Monday, January 30, 2017

समाजवादी पार्टी विवाद: अपर्णा की एंट्री से परेशान थे अखिलेश यादव

Toc News
लखनऊ. यूपी में विधानसभा चुनाव से पूर्व से समाजवादी पार्टी में घमासान मचा हुआ है। सीएम अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम के खिलाफ ही विद्रोह का बिग्ल फूंक दिया है। यह विवाद देश के सबसे बड़े राजनीतिक घराने में से यादव परिवार की सबसे छोटूी बहू अपर्णा यादव की राजनीतिक एंट्री से भी जुड़ा हुआ है।

मुलायम की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा को लखनऊ कैंट से पार्टी उम्मीदवार घोषित किया गया था। समाजवादी पार्टी में चल रही हालिया राजनीतिक अदावत की एक वजह ‘छोटी बहू’ की महत्वकांक्षा को भी समझा जा रहा है।

एसपी ने पिछले साल ही लखनऊ कैंट सीट से अपर्णा को पार्टी उम्मीदवार बना दिया था। इसके बाद से अपर्णा सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं। माना जा रहा है कि अखिलेश यादव कैंप ने अपर्णा को एक ‘अनावश्यक एंट्री’ के तौर पर लिया। सीएम पद और मूलायम के उत्तराधिकारी पर अखिलेश की ‘नैसर्गिक’ दावेदारी को इससे खतरा भी समझा जाने लगा।

सूत्रों का कहना है कि अखिलेश यादव साधना गुप्ता के परिवार के राजनीति में हस्तक्षेप के खिलाफ रहे हैं। यही वजह रही कि 2014 में प्रतीक यादव के राजनीतिक करियर की शुरुआत में भी अखिलेश ने अपनी टांग अड़ाई थी। इन्हीं सब वजहों को लेकर अखिलेश ने पार्टी पर अपनी पकड़ के लिए मुलायम के सामने कठिन शर्तें रख दी हैं।

इसी राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई में अखिलेश यादव लगातार मुलायम के खिलाफ कदम उठा रहे हैं। ऐसे में जब उन्होंने अपने चाचा शिवपावल को यूपी के मामलों से अलग किया तो मुलायम चुनाव आयोग के दर पर पहुंच गए। मुलायम ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर अखिलेश की निर्वाचन को चुनौती दी है।

मुलायम के दावे को काउंटर करने के लिए उनके दूसरे भाई और सांसद राम गोपाल यादव भी चुनाव आयोग पहुंचे। उन्होंने चुनाव आयोग के सामने कुछ साक्ष्य पेश किए। उन्होंने ‘नैशनल एग्जिक्युटिव’ के कुछ विडियो टेप भी चुनाव आयोग के सामने रखे हैं। राम गोपाल यादव ने चुनाव आयोग को तर्क दिया है कि पार्टी के चुनाव चिह्न साइकल पर अखिलेश का दावा सही है।

सूत्रों का कहना है कि दो मुद्दों पर अखिलेश बिल्कुल समझौते के मूड में नहीं है। एक तो उन्होंने यूपी के मामलों से शिवपाल को हटा पार्टी पर पूरी तरह से अपने कब्जे के संकेत दे दिए हैँ। दूसरा वह पार्टी में अमर सिंह की एंट्री को किसी भी कीमत पर स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं।

मंगलवार को अखिलेश और मुलायम के बीच शांति स्थापित करने के लिए दोनों के मुलाकात की भी खबर आई। हालांकि राम गोपाव यादव किसी भी तरह के समझौते की बात से इनकार कर रहे हैं। उनका कहना है कि पार्टी अखिलेश की अध्यक्षता में ही विधानसभा चुनाव लड़ेगी। चुनाव आयोग के सूत्रों ने बताया कि मुलायम ने मंगलवार को लिखित ऐप्लिकेशन सौंपा है। अब चुनाव आयोग इलेक्शन सिंबल ऑर्डर 1968 के तहत दोनों पक्षों के दस्तावेजों की जांच करेगा।

मनवीर गुर्जर बने 'बिग बॉस 10' के विजेता

TOC NEWS
मनवीर गुर्जर रियलिटी शो बिग बॉस 10 के विजेता चुने गए हैं। 15 सप्ताह तक चले इस शो में वह कॉमनर्स की टीम की तरफ से घर में दाखिल हुए थे। पुरस्कार के रूप में उन्हें ट्रॉफी और 40 लाख रुपये मिले।
ग्रैंड फिनाले में जीत के बाद दरियादिली दिखाते हुए मनवीर ने 20 लाख रुपये शो के होस्ट सलमान खान की चैरिटी संस्था ‘बींग ह्यूमन’ को दान में दे दिए। शो की लोकप्रिय सेलिब्रिटी प्रतियोगी बानी जज पहली रनर अप रहीं। वहीं, मिस इंडिया 2013 में फाइनलिस्ट रहीं लोपामुद्रा को तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा। बिग बॉस ने विजेता की घोषणा से पहले आखिरी चार प्रतियोगियों को 10 लाख रुपये लेकर शो छोड़ने का मौका दिया। बिग बॉस की इस पेशकश को स्वीकार करते हुए मनु पंजाबी ने अपनी दावेदारी छोड़ दी। इसके बाद लोपामुद्रा वोटों के आधार पर बाहर हो गईं। जबकि आखिरी मुकाबले में मनवीर ने वोटों के आधार पर बानी से बाजी मारी। ग्रैंड फिनाले के दौरान स्वामी ओम और प्रियंका जग्गा को छोड़कर बिग बॉस 10 के सभी प्रतियोगी मौजूद थे।मनवीर गुर्जर बिग बॉस 10 के विजेता बने
आम आदमी के रूप में 'बिग बॉस' के घर में दाखिल हुए मनवीर गुर्जर शो के दसवें सीजन के विजेता बन चुके हैं. 'बिग बॉस' के दस सीजनों के इतिहास में यह पहला मौका था जब देश की आम जनता यानी इंडियावालों को इस सेलिब्रिटी रियलिटी शो का हिस्सा बनने का मौका मिला और एक इंडियावाले ने यह शो अपने नाम कर लिया. वीजे बानी शो की रनर अप रहीं. वहीं लोपामुद्रा राउत तीसरे स्थान पर रहीं. इससे पहले मनु पंजाबी 10 लाख रुपए लेकर शो से बाहर हो गए.
'बिग बॉस' के घर के अंदर 15 हफ्तों के सफर ने मनवीर गुर्जर को पूरी तरह बदल दिया, इन 15 हफ्तों में न केवल उनके लुक में बल्कि उनकी पर्सनैलिटी में भी काफी बदलाव आया है. घर के अंदर मनवीर खुद कई बार कहते सुने गए कि अपने घर में वह एक गिलास उठाकर यहां से वहां नहीं रखते थे और यहां वह सारा काम कर रहे हैं. रिजल्ट अनाउंस होने से कुछ देर पहले मनवीर ने कहा, 'पहले जब घर में कोई मुझे कुछ भी बोलता था तो मुझे गुस्सा आ जाता था लेकिन अब घरवालों की अहमियत का पता चला है.'
मनवीर गुर्जर बने 'बिग बॉस 10' के विजेता के लिए चित्र परिणाम

 

 
घर के अंदर मनवीर ही एक ऐसे प्रतिभागी रहे जिन्हें सबने पसंद किया, बढ़ी हुई दाढ़ी लेकर घर में दाखिल हुए मनवीर ने मनु को बचाने के लिए अपनी दाढ़ी काट दी. मनु, मोना, नितिभा से दोस्ती हो या घर का कोई काम, या फिर स्वामी ओम को संभालना ही क्यों न हो, मनवीर ने हर काम दिल से किया. शायद यही वजह रही कि उन्होंने पूरे इंडिया का दिल जीत लिया.
 
विजेता की घोषणा से ठीक पहले लोपामुद्रा राउत को घर से एविक्ट किया गया, एविक्ट होने के बाद लोपा ने कहा कि वह घर से बाहर निकलकर काफी खुश हैं. उनसे पहले मनु पंजाबी ने 10 लाख लेकर अपनी मर्जी से शो से बाहर हो गए थे. बाहर आने के बाद मनु ने कहा कि 'बिग बॉस' के घर से उनकी मर्जी के बिना कोई नहीं निकल सकता है लेकिन उन्हें मौका मिला अपनी मर्जी से बाहर निकलने का तो उन्होंने सोचा कि बाहर निकलना ही अच्छा है.
 
 

लड़की संबंध बनते बनते बोली, मुझसे शादी कर लेना, गुत्थी सुलझाकर लाश बरामद

TOC NEWS

जालंधर के गांव कोहाला के राजबीर उर्फ राजा ने 17 साल की संदीप कौर का मुंह पर ईंट मारकर कत्ल कर दिया। राजा को शक था कि संदीप कौर का किसी और से अफेयर है। मौका मिलते ही राजा ने लाश घर के पास एक खेत में दफनाई और घर जाकर सो गया। घटना 22 दिसंबर की है। 11 दिन बाद पुलिस ने मोबाइल कॉल की मदद से कत्ल की गुत्थी सुलझाकर लाश बरामद की।

Image result for जालंधर के गांव कोहाला के राजबीर उर्फ राजा ने 17 साल की संदीप कौर का मुंह पर ईंट

अफेयर के चलते की थी हत्या

22 साल के राजा और 17 साल की संदीप के बीच दो साल से अफेयर था। 20 दिसंबर को उसे पता चला था कि संदीप की जिंदगी में कोई और शख्स आ गया है। जब उसने संदीप से बात की तो उसने शादी करने का दबाव बनाया और मना करने पर सल्फॉस निगल खुदकुशी करने की धमकी दी। इससे नाराज होकर उसने संदीप का कत्ल कर दिया। सोमवार दोपहर पुलिस राजा को गांव लेकर आई। राजा ने नायब तहसीलदार के सामने क्राइम सीन और उस जगह की निशानदेही करवाई। जहां पर लाश दफनाई गई थी। पुलिस ने राजा की निशानदेही पर लाश बरामद करने की वीडियोग्राफी करवाई।
 
गर्लफ्रेंड ने कहा- शादी करो, नहीं तो मर जाऊंगी ब्वॉयफ्रेंड ने गला घोंटकर लाश खेतों में दफना दी

हिरासत में लेकर पूछताछ

पुलिस की पकड़ में आते ही कबूला जुर्मथाना लांबड़ा में संदीप कौर की मां ने शिकायत दी थी कि उसकी नाबालिग बेटी को कोई अगवा कर ले गया है। एसएचओ सुखपाल सिंह रंधावा ने जांच शुरू की तो गांव के एक युवक से पूछताछ की। उसने राजा के बारे में बताया। राजा की कॉल डिटेल में पता चला 22 की दोपहर संदीप से बात हुई थी। राजा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने थोड़ी देर में ही जुर्म कबूल लिया। पहले गला घोंटा, फिर मुंह पर मारी ईंटराजबीर सिंह ने पुलिस को बताया कि वह ट्यूबवैल मैकेनिक है। 22 दिसंबर की दोपहर संदीप कौर ने मिस कॉल दी। फोन किया तो संदीप ने देर शाम हवेली के पास मिलने के लिए बुलाया। 

पहले उसने संदीप के साथ संबंध बनाए फिर उसी दौरान शादी की बात हुई। उसनेImage result for जालंधर के गांव कोहाला के राजबीर उर्फ राजा ने 17 साल की संदीप कौर का मुंह पर ईंट संदीप से पूछा कि तुमने मुझे धोखा क्यों दिया। संदीप यह बात मानने को तैयार नहीं हुई। राजा ने कहा कि उसे पता था कि संदीप झूठ बोल रही है।
संदीप के बालिग होने में दो महीने बाकि थे। संदीप ने अपना सिर दीवार पर मारकर खुदकुशी की कोशिश की। गुस्से और घबराहट में राजा ने संदीप का गला घाेंट दिया। संदीप जमीन पर गिरकर तड़पने लगी तो ईंट उठाकर उसके मुंह पर दे मारी। संदीप की मौत के बाद लाश हवेली के पास झाड़ियों में छिपा दी। बाद में लाश गांव ले जाकर खेत में गड्ढा खोदकर दफना दी। आधी रात को घर पहुंचकर सो गया।
 
 
 

भाभी के साथ रंगरेलिया मनानें के लिए पत्नी और 2 बच्चो को ज़िंदा जला दिया

TOC NEWS

सहरसा : जब हवस की आग और अवैध संबंध की चिंगारी भड़कती है तो संवेदनशील से संवेदनशील रिश्ते भी जलकर खाक हो जाते है. ऐसा ही एक मामला बिहार में सामने आया है जहा एक युवक ने अपनी भाभी के साथ अवैध संबंध की करतूत पर पर्दा डालने के लिए अपनी बीवी और दो बच्चो को ज़िंदा जलाकर मार डाला. बाद में इस वारदात को छिपाने के लिए तीनो के शवो को घर में ही दफ़न कर दिया. पुलिस ने तीनो शवो को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.
अवैध संबंध के चलते रिश्तो की चिंदिया उधेड़ने वाला यह शर्मनाक मामला सहरसा जिले के सलखुआ थाना क्षेत्र का है. यहां के पुरैनी गांव में एक युवक का अपनी भाभी के साथ अवैध संबंध चल रहा था. आरोपी युवक शादीशुदा और उसके दो बच्चे भी थे इसके बाद भी वह अपनी भाभी के साथ रात गुजरता था. हवस की आग में जल रहे देवर भाभी ने कभी कल्पना भी नही की होगी कि एक दिन उनके इस नापाक रिश्ते का घिनौना सच सबके सामने आ जाएगा.
पत्नी ने जब अपने पति को चचेरे भाई कि पत्नी के साथ रंगरेलिया मानते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया तो घर में विवाद बढ़ने लगा. हर दिन आरोपी युवक और उसकी पत्नी के बीच भाभी के साथ अवैध संबंध को लेकर विवाद होने लगा. एक दिन इसी बात को लेकर विवाद इतना बढ़ गया कि युवक ने अपनी पत्नी और 6 साल के सत्यम व 3 वर्षीय सोनम को घर में बांध दिया और फिर इसके बाद उन्हें ज़िंदा आग के हवाले कर दिया.
 
इतना ही नही तीनो की लाशो को ठिकाने के लगाने के लिए उन्हें घर में ही दफन कर लिया. पुलिस ने शुक्रवार को घर से तीनो के अधजले शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए. मृतिका के भाई की शिकायत पर मामला दर्ज कर 10 लोगो को नामजद आरोपी बनाया गया है.
 

महिला एसडीएम के यौनशोषण मामले से दोषमुक्त को वापस नौकरी


Image result for महिला यौनशोषण

TOC NEWS
जबलपुर। हाईकोर्ट ने यहां महिला एसडीएम के यौनशोषण मामले से दोषमुक्त हुए कम्प्यूटर आॅपरेटर को वापस नौकरी पर रखने का आदेश दिया है। महिला एसडीएम ने उस पर यौनशोषण का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था। वो 2 महीने तक जेल में भी रहा लेकिन बाद में दोषमुक्त हो गया।
मामला शहडोल के जयसिंहनगर में एसडीएम रहीं महिला अफसर और कंप्यूटर ऑपरेटर ऋषिकेश मिश्रा का है। 2011 में जयसिंहनगर में महिला एसडीएम को पदस्थ किया गया। इसी साल ऋषिकेश की नियुक्ति कंप्यूटर ऑपरेटर के रूप में हुई। कुछ दिनों बाद दोनों की घनिष्ठता बढ़ती गई और प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। 2014 में महिला एसडीएम का ट्रांसफर रीवा हो गया तो भी ऋषिकेश उससे मिलने जाता रहा।
जब प्रेम परवान चढ़ने लगा तो एक दिन महिला अधिकारी ने युवक के सामने विवाह का प्रस्ताव रख दिया लेकिन युवक ने सामाजिक प्रतिष्ठा का हवाला देकर ऐसा करने से इंकार कर दिया। इस कारण 26 अगस्त 2015 को महिला अधिकारी ने उस पर उत्पीड़न का आरोप लगा दिया। फलस्वरूप उसे दो महीने जेल में भी बिताने पड़े। इन्हीं आरोपों के चलते उसकी नौकरी भी चली गई।
 
महिला अधिकारी ने नारी उत्पीड़न का केस रजिस्टर्ड करवाया तो याचिकाकर्ता को दो महीने जेल में रहना पड़ा। 22 सितंबर 2016 को ट्रायल कोर्ट ने उसे बाइज्जत बरी कर दिया तो उसने वापस नौकरी ज्वाइन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी। हालांकि, उसे वापस नौकरी पर नहीं रखा गया जिस कारण उसने दिसंबर 2016 में उसने हाईकोर्ट की शरण ली।
हाईकोर्ट ने कलेक्टर को दिए निर्देश
हाईकोर्ट में शुक्रवार को न्यायमूर्ति सुबोध अभ्यंकर की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। याचिकाकर्ता ऋषिकेश मिश्रा की ओर से अधिवक्ता शक्ति कुमार सोनी ने पक्ष रखा। अधिवक्ता ने ट्रायल कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए पैरवी की और कहा कि बेरोजगार हुए कंप्यूटर ऑपरेटर को दोबारा नौकरी पर वापस लेने का आदेश दिया जाए। हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले को मजबूत आधार मानते हुए शहडोल कलेक्टर को दोबारा ऋषिकेश मिश्रा को कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर रखने का निर्देश दिया।

बजट 2017 में शहरी मध्यवर्ग को लग सकता है बड़ा झटका

Image result for बजट 2017 में शहरी मध्यवर्ग को लग सकता है बड़ा झटका

TOC NEWS
  • सर्विस टैक्स बढ़ाकर 16-18 फीसदी कर सकती है सरकार
  • सर्विस टैक्स में बढ़ोतरी से फोन बिल, रेस्टोरेंट में खाना, हवाई और रेल यात्रा होगा महंगा

नई दिल्ली।  2017 के बजट में आम लोगों को बड़ा झटका लग सकता है। वित्त मंत्री अरुण जेटली आगामी बजट में सर्विस टैक्स को मौजूदा 16 फीसदी से बढ़ाकर 18 फीसदी किए जाने का ऐलान कर सकते हैं।
सर्विस टैक्स में इजाफा होने से फोन बिल, रेस्टोरेंट में खाना, हवाई और रेल यात्रा महंगी हो जाएगी। सरकार का यह कदम जीएसटी के मुताबिक होगा। वित्त मंत्री पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि देश में सभी करों की जगह एक कर प्रणाली जीएसटी को एक अक्टूबर से लागू किया जाएगा। जीएसटी देश में सभी करों की जगह लेगा। माना जा रहा है कि जीएसटी की दर 18 फीसदी के आस-पास होगी।
फिलहाल सर्विस टैक्स की दर 15 पर्सेंट हैं, ऐसे में इसे 16 प्रतिशत के स्तर के करीब ले जाया जाना स्वाभाविक माना जाएगा। जेटली ने अपने पिछले बजट में सर्विस टैक्स की दर को 0.5 पर्सेंट बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया था। जीसटी में टैक्स की दरों को कई स्लैब में रखने का फैसला लिया गया है। जीसएटी की दरें 5,12,18 और 28 फीसदी रखे जाने का फैसला लिया गया है। केंद्र सरकार इस बार एक फरवरी को आम बजट पेश करने जा रही है। इसलिए सर्विस टैक्स की दरों को इसमें से किसी एक स्लैब के मुताबिक ही रखा जाएगा। मौजूदा दर को देखते हुए यह 18 फीसदी के स्तर पर रखा जा सकता है।
 
जेटली की ओर से यदि सर्विस टैक्स में इजाफे का ऐलान किया जाता है तो यह उनकी ओर से तीसरी बार इजाफा होगा। इससे पहले 1 जून, 2015 को उन्होंने सर्विस टैक्स को 12.36 प्रतिशत से बढ़ाकर 14 पर्सेंट किया था। इसके अलावा सभी सेवाओं पर 0.5 प्रतिशत की दर से स्वच्छ भारत उपकर लगाया गया, जिससे 15 नवंबर, 2015 से सेवा कर का कुल कराधान 14.5 प्रतिशत हो गया था। पिछले बजट में इसमें 0.5 प्रतिशत का किसान कल्याण उपकर लगा दिया गया और इस तरह सर्विस टैक्स 15 पर्सेंट हो गया।
नोटबंदी के बाद अर्थव्यवस्था में आई तात्कालिक मंदी के बाद माना जा रहा था कि बजट 2017 में मोदी सरकार आम मध्यवर्ग को राहत दे सकती है। माना जा रहा कि सरकार शहरी मध्यवर्ग को लुभाने के लिए आयकर स्लैब में छूट दे सकती है।
 

Sunday, January 29, 2017

कैद हुआ कलयुगी मां का एेसी हरकत कि देखकर खड़े हुए रौंगटे

Image result for कैद हुआ कलयुगी मां
TOC NEWS
नई दिल्ली: आधुनिक युग में धन दौलत, लालच और बेईमानी जैसी और कई बातें इस कद्र लोगों के सिर चढ़ कर बोल रही हैं कि उन को अपराध -पाप, अच्छे -बुरे या लोक -लाज की भी परवाह नहीं रहती। इस कथन को सत्य करता एक मामला राजधानी दिल्ली से सामने आया है।

घटना दिल को दहला देने वाली है। दिल्ली के प्रहलादपुर इलाके में एक माँ ने अपने ढाई साल के पुत्र को घर की सीढ़ियों में से बेरहमी के साथ नीचे फैंक दिया। यह घटना कोई सुनी -सुनाई नहीं बल्कि इस को सारी दुनिया देख सकती है क्योंकि यह कैमरे की तीसरी आँख में कैद हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक औरत का अपने सास -ससुर के साथ किसी बात को ले कर झगड़ा हो रहा था।
अचानक गुस्से में उस ने अपने बच्चे को सीढ़ियों से नीचे फैंक दिया। इस के बाद औरत के पति की शिकायत पर पुलिस ने ग़ैर इरादातन कत्ल का मामला दर्ज कर लिया है।
सीसीटीवी फुटेज में सारी घटना साफ़ दिखाई दे रही है। बच्चे को नीचे फेंकने के बाद उसे जल्दी से अस्पताल लेकर जाया गया और उसके सिर पर मुँह पर चोट लगी है।पुलिस का कहना है कि अभी तक घटना को अंजाम देने का मकसद साफ़ नहीं हो सका है। यह घटना 21 जनवरी की है और पुलिस को इस सम्बंधित 24 जनवरी को जानकारी दी गई।

बीजेपी का घोषणापत्र जारी होते ही टुटा माया का सब्र, उन्होंने किया यह बड़ा ऐलान!

Image result for BSP
TOC NEWS
चुनाव से पहले बीजेपी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है. जिसमें कई वादें किए गए हैं. वहीं दूसरी ओर बीजेपी के घोषणापत्र को जारी होते ही बहुजन समाजवादी की मुखिया मायावती ने भी अपना सब्र तोड़ते एक एक बड़ा ऐलान किया है और बीजेपी पर जबरदस्त हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि बसपा की तरफ से वो आगामी एक फरवरी से वह अपना चुनाव प्रचार शुरू करेंगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि बीजेपी का घोषणापत्र ‘झूठ का पुलिन्दा’ है.
 
मायावती ने शनिवार अपने संवाददाता सम्मेलन के दौरान यह कहा, ‘बीजेपी को घोषणा पत्र जारी करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है. लोकसभा चुनाव के वादे ही पूरे नहीं किए हैं. नया चुनावी घोषणा पत्र जनता की आंखों में धूल झोंकने जैसा है. अगर बीजेपी सत्‍ता में आई तो दलित, पिछड़े वर्ग के लोगों का रिजर्वेशन खत्‍म कर देगी. अब ये लोग बीजेपी के बहकावे में आने वाले नहीं हैं. ऊना का दलित कांड भुलाया नहीं जा सकता है. पीड़‍ित परिवार को अब तक न्‍याय नहीं मिला है. बीजेपी पूरी तरह से जातिवादी पार्टी है. बीजेपी की सपा सरकार से मिलीभगत के चलते अल्‍पसंख्‍यकों का भी बुरा हाल है.’
 
उन्होंने यह भी कहा है, ‘लोकसभा चुनाव के दौरान जो वादे बीजेपी ने किए थे, उसका एक चौथाई हिस्सा भी पूरा नहीं किया है. इन लोगों ने महंगाई खत्म करने, बिजली 24 घंटे देने, रोजगार देने, 100 दिनों में कालाधन वापस लाने और हर अकाउंट में 15 लाख जमा कराने का वादा किया था, जो अब तक पूरा नहीं हुआ है. बीजेपी के लोग सपा की मिलीभगत से कभी संस्‍कृति तो कभी राष्‍ट्रवाद तो कभी परिवर्तन यात्रा के नाम पर नाटकबाजी करते रहे हैं. बीजेपी के लोग जबरन हमारे ऊपर आपराधिक छवि के लोगों को संरक्षण देने का आरोप लगा रहे हैं. लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुद भी गंभीर मामलों में फंसे रहे हैं.’!

Bigg Boss 10: ग्रैंड फिनाले से पहले ओम स्वामी को लोनावाला पुलिस ने हिरासत में लिया

Toc News

नई दिल्ली: बिग बॉस 10 के ग्रैंड फिनाले से पहले घर के सबसे विवादित सदस्य रहे ओम स्वामी को लोनावाला पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। खबरों की मानें तो ओम स्वामी ने सलमान खान के साथ कलर्स को धमकी दी थी ​कि वह 'बिग बॉस' का ​फिनाले नहीं होने देंगे। 'बिग बॉस' के फिनाले में ओम स्वामी कोई अड़चन न पैदा करें, इसे ध्यान मे रखते हुए लोनावाला पुलिस ने उसे पहले ही अपनी गिरफ्त में ले लिया है।
 
देश के अधिकांश हिस्से में इस रिएलिटी शो के विजेता की घोषणा पर हर किसी की नजर है। मनवीर गुर्जर, मनु पंजाबी, लोपामुद्रा राउत और बानी जे इस शो के फाइनलिस्ट हैं। इनमें से जिसको देश की जनता ने सबसे ज्यादा पसंद किया होगा, उसे ही बिग बॉस विजेता का ताज पहनाया जाएगा। वहीं इससे एक दिन पहले 'बिग बॉस 10' के ग्रैंड फिनाले से एक दिन पहले घर में पैनल डिस्कशन का आयोजन किया गया। इस पैनल डिस्कशन में डायरेक्टर फराह खान, पुनीत इस्सर, रवि दुबे, टीवी एंकर श्वेता सिंह और आर जे मलिशका शामिल हुए।


इस दौरान पुनीत इस्सर और फराह खान इंडियावालों पर बेहद आक्रोशित नजर आए। पुनीत इस्सर और फराह खान ने कहा कि इंडिया वालों ने घर में काफी अग्रेशन दिखाया। इसके साथ ही अन्य पैनलिस्ट ने भी घर में बचे चारों फाइनलिस्ट को लेकर अपनी-अपनी राय रखी।
वहीं घर में मौजूद 2 सेलिब्रिटी लोपामुद्रा, बानी जे और 2 इंडिया वालों मनवीर गुर्जर, मनु पंजाबी पर हर किसी की नजर है। उन्होंने भी पैनल डिस्क्शन के दौरान अपने अपने पक्ष को रखा। बानी ने कहा कि मैंने घर में रहने के दौरान टॉयलेट तक साफ किया, लेकिन इंडिया वालों ने ये सब बिल्कुल भी नहीं किया।

आदित्यनाथ की उपेक्षा हिन्दू युवा वाहिनी उत्तर प्रदेश की 64 सीटों से चुनाव लड़ेगी

Image result for ADITYANATH
TOC NEWS
बीजेपी के गोरखपुर से सांसद महंत आदित्यनाथ के संगठन ने बीजेपी पर आदित्यनाथ की उपेक्षा करते हुए आरोप लगाते हुए पूर्वांचल की सभी सीटों पर बीजेपी के खिलाफ चुनाव में उतरने का ऐलान किया है।योगी आदित्यनाथ के संगठन 'हिन्दू युवा वाहिनी' के प्रदेश अध्यक्ष सुनील सिंह ने इस बाबत एक बैठक की है और अपने समर्थकों और उम्मीदवारों को मैदान में उतारने का ऐलान किया है।
 
खबरों की मानें तो, हिन्दू युवा वाहिनी पूर्वी उत्तर प्रदेश की 64 सीटों से चुनाव लड़ेगी। वाहिनी ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने उनके संस्थापक का अपमान किया है। वाहिनी के प्रदेश अध्‍यक्ष सुनिल सिंह ने कहा, “हम और उम्मीदवारों की लिस्ट भी जारी करेंगे। वाहिनी के कार्यकर्ता नाराज हैं क्योंकि बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ जी का अपमान किया है।
सिंह ने कहा, “आदित्यनाथ जी ने करीब 10 उम्मीदवारों की लिस्ट दी थी, लेकिन बीजेपी ने सिर्फ दो को ही टिकट दिया। हम और सहन नहीं कर सकते और इसलिए हमने खुद ही अपने उम्मीदवार बीजेपी के सामने उतार दिए हैं।” उन्होंने कहा, “2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान हमने गोरखपुर के वोटर्स को विश्वास दिलाया था कि आदित्यनाथ जी को वोट डालकर वह सांसद के साथ एक केंद्रिय मंत्री को भी चुनेंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। भाजपा ने उन्हें पिछले साल परिवर्तन यात्रा में भी अनदेखा कर दिया। यात्रा के पोस्टर्स और बैनर पर उनकी तस्वीर नहीं थी।
 

सुनंदा पुष्‍कर की मौत : किसी निष्‍कर्ष पर नहीं पहुंच सका मेडिकल बोर्ड

TOC NEWS
नई दिल्ली। कांग्रेस नेताImage result for SUNANDA PUSHKAR HOT शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत से जुड़ी जांच के किसी निष्‍कर्ष तक पहुंचने में कई बाधाएं सामने आ रही हैं। इस केस के लिए गठित मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट से पुलिस को मायूसी हाथ लगी है।
मेडिकल बोर्ड ने दिल्ली पुलिस को दी गई रिपोर्ट में कहा है कि वह सुनंदा की मौत पर कोई भी निष्‍कर्ष नहीं निकाल सकी है। दरअसल, मेडिकल बोर्ड ने एफबीआई और एम्स के निष्‍कर्षों का अध्ययन कर मामले की जांच कर रही एसआईटी को यह रिपोर्ट सौंपी, जिसमें उसने कहा है कि सुनंदा की मौत पर कोई निष्कर्ष नहीं निकाला जा सका है।
 
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मेडिकल बोर्ड ने एक माह पहले रिपोर्ट सौंपी थी और वे कोई भी निर्णायक निष्कर्ष देने में विफल रहे हैं। हमने उन्हें निष्कर्ष निकालने के लिए एफबीआई और एम्स की जांच के परिणामों का अध्ययन करने के लिए कहा था। मेडिकल बोर्ड में दिल्ली, चंडीगढ़ और पुडुचेरी के चिकित्सक थे।

Image result for sunanda pushkar hotel
सुनंदा पुष्कर के शव की तस्‍वीरें लीक ...

इस बोर्ड का गठन एफबीआई और एम्स की जांच के परिणामों का अध्ययन करने के लिए किया गया था। अब पुलिस सुनंदा के फोन से मिटाई गई चैट को वापस पाने का इंतजार कर रही है। इस हाईप्रोफाइल मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस की टीम सितम्बर में सुनंदा का विसरा नमूना अमेरिका स्थित एफबीआई प्रयोगशाला से वापस लाई थी।
 
Image result for SUNANDA PUSHKAR HOT
दिल्ली पुलिस ने एफबीआई प्रयोगशाला से उसके आकलन की अंतिम सूची सौंपने के लिए कहा था ताकि उन्हें मेडिकल बोर्ड के समक्ष पेश किया जा सके। पिछले साल जनवरी में एम्स के डॉक्टरों के एक मेडिकल
बोर्ड ने सुनंदा के विसरा नमूनों पर एफबीआई की रिपोर्ट पर अपना मत दिया था।
इसमें सर्वसम्मति से यह निष्कर्ष निकाला गया था कि उनके पेट में बेचैनी के उपचार में ली जाने वाली दवा एल्प्रैक्स पाई गई। 51 वर्षीय सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 को दक्षिणी दिल्ली के एक फाइल स्‍टार होटल के एक कमरे में मृत पाई गई थीं।
 

महिला सब इंजीनियर रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार ...


Image result for रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार ...

TOC NEWS
सीहोर। आष्टा जनपद में पदस्थ आरईएस की महिला सब इंजीनियर प्रियंका कठाने को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया।ग्राम पंचायत अरनिया राम के उप सरपंच ब्रजकिशोर सोनी से दो कपीलधारा कूप एवं खेल मैदान की राशि के बिलो को आगे बढ़ाने के नाम पर 10 हजार की रिश्वत लेते लोकायुक्त भोपाल से डीएसपी साधनसिह के नेतृत्व में आई 11 सदस्यों की टीम ने जनपद पंचायत में रंगे हाथों पकड़ा।
 
लोकायुक्त टीम में आए डीएसपी मनोज मिश्रा ने बताया कि ग्राम पंचायत अरनिया राम में कपीलधारा योजना में दो कुओं का निर्माण हुआ था एवम एक खेल मैदान बना था कार्य पूर्ण होने के बाद सामग्री की राशि तीन लाख 64 हजार बिल भुगतान होना थे, बिलों पर हस्ताक्षर करने के बदले 20 हजार में मामला तय हुआ था।
सब इंजीनियर कठाने को तय बात अनुसार ब्रज सोनी को 10 हजार की राशि देना तय था, शनिवार शाम को जनपद कार्यालय में प्रियंका के कक्ष में 10 हजार दिए, जिसे उन्होंने अपने पर्स में रखे और जैसे ही वह जाने के लिए नीचे आई लोकायुक्त की टीम ने उन्हें दबोच लिया।
बाद में आरोपी प्रियंका एवं फरियादी ब्रज सोनी के हाथ धुलवाए तो पानी हल्का गुलाबी हो गया। इसके बाद सब इंजीनियर के पर्स की तलाशी ली, जिसमें दो हजार के पांच नए नोट मिले। जिसके नम्बरों का मिलान किया तो वे वही निकले जो लिखे गए थे।
 

ट्रंप के आदेश से बढ़ा अमेरिका में बवाल, कई मुस्लिम हिरासत में

Image result for ट्रंप
TOC NEWS
नई दिल्ली : सात मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों को गहन जांच के बाद ही अमेरिका में प्रवेश की इजाजत देने के डोनाल्ड ट्रंप के फैसले के फौरन बाद ही इस पर अमल भी शुरू हो गया। शनिवार को ईरान और इराक के कई लोगों को अमेरिका जाने से रोक लिया गया।
 
 
दूसरी तरफ ट्रंप के आदेश के दौरान विमान में सवार रहे इन मुस्लिम देशों के लोग जब अमेरिका पहुंचे, तो उनको हिरासत में ले लिया गया। ट्रंप का यह कदम कट्टर इस्लामिक आतंकवादियों को अमेरिका से दूर रखने की नीति का हिस्सा है।
ट्रंप के इस आदेश के तहत इराक, सीरिया, ईरान, सूडान, लीबिया, सोमालिया और यमन के लोगों की गहन जांच के बाद ही उन्हें अमेरिका में प्रवेश मिल सकता है। काहिरा में एक ईरानी दंपति और उनके दो बच्चों को न्यूयॉर्क जाने से रोक दिया गया। अमेरिकी वीजा और सीट आरक्षित होने के बावजूद भी परिवार को विमान में चढ़ने नहीं दिया गया। 

जानिए कैसे 61 की उम्र के बाद भी दिखती है 30 की यह अप्सरा



Image result for जानिए कैसे 61 की उम्र के बाद भी दिखती है 30 की यह अप्सरा

TOC NEWS

आज तक आप सभी लोगो ने यही सुना और देखा भी होगा कि 61 साल की उम्र के बाद हर इंसान पर बुढ़ापा आ जाता है लेकिन आज के युग में एक महिला ऐसी भी है जो 61 साल की उम्र के बाद भी अभी भी 30 साल की दिखती है।
जी हाँ हम चीन की उस अभिनेत्री के बारे में बात कर रहे है जो किसी स्वर्ग की अप्सरा से कम नहीं है लियू स्याओकिंग नाम की यह अभिनेत्री चीन की लीडिंग अभिनेत्रियों में से एक हैं.
 
 
 
लियू चीन की एक बड़ी अभिनेत्री हैं। ख़ास बात तो यह है कि वह पुरी दुनिया में इस बात के लिए लोकप्रिय हैं कि वह 61 साल की होने के बावजूद 30 साल की दिखती हैं।
Image result for जानिए कैसे 61 की उम्र के बाद भी दिखती है 30 की यह अप्सरा
जब मीडिया द्वारा जारी लियू स्याओकिंग की तस्वीरों को देखा। तो सभी ने साफ तौर पर यह कहा कि वह किसी अप्सरा से कम नहीं हैं. उनकी खूबसूरत तस्वीरें उन हसिनाओं को प्रेरित कर रही हैं जो हमेशा जवां दिखने के लिए कई तरह की सर्जरी करवाती हैं.
लियू स्याओकिंग का जन्म 30 अक्टूबर 1955 में हुआ. लियू उस समय से फिल्मों में काम कर रही हैं जब भारत में अमिताभ बच्चन सुपरस्टार बनने के दहलीज पर थे…
 

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news