लंदन में गिरफ्तारी उसके भारत प्रत्यार्पण की गारंटी नहीं है। जिस तरह विजय माल्या लंदन में बैठकर भारतीय कानून की छाती पर मूंग दल रहा है, वैसे ही नीरव मोदी भी देश के कानून को ठेंगा दिखाता रहेगा क्योंकि ब्रिटेन के कानून में इस तरह के प्रावधान हैं कि अगर कोई यह कहता है कि प्रत्यर्पण करने से उसकी जान को खतरा है तो ब्रिटिश कानून उसे दूसरे देश में भेजने से इनकार कर देता है।
लंदन पुलिस ने 48 साल के नीरव मोदी को लंदन के होलबोर्न क्षेत्र से गिरफ्तार कर उसे वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया। जहां से नीरव को जमानत मिल जाने की पूरी सम्भावना है। नीरव मोदी ने वेस्ट एंड के सोहो में हीरों का नया कारोबार शुरू कर दिया है, जहां से उन्हें लंदन के द टेलिग्राफ अखबार की वेबसाइट के पत्रकार ने खोज निकाला था।
असल में ब्रिटेन का प्रत्यर्पण कानून इतना लचीला है कि भारत के अपराधी आसानी से उसका फायदा उठाकर बच निकलते हैं। पाठकों को याद होगा कि गुलशन कुमार हत्याकांड के आरोपी नदीम अख्तर सैफी इन्हीं कानूनी पेचीदगियों के चलते आज तक भारत नहीं लाया जा सका और वह वहां आराम की जिंदगी बिता रहा है।
नदीम के प्रत्यर्पण के लिए भारत ने ब्रिटिश कोर्ट में लम्बा मुकदमा लड़ा लेकिन उसकी तमाम दलीले ब्रिटिश अदालतों ने खारिज कर दी। इसी तरह एक साल से विजय माल्या का केस अदालत में चल रहा है और अभी तक भारत सरकार उसका बाल भी बांका नहीं कर पाई है। वह अभी भी उसी तरह की जिंदगी बिता रहा है जैसी भारत में बिताता था। बताया जा रहा है कि नीरव मोदी ने मोटा निवेश कर लंदन में राजनीतिक शरण भी मांग रखी है। हालांकि ब्रिटिश सरकार ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है, लेकिन माना जा रहा है कि अगर वाकई उसे राजनीतिक शरण मिल गई तो उसे कभी भी भारत नहीं लाया जा सकेगा। अलबत्ता भारत में इन दिनों लोकसभा चुनाव चल रहे हैं, इसलिए नीरव की गिरफ्तारी को सत्तारूढ़ दल अपने पक्ष में भुनाने की कोशिश जरूर कर सकता है।

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news