Tuesday, April 30, 2019

यौन शोषण में CJI गोगोई को प्रशांत भूषण समेत 7 लोगों ने मिलकर फंसाया, सुप्रीम कोर्ट में वकील का सनसनीखेज खुलासा

गोगोई प्रशांत भूषण के लिए इमेज परिणाम
यौन शोषण में CJI गोगोई को प्रशांत भूषण समेत 7 लोगों ने मिलकर फंसाया, सुप्रीम कोर्ट में वकील का सनसनीखेज खुलासा 
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्‍ली: प्रधान न्‍यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई पर कथित यौन शोषण के आरोपों के मामले में वकील मनोहर लाल शर्मा ने सनसनीखेज दावा किया है. सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को शर्मा ने दावा किया कि मामले में पूर्व महिला कोर्ट कर्मचारी द्वारा शिकायत दायर करने के पीछे और कोई नहीं बल्कि वकील प्रशांत भूषण है. शर्मा का दावा है कि प्रशांत भूषण ने खुद ये बात स्वीकार की है कि उन्होंने आरोप लगाने वाली महिला को शिकायत दायर करने में मदद की.
शर्मा ने कहा कि उन्‍होंने इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है. इसी याचिका में सात लोगों- प्रशांत भूषण, शान्ति भूषण, इंदिरा जयसिंह, दुष्यंत दवे, वृंदा ग्रोवर, नीना गुप्ता और कामिनी जयसवाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए जाने की मांग की गई है. शर्मा ने कहा कि ‘द वायर को दिए इंटरव्यू में खुद भूषण ने माना है कि इंदिरा जयसिंह का यह कहना कि उनका आरोप लगाने वाली महिला से सरोकार नहीं है, यह गलत है.
जब शर्मा ने CJI गोगोई के सामने जिक्र किया कि भूषण ने मामले में अपनी संलिप्तता ‘स्वीकार’ की है, तो उन्‍होंने कहा, “किसी अन्य खंडपीठ के समक्ष उल्लेख करें, इस खंडपीठ के समक्ष नहीं.” फिर जस्टिस अरुण मिश्रा की अगुवाई वाली बेंच के सामने मामला गया तो उन्‍होंने भी सुनवाई से इनकार कर दिया.

शिकायतकर्ता सुप्रीम कोर्ट की पूर्व जूनियर कोर्ट असिस्टेंट है. उन्होंने CJI के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाते हुए शीर्ष अदालत के सभी न्यायाधीशों को एक शपथ-पत्र भेजा था. शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि जस्टिस एन.वी. रमना प्रधान न्यायाधीश के करीबी दोस्त हैं और इसी वजह से मामले की निष्पक्ष सुनवाई नहीं हो सकती. इसके बाद जस्टिस रमना ने खुद को मामले की जांच करने वाली समिति से अलग कर लिया था.

BSF से बर्खास्त जवान तेजबहादुर का आरोप, पीएम मोदी रद्द कराना चाहते हैं मेरा पर्चा

तेजबहादुर पीएम मोदी के लिए इमेज परिणाम
BSF से बर्खास्त जवान तेजबहादुर का आरोप, पीएम मोदी रद्द कराना चाहते हैं मेरा पर्चा
 
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
वाराणसी: लोसभा चुनाव 2019 के सत्ता संग्राम में वाराणसी से सपा प्रत्याशी कौन होगा इस पर और भी सस्पेंस गहराता जा रहा है. एक तरफ सपा के सिंबल पर शालिनी यादव का नामांकन वैध पाया गया तो बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर यादव के नामांकन को लेकर स्थिति साफ नहीं हो रही है. रिटर्निंग ऑफिसर सुरेन्द्र सिंह ने पहले 3 बजे नोटिस जारी किया. जैसे ही तेज बहादुर इस नोटिस का जवाब देने पहुचे तो एक और नोटिस दे दिया गया. 

तेज बहादुर ने पहले 24 अप्रैल को निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल किया था. उसके बाद सपा के सिम्बल पर 29 अप्रैल को नामांकन किया. अब रिटर्निंग ऑफिसर ने तेज बहादुर यादव से लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के तहत बीएसएफ से बर्खास्त की जानकारी देने को कहा गया था. नोटिस में साफ साफ लिखा गया है कि क्या किसी भष्टाचार और अनुचित प्रकरण से उन्हें हटाया गया है तो चुनाव आयोग ने चुनाव लड़ने की अनुमति ली जाए. 
उधर, तेज बहादुर ने पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और सीएम योगी पर नामांकन रद्द करने का आरोप लगाया. तेज बहादुर ने कहा कि वह अंतिम समय तक बनारस में रहकर पीएम मोदी के खिलाफ लड़ेंगे और चुनाव अगर जरूरत पड़ी शालिनी यादव का भी समर्थन करेंगे. वही सपा के सिंबल पर नामांकन दाखिल कर शालिनी यादव का पर्चा भी वैध पाया गया. शालिनी यादव ने फिर दोहराया कि वे गठबंधन की आधिकारिक प्रत्याशी है.
वाराणसी से 102 उम्मीदवारों ने भरा पर्चा
वाराणसी की चुनावी जंग सुर्खियों में है. पीएम मोदी के खिलाफ 102 उम्मीदवार मैदान में हैं. सपा-बसपा गठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार के रूप में बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव, शालिनी यादव के अलावा कांग्रेस से अजय राय मैदान में हैं. बाहुबली अतीक अहमद निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहा है. कई किसानों ने नामांकन दाखिल किया है. नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 2 मई है. 2 मई को अंतिम स्थिति साफ होगी. अगर प्रत्याशियों की संख्या 64 से कम हुई तो चार ईवीएम लगाकर वोटिंग कराई जाएगी. वहीं, इससे ज्यादा संख्या रहने पर जंबो ईवीएम का इस्तेमाल किया जा सकता है.

गल्ला व्यापारी से लूट की घटना कारित कर बदमासों ने फैलाई थी सनसनी

गल्ला व्यापारी से लूट की घटना कारित कर बदमासों ने फैलाई थी सनसनी
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
  • शिवपुरी पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता,दबोचे दिनारा लूट के आरोपी
  • गल्ला व्यापारी से लूट की घटना कारित कर बदमासों ने फैलाई थी सनसनी
  • एसपी ने कहा सुरक्षित है जिले में व्यापारी,करें व्यापार,बदमासों को सबक सिखाने तैयार है पुलिस

शिवपुरी. शिवपुरी जिले के दिनारा थाना क्षेत्र में व्यापारियों से लूट की घटनाओं को अंजाम देकर सनसनी फैलाने बाले गिरोह को आज पुलिस ने धरदबोचने में बड़ी सफलता हासिल की है।पुलिस ने पकड़े गए बदमास के पास से लूटी गई राशि व घटना में उपयोग किया गया बाहन भी बरामद किया है।लूट के मामलों में पुलिस ने जो आरोपी पकड़ा है वह इनामी बदमास होने के अलाबा आदतन अपराधी भी है।इस मामले में 2 आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर बने हुए है जिनकी तलाश में पुलिस जुटी दिखाई दे रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार व्यापारी बृजमोहन पुत्र डव्वू राम गुप्ता उम्र 52 साल निवासी वूढ़ीभेव थाना दिनारा 19 अप्रैल की रात्रि करीब 7ः45 बजे अपनी दुकान से घर की ओर जा रहे थे उसी समय तीन अज्ञात आरोपियों ने व्यापारी में गोली मारते हुए 10 हजार रूपये लूट लिए थे।सम्बन्धित थाना पुलिस दिनारा द्बारा इस मामले में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपराध क्रमांक 104/19 धारा 394,397,307 भादवि एवं 11,13 डकैती अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया था।

व्यापारी से हुई लूट की इस घटना को पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने गंभीरता से लिया और मौका मुआयना करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मातहत अमले को दिशा निर्देश दिए थे।पुलिस लूट के मामले में आरोपियों की तलाश में जुटी ही थी की इसी बीच एसपी राजेश हिंगणकर को मुखबिर द्बारा सूचना मिली कि उक्त बारदात में दूध बेचने का काम करने बाले बल्ली उर्फ सुरेंद्र पुत्र शिरोमणि यादव उम्र 30 साल निवासी निचरोनी थाना सिविल लाइन का हाथ है।

मुखबिर से मिली इस सूचना को पुलिस कप्तान ने गंभीरता से लिया और उक्त बदमास की गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन कर रबाना किया गया।पुलिस ने दतिया जिले से उक्त आरोपी को पकड़कर जब इससे पूछताछ की तो पहले आरोपी ने घटना कारित करना स्वीकार नही किया लेकिन जब पुलिस ने पुलिसिया अंदाज में पूछताछ की तो आरोपी ने घटना करना न सिर्फ स्वीकार किया बल्कि बारदात में शामिल रहे दो आरोपियों कल्ला पुत्र हरनाम सिंह यादव निवासी नुनवाहा थाना जिगना जिला दतिया एवं जगपाल पुत्र देशराज यादव निवासी सिमरा थाना रक्शा जिला झांसी के नाम भी पुलिस को बताये।पुलिस ने पकड़े गए आरोपी के पास से लूटी गई राशि व एक बाहन भी बरामद किया है अब पुलिस को बारदात में शामिल रहे शेष दो आरोपियों की तलाश है।

बड़े पैमाने पर होता है गल्ले का व्यापार

दिनारा में गल्ले का व्यापार बड़े पैमाने पर होता है तथा किसान माल बेच कर पैसा ले जाते है। इसी तारतम्य में फरियादी व्यापारी भी कुछ पैसा लेकर कुछ बांट कर अपने घर तालभेव जा रहा था।इसी दौरान आरोपियों ने व्यापारी का पीछा किया।बताया जाता हैं कि घटनास्थल (तालभेव व खुदावली के बीच में) के पास एक व्यक्ति के घर में शादी चल रही थी वहां से आरोपी निकले और आगे जाकर फरि. व्यापारी को टक्कर मारी।व्यापारी के गिरते ही उस पर आरोपियों ने फायर किया।गोली चलने की आबाज सुनकर आसपास के गांव के लोग दौड़ कर आये और ग्रामीणों ने आरोपियों का पीछा किया,लेकिन आरोपी मोटर साइकिल से होने के कारण भाग निकलने में सफल रहे।

इनामी है पकड़ा गया आरोपी

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर द्वारा उक्त प्रकरण में फरार आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु 5000 रू का ईनाम घोषित किया था। आज पुलिस ने सनसनीखेज लूट को अंजाम देने बाले आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है।आरोपियों के पकड़े जाने से उन व्यापारियों ने राहत की साँस ली है जो गल्ले का व्यापार करते है एव्म लाखों रूपये की राशि लेकर सफर करते है।

बदमासों को सबक सिखाने तैयार है पुलिस:एसपी राजेश हिंगणकर

लूट के आरोपियों को पकड़ने के बाद आज पुलिस कप्तान राजेश हिंगणकर ने कहा है कि जिले में व्यापारी बेख़ौफ रहकर अपना व्यापार करें,पुलिस जिलेबासियों की हिफाजत के लिए पूरी तरह से तैयार है।यहाँ बतादे की एसपी श्री हिंगणकर के निर्देशन में रात्रि गश्त व हाइवे पेट्रोलिंग के लिए एक नई तैयारी की गई है।बताया जाता है कि अब गश्त में प्रतिदिन एक एसडीओपी व अन्य अमला तैनात किया गया है जिससे रात्रि के समय घटित होने बाली घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सके।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

व्यापारी से हुई लूट की इस घटना को ट्रेस करने में थाना प्रभारी दिनारा उनि के एन शर्मा,ऐडी टीम प्रभारी उनि रविंन्द्र सिकरवार, सायबर सेल प्रभारी उनि. विनीत तिवारी, सउनि प्रवीण त्रिवेदी, प्र.आर. देवेन्द्र सिंह, आर. अरविन्द मांझी, आर. रामवीर सिंह, आर. धर्मेन्द्र, आर. हिमाचल, आर. मनीष, आर. दीपेन्द्र, आर. भूपेन्द्र, आर. प्रवीण सेतिया, आर. चन्द्रभान, आर. देवेन्द्र पाराशर, उस्मान खान, सैनिक धर्मपाल, की सराहनीय भूमिका रही।

मुख्यमंत्री वोट डाल रहे थे, बिजली कट गई, कैमरों की लाइट में वोट डाला

मुख्यमंत्री वोट डाल रहे थे, बिजली कट गई, कैमरों की लाइट में वोट डाला के लिए इमेज परिणाम
ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
छिंदवाड़ा । मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरने वाला प्रसंग हुआ है। मुख्यमंत्री कमलनाथ जब पोलिंग बूथ पर वोट डाल रहे थे कि तभी बिजली गायब हो गई।
हालात यह बने कि सीएम कमलनाथ को मीडिया के कैमरों की रोशनी में वोट डालना पड़ा। बता दें कि कमलनाथ यहां पूरे परिवार के साथ आए थे। मजेदार बात यह है कि कमलनाथ जैसे ही बूथ से बाहर निकले, ​बिजली आ गई।
यह भाजपा के लोगों की साजिश है:
कमलनाथ मतदान के बाद मीडिया से बात करते हुए कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश की जनता इस बार सच्चाई का साथ देगी। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि बिजली गुल करने का काम बीजेपी के लोगों ने किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग कहीं बिजली गुल करके और कहीं लाइन खराब करके कांग्रेस को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा के बाद अब प्रदेश के दूसरे हिस्सों में भी चुनाव प्रचार करना मेरी जिम्मेदारी है। बता दें कि छिंदवाड़ा से कमलनाथ के पुत्र नकुल नाथ चुनावी मैदान में हैं।
पब्लिक में मैसेज 'कांग्रेस आई, बिजली गई'
गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में इन दिनों बिजली व्यवस्था काफी बदहाल हो गई है। लोगों का कहना है कि ऐसा लग रहा है कि 15 साल पहले का कांग्रेस शासन वापस आ गया है। बता दें कि दिग्विजय सिंह के शासनकाल में राज्य में मूलभूत सुविधाओं का काफी अभाव था। उस समय बिजली-पानी-सड़क के मुद्दों पर ही कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था।

स्मार्ट सिटी घोटाला : 13 करोड़ के डस्टबीन 3 माह में खराब, बेकार हो गए स्मार्ट सेंसर

स्मार्ट सिटी घोटाला : 13 करोड़ के डस्टबीन 3 माह में खराब, बेकार हो गए स्मार्ट सेंसर

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
भोपाल। शहर को क्लीन सिटी बनाने के लिए स्मार्ट सिटी कंपनी ने 150 स्थानों पर डस्टबिन लगाए थे लेकिन एमपी नगर चार इमली अरेरा कॉलोनी शिवाजी नगर शाहपुरा सहित कई स्थानों पर यह सही तरीके से काम नहीं कर रहे हैं इनके सेंसर खराब हो गए हैं
एमपी नगर के स्मार्ट डस्टबिन का एक ढक्कन खुलता है तो दूसरा बंद रहता है जबकि सेंसर के अनुसार इनको अपने आप खुलने और बंद होना चाहिए इस डस्टबिनके पास कचरे को सफाई कर्मचारी ही साफ करते हैं जिंसी के स्मार्ट डस्टबिन के ढक्कन का लीवर करीब एक पखवाड़े से खराब है लोग डस्टबिन के बाहर ही कचरा फेंक जाते हैं

डस्टबिन फ्री सिटी नहीं बन पाया भोपाल फैल रही गंदगी!

पुराने शहर में आज भी कचरा रोड पर फैला हुआ मिल जाता है इसका देखने सुनने वाला यह कोई नहीं है डस्टबिन तो रख दिए गए हैं लेकिन वह खाली पड़े रहते स्वच्छ भारत अभियान के तहत भोपाल नगर निगम ने लाखों करोड़ों खर्च कर दिए स्थिति बद से बदतर होती जा रही है तीन-चार दिन से भोपाल का कचरा खंती नहीं जा रहा है और यह भी पता नहीं लग पा रहा है आखिर कचरा खंती में  ना जाकर कहां जा रहा है और इससे ज्यादा खराब हालात डोर टू डोर साइकिल रिक्शा के हैं एक साइकिल रिक्शे पर दो कर्मचारियों की ड्यूटी है ज्या
दातर रिक्शा कंडम पड़े हुए हैं और जो सही है उनसे कॉल किया जा रहा है जबकि डोर टू डोर से कचरा प्रतिदिन घरों से लेना चाहिए लेकिन डोर टू डोर वाले 2 दिन 3 दिन के बाद 1 दिन कचरा उठाने आते हैं भोपाल के सभी वार्डों की स्थिति एक जैसी है भोपाल नगर निगम कमिश्नर जोन 2 जोन समीक्षा कर रहे हैं उसके बाद भी निगम अधिकारी और कर्मचारी के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है गर्मी भी अपने शबाब पर है और मच्छरों का प्रकोप भी बढ़ गया है लेकिन वार्ड में कहीं भी फोक मशीन नहीं चलाई जा रही है जबकि हर जॉन फोग मशीन चलाने के लिए डीजल और पेट्रोल अलग से दिया जाता है भोपाल के किसी भी जॉन में और वार्ड में कहीं भी फोक मशीनों का इस्तेमाल नहीं हो रहा है

तोता के विरुद्ध दर्ज 376 व पॉस्को 4,6 के तहत मामला दर्ज


TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 
रायगढ़ जिला के खरसिया अनुभाग के आसाराम बाबुलाल अग्रवाल तोता के विरुद्ध 376 व पॉस्को 4,6 के तहत मामला दर्ज, नाबालिग दलित पीड़िता के द्वारा, ताजमहल गुड़ाखू फैक्टरी के संचालक बाबू लाल अग्रवाल तोता के खिलाफ़ खरसिया पुलिस चौकी मवे दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी दिए जाने की रिपोर्ट दर्ज कराया है 
जिस पर खरसिया चौकी पुलिस द्वारा आरोपी बाबुलाल अग्रवाल तोता के विरुद्ध आईपीसी की धारा 354 क 294 एवम पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था किंतु दलित पीड़िता के आवेदन पर एससी एसटी एक्ट व 376 दुष्कर्म की धारा नई जोड़ी गई  थी
 खरसिया थाना प्रभारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार जांच के उपरांत धारा 376 व पोस्को एक्ट 4 ,6 जोड़ा गया, पीड़िता के जाती प्रमाण पत्र संबंधित जाँच केबाद एससी एसटी एक्ट की धारा भी जल्दी जोड़ी जाएगी ऐसा खरसिया की एसडीओपी गरिमा द्विवेदी ने बताया

किसे ज़्यादा चंदा दे रहे हैं औद्योगिक घराने, टाटा का चंदा 25 करोड़ से बढ़कर 500 करोड़ हुआ

Image may contain: one or more people
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
आज आपके सामने अलग-अलग समय पर छपे दो ख़बरों को एक साथ पेश करना चाहता हूं। एक ख़बर 7 दिन पहले की है जो इंडियन एक्सप्रेस में छपी थी और दूसरी ख़बर आज की है जो बिजनेस स्टैंडर्ड में छपी है। यह बताने का एक ही मकसद है। अख़बार पढ़ने का तरीका बदलना होगा और अख़बार भी बदलना होगा। आप ख़ुद फ़ैसला करें। इन दो ख़बरों को पढ़ने के बाद आपकी समझ में क्या बदलाव आता है। क्या आपका हिन्दी अख़बार इतनी मेहनत करता है, क्या आपका हिन्दी न्यूज़ चैनल इस तरह की ख़बरों से आपको सक्षम करता है। अगर जवाब ना में है तो आप हिन्दी अख़बार और हिन्दी चैनलों को पढ़ना-देखना बंद कर दें। वैसे ही आपको उन्हें देखने से जानकारी के नाम पर जानकारी का भ्रम मिलता है। हां ज़रूर अपवाद के तौर पर कभी-कभी कुछ अच्छी ख़बरें मिल जाती हैं। पर वो बिल्कुल कभी-कभी ही होती हैं।
इंडियन एक्सप्रेस ने सूचना के अधिकार का इस्तमाल कर ख़बर छापी कि इस साल 1 मार्च से 15 मार्च के बीच कितने का इलेक्टोरल बान्ड बिका। आप जानते हैं कि मोदी सरकार ने अपारदर्शिता का एक बेहतरीन कानून बनाया है। इससे आप सिर्फ स्टेट बैंक की शाखा से किसी पार्टी को चंदा देने के लिए इलेक्टोरल बान्ड ख़रीद सकते हैं। आपका नाम गुप्त रखा जाएगा। पैसा कहां से आया, किस कंपनी ने बान्ड ख़रीद कर किस पार्टी को चंदा दिया, यह गुप्त रखा जाएगा। इसके बाद भी मोदी सरकार के मंत्री इसे पारदर्शी नियम कहते हैं।
पिछले साल 1 मार्च को यह स्कीम लांच हुई थी। तब से लेकर इस 15 मार्च तक 2,772 करोड़ का बान्ड बिक चुका है। किस पार्टी को कितना गया है, इसका जवाब नहीं मिलेगा। आधी राशि का बान्ड इस साल मार्च के 15 दिनों में बिका है। स्टेट बैंक ने 1365 करोड़ का बान्ड बेचा है। ज़ाहिर है लोकसभा चुनाव चल रहे हैं। मगर इस दौरान बिके 2742 बान्ड में से 1264 बान्ड एक-एक करोड़ के ही थे। सबसे अधिक बान्ड मुंबई स्थित स्टेट बैंक की मुख्य शाखा से बिका। 471 करोड़ का। दिल्ली और कोलकाता में उसका आधा भी नहीं बिका। दिल्ली में मात्र 179 करोड़ और कोलकाता में मात्र 176 करोड़ का चुनावी बान्ड बिका। यानी अभी भी दलों को पैसा मुंबई से ही आता है।
सुप्रीम कोर्ट ने सभी दलों को निर्देश दिया है कि वे अपने चंदे का हिसाब सील्ड लिफाफे में चुनाव आयोग को सौंप दें। इसमें यह भी बताएं कि बान्ड किसने खरीदा है। चंदा किसने दिया है। एसोसिएशन आफ डेमोक्रेटिक राइट्स ने याचिका दायर की है कि इस स्कील में लोचा है। इसे बदला जाए या फिर बान्ड खरीदने वाले का नाम भी पता चले। ताकि चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता हो।
अब मैं आज के बिजनेस स्टैंडर्ड की पहली ख़बर की बात करूंगा। आर्चिज़ मोहन और निवेदिता मुखर्जी की रिपोर्ट है। 2014 से लेकर 2019 के बीच टाटा ग्रुप का चुनावी चंदा 20 गुना ज़्यादा हो गया है। टाटा ने राजनीतिक दलों को चंदा देने के लिए एक ट्रस्ट बनाया है। प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल फंड नाम है। इसकी सालाना रिपोर्ट से जानकारी लेकर यह रिपोर्ट बनी है। रिपोर्ट कहती है कि 2019 के चुनाव में टाटा ग्रुप ने 500-600 करोड़ का चदा दिया है। 2014 में टाटा ग्रुप ने सभी दलों को मात्र 25.11 करोड़ का ही चंदा दिया था।
बिजनेस स्टैंडर्ड ने हिसाब लगाया है कि इस 500-600 करोड़ में से बीजेपी को कितना गया है। हालांकि ग्रुप की तरफ से अखबार को आधिकारिक जवाब नहीं दिया गया है लेकिन अख़बार ने अलग-अलग राजनीतिक दलों के हिसाब के आधार पर अनुमान लगाया है। बीजेपी को 300-350 करोड़ का चंदा गया है। कांग्रेस को 50 करोड़ का। बाकी राशि में तृणमूल, सीपीआई, सीपीएम, एनसीपी शामिल है।
टाटा के कई ग्रुप हैं। सब अपना कुछ हिस्सा प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल फंड में डालते हैं। 2014 में साफ्टवेयर कंपनी टीसीएस ने मात्र 1.48 करोड़ दिया था। इस बार 220 करोड़ दिया है। ज़ाहिर है यह भारत के इतिहास का सबसे महंगा चुनाव लड़ा जा रहा है। देश के ग़रीब प्रधानमंत्री ने चुनावी ख़र्चे का इतिहास ही बदल दिया है। इसलिए कारपोरेट को भी ज्यादा चंदा देना होगा। 25 करोड़ से सीधा 500 करोड़।
कोरपोरेट नहीं बताना चाहते हैं कि वे किसे और कितना चंदा दे रहे हैं। उनकी सुविधा के लिए प्रधानमंत्री ने इलेक्टोरल बान्ड जारी करने का चतुर कानून बनाया। बड़ी आसानी से पब्लिक के बीच बेच दिया कि चुनावी प्रक्रिया को क्लीन किया जा रहा है। विपक्ष को भी लगा कि उसे भी हिस्सा मिलेगा, उसने भी संसद में हां में हां मिलाया। मगर यहां इस गुप्त नियम की आड़ में चंदे के नाम पर एक ख़तरनाक खेल खेला जा रहा है। आखिर सुप्रीम कोर्ट को भी कहना पड़ा कि कम से कम चुनाव आयोग को बताएं कि किसने चंदा दिया है। चुनाव आयोग जानकर क्या करेगा। क्या यह जानकारी जनता के बीच नहीं जानी चाहिए?
अब आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि संसाधनों के लिहाज़ से सारा विपक्ष मिल भी जाए तो भी बीजेपी का कोई मुकाबला नहीं कर सकता है। यह चुनाव हर तरह से एकतरफा है। सब कुछ लेकर भी प्रधानमंत्री खुद को विक्टिम बताते हैं। सारे संसाधन इनके पीछे खड़े हैं और मंच पर रोते हैं कि सारा विपक्ष मेरे पीछे पड़ा है।
क्या यह जानकारी आपको अपने हिन्दी अख़बार से मिलती? बिल्कुल नहीं। अगर आप सूचना हासिल करने का तरीका नहीं बदलेंगे तो मूर्ख बन जाएंगे। स्क्रोल वेबसाइट पर एक ख़बर है जिसे शोएब दानियाल ने की है। आचार संहिता के बाद भी प्रधानमंत्री कार्यालय को नीति आयोग भाषण लिखने में मदद कर रहा है। ज़िलाधिकारियों से रैली वाली जगह की तमाम जानकारियां मांगी जा रही हैं। वे ईमेल से भेज भी रहे हैं। यह सरासर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला है। शर्मनाक है कि ज़िलाधिकारी रैली के भाषण के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय को ज़िले का इतिहास, धार्मिक स्थलों की जानकारियां भेज रहे हैं। गुप्त रूप से ये अधिकारी उनके प्रचार के लिए काम कर रहे हैं। चुनाव आयोग में साहस नहीं है कि कार्रवाई कर ले।
हिन्दी अख़बार ऐसी ख़बर नहीं छापेंगे। चैनलों का भी वही हाल है। हल्के-फुल्के बयानों की निंदा कर पत्रकारिता का रौब झाड़ रहे हैं। मगर इस तरह सूचना खोज कर नहीं लाई जा रही है। इसमें एक भी चैनल अपवाद नहीं है। आप स्क्रोल की वेबसाइट पर जाकर शोएब दानियाल की रिपोर्ट को पढ़ें। उसके पीछे एक रिपोर्ट की भागदौड़ को देखें। फिर अपने हिन्दी अख़बार या न्यूज़ चैनल के बारे में सोचें। क्या उनमें ऐसी ख़बरें होती हैं? अंग्रेज़ी पत्रकारिता का गुणगान नहीं कर रहा हूं। उनके यहां भी यही संकट है फिर भी इस तरह की जोखिम भरी ख़बरें वहीं से आती हैं। क्यों?
इसलिए न्यूज़ चैनल ख़ासकर हिन्दी न्यूज़ चैनल देखना बंद कर दें। अंग्रेजी चैनल भी महाघटिया हैं। आपका यह सत्याग्रह पत्रकारिता में सकारात्मक बदलाव ला सकता है। हिन्दी अख़बार भी बंद कर दें। नहीं कर सकते तो हर महीने दूसरा अखबार लिया कीजिए। एक अख़बार साल भर या ज़िंदगी भर न लें। आपसे बस इतना ही करने की उम्मीद है, बाकी इस पत्रकारिता में बदलाव की कोई उम्मीद नहीं है।

IPL क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा का कारोबारी 05 सटोरिये क्राईम ब्रांच के हत्थे चढ़े

IPL क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा का कारोबारी 05 सटोरिये क्राईम ब्रांच के हत्थे चढ़े

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
इन्दौर. क्राईम ब्रांच इन्दौर की टीम को मुखबिर तंत्र के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ लोग थाना बाणगंगा क्षेत्रांतर्गत, श्रीराम एनक्लेव में आई.पी.एल. क्रिकेट मैच का सट्टा ऑन-लाईन संचालित कर रहे हैं। उक्त प्राप्त सूचना पर क्राईम ब्रांच इन्दौर की टीम ने थाना बाणगंगा के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुये.
श्रीराम एन्कलेव में छानबीन कर फ्लैट क्रमांक 508 में दबिश दी जहां पर ऑनलाईन सट्टा खेलते हुये हुये पांच आरोपियों को पकड़ा गया जिन्होंनें पूछताछ में अपने नाम 1-मनु पिता रामगोपाल राय उम्र 23 साल निवासी फ्लैट नं.- 34 रॉयल बंगलो, सुखलिया, इन्दौर 2-रविन्द पिता भूपेन्द्र सिंह उम्र 23 साल निवासी 345 पीपली चौक, सुन्दर जी जिला शाजापुर, 3-सिद्धार्थ पिता नंदकिशोर जखमोला उम्र 23 साल निवासी 254/3 शास्त्री नगर, थाना बसंत विहार, देहरादून (उत्तराखण्ड), 4-सिद्धार्थ पिता दीपक मटानी उम्र 23 साल निवासी-जी-60, एम.आई.जी. कॉलोनी, इन्दौर एवं 5-तुषार पिता गैंदालाल पटेल उम्र 24 साल निवासी मोआ थाना के पास, रायपुर (छत्तीसगढ) का होना बताया।           
आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि आई. पी. एल. टी-20 क्रिकेट मैच के दौरान मुम्बई इंडियनस्‌ एवं के.के. आर. टीम के दिनांक 28.04.2019 को रात्रि में आयोजित हुये मैच में ऑनलाईन साईट के जरिये सट्टा संचालित कर रहे थे। आरोपियों के कब्जे से 01 एल.ई.डी. टीवी, एयरटेल का सेट टॉप बाक्स, 13 मोबाईल फोन, 02 टैबलेट, 03 डायरियाँ एवं 02 रजिस्टर  बरामद हुयें जिसमें लाखो रुपयें के सट्टे का हिसाब किताब दर्ज था साथ ही नगदी कुल राशि 3770/- रुपये भी बरामद हुई ।             
आरोपियों का कृत्य धारा 3/4 सट्टा अधिनियम के तहत दण्डनीय पाये जाने से आरोपियों को थाना बाणगंगा के अपराध क्र 539/19 के अंतर्गत विधिवत्‌ गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वह लम्बे समय से सट्टे के कारोबार में संलिप्त हैं तथा सन्‌ 2018 के दौरान आयोजित किये गये आई0पी0एल0 मैचों में भी सट्टे का कारोबार कर रहे थे तथा इस वर्ष पुनः आई0पी0एल0 मैचों में भी सट्टे का कारोबार करने लिये एकजुट होकर सक्रिय हुये थे। 

इंदौर, शाजापुर, रायपुर (छत्तीसगढ), देहरादून तथा अन्य शहरों से आकर कररहे थे आनलाईन सट्टे का कारोबार। · सट्टा खेलने वाले सैकड़ो लोगों से किये गये लेनदेन के लाखों रूपये का हिसाब किताब मिला। · आरोपियों के कब्जे से 13 मोबाईल फोन, 02 टेबलेट, 02 रजिस्टर, 03 डायरियां, 02 नोटपेड बरामद।

सट्टे के कारोबार को चलाने वाला मुखय सरगना मनु पिता रामगोपाल राय है जोकि मुखय रूप से डबरा (ग्वालियर) का रहने वाला है एवं वर्ष 2013 मैं इंजीनियरिंग की पढाई करने के लिये इन्दौर आया था एवं वर्तमान में इंदौर में ही रहता है। ये बड़े स्तर पर पूर्व से ही सट्टे का संचालन करता रहा है जोकि देश भर के तमाम सटोरियों एवं सट्टे  के सरगनाओं को मैच की प्रिडिक्शन कर जीत की संभावनाओं की जानकारी देता था।
आरोपियों से प्रारंभिक पूछताछ में सट्टे के तार देश के अन्य कई बडे शहरोंएवं विभिन्न राज्यों से जुड़े होना ज्ञात हुयें है चॅूकि आरोपीगण सट्‌टे का कारोबार ऑनलाईन संचालित करते थे इसलिये नगदी ज्यादा बरामद नहीं हुई किंतु आरोपियों से जप्त किये गये दस्तावेज तथा उपकरणों में सट्‌टे की राशि का हिसाब किताब लाखों में पाया गया है। आरोपियों ने बाणगंगा क्षेत्र के श्रीराम एनक्लेव में कुछ दिन पूर्व ही फ्लैट किराये से लिया था जहां पर सट्‌टे का अवैध कारोबार चला रहे थे।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती रुचि वर्धन मिश्र इन्दौर (शहर) द्वारा आई. पी. एल. क्रिकेट मैचों के दौरान सक्रिय हुये सटोरियों पर निगरानी रखकर उन पर वैधानिक कार्यवाही करने हेतु इंदौर पुलिस को निर्देशित किया गया था। उक्त निर्देशों के तारतम्य में पुलिस अधीक्षक (मुखयालय) इंदौर श्री अवधेश कुमार गोस्वामी के निर्देशन में क्राईम ब्रांच की समस्त  टीमों के प्रभारियों को सट्टा संचालित करने वाले सक्रिय सटोरियों के संबंध में आसूचना संकलित कर उनकी धरपकड़ करने हेतु समुचित दिशा निर्देश दिये गये थे।  

सीएम की आमसभा में पीएचई मंत्री पांसे बोले किसानो का कर्जा माफ, बिजली बिल हाफ, चुनाव में बीजेपी का सुपडा साफ करना है

सीएम की आमसभा में पीएचई मंत्री पांसे बोले किसानो का कर्जा माफ,

TOC NEWS @ www.tocnews.org
बैतूल संवाददाता // अशोक झरबड़े  : 9424554933
बैतूल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 28 अप्रैल को बेतूल के खेड़ी सावली गढ़ ग्राम में कांग्रेस से लोस प्रत्याषी रामू टेकाम के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस मौके पर पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे ने भी अपना उद्बोधन दिया। सीएम ने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि किसानों का कर्जा तो माफ हो जाएगा वहीं किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य भी मिल सकेगा।
कार्यक्रम में कमलनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पीएम मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि हमने जो वचन दिया है वह निभाया है कमल नाथ जो वादा करते हो पूरा करते हैं। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री को टारगेट करते हुए कहा कि उन्हें ऐसा प्रदेश सौंपा जो किसानों की आत्महत्या में नंबर वन बेरोजगारी में नंबर वन बलात्कार और भ्रष्टाचार में नंबर वन था;
वही अपने उद्बोधन में पीएचई मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने भाजपाइयों को बेईमान बताते हुए कहा कि उन्होंने जो कर्ज माफी का वादा किया था उसे नहीं निभाया श्री पांसे ने कहा कि आचार संहिता के बाद दो लाख तक का कर्ज माफ हो कर रहेगा कोई माई का लाल कितने अड़ंगे लगा ले कर्ज माफी नहीं रुकेगी भाजपा वाले आचार संहिता और चुनाव आयोग में ऋण माफी के प्रमाण पत्र नहीं बट ने देने के लिए शिकायत कर अटकलें लगा रहे हैं ।
श्री पांसे ने कहा कमलनाथ जी ने जो कर्जा माफ किया है वह होकर रहेगा उसे किसी का बाप भी नहीं रोक सकता। इस बार हमारा यही लक्ष्य है कि किसानो का कर्जा माफ, बिजली बिल हाफ और लोकसभा चुनाव में बीजेपी का सूपडा साफ उक्त सभा को पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे, बेतूल विधायक निलय डागा, पूर्व विधायक विनोद डागा ने भी संबोधित किया।

दिग्विजय सिंह की सभा में बिजली गुल, तिलमिलाए, मंच से ईई को लताड़ा, फिर ये हुआ


दिग्विजय सिंह की सभा में बिजली गुल, तिलमिलाए, मंच से ईई को लताड़ा, फिर ये हुआ


TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
भोपाल। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह उस समय तिलमिला उठे जब हुजूर विधानसभा के गांव दीपड़ी स्थित तीरथ यूनिवर्सिटी में आमसभा के दौरान बिजली कट हो गई। गुस्साए दिग्विजय सिंह ने मंच से ही बिजली कंपनी के ईई को जमकर फटकार लगाई। मजेदार बात यह है कि फोन कट होने से पहले बिजली आ गई।
भरे मंच से ईई को फोन लगायासोमवार को दिग्विजय सिंह की सभा के दौरान हुजूर विधानसभा के गांव दीपड़ी स्थित तीरथ यूनिवर्सिटी में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। तब अचानक बिजली गुल हो गई। ग्रामीणों ने भी बिजली अधिकारियों की शिकायत और मनमानी बताना शुरू कर दिया। तब दिग्विजय सिंह ने कहा कि अब सभा नहीं बल्कि इसी मामले पर आप सभी के सामने बात होगी।
दिग्विजय ने मंच से बिजली विभाग के अधिकारी को फोन लगाकर कहा, चौहान साहब नमस्कार। अब आपका फोन हमारे माइक पर है। जहां भी मैं जा रहा हूं वहां बिजली कट हो रही है। क्या यह शिड्यूल कट है क्या? अधिकारी बोला, मैं पता लगाता हूं सर इंवेस्टिगेशन भी करूंगा।
आउटसोर्सिंग वाले कर्मचारी बिजली कट कर रही हैदिग्विजय बोले, इंवेस्टिगेशन तो ठीक है, लेकिन आपके नीचे के अधिकारी जो गड़बड़ कर रहे हैं उन पर क्या नियंत्रण कर रहे हैं आप? नहीं सर कट नहीं है। यहां आपके एई साहब भी परेशान हो रहे हैं आप कह रहे हैं कट नहीं है। कैसे बंद हुई मुझे यह बताइए। इतने में बिजली आ जाती है। हमने आपको फोन लगाया तो लाइट आ गई?
किसानों को हर वक्त क्या ईई साब को फोन करना पड़ेगा क्या? मैं पब्लिक का आदमी हूं, आप लोग क्यों बदनामी कर रहे हैं? मैं शिकायत कर रहा हूं आपकी बाकि आप जाने आपका काम जाने। इस वाक्या के बाद दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह सब भाजपा की ही चाल है। भाजपा ने आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को नियुक्त किया है। पहले बिजली काटते है फिर एसएमएस करते हैं कांग्रेस आई और बिजली गई। मैं एक-एक को देख लूंगा।

सावधान रहें : किराएदार की सूचना पुलिस को दी तो उसकी पत्नी ने रेप केस दर्ज करा दिया

Be Careful: Renter's Information

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
भोपाल। एक अपराधी और उसकी पत्नी शरीफ इंसान बनकर किराए पर रहने के लिए आए। मकान मालिक ने पुलिस वेरिफिकेशन के लिए सूचना दी तो किराएदार की पत्नी ने मकान मालिक के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज करा दिया। इधर पुलिस को पता चला कि किराएदार तो आदतन अपराधी है। 
यह भी पता चला कि किराएदार की पत्नी ने मकान मालिक को झूठे मामलों में फंसाने की धमकी देकर 1 लाख रुपए की मांग की है। पुलिस ने दंपती के खिलाफ अड़ीबाजी का केस भी दर्ज कर लिया है। एएसपी मनु व्यास के मुताबिक ये घटनाक्रम टीला थाना क्षेत्र का है। 20 वर्षीय गर्भवती महिला पति के साथ इलाके में किराए से रहती है। ये मकान उसने 15 दिन पहले ही किराए पर लिया है।
महिला का पति आदतन बदमाश है और मार्च 2019 में ही कलेक्टर ने उसके खिलाफ जिला बदर का आदेश जारी किया है। तीन जिलों से बाहर रहने के आदेश का उल्लंघन करते हुए वह भोपाल में ही रह रहा था। मकान मालिक ने पुलिस वेरिफिकेशन कराने के लिए आईडी प्रूफ मांगा तो उसने जानकारी नहीं दी। इसके बारे में मकान मालिक ने टीला जमालपुरा पुलिस को बता दिया। आरोपी को लगा कि वह फंस जाएगा। इसके बाद उसने मकान मालिक को झूठे केस में फंसाने की धमकी दे दी। ऐसा न करने के एवज में उसने एक लाख की अड़ी डाल दी थी।
पुलिस ने कलेक्टर के आदेश का उल्लंघन करने के आरोप में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इस बीच उसकी गर्भवती पत्नी मकान मलिक के खिलाफ ज्यादती का केस दर्ज करवा दिया। पुलिस का कहना है कि ज्यादती के मामले की जांच के बाद ही गिरफ्तारी की जाएगी। पुलिस ने मकान मालिक की शिकायत पर दंपती के खिलाफ अड़ीबाजी का केस भी दर्ज कर लिया है।

ISIS का खूंखार मुखिया बगदादी का जारी हुआ वीडियो: ली श्रीलंका हमले की जिम्मेदारी

ISIS का खूंखार मुखिया बगदादी का जारी हुआ वीडियो: ली श्रीलंका हमले की जिम्मेदारी…
TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
डेस्क: सीरिया को तबाह कर देने वाले खूंखार आतंकी संगठन ISIS के मुखिया बगदादी ने कई साल बाद अपना एक वीडियो जारी कर श्रीलंका आतंकी हमले की जिम्मेदारी ले ली है. सबसे ख़ास बात यह है कि बगदादी के मारे जाने की कई बार खबर आ चुकी थी.
बतादें कि ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट की जिम्मेदारी खुद ISIS आतंकी संगठन के प्रमुख अबू बक्र अल-बगदादी ने ली है. इसे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि बगदादी ज़िंदा है. बगदादी ने पांच साल बाद वीडियो जारी किया और श्रीलंका में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है.

एक न्यूज़ एजेंसी द्वारा जारी किये गये बगदादी के वीडियो में वह, तीन लोगों से बात करता हुआ दिखाई दे रहा है, जिनको बगदादी ये कहता हुए सुनाई दे रहा है कि ‘सीरिया के बागूज की लड़ाई खत्म हो गई है’. वीडियो में इन तीनों व्यक्तियों के चेहरे धुंधले किए गए हैं. बगदादी और आईएस का सीरिया में पिछले कई सालों से कब्जा था.

जिनपर हमला करके फरवरी में अमेरिका ने आईएस को खत्म करने का दावा किया था. लेकिन अब बगदादी के वीडियो जारी करना और श्रीलंका आतंकी हमले की जिम्मेदारी लेना यह साबित करता है कि वह मरा नहीं है, हालाँकि अभी तक इसे वीडियो की पुष्टि नहीं हुई है, क्योंकि इससे पहले कई बार मृत घोषित किया जा चुका है.

Monday, April 29, 2019


भोपाल लोकसभा में मचा घमासान केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर कसा जुबानी हमला: माफी मांग कर देना पड़ा स्पष्टीकरण http://aninewsindia.com/?p=11951

सनी देओल के लिए धर्मेंद्र ने किया Tweet, लिखा-राजनीति बहुत घिनौनी हो चुकी है

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
मुंबई। सोमवार को 'गदर' फेम सनी देओल ने पंजाब के गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया, सनी देओल इस बार भाजपा के टिकट पर गुरदासपुर से चुनाव लड़ रहे हैं, नामांकन फाइल करते वक्त सनी  ने सिर पर पीले रंग की पगड़ी पहने हुई थी
तो वहीं इस महत्वपूर्ण मौके पर उनके छोटे भाई और एक्टर बॉबी देओल पूरे वक्त उनके साथ नजर आए, जहां एक सनी देओल ने नामांकन दाखिल करके अपने राजनीतिक सफर में एक कदम आगे बढ़ाया है वहीं दूसरी ओर उनके पिता और ग्रेट एक्टर धर्मेंद्र ने Twitter पर अपने बेटे को वोट करने के लिए एक भावुक अपील की है।
राजनीति के घिनौनेपन से परेशान धर्मेंद्र हिंदी सिनेमा के इस प्रख्यात अभिनेता ने Twitter पर लिखा है कि ''राजनीति इतनी घिनौनी हो चुकी है दोस्तों ... यहां A ...Z बन जाता है ....Z .... A हो जाता है....हम इसकी A B C नहीं जानते .....हां... भारत हमारी मां है ....मां के लिए हमआप का सहयोग मांगते हैं......हमारा साथ दो .....जीत यह आप की होगी ....मेरे पंजाब के भाई-बहनों की होगी ...भारत मां के एक खूबसूरत अंग गुरदासपुर की होगी।
'राजनीति मुकद्दर में थी, हम चले आए' इसके बाद धर्मेंद्र ने एक और ट्वीट किया है, उन्होंने उसमें अपने बेटे सनी देओल के साथ की एक तस्वीर भी शेयर की है, ट्वीट में धर्मेंद्र ने लिखा है कि राजनीति मुकद्दर में थी, हम चले आए, अब बहुत सारे मेरे भाई-बहन भली बुरी बातें कहेंगे,
उन सबकी बातें सिर माथे पर, एक बात मैं दावे के साथ कह देना चाहता हूं कि जो काम बीकानेर में 50 में नहीं हो सके थे, वे मैंने पांच साल में करवा लिए थे। कुल मिलाकर अप्रत्यक्ष रूप से धर्मेंद्र ने लोगों से अपने बेटे के पक्ष में वोट करने की अपील की है।

भोपाल लोकसभा में मचा घमासान केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर कसा जुबानी हमला: माफी मांग कर देना पड़ा स्पष्टीकरण

संबंधित इमेज
उमा भारती साध्वी प्रज्ञा ठाकुर
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
पंकज पाराशर 
भोपाल। केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती ने भोपाल लोकसभा क्षेत्र की भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर दिए जवाब को लेकर उन्हें माफी मांग कर स्पष्टीकरण जारी करना पड़ा। भोपाल लोकसभा क्षेत्र में भाजपा में गुटबाजी सामने आ रही है l
केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि मीडिया में उनके बयान को गलत संदर्भ में दिखाया गया है। उन्होंने कहा कि, सवाल पूछा गया था कि क्या मैं सध्वी प्रज्ञा ठाकुर से खुद को छोटा या बड़ा मानती हूं?
उमा भारती साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के लिए इमेज परिणाम
जिसके जवाब में मैंने जो बात कही थी उसको तोड़मरोड़ कर दिखाया गया। दरअसल, रविवार को उमा खजुराहो में बीजेपी प्रत्याशी वीडी शर्मा के पक्ष में चुनाव प्रचार कने गईं थीं। जहां उन्होंने कहा था कि, प्रज्ञा ठाकुर बड़ी संत हैं, वह महामंडलेश्वरी हैं, उनसे मेरी तुलना मत कीजिए, मैं किसी काम की नहीं हूं। लेकिन सोमवार को भोपाल पहुंची उमा अपने बयान से पलट गईं और उन्होंने एक बयान जारी कर स्पष्टीकरण दिया है।
उन्होंने अपना बयान में कहा है कि, साध्वी जी ने सिद्ध संत अवधेशानंद जी महाराज से सन्यास लेने के बाद अपना स्वयं का अखाड़ा बनाया है तथा उनके अपने अनुयायी भी हैं। वह सन्यासियों की परंपरा से जुड़ी हुई संत हैं। मैं कृष्ण भक्ति संप्रदाय में वैष्णव मार्ग में दीक्षित हूं। मेरे गुरू कर्नाटक उड्डपी पीठ के श्री पेजावर स्वामी जी हैं।
उमा भारती साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के लिए इमेज परिणाम
किंतु, मैंने कोई आश्रम, कोई शिष्य या अनुयायी नहीं बनाया है। मेरा वैष्णव परंपरा में दीक्षित होकर सन्यासी होना बहुत ही निजी विषय है। यह मेरे और मेरे गुरू जी के बीच का विषय है। उमा ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा ने निजी जीवन में बहुत कष्ट झेले हैं, इसी कारण से मैंने उपरोक्त टिप्पणी की। मैं अब भोपाल में आ गईं हूं और उनके लिए चुनाव प्रचार में भी भाग लूंगी।

रणबीर कपूर के साथ हुए ब्रेक-अप पर कटरीना कैफ ने पहली बार तोड़ी चुप्पी, बताया ‘मम्मी ने कहा था कि...’

संबंधित इमेज
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री की जानी-मानी अभिनेत्री कटरीना कैफ अपने रिलेशनशिप से ज्यादा ब्रेक-अप के कारण चर्चा में रहती हैं। सालों पहले जब उनका रिश्ता सलमान खान के साथ टूटा था, तब मीडिया में काफी चर्चाएं हुई थीं और रणबीर कपूर के साथ हुए ब्रेक-अप को लेकर तो अभी तक लोग बातें कर रहे हैं।
सलमान खान से ब्रेक-अप के बाद कटरीना कैफ बॉलीवुड के 'बर्फी बॉय' के साथ रिश्ते में आई थीं लेकिन वो रिश्ता लम्बे समय तक नहीं चल सका। 'जग्गा जासूस' की शूटिंग के साथ शुरू हुआ रणबीर-कटरीना का प्यार फिल्म की रिलीज तक खत्म हो गया। रणबीर कपूर और कटरीना कैफ के बीच अचानक से दूरियां क्यों आना शुरू हो गईं, यह किसी को पता नहीं है।
हाल में कटरीना कैफ ने मीडिया से रणबीर कपूर के साथ हुए अपने ब्रेक-अप पर चर्चा की है और बताया है कि, ‘नए पायदान पर जाने के लिए पिछला पायदान छोड़ना पड़ता है। हमारे बीच जो कुछ हुआ, उसमें मैं अपने हिस्से की जिम्मेदारी ले सकती हूं। मैं क्या सही कर सकती थीं और मेरी तरफ से क्या कमी रह गई.

संबंधित इमेज
 लेकिन दूसरे इंसान के हिस्से की जिम्मेदारी मैं नहीं ले सकती हूं। जब मैं अपने सबसे खराब समय से गुजर रही थी, तब मेरी मां ने मुझसे कहा था कि जो मेरे साथ हो रहा है, वो दुनिया की कई सारी लड़कियों के साथ हो रहा है। इस मामले में मैं अकेली नहीं हूं। इसके बाद मेरे दिल को थोड़ी शांति मिली और मैं जिंदगी में आगे बढ़ने लगी।’
ब्रेक-अप के बाद निजी जिंदगी में आए बदलावों के बारे में कटरीना कैफ ने बताया है कि, ‘मैं एक इमोशनल इंसान हूं, जो कि नहीं बदलने वाला है। हालांकि मैंने यह भी सीखा है कि एक महिला के तौर पर आपको खुद को सुरक्षित रखना आना चाहिए।’ कटरीना कैफ इस साल की ईद पर सलमान खान के साथ फिल्म 'भारत' में नजर आएंगी।

राफेल डील: CJI का कड़ा स्टैंड, मोदी सरकार से कहा- कोर्ट के साथ ''हाइड एंड सीक'' का खेल नहीं चलेगा

राफेल डील: CJI का कड़ा स्टैंड, मोदी सरकार से कहा- कोर्ट के साथ ''हाइड एंड सीक'' का खेल नहीं चलेगा

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
नई दिल्ली : राफेल डील को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने मोदी की केंद्र सरकार को फटकार लगायी है. केंद्र सरकार ने जवाबी हलफनामे के लिए समय मांगा है. इसके साथ ही कहा है कि मंगलवार को होने वाली केस की सुनवाई टाल दी जाये.
इस पर सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि वो इस मामले में विचार कर आदेश जारी करेंगे. इस दौरान मेंशनिंग में नाम न बोलने पर बेंच  में शामिल सीजेआई नाराज भी हो गये. उन्होंने केंद्र सरकार के वकील को इसे लेकर कड़ी फटकार लगायी. इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कथित तौर पर आचार संहिता उल्लंघन मामले में अभिषेक मनु सिंघवी को भी उन्होंने फटकार लगायी.
सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि इस मामले में कोर्ट के साथ हाइड एंड सीक का खेल क्यों खेल रहे हैं? ये नहीं चलने वाला है. सीजेआई ने आगे कहा कि केंद्र के वकील कह रहे हें कि वो जवाबी हलफनामा दाखिल करना चाहते हैं. लेकिन वे यह नहीं बता रहे कि वह राफेल में हलफनामा दाखिल करना चाहते हैं.
इसलिए उनको और समय चाहिए तो वो सुनवाई टालना चाहते हैं. उनको साफ तौर पर यह कहना चाहिए कि कल (मंगलवार) दो बजे होने वाली राफेल मामले की सुनवाई में वो जवाबी हलफनामा दाखिल करना चाहते हैं. इसी तरह सिंघवी भी पीएम मोदी और अमित शाह का नाम नहीं ले रहे है. आपको ये सब बंद करना चाहिए. कोर्ट के साथ हाईड एंड सीक खेल नहीं चलेगा.
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह  के विरुद्ध कथित तौर पर आचार संहिता के उल्लंघन मामले में ‘कार्रवाई’ नहीं करने पर चुनाव आयोग  के खिलाफ कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ 24 घंटे में फैसला लेने के लिए आयोग को निर्देश जारी की जाये.
कांग्रेस ने इस मामले में कहा है कि 23 अप्रैल को मतदान के दिन गुजरात में रैली करके प्रधानमंत्री की ओर से आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है. कांग्रेस ने चुनाव आयोग से प्रधानमंत्री और अमित शाह की शिकायत दर्ज करायी है.
लेकिन तीन सप्ताह बीत जाने के बाद भी चुनाव आयोग द्वारा इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं हुई है. आमतौर पर इस तरह के मामलों में चुनाव आयोग प्रायः उल्लंघन करने वालों पर 72 घंटे तक प्रचार पर बैन लगाता है.

बंगाल में बोले PM मोदी- ममता दीदी के 40 विधायक मेरे संपर्क में, 23 मई के बाद छोड़ देंगे पार्टी

बंगाल में बोले PM मोदी- ममता दीदी के 40 विधायक मेरे संपर्क में, 23 मई के बाद छोड़ देंगे पार्टी

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
कोलकाता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने पश्चिम बंगाल में एक रैली को संबोधित करते हुए दावा किया है कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि 23 मई के बाद सारे विधायक पार्टी छोड़ देंगे.
बंगाल के श्रीरामपुर में पीएम मोदी ने कहा, 'पहले सिर्फ मोदी को गालियां दी जाती थी, अब ईवीएम को भी दी जा रही है. तृणमूल कांग्रेस के गुंडे लोगों को वोट डालने से रोक रहे हैं. विपक्ष का प्रचार अभियान मोदी को गालियां देने पर केन्द्रित है. अगर आप इन्हें निकाल देंगे तो कुछ नहीं बचेगा.' पीएम मोदी ने इससे पहले झारखंड को कोडरमा में रैली को संबोधित किया था.
कोडरमा में पीएम मोदी ने पहली बार मताधिकार का प्रयोग कर रहे युवाओं को ‘मिशन महामिलावट' के प्रति आगाह करते हुए सोमवार को कहा कि विपक्ष का महागठबंधन देश में पूर्ण बहुमत की सरकार नहीं चाहता. झारखंड के कोडरमा में जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस एक कमजोर सरकार चाहती है जिसे वह ‘रिमोट कंट्रोल' से चला सके. 
विपक्ष पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, ‘मिशन महामिलावट यानि केंद्र में ऐसी खिचड़ी सरकार, जो कमजोर रहे, जिस सरकार में ये लोग करोड़ों-अरबों रुपए इधर से उधर कर पाएं, जो इनके परिवारों को, इनके रिश्तेदारों की गुलाम बनकर काम करे.
ये किसी भी कीमत पर देश में एक मजबूत, पूर्ण बहुमत वाली सरकार नहीं चाहते.' महागठबंधन पर कटाक्ष करते हुए मोदी ने कहा, ‘ये लोग किसी के नहीं हैं. इन लोगों को जहां अपना वोटबैंक नहीं दिखता, ये उस इलाके को गरीब बनाकर रखते हैं, पिछड़ा बनाकर रखते हैं, वहां के लोगों को पूछते तक नहीं हैं. गरीब आदिवासी भाई-बहनों के साथ भी इन लोगों ने यही किया है.'

विराट सराफ उम्र 06 साल को अज्ञात आरोपियों ने अपहरण कर लिया था 2 अपहरण आरोपी गिरफ्तार



TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 
दिनाँक 20 अप्रेल 2019 को करबला बिलासपुर से व्यापारी विवेक सराफ के पुत्र विराट सराफ उम्र 06 साल को अज्ञात आरोपियों द्वारा वेगेनोर कार में अपहरण कर लगातार 06 दिन तक पन्ना नगर जरहाभाठा के एक मकान में बंधक बनाकर रखे हुए थे.
जिसे बिलासपुर पुलिस द्वारा विराट सराफ को आरोपियों के बंधन से मुक्त करते हुए बिहार प्रान्त के एक आरोपी सहित कुल 03 आरोपी को गिरफ्तार करने में आज दिनाँक 26 अप्रैल 19 को विराट सफलता प्राप्त हुई है।
सम्पूर्ण कार्यवाही में पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज बिलासपुर श्री प्रदीप गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीणा के कुशल नेतृत्व में बिलासपुर पुलिस एवं दीगर जिले से आए हुए पुलिस टीम द्वारा निरंतर प्रयास से सफलता अर्जित हो सकी ।
सकुशल घर वापस लौटा विराट, शहर में उत्साह का माहौल पुलिस ने विराट के साथ 2 आरोपियों को भी हिरासत में लिया है।और उनसे पूछताछ कर रही है ।

खबर ही खबर खबरों का पिटारा

*बीजेपी के कैबिनेट मंत्री बलात्कार का आरोप में फसें, सीजेएम कोर्ट ने पुलिस से पूछा मुकदमा दर्ज हो गया है या नहीं *
http://tocnews.org/?p=30704

*खबर ही खबर खबरों का पिटारा*
🔥🔥🔥🔥🔥🔥🔥🔥
*ANI NEWS INDIA*
*News & Views Media Network*

*शारीरिक संबंध बनाने से इनकार करने पर गुस्से में आ गई थी अपूर्वा, रोहित की कर दी हत्या* http://aninewsindia.com/?p=11907

*रोज खाने में नींद की गोलियां मिलाकर खिला रही थी पत्नी, फिर एक दिन* http://aninewsindia.com/?p=11910

*मुकेश अंबानी ने कांग्रेस के लिए कह दी ऐसी बात, जानकर मोदी को लग सकता है बुरा* http://aninewsindia.com/?p=11904

*गूगल सर्च में राहुल गांधी ने पीएम मोदी से बाजी मारी, इन राज्यों में रहे सबसे आगे* http://aninewsindia.com/?p=11935

*बेटी बोली- होटल में ले जाकर रेप करते हैं पापा, सुनकर पिता को लगा सदमा, फिर सामने आई अलग सच्चाई* http://aninewsindia.com/?p=11898

*किम जोंग की बीवी की वो असलियत, जिसे पूरी दुनिया से छिपाकर रखा गया था* http://aninewsindia.com/?p=11901

*4352 लोगों ने फार्म भरकर लिया देहदान का संकल्प, सामूहिक विवाह में जिले भर से पहुंचे जनप्रतिनिधि* http://aninewsindia.com/?p=11932

*कलेक्टर एवं एसपी ने मतदान केन्द्रों का किया औचक निरीक्षण संवेदनशील मतदान केन्द्र देखे, सुरक्षा व्यवस्था व मतदान की तैयारियों का लिया जायजा* http://aninewsindia.com/?p=11928

*सहज संवाद / संविधान की रक्षा के राग पर गूंज रहे हैं गठबंधनी तराने* http://aninewsindia.com/?p=11925

*प्रदेश में प्रथम चरण के 6 संसदीय क्षेत्रों में  10 करोड़ 45 लाख से अधिक नगदी/सामग्री जप्त* http://aninewsindia.com/?p=11922

*चुनाव ड्यूटी के दौरान मृत सुश्री साहू के परिजनों को 15 लाख आर्थिक सहायता स्वीकृत* http://aninewsindia.com/?p=11891

*प्रथम चरण में 6 सीटों पर चुनाव मैदान में 108  अभ्यर्थी* http://aninewsindia.com/?p=11919

*बेंगलुरु को हराकर दिल्ली कैपिटल्स ने बनाई प्लेऑफ में जगह, आरसीबी आईपीएल की रेस से बाहर* http://aninewsindia.com/?p=11913

*बाल हठ- जिद है मतदान की, मतदान करने के लिए बच्चों द्वारा अपने माता- पिता को पत्र लिखकर हस्ताक्षर कराये गये* http://aninewsindia.com/?p=11888

*********************************
*मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के समस्त जिले एवं तहसील स्तर पर संवाददाताओं / ब्यूरो की आवश्यकता है.*
*ANI NEWS INDIA*
*News & Views Media Network*
( www.aninewsindia.com ) से आप संस्थान से जुड़ना चाहते है तो email पर अपना बायोडाटा, आधार परिचय पत्र, एक फोटो सेंड करे ईमेल :- aninewsindia@gmail.com, aninewsindia@yahoo.com

*अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें*
8989655519
9893221036 ( WA )
÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷

IPS Officer बनने की क्या होती है योग्यता और कितनी मिलती है सैलरी

IPS Officer बनने की क्या होती है योग्यता और कितनी मिलती है सैलरी


TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

आईपीएस का पूरा नाम भारतीय पुलिस सेवा है, यह एक अखिल भारतीय सेवा है, ब्रिटिश शासन काल में, इसे इंपीरियल पुलिस के नाम से जाना जाता था, आईपीएस पद हमारे देश के प्रतिष्ठित पदों में से एक है, हमारे देश के लाखों युवा आईपीएस बनना चाहते है| IPS Officer कैसे बने, इसके लिए परीक्षा की प्रकृति एवं प्रक्रिया को देखते हुए इसमें सफलता हेतु एक बेहतर रणनीति के साथ अच्छी तैयारी की आवश्यकता होती है, इस पद को प्राप्त करनें के लिए कठिन परिश्रम के साथ-साथ आवश्यक जानकारी भी होनी चाहिए.

Third party image reference
आईपीएस बननें हेतु योग्यता
एक आईपीएस अधिकारी बननें हेतु अभ्यर्थी को मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होना आवश्यक है, स्नातक डिग्री पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष के छात्र भी परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है |
आयु मापदंड
परीक्षा में सम्मिलित होनें के लिए आवेदक की न्युनतम आयु 21 वर्ष व अधिकतम 32 वर्ष होना‌ अनिवार्य हैं, आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को आयु में नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है |
शारीरिक योग्यता
शारीरिक योग्यता के अंतर्गत, पुरुषों की लम्बाई 165 से.मी. तथा महिलाओं की लम्बाई 150 से.मी. होनी आवश्यक है, पुरुषों का चेस्ट 84 से.मी. तथा आवेदक को आंखों का विज़न 6/6 या 6/9 होना चाहिए, कमजोर आंखों का विज़न 6/12 या 6/9 होना अनिवार्य हैं ।
आईपीएस बननें हेतु परीक्षा
आईपीएस अधिकारी बननें हेतु अभ्यर्थी को यूपीएससी द्वारा आयोजित परीक्षा में सम्मिलित होना होता है, यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित होती है |
  • प्रारंभिक परीक्षा (प्रिलिम्‍स)
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार
सैलरी
आईपीएस अधिकारी का वेतन उनके ग्रेड और पोजीशन पर आधारित होता है, एक आईपीएस को प्रारंभिक वेतन के रूप में 15600 से 39100 रुपये तथा ग्रेड पे 5400 रुपये प्राप्त होता है |

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news