Showing posts with label अंतरराष्ट्रीय. Show all posts
Showing posts with label अंतरराष्ट्रीय. Show all posts

Monday, October 28, 2019

बगदादी की पत्नी के जरिये अमेरिकी खुफिया एजेंसी उस तक पहुंची : न्यूयॉर्क टाइम्स

बगदादी की पत्नी के जरिये अमेरिकी खुफिया एजेंसी उस तक पहुंची : न्यूयॉर्क टाइम्स
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
अमेरिकी समाचार पत्र 'न्यूयॉर्क टाइम्स' के अनुसार अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए को आईएस सरगना अबू बकर अल बगदादी के बारे में उसकी पत्नी से पता लगा था. बगदादी की एक पत्नी और एक संदेशवाहक को कुछ महीने पहले ही गिरफ्तार किया गया था.
समाचार पत्र के मुताबिक सीआईए ने बगदादी की पत्नी से मिली शुरुआती गुप्त सूचना के आधार पर उसके ठिकानों की सटीक पहचान करने के लिये इराकी और कुर्दिश खुफिया अधिकारियों के साथ मिलकर काम किया. इराक में कई जगहों पर उसकी गतिविधियों पर नजर रखने के लिये जासूसों को काम पर लगाया गया.
अमेरिकी अधिकारियों ने 'न्यूयॉर्क टाइम्स' को बताया कि कुर्दों को सीरिया में अकेला छोड़कर अमेरिका के वहां से निकलने के बाद भी कुर्दों ने सीआईए को बगदादी के ठिकाने के बारे में जानकारी देना जारी रखा. एक अधिकारी ने कहा कि सीरियाई और इराकी कुर्दों ने सबसे सटीक खुफिया जानकारी मुहैया कराई थी.
हमले की जगह के निकट गांव में रहने वाले लोगों से बात करने वाले इंजीनियर के मुताबिक बगदादी एक और चरमपंथी समूह हुर्रास अल दीन के एक कमांडर अबू मोहम्मद सलामा के घर में शरण लिये हुए था.
समाचार पत्र की खबर में कहा गया है कि सेना ने कम से कम दो बार अंतिम क्षणों में मिशन रोका था. हमले की अंतिम योजना पिछले सप्ताह दो से तीन दिन में बनाई गई थी.
बीते शनिवार को आईएस सरगना अबू बकर अल बगदादी ने उत्तरी सीरिया में अमेरिका के विशेष अभियान के दौरान खुद को आत्मघाती बम से उड़ा लिया था. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को इसकी घोषणा की.
अमेरिकी राष्ट्रपति ने रविवार को संवाददाता सम्मलेन में कहा था कि बगदादी की मौत के बाद उसके शव के टुकड़ों की डीएनए जांच की गई है, जिसमें उसकी पहचान की पुष्टि हुई.
न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर में यह भी कहा गया है कि साल 2000 में बगदादी जब इराक में अमेरिका द्वारा संचालित हिरासत शिविर में था, तो उसका डीएनए नमूना लिया गया था.

Tuesday, October 8, 2019

फ्रांस ने भारत को पहला राफेल विमान सौंपा, रक्षा मंत्री बोले- ये भारत के लिए ऐतिहासिक दिन


फ्रांस ने भारत को पहला राफेल विमान सौंपा, रक्षा मंत्री बोले- ये भारत के लिए ऐतिहासिक दिन के लिए इमेज परिणाम
फ्रांस ने भारत को पहला राफेल विमान सौंपा, रक्षा मंत्री बोले- ये भारत के लिए ऐतिहासिक दिन

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को देश के लिए पहला राफेल जेट प्राप्त किया। रक्षा मंत्री इसके लिए मेरीग्नैक पहुंच चुके हैं। राजनाथ सिंह फ्रेंच मिलेट्री एयरक्राफ्ट से वहां पहुंचे हैं। राजनाथ सिंह के साथ कई अधिकारी भी मौजूद हैं। रक्षा मंत्री बोर्डोक्स में ही वह दशहरे के मौके पर शस्त्र पूजा करेंगे और राफेल में उड़ान भरेंगे।

राफेल लेने पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आज मुझे खुशी हो रही है कि राफेल एयरक्राफ्ट अपने समय से भारत आ रहा है, मुझे विश्वास है कि इससे हमारी वायुसेना की ताकत बढ़ेगी। मुझे आशा है कि दोनों प्रमुख लोकतंत्रों के बीच सभी क्षेत्रों में सहयोग बढ़ेगा। राजनाथ सिंह ने कहा आज भारत-फ्रांस की रणनीतिक साझेदारी में एक नया मील का पत्थर लग रहा है।


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, भारत में आज दशहरा का त्योहार है जिसे विजयादशमी के नाम से भी जाना जाता है जहां हम बुराई पर जीत का जश्न मनाते हैं। यह 87वां वायु सेना दिवस भी है, इसलिए यह दिन कई मायनों में प्रतीकात्मक बन जाता है। इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मेरीग्नैक पहुंचने के बाद दसॉ एविएशन की फैक्ट्री में पहुंचे।

आपको बता दें ये खास कार्यक्रम भारतीय वायुसेना के स्थापना दिवस और दशहरे के दिन हो रहा है। इस मौके पर पारंपरिक ‘शस्त्र पूजा’ के लिए एयरबेस पर प्रबंध किया गया है। शस्त्र पूजा दशहरा का हिस्सा है। शस्त्र पूजा के बाद सिंह इस विमान के दो सीट वाले प्रशिक्षु संस्करण में उड़ान भरेंगे।

Saturday, August 17, 2019

दुनिया का सबसे अमीर शख्स ये था, अंबानी की दौलत से ज्यादा सोना एक दिन में करता था दान !


ये था दुनिया का सबसे अमीर शख्स, अंबानी की दौलत से ज्यादा सोना एक दिन में करता था दान !
Third party image reference
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

दुनिया के सबसे अमीर राजा के बारे में आज हम आपको अवगत करवाएंगे, जिसके उपहारों ने एक देश की अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी थी। लेकिन उस शासक का खुद का देश अब आर्थिक संकट से लड़ रहा है। वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति जेफ बेजोस की संपत्ति 9028 अरब रुपये से भी ज्यादा है, लेकिन वह इस राजा के आसपास भी नहीं है। हम बात आकर रहे है 14वीं सदी में माली देश के राजा रहे मनसा मूसा की। मनसा मूसा इतिहास के सबसे दानी शासकोंमें से एक थे। वह जहां जाते, वहां आम लोगों को इतना दान करते थे कि उस देश की अर्थव्यवस्था डगमगाने लगती थी।

Third party image reference
मनसा मूसा के राज्य में सोने और अन्य सामानों का आयात निर्यात करने वाले मुख्य व्यापारिक केंद्र थे, इस व्यापार से उन्हें काफी लाभ होता था , उस वक्त में इस राजा के पास पूरी दुनिया के सोने का लगभग आधा हिस्सा था। एक बार मूसा ने सहारा रेगिस्तान और मिस्र से होते हुए मक्का में हज यात्रा पर जाने का निर्णय लिया। माली से हज के लिए निकलते समय उनके कारवां में 60,000 से अधिक लोग, हाथी, घोड़े, ऊंट व अन्य कई प्रकार के जानवर और भारी मात्रा में साजो-सामान समलित था। यात्रा के समय उन्होंने काहिरा में अपने लाव-लश्कर के साथ तीन माह का प्रवास किया था।

Third party image reference
इस बीच उन्होंने वहां के लोगों को उपहार में इतना सोना दे दिया कि मिस्र की अर्थव्यवस्था ही ख़त्म हो गई थी। मूसा के सोने के उपहारों के कारण पूरे 10 वर्ष तक मिस्र में सोने की कीमतें गिरी रही। तीर्थ यात्रा के चलते मूसा ने इतने स्वर्ण उपहार बांटे कि पूरे मध्य पूर्व (मिडिल ईस्ट) क्षेत्र को लगभग 100 अरब रुपये से ज्यादा का आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा था। जब वह हज यात्रा से वापसी कर रहे थे तो मिस्र से होकर गुजरे और देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए उन्होंने सोने को प्रचलन से बाहर करने का यत्न किया। इसके लिए उन्होंने सोने को ब्याज पर वापस लेना शुरू कर दिया था।TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
दुनिया के सबसे अमीर राजा के बारे में आज हम आपको अवगत करवाएंगे, जिसके उपहारों ने एक देश की अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी थी। लेकिन उस शासक का खुद का देश अब आर्थिक संकट से लड़ रहा है। वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति जेफ बेजोस की संपत्ति 9028 अरब रुपये से भी ज्यादा है, लेकिन वह इस राजा के आसपास भी नहीं है।
हम बात आकर रहे है 14वीं सदी में माली देश के राजा रहे मनसा मूसा की। मनसा मूसा इतिहास के सबसे दानी शासकोंमें से एक थे। वह जहां जाते, वहां आम लोगों को इतना दान करते थे कि उस देश की अर्थव्यवस्था डगमगाने लगती थी।
 
 
Third party image reference
मनसा मूसा के राज्य में सोने और अन्य सामानों का आयात निर्यात करने वाले मुख्य व्यापारिक केंद्र थे, इस व्यापार से उन्हें काफी लाभ होता था , उस वक्त में इस राजा के पास पूरी दुनिया के सोने का लगभग आधा हिस्सा था। एक बार मूसा ने सहारा रेगिस्तान और मिस्र से होते हुए मक्का में हज यात्रा पर जाने का निर्णय लिया।
माली से हज के लिए निकलते समय उनके कारवां में 60,000 से अधिक लोग, हाथी, घोड़े, ऊंट व अन्य कई प्रकार के जानवर और भारी मात्रा में साजो-सामान समलित था। यात्रा के समय उन्होंने काहिरा में अपने लाव-लश्कर के साथ तीन माह का प्रवास किया था।
 
 
Third party image reference
इस बीच उन्होंने वहां के लोगों को उपहार में इतना सोना दे दिया कि मिस्र की अर्थव्यवस्था ही ख़त्म हो गई थी। मूसा के सोने के उपहारों के कारण पूरे 10 वर्ष तक मिस्र में सोने की कीमतें गिरी रही। तीर्थ यात्रा के चलते मूसा ने इतने स्वर्ण उपहार बांटे कि पूरे मध्य पूर्व (मिडिल ईस्ट) क्षेत्र को लगभग 100 अरब रुपये से ज्यादा का आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा था।
जब वह हज यात्रा से वापसी कर रहे थे तो मिस्र से होकर गुजरे और देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए उन्होंने सोने को प्रचलन से बाहर करने का यत्न किया। इसके लिए उन्होंने सोने को ब्याज पर वापस लेना शुरू कर दिया था।

Thursday, August 15, 2019

स्वतंत्रता दिवस पर PAK ने तोड़ा सीजफायर, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब, मारे गए 3 पाकिस्तानी सैनिक

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
जम्मू । जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 की हटाए जाने के बाद पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ भारतीय सीमा में कराने के लिए जुटा है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जम्मू-कश्मीर के उरी और राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान ने युद्ध विराम का उल्लंघन किया है। इस दौरार जवाबी कार्रवाई में भारतीय सेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है। सूत्रों की माने तो इस जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के तीन सैनिक मारे गए हैं।
इससे पहले पाकिस्तान की ओर से पांच भारतीय सैनिकों को एलओसी पर युद्ध विराम के दौरान मारे जाने का दावा किया गया था, जिसका भारतीय सेना ने खंडन किया है। बता दें कि, जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में बुधवार को भारतीय सेना ने पाकिस्तान सेना द्वारा समार्थित आतंकवादियों की घुसपैठ की एक बड़ी कोशिश को नाकाम कर दिया था।
वहीं, स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में सुबह 7 बजे फायरिंग और गोलाबारी शुरू की। भारत ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया, जिसमें पाकिस्तानी सेना को काफी नुकसान पहुंचा है और उसके कई सैनिक मारे गए हैं। पाकिस्तान की तरफ से सुबह 7 बजे से शाम साढ़े 5 बजे तक रुक-रुककर फायरिंग होती रही। पाकिस्तान ने अपने 3 सैनिकों के मारे जाने की बात कबूल की है।

पाकिस्तान के इस नापाक प्लान को सेना ने किया ध्वस्त, उड़ी सेक्टर में घुसपैठ नाकाम

पाकिस्तान के इस नापाक प्लान को सेना ने किया ध्वस्त, उड़ी सेक्टर में घुसपैठ नाकाम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
स्वतंत्रता दिवस पर कश्मीर में अशांति फैलाने के मकसद से पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ भारतीय सीमा में कराने के लिए जुटा हुआ है। जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना द्वारा समर्थित आतंकवादियों की घुसपैठ की एक बड़ी कोशिश को नाकाम कर दिया। पाकिस्तानी सेना द्वारा घुसपैठ की कोशिश के लिए पाक सेना की चौकियों से आतंकियों को भारी कवर फायर दिया जा रहा था। 
सैन्य सूत्रों की मानें तो पाकिस्तानी सेना लगातार कश्मीर में हिंसा फैलाने के लिए पाक आतंकियों को घुसपैठ कराने की कोशिश में जुटी हुई है। पाकिस्तान की इस नापाक हरकत की जानकारी पहले से ही भारतीय सेना के पास मौजूद है। ऐसे में सीमा पर सेना पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है। लगातार पाक द्वारा की जा रही घुसपैठ की कोशिशों को भारतीय सेना के वीर जवान नाकाम कर रहे हैं।

उधर कई दिनों से आरएस पुरा सेक्टर की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर प्रशासन की ओर से कड़ी चौकसी की व्यवस्था की गई है। पाकिस्तानी क्षेत्र में चल रही गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। सीमा पर अभी तक सीमा सुरक्षाबलों की अतिरिक्त तैनाती नहीं की गई। रुटीन के मुताबिक मौजूद जवान पाकिस्तान क्षेत्र में पैनी नजर रखे हुए हैं। रात के समय स्थानीय पुलिस के साथ ग्रामीण सुरक्षा समितियों के जवान भी रातभर गश्त कर रहे हैं। सीमावर्ती क्षेत्र से जम्मू और आरएस पुरा जाने वाले वाहनों की जांच पड़ताल कर भेजा जा रहा ताकि कोई अप्रिय घटना न घटे।
 

Friday, August 9, 2019

अनुच्छेद 370 खत्म होते ही ब्रिटेन से आया ये बड़ा बयान, मोदी सरकार के लिए बढ़ी मुश्किलें


TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
पीएम नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A खत्म तो कर दिया लेकिन अब एक नयी मुसीबत उनके सामने खड़ी हो गयी है। ब्रिटेन ने मोदी सरकार के फैसले पर जो प्रतिक्रिया दी है उससे मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।
आपको बता दें कि पहले भी सरकार के इस फैसले का उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला जैसे दिग्गज नेताओं ने विरोध किया था। पाकिस्तान और वहाँ के प्रधानमंत्री इमरान खान भारतीय जनता पार्टी सरकार के इस फैसले से हैरान रह गए। एलओसी पर तनाव के चलते मोदी सरकार ने सुरक्षा बढ़ा दी है।

जम्मू कश्मीर को दो भागों में बाँटा गया

मोदी सरकार ने दमदार फैसला लेते हुए जम्मू कश्मीर और लद्दाख को दो भागों में बांटते हुए दोनों को केंद्रशासित प्रदेश घोषित कर दिया है। जिसमें से जम्मू कश्मीर विधानसभा के साथ और लद्दाख बिना विधानसभा के ही केन्द्रशासित प्रदेश होगा। इस बीच एक बुरी खबर भी आई है। देश की लोकप्रिय नेता और पूर्व केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन से पूरा देश शोक में डूब गया है।

ब्रिटेन से आया ये बड़ा बयान

ब्रिटेन के सांसदों ने मोदी सरकार के फैसले पर गंभीर चिंता व्यक्त की है। विपक्षी लेबर पार्टी की सांसद और कश्मीर पर एपीपीजी की अध्यक्ष डेबी अब्राहम ने कहा,"अनुच्छेद 370 को हटाने संबंधी भारत सरकार द्वारा लिया गया एकतरफा निर्णय जम्मू कश्मीर की जनता के विश्वास के साथ धोखा है। इससे क्षेत्र में तनाव बढ़ सकता है। साथ ही यह फैसला अंतरराष्ट्रीय कानून का भी उल्लंघन करता है।"

Monday, July 29, 2019

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

Model elizabeth

ब्रिटेन की एक मॉडल कुत्ते के साथ शादी रचाने जा रही हैं। इस अजब- गजब शादी के लिए चर्च के पादरी को मनाने की बात की जा रही हैं। ब्रिटेन के बर्क्स की निवासी एलिजाबेथ होड एक मॉडल रह चुकी हैं। उन्होंने ही अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी करने का फैसला किया है। उन्हें उम्मीद है इस शादी के लिए वह चर्च के फादर को जरूर मना लेंगी। लेकिन सवाल यह है कि एलिजाबेथ ने एक कुत्ते के संग शादी रचाने का फैसला क्यों किया है।
Third party image reference
सुनने में अजीब जरूर लग रहा है लेकिन हाल ही में ये बात सामने आई है कि मॉडल रह चुकी एक महिला ने अपने कुत्ते से 'शादी' करने का फैसला किया है. इस बारे में मॉडल का कहना है कि पुरुषों के साथ डेट करने का अनुभव अच्छा नहीं था और इसी के बाद उन्होंने कुत्ते से शादी करने की ठानी है.
Third party image reference
जानकर हैरानी होगी कि मॉडल ने यह फैसला 220 पुरुषों के साथ डेट करने के बाद लिया है. अपनी लाइफ में ये पूरे 220 पुरुषों को डेट कर चुकी है और इसका अनुभव भी काफी खराब रहा जिसके कारण उन्होंने कुत्ते से शादी का फैसला किया.
Third party image reference
वहीं एलिजाबेथ होड को उम्मीद है कि वह एक चर्च के पादरी को अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी कराने के लिए मना लेगी. जानकारी के अनुसार ब्रिटेन के बर्क्स की रहने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार एन्गेजमेंट हो चुकी है. लेकिन शादी नहीं हुई. इस बारे में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं. उन्होंने कहा- मैं बीते 8 सालों में 6 डेटिंग साइट के जरिए 220 पुरुषों के साथ डेट पर गई. लेकिन ये अच्छा नहीं रहा.' बता दें कि, ब्रिटेन के बर्क्स में जीवन बिताने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार सगाई हो चुकी है। किन्तु विवाह नहीं हो पाया। इसके सम्बन्ध में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं।.
Third party image reference
इसके अलावा अजीब बात ये है एलिजाबेथ ने कुत्ते से शादी के लिए प्लानिंग भी कर ली है. एक रिपोर्ट के अनुसार, शादी के दौरान महिला वेडिंग रिंग पहनेगी, जबकि लोगन रिस्टबैंड पहनेगा. शादी के दौरान सिर्फ 20 लोगों को बुलाया जाएगा. इसके बाद एलिजाबेथ डॉग फ्रेंडली होटल में हनीमून के लिए जाएगी. इस बट से एलिज़ाबेथ काफी खुश भी है.

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

ब्रिटेन की एक मॉडल कुत्ते के साथ शादी रचाने जा रही हैं। इस अजब- गजब शादी के लिए चर्च के पादरी को मनाने की बात की जा रही हैं। ब्रिटेन के बर्क्स की निवासी एलिजाबेथ होड एक मॉडल रह चुकी हैं। उन्होंने ही अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी करने का फैसला किया है। उन्हें उम्मीद है इस शादी के लिए वह चर्च के फादर को जरूर मना लेंगी। लेकिन सवाल यह है कि एलिजाबेथ ने एक कुत्ते के संग शादी रचाने का फैसला क्यों किया है।

Third party image reference
सुनने में अजीब जरूर लग रहा है लेकिन हाल ही में ये बात सामने आई है कि मॉडल रह चुकी एक महिला ने अपने कुत्ते से 'शादी' करने का फैसला किया है. इस बारे में मॉडल का कहना है कि पुरुषों के साथ डेट करने का अनुभव अच्छा नहीं था और इसी के बाद उन्होंने कुत्ते से शादी करने की ठानी है.

Third party image reference
जानकर हैरानी होगी कि मॉडल ने यह फैसला 220 पुरुषों के साथ डेट करने के बाद लिया है. अपनी लाइफ में ये पूरे 220 पुरुषों को डेट कर चुकी है और इसका अनुभव भी काफी खराब रहा जिसके कारण उन्होंने कुत्ते से शादी का फैसला किया.

Third party image reference
वहीं एलिजाबेथ होड को उम्मीद है कि वह एक चर्च के पादरी को अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी कराने के लिए मना लेगी. जानकारी के अनुसार ब्रिटेन के बर्क्स की रहने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार एन्गेजमेंट हो चुकी है. लेकिन शादी नहीं हुई. इस बारे में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं. उन्होंने कहा- मैं बीते 8 सालों में 6 डेटिंग साइट के जरिए 220 पुरुषों के साथ डेट पर गई. लेकिन ये अच्छा नहीं रहा.' बता दें कि, ब्रिटेन के बर्क्स में जीवन बिताने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार सगाई हो चुकी है। किन्तु विवाह नहीं हो पाया। इसके सम्बन्ध में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं।.

Third party image reference
इसके अलावा अजीब बात ये है एलिजाबेथ ने कुत्ते से शादी के लिए प्लानिंग भी कर ली है. एक रिपोर्ट के अनुसार, शादी के दौरान महिला वेडिंग रिंग पहनेगी, जबकि लोगन रिस्टबैंड पहनेगा. शादी के दौरान सिर्फ 20 लोगों को बुलाया जाएगा. इसके बाद एलिजाबेथ डॉग फ्रेंडली होटल में हनीमून के लिए जाएगी. इस बट से एलिज़ाबेथ काफी खुश भी है.

Wednesday, July 17, 2019

कुलभूषण जाधव केस: 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला, पाकिस्तान को झटका, फांसी पर रोक

कुलभूषण जाधव केस: 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला, पाकिस्तान को झटका, फांसी पर रोक

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्ली : भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अपना फैसला सुना दिया है। फैसले में अंतराष्ट्रीय अदालत ने भारत के पक्ष में निर्णय लेते हुए उनकी फांसी पर रोक लगा दी है। इस पूरे मामले की सुनवाई कर रहे 16 में से 15 जजों ने भारत का पक्ष लिया है। 
कुलभूषण जाधव मामले में भारत को इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में बड़ी कामयाबी मिली है। ICJ ने जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगाते हुए पाकिस्तान से सजा की समीक्षा करने को कहा है। इसके साथ-साथ उसे जाधव तक भारत को कंसुलर एक्सेस देने का आदेश दिया गया है।
ICJ ने अपने आदेश में कहा कि भारत को कंसुलर एक्सेस न देकर पाकिस्तान ने वियना कन्वेंशन का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान से कहा है कि वह जाधव को फांसी की सजा पर पुनर्विचार करे और उसकी समीक्षा करे। जाधव को सजा की समीक्षा तक उन्हें दी गई फांसी की सजा को निलंबित कर दिया गया है। 
ICJ ने 15:1 के बहुमत से भारत के पक्ष में फैसला सुनाया। इंटरनैशनल कोर्ट ने कहा कि जाधव को कंसुलर एक्सेस मिलनी चाहिए। पाकिस्तान ने वियना कन्वेंशन के आर्टिकल 36 (1) का उल्लंघन किया है। ICJ ने अपने फैसले में कहा कि पाकिस्तान ने भारत को कुलभूषण जाधव से मिलने नहीं दिया और न ही उनकी तरफ से कोर्ट में पक्ष रखने दिया।
हालांकि, ICJ ने पाकिस्तानी सैन्य अदालत के फैसले को रद्द करने, जाधव की रिहाई और उन्हें सुरक्षित भारत पहुंचाने की नई दिल्ली की कई मांगों को खारिज कर दिया। फिर भी ICJ का यह फैसला भारत के लिए बड़ी जीत है और पाकिस्तान के लिए बड़ा झटका है। कोर्ट ने भारत की अपील के खिलाफ पाकिस्तान की ज्यादातर आपत्तियों को सिरे से खारिज कर दिया।
बता दें कि पाकिस्तान ने 3 मार्च 2016 को दावा किया था कि उसने एक रिटायर भारतीय नेवी ऑफिसर को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया है। भारत ने पाकिस्तान के दावे को खारिज करते हुए कहा था कि इस्लामाबाद ने रिटायर्ड नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव का ईरान से अपहरण किया, जहां वह रिटायरमेंट के बाद कारोबार के सिलसिले में थे।
भारत ने लगातार पाकिस्तान से यह मांग की कि वह वियना कन्वेंशन के तहत उसे जाधव तक राजनयिक पहुंच मुहैया कराए, लेकिन इस्लामाबाद ने बार-बार इस मांग को खारिज कर दिया। बाद में 2017 में पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने जाधव को जासूसी और आतंकवाद के आरोप में फांसी की सजा सुना दी। इस फैसले के खिलाफ 8 मई 2017 को भारत इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस पहुंचा। अगले दिन 9 मई 2017 को ICJ ने जाधव की फांसी की सजा पर अपने अंतिम फैसला आने तक रोक लगा दी।

Saturday, June 29, 2019

पीएनबी धोखाधड़ीः स्विस अधिकारियों ने नीरव मोदी और उनकी बहन के चार खातों से लेन-देन पर लगाई रोक

पीएनबी धोखाधड़ीः स्विस अधिकारियों ने नीरव मोदी और उनकी बहन के चार खातों से लेन-देन पर लगाई रोक
पीएनबी धोखाधड़ीः स्विस अधिकारियों ने नीरव मोदी और उनकी बहन के चार खातों से लेन-देन पर लगाई रोक
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्ली: स्विट्जरलैंड के अधिकारियों ने दो अरब डॉलर से अधिक पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी और उसकी बहन के चार स्विस खातों से लेनदेन पर रोक लगा दी है. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी.
भारत में नीरव मोदी के खिलाफ चल रहे आपराधिक धन शोधन मामले में ये कार्रवाई की गयी है.
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वर्तमान में इन खातों में कुल 283.16 करोड़ रुपये जमा है. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध पर स्विटजरलैंड के अधिकारियों ने इन बैंकों के परिचालन पर रोक लगायी है. ईडी ने कहा कि दोनों ने भारत में बैंक धोखाधड़ी से अर्जित राशि इन बैंक खातों में जमा करायी है.
उसके मुताबिक ईडी ने कुछ समय पहले स्विस अधिकारियों से इस बाबत अनुरोध किया था और धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत आधिकारिक तौर पर अनुरोध भेजा था.
सूत्रों के मुताबिक बैंक धोखाधड़ी मामले में लंदन में गिरफ्तार नीरव मोदी के खाते में 3,74,11,596 डॉलर जमा है जबकि उसकी बहन पूर्वी मोदी के खाते में 27,38,136 पौंड (जीबीपी) जमा हैं. उनके मुताबिक कुल जमा 283.16 करोड़ रुपये के आसपास है.
इस बात की उम्मीद है कि केंद्रीय जांच एजेंसी अब पीएमएलए के तहत इन बैंक खातों को कुर्क करने की दिशा में कदम उठाएगी.
प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) पंजाब नेशनल बैंक को 13,000 करोड़ रुपये का चूना लगाने के मामले में नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी और अन्य के खिलाफ धनशोधन एवं भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रहे हैं.
इस कथित घोटाले का खुलासा पिछले वर्ष हुआ था. ईडी ने मुंबई की एक अदालत में दाखिल किये गए अपने आरोपपत्र में पूर्वी मोदी का नाम भी आरोपी के रूप में शामिल किया है.

Tuesday, June 18, 2019

पश्चिम एशिया में एक हजार अतिरिक्त सैनिक तैनात करेगा अमेरिका

पश्चिम एशिया में एक हजार अतिरिक्त सैनिक तैनात करेगा अमेरिका
वाशिंगटन। अमेरिका ने ओमान की खाड़ी में तेल के टैंकरों पर हुए हमले के मद्देनजर पश्चिम एशिया में अपने एक हजार अतिरिक्त सैनिक तैनात करने का फैसला किया है। अमेरिका के कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शानाहन ने सोमवार को एक वक्तव्य जारी कर यह जानकारी दी।
शानाहन ने कहा, ‘‘अमेरिका की सेंट्रल कमान की ओर से अतिरिक्त सैनिकों की मांग को देखते हुए और ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ तथा व्हाइट हाउस से सलाह करने के बाद, मैंने पश्चिम एशिया में वायु, नौसैनिक समेत तमाम रक्षा चुनौतियों का सामना करने के लिए लगभग एक हजार अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती को अधिकृत किया है।’’
शानाहन ने कहा कि अमेरिका ईरान के साथ किसी भी प्रकार का संघर्ष नहीं चाहता है। क्षेत्र में अपने हितों और कर्मियों की सुरक्षा के लिए वह अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती कर रहा है। अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘ हाल में ईरान की ओर से किए गए हमलों से हमें मिली खुफिया जानकारी और पुख्ता हुई है जिसमें ईरानी सुरक्षाबलों के उद्देश्यों का पता चलता है।’’ ओमान की खाड़ी में गुरुवार को होरमुज जलडमरूमध्य के नजदीक दो तेल टैंकरों अल्टेयर और कोकुका करेजियस में विस्फोट किया गया था।
ईरान और अरब के खाड़ी देशों के जल क्षेत्र में हुए इस हादसे के कारणों का अभी तक पता नहीं चल सका है। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने इसके लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। श्री पोम्पियो के मुताबिक अमेरिका ने खुफिया जानकारी के आधार पर ये आरोप लगाए हैं। अमेरिकी सेना ने अपने दावे के पक्ष में एक वीडियो जारी किया है जिसमें ईरानी सुरक्षाबल एक टैंकर से विस्फोटक हटाते हुए दिख रहे हैं। ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय ने ईरानी सेना के रिवोल्यूशनरी गार्ड दल को ओमान की खाड़ी में तेल के टैंकरों पर हमले के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

Tuesday, June 11, 2019

PNB घोटाला: भगौड़े नीरव मोदी की जमानत अर्जी पर सुनवाई पूरी, कल 10 बजे आएगा फैसला

PNB घोटाला: भगौड़े नीरव मोदी की जमानत अर्जी पर सुनवाई पूरी, कल 10 बजे आएगा फैसला
लंदन. ब्रिटेन के उच्च न्यायालय ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई शुरू की. नीरव (Nirav Modi) ने निचली अदालत के जमानत देने से इनकार करने के फैसले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी है. 

हीरा कारोबारी का प्रयास है कि पंजाब नेशनल बैंक के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उसे भारत को न सौंपा जाए. नीरव मोदी (Nirav Modi) की कानूनी टीम ने न्यायाधीश न्यायमूर्ति इंग्रिड सिमलर की अदालत के समक्ष दलील रखना शुरू किया था. उनकी टीम की कोशिश है कि मोदी को न्यायिक हिरासत में जेल में बंद रखने के मजिस्ट्रेटी अदालत के फैसले को पटल दिया जाए.

वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत नीरव मोदी (Nirav Modi) की जमानत की अर्जी तीन बार खारिज कर चुकी है क्यों की उसको लगा है कि यह हीराकारोबारी जमानत तोड़ कर ब्रिटेन से भाग सकता है. नीरव मोदी (Nirav Modi) की वकील क्लेयर मोंटगोमरी ने उच्च न्यायालय में कहा, " हकीकत यह है कि नीरव मोदी (Nirav Modi) कोई दुर्दांत अपराधी नहीं है जैसा की भारत सरकार की ओर से दावा किया जा रहा है. वह एक जौहरी हैं और उन्हें ईमानदार और विश्वसनीय माना जाता है.

कोर्ट में नीरव (Nirav Modi) के वकील ने कहा कि स्विट्जरलैंड और अन्य स्थानों पर उनकी संपत्ति फ्रीज की गई हैं. फायरस्टार की घटना के बाद ज्यादातर मामलों में ऑफिस होल्डर्स ग्रुप की संपत्ति रखते हैं।अब इस मामले पर कोर्ट कल 10 बजे अपना फैसला सुनाएगी.
न्यायमूर्ति सिमलर ने इस पर हस्तक्षेप करते हुए इस आशंका का संकेत दिया कि नीरव मोदी (Nirav Modi) जमानत पर छूटने के बाद भाग सकता है. उन्होंने कहा मोदी के पास ब्रिटेन से भागने के साधन हैं और इस मामले में इस बात को ध्यान में रखना होगा. उन्होंने कहा कि " काफी भारी भरकम " रकम का मामला है.

Monday, May 20, 2019

ईरान अगर लड़ना चाहता है तो उसका अंत हो जाएगा : डोनाल्‍ड ट्रंप

ईरान अगर लड़ना चाहता है तो उसका अंत हो जाएगा : डोनाल्‍ड ट्रंप

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई‍ दिल्‍ली: अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ईरान को बेहद कड़े शब्‍दों में चेतावनी दी है. ट्रंप ने कहा है कि अगर ईरान ने वाशिंगटन के हितों पर हमला किया तो वह तबाह कर दिया जाएगा. 
एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा, “अगर ईरान लड़ना चाहता है तो वह ईरान का आधिकारिक अंत होगा अमेरिका को फिर कभी धमकी मत देना.” ट्रंप ने अपनी धमकी ईरान की रिवोल्यूशनरी गार्डस के कमांडर हुसैन सलामी के रविवार को दिए उस बयान के कुछ घंटों बाद ही जारी की है जिसमें उन्होंने कहा था कि ईरान को युद्ध से डर नहीं लगता लेकिन अमेरिका को लगता है.
जब से अमेरिका ने युद्धपोत और B-52 बमवर्षकों को संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) के फुजैराह में तैनात करने का आदेश दिया है, ईरान और अमेरिका के बीच तल्‍खी बढ़ गई है. इसके अलावा अमेरिका ने ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी कॉर्प्स को एक आतंकी समूह के रूप में नामित किया है. ईरानी तेल निर्यात पर वह पहले ही पूरी तरह से प्रतिबंध लगा चुका है.

ईरान के भी तेवर तल्‍ख

गल्‍फ को-ऑपरेशन काउंसिल (GCC) ने अरबियन खाड़ी में और सैनिक तैनात करने की अमेरिका की दरख्‍़वास्‍त मान ली है. अमेरिका का कहना है कि इससे उसे ईरान की तरफ से उठने वाले किसी भी खतरे से निपटने में मदद मिलेगी. ईरान की सरकारी एजंसी IRNA ने विदेश मंत्री मोहम्‍मद जवाद जरीफ के हवाले से कहा कि उन्‍हें नहीं लगता कि क्षेत्र में युद्ध होगी क्‍योंकि तेहरान संघर्ष नहीं चाहता और कोई देश ‘ईरान का सामना करने की गलतफहमी’ में नहीं है.
ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खमेनेई ने भी विवादित मुद्दों पर अमेरिकी सरकार के साथ किसी तरह की बातचीत करने से इनकार किया है. खाड़ी क्षेत्र में मौजूदा तनाव के बीच संयुक्त राष्ट्र ने सभी पक्षों से ज्यादा से ज्यादा संयम बरतने का आह्वान किया है. संयुक्त राष्ट्र एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि गुटेरेस हालात पर करीबी नजर बनाए हुए हैं.

Saturday, May 11, 2019

पाकिस्तान के ग्वादर में फाइव स्टार होटल में घुसे आतंकी, गोलीबारी जारी

पाकिस्तान फाइव स्टार होटल में घुसे आतंकी के लिए इमेज परिणाम
पाकिस्तान के ग्वादर में फाइव स्टार होटल में घुसे आतंकी, गोलीबारी जारी
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
इस्लामाबाद. बलूचिस्तान के ग्वादर में एक फाइव स्टार होटल में कुछ आतंकी घुस गए हैं। पाकिस्तान मीडिया की मानें तो इन आतंकियों की संख्या 3-4 हो सकती है। इसके अलावा मौके से गोलियों के चलने की आवाज भी आ रही है। पाक मीडिया ने ग्वादर के स्टेशन हाउस ऑफिसर असलाम बंगुलजई के हवाले से बताया कि यहां के पर्ल कॉन्टिनेंटल होटल में फायरिंग हो रही है।
होटल में 3-4 आतंकियों के होने की आशंका है। आईजीपी का कहना है कि होटल से ज्यादातर लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। गौरतलब है कि बलूचिस्तान का ग्वादर क्षेत्र चीन के लिए काफी महत्वपूर्ण है, जहां वह पाक सरकार के साथ ग्वादर एयरपोर्ट विकसित कर रहा है।
एसएचओ ने कहा, 'दोपहर बाद करीब 4:50 पर हमें खबर मिली कि पीसी होटल में 3-4 आतंकी घुसे हैं। हमें जानकारी मिली कि वहां गोलियां चलने की आवाज भी आ रही हैं, लेकिन अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं हैं।' पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया कि पर्ल होटल में कोई विदेशी नागरिक नहीं है।
एसएचओ का कहना है, 'स्थिति को संभालने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल, एटीएफ (ऐंटी टेररिस्ट फोर्स) और आर्मी के लोग मौके पर मौजूद हैं।' आईजीपी मोहसिन हसन भट्ट ने भी इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा, '2-3 हथियारबंद आतंकियों ने पहले फायरिंग की और उसके बाद होटल में घुसे। होटल से 95 प्रतिशत गेस्ट को बाहर निकाल लिया गया है। अब कुछ गेस्ट और होटल स्टाफ वहां है।'
पाक मीडिया का कहना है कि पुलिस ने आसपास के पूरे इलाके को सील कर दिया है। यह होटल ग्वादर के कोह-ए-बाटिल पहाड़ी पर मौजूद है। बिजनस या घूमने के मकसद से आने वाले लोगों के बीच यह होटल काफी लोकप्रिय है। ग्वादर होटल में यह हमला उस समय हुआ, जब एक हफ्ते पहले ही 11 नेवी, एयर फोर्स और कोस्टल गार्ड कर्मियों समेत 14 लोगों को एक बंदूकधारी ने ग्वादर के ओरमारा के पास मार दिया था।
बता दें कि अभी चीन पाक सरकार के साथ मिलकर कनेक्टिविटी और व्यापार को बढ़ावा देने के लिए ग्वादर पोर्ट को विकसित कर रहा है। पेइचिंग पाकिस्तान में काफी बड़ा निवेश कर रहा है।

Thursday, May 2, 2019

तीन तलाक और सात बच्चों के बाद 66 साल के थाईलैंड के राजा ने अपनी बॉडीगार्ड से रचाई शादी

थाईलैंड के राजा माहा वाजिरालोंगकोर्न के लिए इमेज परिणाम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
थाईलैंड के राजा माहा वाजिरालोंगकोर्न ने बुधवार को अपने निजी सुरक्षा बल की डिप्टी हेड से विवाह कर लिया है। वाजिरालोंगकोर्न ने अपनी पत्नी को रानी सुथिदा की उपाधि दी है। यह उनकी चौथी शादी है। उनका तीन बार तलाक भी हो चुका है। उनके सात बच्चे भी हैं।
 
66 साल के वाजिरालोंगकोर्न को किंग रामा X के नाम से जाना जाता है। उनकी शादी की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वाइरल हो गई। शाम तक थाईलैंड के सभी टीवी चैनलों पर शादी की वीडियो और तस्वीरें दिखाई जा रही थीं।
 
वाजिरालोंगकोर्न अपने पिता राजा भूमिबोल अदुलयादेज की अक्टूबर, 2016 में हुई मौत के बाद संवैधानिक सम्राट बनाए गए थे। उन्हें शनिवार को आधिकारिक रूप से ताज पहनाया जाएगा।
 
कौन हैं रानी सुथिदा : 
 
वाजिरालोंगकोर्न ने साल 2014 में सुथिदा तिदजई को बॉडीगार्ड यूनिट की डिप्टी कमांडर के तौर पर नियुक्त किया था। सुथिदा थाई एयरवे में फ्लाइट अटेंडेंट रह चुकी हैं। पहले भी कई बार लोगों ने वाजिरालोंगकोर्न का नाम सुथिदा के साथ जोड़ा। लेकिन राजमहल की ओर से कभी इस बारे में कुछ नहीं कहा गया। दिसंबर, 2016 में सुथिदा को रॉयल थाई आर्मी की फुल जनरल बना दिया। सुथिदा को 2017 में किंग के निजी सुरक्षा बल की डिप्टी कमांडर बनाया गया। 

Wednesday, May 1, 2019

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को इंग्लैंड में जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए 50 हफ्तों की सजा

संबंधित इमेज
विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्ली : इंग्लैंड में जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के लिए विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को 50 सप्ताह की जेल की सजा सुनाई गई है। गौरतलब है कि लंदन में इक्वाडोर के दूतावास में सात वर्षों बिताने के बाद 47 वर्षीय असांजे को इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार किया गया था।
असांजे ने 2012 में दूतावास में शरण ली थी ताकि स्वीडन में वह बलात्कार के आरोपों से बच सकें। इक्वाडोर द्वारा उनके शरणार्थी का दर्जा समाप्त किए जाने के बाद 11 अप्रैल को उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।
दुनियाभर में गोपनीय दस्तावेजों के जरिए तहलका मचाने वाले विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को गुरुवार को लंदन स्थित इक्वाडोर दूतावास में करीब 7 सालों तक रहने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। असांज 2012 से ही यहां शरण लिए हुए थे। असांज को गिरफ्तार करने वाली पुलिस का कहना था कि उन्‍हें कोर्ट में पेश नहीं होने के लिए हिरासत में लिया गया है।
जानें असांजे के बारे में और भी बहुत कुछ -
37 स्कूल किए अटैंड
3 जुलाई 1971 को ऑस्ट्रेलिया में जन्मे अंसाज के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने बचपन और जवानी के दिनों को मिलाकर कुल 37 स्कूल अटेंड किए। असांज ने यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न से फिजिक्स और मैथ्स में डिग्री हासिल की। कंप्यूटर में रूचि रखने वाले असांज ने 1990 में एक कंप्यूटर प्रोगामर बने और बाद में सॉफ्टवेयर डेवलपर बन गए। अंसाज को हैंकिग में महारत हासिल थी। 
ऐसे की विकिलीक्स की शुरूआत
2006 में उन्होंने विकिलीक्स ( wikileaks.org) की शुरूआत की तांकि वह बिना ट्रेस में आए बगैर इंटरनेट पर गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक कर सके। उसके बाद उन्होंने अपनी वेबसाइट की जरिए ऐसे-ऐसे खुलासे किए कि विश्वभर में तहलका मच गया। विश्व की कई सरकारों की गोपनीय जानकारियों को अपनी वेबसाइट पर डाला तो मानों वैश्विक जगत में भूकंप आ गया। इसे लेकर काफी बवाल भी हुई। 
रेप का लगा आरोप
2010 में प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने असांज को 'पर्सन ऑफ द ईयर' के खिताब से नवाजा। 2010 में असांज पर स्वीडन की दो महिलाओं ने रेप और यौन शोषण का आरोप लगाया जिसके बाद उनके खिलाफ स्वीडन की एक अदालत ने अरेस्ट वारंट भी जारी किया, लेकिन असांज ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये झूठे और बेबुनियाद आरोप हैं।
 2010 में असांज की विकिलीक्स ने अफगानिस्तान और इराक युद्ध में सेना से जुड़े कई गोपनीय दस्तावेज प्रकाशित किए। इसका असर ये हुआ कि अमेरिका ने असांज को बहिष्कृत कर दिया। 2012 में ब्रिटेन द्वारा स्वीडन को प्रत्यर्पित किए जाने से बचने के लिए उन्होंने इक्वाडोर के दूतावास में शरण ली और तभी से वह लंदन में शरणार्थी के रूप में रह रहे थे।
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप का आरोप
असांज पर 2016 में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के दौरान हस्तक्षेप का आरोप भी लगा। विकिलीक्स ने तब डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन की टीम की कई ऐसे गोपनीय मेल सार्वजनिक कर दिए जो चुनावी अभियान से जुड़े थे और इसका सीधा असर चुनावों पर भी पड़ा। असांज पर आरोप लगा कि उन्होंने रूस की मदद से ये गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक किए। 2017 में स्वीडन में उनके खिलाफ लगा रेप का आरोप हट गया जिसके बाद उन्होंने इक्वाडोर की नागरिकता ले ली।
इक्‍वाडोर के राष्‍ट्रपति का कहना है कि असांज द्वारा लगातार अंतराष्‍ट्रीय कानूनों के उल्‍लंघन के कारण उन्‍हें दिया गया राजनीतिक शरणार्थी का दर्जा वापस ले लिया गया है। हालांकि विकिलीक्‍स का कहना है कि इक्‍वाडोर ने उन्‍हें दी गई राजनीतिक शरण वापस लेते हुए अंतरराष्‍ट्रीय कानूनों का उल्‍लंघन किया है।

CCH ADD

CCH ADD
CCH ADD

Popular Posts

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news