Friday, March 31, 2017

फैसला बदला:SC ने हाईवे पर शराब की दुकानों की दूरी घटाई, अब 220 मीटर

Toc News

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने हाईवे पर शराब की दुकानों की दूरी 500 मीटर से घटाकर 220 मीटर कर दी है। सिक्किम व मेघालय को इस सीमा से मुक्त किया गया है।
कोर्ट ने कहा है कि हाईवे पर होटल में शराब नहीं मिलेगी। कोर्ट ने कहा, यदि होटलों को अनुमति दी गई तो पूरा मकसद ही पिट जाएगा। शराब पीकर गाड़ी चलाने के कारण हादसे रोकने के मकसद से कोर्ट ने आदेश दिया था। देश में हर साल 1.42 लाख लोगों की मौत शराब पीकर गाड़ी चलाने के कारण होती है।
इससे पहले कोर्ट ने हाईवे पर शराब की दुकानों को 500 मीटर दूर हटाने का आदेश दिया था, लेकिन राज्यों की आपत्ति के बाद यह आदेश शुक्रवार को  संशोधित किया।

एक होटल का वेटर MP का अधिमान्य पत्रकार और फिल्म फाइनेंसर कैसे बन गया

Toc News

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस विधायकों ने मंगलवार को राज्य के जनसंपर्क विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि राज्य में एक ऐसी कंपनी को करोड़ों रुपये का काम दिए जा रहा है, जिसका मालिक कभी होटल में नौकर हुआ करता था और अधिमान्यता पाकर आधे किराए पर यात्रा करने वाला एक पत्रकार मुंबई में फिल्मों का फाइनेंसर हो गया है। उनका इशारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले की तरफ था। कांग्रेस के इन आरोपों का जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सीधे तौर पर जवाब नहीं दिया।

विधानसभा में जनसंपर्क विभाग की अनुदान मांगों पर चर्चा के दौरान कांग्रेस विधायक डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा कि जनसंर्पक विभाग का लगातार बजट बढ़ता जा रहा है और प्रचार-प्रसार में करोड़ों रुपए फूंके जा रहे हैं। यह काम जनसंपर्क विभाग के अधीन आने वाले 'माध्यम' (विभाग की शाखा) से किया जाता है, मगर बिचौलिए छोड़ दिए गए हैं। इसी के चलते एक होटल में कभी नौकर रहा व्यक्ति महज पांच साल में एक कंपनी का मालिक बन गया। उसे बड़े आयोजनों के इवेंट मैनेजमेंट के तौर पर करोड़ों के काम दिए जा रहे हैं। यह सब जनता की कमाई को लूटने के चलते हुआ है। इस पर रोक लगाई जाए।

उन्होंने आगे कहा कि एक व्यक्ति मुरैना जिले से प्रकाशित होने वाले अखबार का अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार हुआ करता था और इस अधिमान्यता के कार्ड के आधार पर आधे किराए (रियायत के चलते) पर यात्रा करता था, आज वह फिल्मों का फाइनेंस हो गया है। मंत्री इन लूट करने वालों से प्रदेश को बचाएं।

कांग्रेस विधायक द्वारा लगाए गए आरोपों का जनसंपर्क मंत्री मिश्रा ने सीधे तौर पर जवाब नहीं दिया। कांग्रेस विधायक सिंह ने कहा कि जब सरकार फंसने लगती है, तो जवाब नहीं दिया जाता, अधिमान्यता प्राप्त पत्रकार से फिल्म फाइनेंसर बना व्यक्ति मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का साला है, लिहाजा जवाब कौन देगा?

पुलिस विभाग: SP ने की सर्जरी, 5 टीआई और 3 एसआई के तबादले

Toc News
शिवपुरी. पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे ने पुलिस व्यवस्था को और भी सख्त बनाने के लिए आज विभाग में बड़ा फैरबदल किया है।एसपी श्री पांडेय ने विभाग में सर्जरी करते हुए 5 टीआई सहित 3 एसआई के तबादले किये है। जो फेरबदल किया गया है उसमें बैराड़ टीआई धर्मेन्द्र सिंह यादव को पिछोर, टीआई संजीव तिवारी देहात थाना शिवपुरी को थाना प्रभारी करैरा बनाया गया है जबकि देहात की कमान हाल ही में श्योपुर जिले से पुलिस लाईन शिवुपरी में आए टीआई सतीश सिंह चौहान को सौपी गई है। इसी प्रकार टीआई ओमप्रकाश आर्य थाना प्रभारी करैरा को बैराड़ थाना प्रभारी बनाया गया है। वहीं उत्तम सिंह मंडेलिया थाना प्रभारी पिछोर को लाईन का रास्ता दिखाया गया है।

एसआई कृपाल सिंह राठौड को यातायात से जे एस आई करैरा भेजा है। उपनिरीक्षक अजय सिंह गुर्जर को पुलिस लाईन से सीहोर थाने की कमान सौंपी गई है।सीहोर थाना प्रभारी उप निरीक्षक धर्मसिंह कुशवाह को सीहोर से थाना प्रभारी यातायात बनाया गया है। यहां बतादे की एसपी सुनील कुमार पांडेय के शिवपुरी आने के बाद से पुलिस महकमे में यह पहला फेरबदल है।सूत्रों की माने तो कुछ अन्य बर्दिधारीयों को भी आने बाले समय में इधर से उधर किया जा सकता है। 

मासिक धर्म की जांच के लिए वॉर्डन ने उतवाए 70 लड़कियों के कपड़े, हुई सस्पेंड



Toc News
मुजफ्फरनगर में करीब 70 लड़कियों ने आरोप लगाया है कि उन्हें मासिक धर्म के ब्लड की जांच के लिए वार्डन ने कपड़े उतवा दिए। जिसके बाद वार्डन को सस्पेंड कर दिया गया है।

बता दें कि कस्तूरबा गांधी आवासीय गर्ल्स स्कूल में यहां कई स्टूडेंट ऐसे हैं जो यहां रहकर पढ़ाई करते हैं। दरअसल, आज से ठीक दो दिन पहले हॉस्टल की वॉर्डन ने दीवार पर खून के धब्बे देखे तो उन्होंने वहां मौजूद सभी लड़कियों से धब्बे का कारण पूछा।

वजह पूछने के बाद वॉर्डन ने एक एक करके लड़कियों के कपड़े उतवाकर जांच करना शुरु किया। यहां रह रही छात्राओं ने बताया कि वार्डन ने करीब 70 छात्राओं के कपड़े उतरवाकर उनके गुप्तांगों को चेक किया।

वॉर्डन की इस हरकत से सबी लड़कियां डर गई जिसके बाद सभी ने अपने परिजन को इसकी जानकारी दी। इस घिनौनी हरकत के बारे में जब परिजन को पता चला तो गुस्साए परिजनों ने मिलकर जमकर हंगामा किया।

वार्डन सुरेखा तोमर का कहना है कि विद्यालय में अनुशासन बनाए रखने के कारण कुछ अभिभावक व शिक्षक उनके खिलाफ साजिश कर रहे हैं। लड़कियों के कपड़े उतवाने पर बताया कि ऐसा नहीं करना था ये मेरी गलती है।

शर्मनाक: होस्टल की लड़कियों को धमका कर प्रिंसिपल ने उतरवाए कपड़े

TOC NEWS @ 31 Mar. 2017 16:32

मुजफ्फरनगर: एक आवासीय स्कूल के प्रिंसिपल ने कथित तौर पर लड़कियों के समूह को धमकाया और उन्हें कपड़े उतारने के लिए मजबूर किया. जिसके बाद मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

मामले में जांच के आदेश दिए गए

पीड़िताओं के परिवार वालों की ओर से दायर शिकायत के अनुसार डिगरी गांव के कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल की छात्राओं से कल प्रिंसिपल ने जबरन कपड़े उतरवाए. जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी चंदर केश यादव में बताया कि प्रिंसिपल ने कथित तौर पर छात्राओं को उसकी बात न मानने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी. उन्होंने बताया कि मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

मैडम ने हमें कपड़े उतारने को कहा: पीड़िता

एक छात्रा ने कहा, ‘‘ वहां कोई टीचर नहीं थे. हमें होस्टल से नीचे बुलाया गया . मैडम ने हमें कपड़े उतारने को कहा और ऐसा न करने पर उन्होंने हमें पीटने की बात कही . हम बच्चें हैं हम क्या कर सकते थे ? अगर हम उनका कहना नहीं मानते तो वह हमें पीटती. ’’

65 में से 35 छात्राओं ने छोड़ा स्कूल

हालांकि प्रिंसिपल ने इन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा , ‘‘ उन्हें किसी ने कपड़े उतारने को नहीं कहा. यह स्टाफ की मेरे खिलाफ साजिश है क्योंकि वे नहीं चाहते कि मैं यहां रहूं. मुझे यह देखने को कहा गया था कि स्टाफ अपना काम कर भी रहा है या नहीं. मैं सख्त हूं इसलिए वे मुझसे नफरत करते हैं. ’’ इस खबर के फैलने के बाद 65 छात्राओं में से 35 स्कूल छोड़कर चली गईं. यादव ने कहा कि कई और छात्राओं ने भी ऐसी ही शिकायत की है. मामले की जांच की जा रही है.

Thursday, March 30, 2017

शिवसैनिको की गुंडागर्दी , जबरन बंद कराई मीट और चिकन की 500 दुकाने


Toc News

गुडगाँव | उत्तर प्रदेश में अवैध बूचडखानो पर हो रही कार्यवाही का असर बाकी राज्यों में भी देखने को मिल रहा है. खासकर बीजेपी शासित राज्यों में भी बूचडखानो पर कार्यवाही की मांग उठने लगी है. हालाँकि बूचडखानो पर कार्यवाही करने का पूरा अधिकार सरकार और प्रशासन को है लेकिन लगता है की हरियाणा में प्रशासन से लेकर सरकार तक , सभी की जिम्मेदारी शिवसैनिको ने संभाल ली है.

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योकि बुधवार को गुडगाँव में शिवसैनिको की खूब गुंडागर्दी देखने को मिली और प्रशासन आँखे बंद कर तमाशा देखता रहा. यहाँ शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने गुंडागर्दी दिखाते हुए 500 मीट एवं चिकन की दुकाने बंद करा दी. इनमे मल्टी नेशनल फ़ूड चैन केऍफ़सी भी शामिल है. इस दौरान शिवसेना ने एक नोटिस भी जारी किया जिसमे दुकानदारों को चेतावनी जारी की गयी.

इस नोटिस में लिखा गया था की सभी चिकन और मीट की दुकानों से आग्रह किया जाता है की वो नवरात्रि के दौरान और हर मंगलवार अपनी दुकाने बंद रखे. ऐसा न करने पर पुलिस और सामाजिक संगठन उचित कार्यवाही करेगी. कृप्या सहयोग करे. इस नोटिस में शिवसेना के लोकल लीडर ऋषिराज के हस्ताक्षर है. धमकी के कुछ देर बाद ही करीब 200 शिवसैनिक ओल्ड गुडगाँव पहुंचे और जबरदस्ती दुकाने बंद कराने लगे.

बंद हुई दुकाने के कुछ मालिको का कहना है की शिवसैनिको से पहले पुलिस भी उनके पास आई थी और दुकाने बंद करने के लिए कहा था. बाद में शिवसैनिको ने दुकाने बंद करा दी. हालाँकि पुलिस के शाम के समय आकर वापिस सभी दुकाने खुलवाई भी है. मामला बढ़ता देखा शिवसेना ने इस कार्यवाही से अपने आप को अलग कर लिया. जबकि पुलिस का कहना है की उनकी तरफ से ऐसा कोई भी निर्देश नही दिया. हम मामली की जांच कर रहे है और सभी आरोपियों के खिलाफ जल्द कार्यवाही की जाएगी.

आप सरकार ने जान-बूझकर रोकी कॉमन सिंबल की फाइल : योगेन्द्र यादव

Toc News
नई दिल्ली। स्वराज इंडिया की आगामी निगम चुनावों में कॉमन सिंबल की मांग को हाईकोर्ट से झटका लगने के बाद पार्टी ने इसका आरोप आम आदमी पार्टी सरकार पर लगाया है।

स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेन्द्र यादव ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने जानबूझकर कॉमन सिंबल की फाइल को करीब दो साल तक अपने पास रोके रखा जिसके चलते हमें निगम चुनावों में कॉमन सिंबल नहीं मिला।
उन्होंने कहा कि आप स्वयं इस नियम का फायदा उठाकर दिल्ली की सत्ता तक पहुंची लेकिन उसने दूसरी पार्टी को इस नियम का फायदा लेने से रोक दिया।

योगेन्द्र यादव ने कहा कि चुनाव आयोग ने 2013 में नियम बनाया था कि किसी चुनाव में कुल सीटों की दस प्रतिशत सीटों पर लड़कर कुल मतों का 6 प्रतिशत मत प्राप्त करने वाली रजिस्टर्ड अनरिकाग्नाइज्ड पार्टी को रिकॉगनाइज्ड मानकर कॉमन इलेक्शन सिंबल दिया जाएगा।
आप ने 2013 में इस नियम का फायदा उठाया। साथ ही आठ से दस राज्यों में ये नियम प्रचलन में है।
दिल्ली राज्य चुनाव आयुक्त राकेश मेहता ने 4 मार्च 2015 को दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार को चिट्ठी लिखकर एक न्यायसंगत नियम बनाने का प्रस्ताव भी दिया। लेकिन अफ़सोस कि दो साल बीत जाने के बाद भी आयोग की इस महत्वपूर्ण चिट्ठी का सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया।

यादव ने कहा कि दिल्ली सरकार दो साल से आयोग के इस प्रस्ताव पर बैठी रही जिसके कारण वर्तमान में चल रहे नियमों का हवाला देकर चुनाव आयोग ने स्वराज इंडिया के कॉमन सिम्बल के निवेदन को ठुकरा दिया।
उन्होंने कहा कि जब हमने एमसीडी चुनाव अभियान की शुरुआत की थी तो हमें पता था कि हमारे पास पैसे नहीं हैं लेकिन आज हमें पता चल गया कि हमारे पास सिम्बल भी नहीं है।

वहीं स्वराज अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष और देश के जाने-माने वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि राज्य चुनाव आयोग को एमसीडी चुनाव में कॉमन सिंबल देने का पूरा अधिकार था लेकिन उसने ऐसा नहीं किया।

उसे दिल्ली सरकार द्वारा नियम बनाने का इंतजार नहीं करना चाहिए था। प्रशांत भूषण ने कहा हम बुधवार को आए हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देंगे। इसके खिलाफ हाईकोर्ट की रिवीजन बेंच में अपील की जाएगी।
जानकारी हो कि चुनाव आयोग में रजिस्टर्ड पहचान न रखने वाले (गैर मान्यताप्राप्त) राजनीतिक दल को कॉमन सिंबल पाने के लिए कुल क्षेत्र की सीटों में से 10 प्रतिशत पर चुनाव लड़ना होता है।

इतना ही नहीं राजनीतिक दल को कुल मतों का 6 प्रतिशत मत भी प्राप्त करना होता है तभी उसी दल को सभी विभिन्न सीटों पर लड़ने के लिए कॉमन सिंबल मिलेगा।
इस शर्त को पूरा न करने वाले दल को चुनाव लड़ने के लिए अलग-अलग सीटों पर अलग-अलग चुनाव चिह्न दिये जाते हैं। जिससे उस दल के उम्मीदवार एवं उसके समर्थकों में अलग-अलग चुनाव चिह्नों को लेकर भ्रम की स्थिति बन जाती है।

Wednesday, March 29, 2017

पत्रकारों के संरक्षण के लिए मीडिया आयोग की आवश्यकता : अवधेश भार्गव




  • *पत्रकारों के संरक्षण के लिए मीडिया काउंसिल की आवश्यकता-* 
  • *मलेशिया जाएगा आईएफडब्लूजे का प्रतिनिधिमंडल*
  • *आईएफडब्लूजे का 30 वां राष्ट्रीय सम्मेलन चेन्नई में संपन्न*

TOC NEWS

भोपाल। चेन्नई यूनियन आफ जर्नलिस्ट (सीयूजे) द्वारा आयोजित इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट (आईएफडब्लूजे) के 30 वां राष्ट्रीय सम्मेलन कालीपुरम मंडपम (चेन्नई) में हुआ। इस सम्मेलन में देश भर के 20 राज्यों से आए 350 से ज्यादा पत्रकार शामिल हुए।  25 मार्च से शुरू हुए इस दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ मलेशिया के डिप्टी शिक्षा मंत्री डी कमलनाथन ने चेन्नई के कलंयिवना आरंगम सभागार में किया। 

विशिष्ट अतिथि के रूप में तमिलनाडु के नामचीन शिक्षाविद एम नटराजन उपस्थित थे। इस अवसर पर आईएफडब्ल्यूजे की उत्तराखंड, आसाम, तमिलनाडु, उत्तरप्रदेश, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, मध्यप्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, उडीसा, बिहार आदि लगभग 24 प्रांतों के प्रतिनिधि शामिल रहे। सम्मेलन के उदघाटन सत्र की अध्यक्षता आईएफडब्ल्यूजे के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीबी मल्लिकार्जुनैया  ने की। सम्मेलन में कई वक्ताओं ने मीडिया व राजनीति सहित कई अहम मुद्दों पर अपने-अपने विचार रखे। 

इस दौरान मध्य प्रदेश से प्रतिनिधित्व करने पंहुचे, देश के वरिष्ठ पत्रकार श्री अवधेश भार्गव ने कहा कि मीडिया की हर क्षेत्र में जिम्मेदारी महत्वपूर्ण होती है। इसलिए इस जिम्मेदारी को निभाने के लिये पत्रकारों को अपनी कलम की ताकत दिखाना चाहिए, ताकि समाज के सामने हर पहलू स्पष्ट हो जाए। उन्होंने पत्रकारों की समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि पत्रकारों के लिए सुरक्षा कानून बनना चाहिए साथ ही उन्होंने देशभर से आए प्रतिनिधियों से मजिठिया आयोग की सिफारिशों को जल्द लागू किए जाने पर जोर दिया। 

श्री भार्गव ने मध्यप्रदेश सरकार की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश के पत्रकारों के लिए सरकार ने महत्वपूर्ण कदम उठाए है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने पत्रकारों की श्रद्धा निधि 6 हजार से बढ़ाकर 7 हजार रुपए कर दी है वहीं पत्रकारों की कल्याण निधि 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख रुपए की गई। अभी तक पत्रकारों को उपचार हेतु आर्थिक सहायता मिलती थी, अब उनके माता-पिता को भी आश्रित मानते हुये, इस सुविधा में सरकार ने शामिल कर लिया है। इसके अलावा गैर अधिमान्यता पत्रकारों के लिए भी बीमा योजना  उपचार हेतु, 2 लाख का उपचार नाम मात्र के(20%) पर सरकार द्वारा शुरू की गई है। 

उन्होंने कहा कि मीडिया आयोग का गठन होना चाहिए,जिस प्रकार एडवोकेसी एक्ट के अन्तर्गत कोई भी वकील बिना रजिस्ट्रेशन कराये, वकालत नहीं कर सकता,सी.ए. एक्ट के अन्तर्गत बिना चार्टर्ड एकाउन्टेन्ट एसोसियेशन में पंजीयन कराये बिना सी. ए. की प्रेक्टिस नहीं कर सकता,मेडिकल काउन्सिल आफ इंडिया में पंजीयन कराये बिना कोई डाक्टर प्रैक्टिस नहीं कर सकता,उसी प्रकार बिना मीडिया आयोग में पंजीयन कराये बिना पत्रकारिता न कर पाये,और यह वर्किंग जर्नलिस्ट एक्ट के अन्तर्गत किया जावे। 

ताकि बेब मीडिया, इलेक्ट्रनिक मीडिया,और प्रिंट मीडिया  पर नियंत्रण हो सके। राष्ट्रीय अध्यक्ष बीबी मलिकार्जुन ने कहा कि संगठन को अपनी श्रेष्ठता बनाए रखने के लिए सामूहिक प्रयास की आवश्यकता है।

Tuesday, March 28, 2017

चेन्नई में चल रहे IFWJ के सम्मेलन में पहुंचे मलेशिया के शिक्षा मंत्री कमलनाथन


TOC NEWS

चेन्नई. चेन्नई जर्नलिस्ट यूनियन के तत्वावधान में 25 मार्च 2017 को इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट (IFWJ) के सम्मेलन का उद्घाटन मलेशिया के शिक्षा मंत्री कमलनाथन ने चेन्नई के कलांयिनवना आरंगम सभागार में किया. 

विशिष्ट अतिथि के रूप में तमिलनाडु के नामचीन शिक्षाविद श्री नटराजन रहे. इन्डियन फेडरेशन ऑफ़ वर्किंग जर्नलिस्ट के इस राष्ट्रीय सम्मेलन में IFWJ की उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, ओडिसा, बिहार, उत्तराखंड, आसाम, तमिलनाडु सहित कई यूनिट्स के साथियों ने मेहमानों का स्वागत किया.  IFWJ के अध्यक्ष बी बी मल्लिकार्जुनाइया की उपस्थिति में , उपाध्यक्ष हेमंत तिवारी महासचिव परमानन्द पांडेय ने कार्यक्रम का संचालन किया. सम्मेलन में पत्रकारों की सुरक्षा और उनसे जुड़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा चल रही है.

मध्यप्रदेश से 40 पत्रकार शामिल हुए 


भोपाल से श्री अवधेश भार्गव जी के नेतृत्व में मध्यप्रदेश से पत्रकारो का दल जी टी एक्सप्रैस, तामिल नाडु एक्सप्रैस से पहुचा सम्मलेन में मुख्य रूप से पहुचने वालों में श्री राम विलास शर्मा, श्री एन पी अग्रवाल, श्री राजनारायण मिश्रा, श्री नन्द किशोर चौहान, श्री विनय जी डेविड, श्री कुंदन अरोरा, श्री मुकेश अहिरवार, श्री राजेश रजक, श्री सतीश सिंह, श्री संजय रायजादा, श्री हैदर खान , श्री उमेश नेक्स, श्री गिरिराज बंजरिया, सहित अन्य पत्रकार साथी पहुच रहे है।

महिला से करता रहा बलात्कार भागवत कथा कराने वाला अय्याश बाबा

TOC News

फरीदाबाद जिले में भागवत कथा कराने वाला एक अय्याश बाबा ने एक महिला को सम्मोहित कर ना केवल उसके साथ कई बार बलात्कार किया |बल्कि उसके बेटे और पति को जान से मारने की धमकी देकर महिला से जेवरात और नकदी भी हड़प लिए|

फरीदाबाद पुलिस के प्रवक्ता ने बताया की एक महिला के शिकायत के अनुसार ललितानंद नाम के एक बाबा के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है |महिला के अनुसार ललितानंद नाम का यह अय्याश बाबा पहले एक बार उस महिला के घर भागवत कथा कराने आया था|

उसके बाद ललितानंद उसके घर आने जाने लगा| एक दिन महिला को अकेला पाकर ललितानंद ने उस महिला को सम्मोहित कर उसके साथ बलात्कार किया|

उसके बाद महिला को ब्लैकमेल करके कई बार उसके साथ बलात्कार किया| तथा पति और बेटे को जान से मारने की धमकी देकर उसके नकदी और जेवरात भी हड़प लिए| महिला के अनुसार इसके बाद ललितानंद रोज शराब पीकर आता और उसके साथ मारपीट करता था|

जब महिला की आंख खुली तो उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई अब पुलिस मामले की जांच कर रही है|

Tuesday, March 21, 2017

इस महिला की दरिंदगी जानकर कांप उठेंगे आप, पति की लाश को ठिकाने लगाते

Image result for सूटकेस में लाश
TOC NEWS
चंडीगढ़ : पति, पत्नी और वो के मामले में रिश्तों के खून की कई वारदात आपने देखी और सुनी होगी। लेकिन आज जिस वारदात को हम आपके बताने जा रहे है उसे जानकर आप सन्न रह जाएंगे। पंजाब के मुहाली में एक पत्नी ने अपने भाई और आशिक के साथ मिलकर अपने दो मासूम बच्चों के सामने पति को गोली मारी दी।
जानकर हैरान रह जाएंगे कि हत्या के बाद पत्नी ब्यूटी पार्लर गई। श्रृंगार किया और फिर लाश को ठिकाने लगाने के लिए 6 फीट के पति के तोड़ मरोड़ कर ढाई फीट कर सूटकेस में भर दिया। दिल दहला देने वाला ये हाई प्रोफाइल हत्याकांड मोहाली के फेज-3 बी 1 की कोठी नंबर-116 में शनिवार की रात अंजाम दिया गया है।
पुलिस के मुताबिक पत्नी सीरत ने अपने भाई और अपने आशिक के साथ मिलकर इस खूनी खेल को अंजाम दिया, लेकिन इससे पहले की वो लाश को ठिकाने लगा पाती इस खूनी साज़िश का खुलासा हो गया। पुलिस के मुताबिक सीरत की इस साज़िश में उसका भाई विनय सिंह और आशिक भी शामिल था।
Related image
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह करीब 10 बजे वारदात की सूचना मिली। एक ऑटो ड्राइवर ने पुलिस को मामले की सूचना दी। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक उस वक्त कोठी के सामने सीरत एक सूटकेस को बीएमडब्ल्यू कार की डिग्गी में रख रही थी। सूटकेस भारी था, इसलिए सीरत ने घर के पास से गुजर रहे एक ऑटो चालक को रोका और सूटकेस को डिग्गी में रखवाने के लिए मदद मांगी।
Image result for सूटकेस में लाश
ऑटो चालक मदद के लिए रुका और इसी दौरान उसके हाथ पर सूटकेस से निकल रहा खून लग गया तो ड्राइवर ने पूछा ये क्या है तो पत्नी सीरत ने कहा कि उसका हाथ कट गया है, लेकिन ऑटो वाले को शक हो गया और उसने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। जैसे ही पुलिस को जानकारी दी गई सरित लाश छोड़कर फरार हो गई।
पुलिस जब मौके वारदात पर पहुंची तो कोठी के बाहर सूटकेस में लाश और बाहर बीएमडब्लू खड़ी मिली। शाम होते-होते पुलिस ने सरिता को गिरफ्तार कर लिया।

Micromax के बेहद कम कीमत 4G स्मार्टफोन मचाएंगे तहलका, आम व्यक्ति भी खरीद सकेगा यह फोन

Image result for Micromax Bharat 1 और Bharat 2
TOC NEWS
भारतीय स्मार्टफोन कंपनी Micromax ग्राहकों के लिए दो नए स्मार्टफोन ला रही है। बताया जा रहा है कि Micromax कंपनी जल्द ही Bharat1 और Bharat2 स्मार्टफोन के 50-60 लाख यूनिट ग्राहकों के लिए लायेगी। कंपनी का लक्ष्य है कि कि 5-6 महीनों के भीतर इन स्मार्टफोनों को सेल किया जाए।
6 महीने के भीतर सेल होंगे 50-60 लाख यूनिट-
रिपोर्ट की मानें तो माइक्रोमैक्स कंपनी Bharat 1 VoLTE और Bharat 2जी VoLTE स्मार्टफोन के 50-60 लाख यूनिट्स को 5-6 महीने के अंदर ही सेल करना चाहती है, ताकि विदेशी कंपनियों की तुलना में घरेलू हैंडसेट के शेयर को बढ़ाया जा सके।
वहीं Micromax कंपनी की ओर से एक बयान में कहा गया है कि घरेलू हेंडसेट मेकर टेलीकॉम ऑपरेटर्स से भी बातचीत जारी है। कंपनी ने यह भी कहा कि हम ऑपरेटर्स की रुचि के लिए नई तकनीक का निर्माण करना चाहते हैं।
जानकारी लगी है कि कंपनी अगले Bharat 2 4जी VoLTE स्मार्टफोन को लॉन्च कर सकती है और उसके एक महीने बाद ही Bharat 2 VoLTE को लॉन्च किया जाएगा।
गूगल से मिलेगी मान्यता-
Bharat 2 4जी VoLTE स्मार्टफोन पहला स्मार्टफोन होगा जो गूगल कंपनी से मान्यता प्राप्त होगा। इस स्मार्टफोन की कीमत 3000 रुपए से भी कम होगी। वहीं Bharat1 4जी VoLTE स्मार्टफोन माइक्रोमैक्स का पहला फीचर फोन होगा। जिसकी कीमत सिर्फ 1,999 रुपए होगी।
टेलीकॉम ऑपरेटर्स ने 4G VoLTE फोन्स के लिए लुभावने ऑफर्स देने शुरू किए हैं। Micromax कंपनी का कहना है कि हमने 4G VoLTE फीचर फोन्स की डिमांड को बढ़ते देखा। है। वहीं दूसरी तरफ Bharat 2 के आने के बाद से एंट्री लेवल स्मार्टफोन्स की दुनिया में पूरी तरह से बदल जाएगा।

जब श्रेया घोषाल ने ट्रांसपेरेंट ड्रेस पहनकर मचाया हंगामा

Image result for जब श्रेया घोषाल ने ट्रांसपेरेंट ड्रेस पहनकर मचाया हंगामा
TOC NEWS
मुंबई। मशहूर प्लेबैक सिंगर श्रेया घोषाल की एक तस्वीर फिर से सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। हालांकि ज्यादातर मौकों पर श्रेया घोषाल को सिंपल और सोबर लुक में देखा गया है। 
लेकिन 2012 में हुए एक स्टेज शो के दौरान उन्होंने अपने फैशन सेंस से फैन्स को चौंका दिया था। स्टेज पर परफॉर्मेंस देते वक्त श्रेया ट्रांसपेरेंट ब्लैक टॉप में दिखी थीं। उन्होंने अंडरगार्मेंट्स तक नहीं पहने थे। उनकी यह तस्वीरें एक बार फिर से सोशल साइट पर वायरल हो रही हैं। खबरें यह भी आ रही हैं कि दिल्ली के मेडम तुसाद स्टूडियो में श्रेया घोषाल का वैक्स स्टैच्यू बनाया जाएगा।
Image result for जब श्रेया घोषाल ने ट्रांसपेरेंट ड्रेस पहनकर मचाया हंगामा
खबरें यह भी आ रही हैं कि दिल्ली के मेडम तुसाद स्टूडियो में श्रेया घोषाल का वैक्स स्टैच्यू बनाया जाएगा। पश्चिम बंगाल के छोटे से गांव ब्रह्मपुर में उनका जन्म एक बंगाली परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम विश्वजीत घोषाल है, जो भारत के परमाणु ऊर्जा निगम में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं। इनकी मां शर्मिष्ठा हाउसवाइफ हैं। श्रेया के एक भाई भी हैं जिनका नाम सौम्यदीप है।
Image result for जब श्रेया घोषाल ने ट्रांसपेरेंट ड्रेस पहनकर मचाया हंगामा

कमल हासन की बेटी ने मीडिया के सामने कर दी घटिया हरकत!

Image result for कमल हासन की बेटी ने अक्षरा हासन
TOC NEWS
जब कोई एक्टर या एक्ट्रेस बुलंदियों को छूने लगता है तो वो अक्सर टैंट्रम शो करने लगता है। फिर वो लोगों से सीधे मुंह बात तक करना पसंद नहीं करता है। खैर, ये तो सुपरस्टार्स की आम ‌आदतों में से एक है। लेकिन हाल ही में एक नॉन फेमस एक्ट्रेस ने ऐसी हरकत कर दी जिसकी आप उम्मीद भी नहीं कर सकते।
दरअसल, पूरी मीडिया के सामने बत्तमीजी से बात करने वाली ये एक्ट्रेस और कोई नहीं बल्कि कमल हसन की छोटी बेटी अक्षरा हसन हैं। अक्षरा हसन हाल ही में अपनी अपकमिंग फिल्म ‘लाली की शादी में लड्डू दीवाना’ को प्रमोट करने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचीं।
गड़बड़ उसी समय शुरू हो गई जब अक्षरा कॉन्फ्रेंस में देर से पहुंचीं। इस कॉन्फ्रेंस में सीनियर रिपोर्टर्स मौजूद थे। साथ ही सीनियर डिस्ट्रीब्यूटर सनी खन्ना भी यहां थे जो अक्षरा की फिल्म की मार्केटिंग का काम भी देख रहे हैं। उन्होंने बताया कि अक्षरा ठीक 6 बजे कॉन्फ्रेंस खत्म कर देंगी।
Image result for कमल हासन की बेटी ने अक्षरा हासन
लेकिन एक जर्नलिस्ट 6 बजने के बाद भी उनसे बात करने के लिए वहां रुका रहा। अक्षरा ने एक भी मिनट और बैठने और सवालों के जवाब देने से मना कर दिया। इतना ही नहीं वो खन्ना पर जोर से चीख पड़ीं। साथ ही उस बेचारे जर्नलिस्ट से कहने लगीं जब मैं तुमसे बात करूं तब बोलना बीच में मत बोलो।
इतना चिल्लाने के बाद अक्षरा कुछ देर के लिए बैठीं और सवालों के जवाब दिए। साथ ही कैमरे के सामने फेक स्माइल भी करती रहीं। उन्होंने फटाफट इंटरव्यू खत्म किया और वहां से चली गईं। इसके बाद खन्ना अक्षरा के को-स्टार नसरुद्दीन शाह के बेटे विवान शाह से ये कहते नजर आए, ‘ऐसा बिहेव भी कोई करता है क्या।’
Image result for कमल हासन की बेटी ने अक्षरा हासन

प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी जसोदा बेन उज्जैन की धार्मिक यात्रा पर

Image result for प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी जसोदा बेन उज्जैन की धार्मिक यात्रा पर

TOC NEWS

उज्जैन। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पत्नी जसोदा बेन अपने रिश्तेदारों के साथ मध्यप्रदेश की उज्जैन की धार्मिक यात्रा पर सड़क मार्ग से यहां पहुंची।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार जसोदा बेन अपनी धार्मिक यात्रा के तहत शाम यहां पहुंचने के बाद उन्होंने शहर के मध्य स्थित राठौर समाज के गोंदा चौकी के मदनमोहन मंदिर की आरती भाग लिया।
प्रोटोकॉल के तहत मंदिर में थोडी देर रुकने के बाद वह यहां से रवाना हो गई। इस मौके पर उज्जैन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जगदीश अग्रवाल एवं पार्षद अन्य समाज के लोग उपस्थित थे।
सूत्रों ने बताया कि अपनी रिश्तेदारों के साथ अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान विश्राम के पश्चात वह कल विश्व प्रसिद्ध भगवान महाकालेश्वर की तड़के होने वाली भस्मार्ती में शामिल होगी। उसके बाद वह गुजरात रवाना हो जाएगी।
Image result for प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी जसोदा बेन उज्जैन की धार्मिक यात्रा पर
Image result for प्रधानमंत्री मोदी की पत्नी जसोदा बेन उज्जैन की धार्मिक यात्रा पर


करिष्मा आत्महत्या : विश्वकर्मा समाज के पृतिनिधि मंडल ने गृहमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा

Image may contain: one or more people, people standing, tree and outdoor
TOC NEWS
गाडरवारा जिला नरसिंहपुर 16 वर्षीय मासूस करिष्मा विश्वकर्मा के फांसी लगाकर आत्महत्या के मामले में सर्व विश्वकर्मा समाज के पृतिनिधि मंडल ने गृहमंत्री मध्य प्रदेश शासन, भोपाल के नाम ज्ञापन सौपा। हत्या के आरोपी शैलेन्द्र कौरव को फांसी की सजा दिलवाने और एस. आई. सहित थाना प्रभारी गाडरवाड़ा को सस्पैन्ड करने की मांग की।
गाडरवाड़ा थाना अन्तर्गत विश्वकर्मा परिवार की 16 वर्षीय मासूम करिष्मा विश्वकर्मा पिता श्री प्रमोद विश्वकर्मा की फांसी लगाकर आत्यहत्या के गम्भीर विषय के संदर्भ में आज दिनांक 20 मार्च 17 दिन सोमवार को सर्व विश्वकर्मा समाज समिति भोपाल म.प्र. के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु विश्वकर्मा सहित समाज के गणमान्य लोगो के साथ माननीय गृहमंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ठाकुर के बगले पर जाकर मंत्री जी के ओएसडी श्री सेंगर साहब को ज्ञापन सौपा और उन्होने तत्काल कार्यवाही का आश्वासन दिया।
ज्ञापन में आरोपी शैलेन्द्र कौरव को फांसी की सजा दिलाने की मांग की व अपने उत्तरदायित्व का सही से पालन न करने के अपराध में एवं मृतक के परिवारजनो का अनुचित शोषण करने के अपराध में एस. आई. और थाना प्रभारी गाड़रवाड़ा को सस्पैन्ड करने की मांग की। करिष्मा के हत्या के मामले को लेकर विश्वकर्मा समाज के प्रदेष अध्यक्ष ने कहा कि यदि मासूम को न्याय नही मिलता है तो पूरे मध्य प्रदेश की विश्वकर्मा समाज की सभी क्षेत्रीय समितियां मिलकर आन्दोलन करेंगे।
इस मौके पर समाज के पृतिनिधि मंडल मे ज्याला प्रसाद विश्वकर्मा, अवधनारायण विश्वकर्मा मनीष विश्वकर्मा गोर्वधन विश्वकर्मा बलराम विश्वकर्मा अमर सिंह गौंड़ सीताराम विश्वकर्मा सहित पतिनिेंधि मंडल ने गृहमंत्री के नाम ज्ञापन सौपकर दोषियों के खिलाफ शीघ्र कार्यवाही की मांग की। 

Monday, March 20, 2017

पकड़े गए 2 करोड़ के सांप, इनसे बनती है यौन शक्ति बढ़ाने की दवाएं

Image result for पकड़े गए 2 करोड़ के सांप, इनसे बनती है यौन शक्ति बढ़ाने की दवाएं

TOC NEWS

किशनगंज। भारत-नेपाल सीमा पर तैनात एसएसबी (सशस्त्र सीमा बल) और वन विभाग की संयुक्त कार्रवाई में रेड सैंड बोओ प्रजाति के दो सांपों और हिरण के दो सींग के साथ दो तस्कर पकड़े गए। अंतरराष्ट्रीय बाजार में विलुप्त प्राय रेड सैंड बोओ प्रजाति के दो सांपों की कीमत दो करोड़ रुपए से ज्यादा है।

गुप्त सूचना के आधार पर रविवार की शाम जामौनिगुरी (बिहार) के समीप नेपाल सीमा में प्रवेश करते तस्करों को दबोचा गया। छापेमारी दल का नेतृत्व एसएसबी के सहायक कमांडेंट कुमार सुंदरम कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि हिरण के दो सींगों की कीमत करीब 50 लाख रुपए आंकी गई है। भद्रपुर (नेपाल) के रास्ते सांप और सींग को चीन भेजने की तैयारी थी। तस्करों ने पूछताछ में बताया कि विदेश में बड़े-बड़े होटलों में एक्वेरियम में इस सांप को रखा जाता है। इससे कैंसर की दवा भी तैयार की जाती है।

सीएम अदित्य नाथ योगी के लिए इस विधायक ने की इस्तीफे की पेशकश

aa

Toc News

लखनऊ। गोरखपुर से सांसद और गोरक्षपीठ के महंत योगी आदित्य नाथ द्वारा यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के करीब 24 घंटे बाद कैंपियरगंज सीट से निर्वाचित विधायक फतेह बहादुर ने इस्तीफा देने की पेशकश की है। फतेह बहादुर चाहते हैं कि आदित्य नाथ उनकी सीट से चुनाव लड़कर मुख्यमंत्री पद की अहार्यता पूरी करें।
आदित्यनाथ ने सांसद रहते 19 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की है। जिसके बाद उन्हें आने वाले छह माह के भीतर उन्हें यूपी विधानसभा की सदस्यता लेना जरूरी होगा। इस क्रम में दो और नाम यूपी के उप मुख्य मंत्रियों के हैं, जिनमें एक नाम फूलपुर से लोकसभा सांसद केशव प्रसाद मौर्य का और दूसरा नाम लखनऊ के मेयर से उप मुख्य मंत्री बने दिनेश शर्मा का है। जिन्हें आने वाले समय में विधानसभा का सदस्य बनना होगा।

आपको बता दें कि फतेह बहादुर गोरखपुर की कैंपियरगंज सीट से विधायक हैं और योगी आदित्यनाथ के सामर्थकों में गिने जाते हैं।सीएम अदित्य नाथ योगी के लिए इस विधायक ने की इस्तीफे की पेशकश

लखनऊ। गोरखपुर से सांसद और गोरक्षपीठ के महंत योगी आदित्य नाथ द्वारा यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करने के करीब 24 घंटे बाद कैंपियरगंज सीट से निर्वाचित विधायक फतेह बहादुर ने इस्तीफा देने की पेशकश की है। फतेह बहादुर चाहते हैं कि आदित्य नाथ उनकी सीट से चुनाव लड़कर मुख्यमंत्री पद की अहार्यता पूरी करें।

आदित्यनाथ ने सांसद रहते 19 मार्च को मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की है। जिसके बाद उन्हें आने वाले छह माह के भीतर उन्हें यूपी विधानसभा की सदस्यता लेना जरूरी होगा। इस क्रम में दो और नाम यूपी के उप मुख्य मंत्रियों के हैं, जिनमें एक नाम फूलपुर से लोकसभा सांसद केशव प्रसाद मौर्य का और दूसरा नाम लखनऊ के मेयर से उप मुख्य मंत्री बने दिनेश शर्मा का है। जिन्हें आने वाले समय में विधानसभा का सदस्य बनना होगा।

आपको बता दें कि फतेह बहादुर गोरखपुर की कैंपियरगंज सीट से विधायक हैं और योगी आदित्यनाथ के सामर्थकों में गिने जाते हैं।

निगम ने गंदगी फैलाने और अतिक्रमण करने वालों पर की स्पॉट फाईन की कार्यवाही


TOC NEWS


भोपाल। नगर निगम द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत भोपाल शहर को साफ एवं स्वच्छ शहर बनाने के दृष्टिगत सफाई व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त बनाने हेतु निरंतर कार्यवाही की जा रही है साथ ही सफाई व्यवस्था में व्यवधान उत्पन्न करने, अतिक्रमण करने और गंदगी फैलाने वालों के विरूद्ध स्पॉट फाईन की कार्यवाही भी की जा रही है। निगम अमले ने सोमवार को अपर आयुक्त प्रदीप जैन के नेतृत्व में नगरयंत्री (द्रव) ए.आर. पवार और अतिक्रमण प्रभारी  प्रेमशंकर शुक्ला, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी आसिफ नजीर और सहायक यंत्री जैदी ने जोन क्र. 08 के अंतर्गत जहांगीराबाद बाजार, शब्बन चौराहा, जिंसी, नीम वाली सड़क आदि क्षेत्रों में 143 दुकानदारों के विरूद्ध स्पॉट फाईन की कार्यवाही करते हुए 72 हजार 400 रुपये का स्पॉट फाईन वसूल किया।

कार्यवाही के दौरान अधिकारियों ने सड़कों पर गंदगी न फैलाने और अतिक्रमण न करने की हिदायत दी जबकि प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी राकेश शर्मा के नेतृत्व में संत हिरदाराम नगर बैरागढ़, भारत टॉकीज, लक्ष्मी टॉकीज रोड, बाल विहार, घोड़ा नक्कास, मंगलवारा, आजाद मार्केट, इतवारा, मुर्गी बाजार, इस्लामपुरा, बुधवारा, इब्राहिमपुरा एवं कलेक्टेऊट मार्ग आदि क्षेत्रों में दुकानदारों द्वारा दुकानों के बाहर सड़कों एवं फुटपाथों पर अतिक्रमण करने तथा गंदगी फैलाने पर 522 प्रकरणों में 01 लाख 97 हजार 350 रुपये का स्पॉट फाईन वसूल किया और दुकानों के बाहर अतिक्रमण न करने और गंदगी न फैलाने की हिदायत दी। कार्यवाही के दौरान सहायक स्वास्थ्य अधिकारी अजय श्रवण, सौलत मो. खान, रविकांत औदिच्य, मो. काशिब, मो. साहब, महेश गौहर, मुन्नालाल सरवैया आदि मौजूद थे।

इसके अलावा प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी अशोक माहेश्वरी एवं राजीव सक्सेना ने महाराणा प्रताप नगर जोन क्र.-1 एवं जोन क्र.-2 के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में अतिक्रमण एवं गंदगी करने वालों के विरूद्ध की गई कार्यवाही में 78 प्रकरणों में 01 लाख 68 हजार 400 रुपये की राशि स्पॉट फाईन के रूप में वसूल की। कार्यवाही के दौरान निगम के स्वास्थ्य अधिकारी एवं सहायक स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा दुकानदारों को समझाईश दी गई कि अपनी दुकानों के सामने डस्टबिन रखे और कचरे को सड़कों, नालियों एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर न फैंके साथ ही दुकानों के बाहर बोर्ड एवं अन्य सामग्री को रखकर अतिक्रमण न करें अन्यथा नियमानुसार कठोर कार्यवाही की जाएगी। कार्यवाही के दौरान सहायक स्वास्थ्य अधिकारी जगदीश टांक, दिनेश पाल और किरण चौधरी आदि मौजूद थे।

राज्य मंत्री के बेटे ने पद का दुरुपयोग कर मां को पहुंचाया 27 लाख का लाभ-कांग्रेस

Image result for K K MISHRA
K K MISHRA 
TOC NEWS
भोपाल। कांग्रेस ने राज्यमंत्री हर्ष सिंह के बेटे पर पद का दुरुपयोग करके अपनी मां को 27 लाख रुपए का लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया है। सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता में प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा ने कहा कि राज्य मंत्री हर्षसिंह पुत्र विक्रमसिंह ने रामपुर बघेलान के वार्ड क्रमांक 8 में अपनी मां माधवी सिंह की भूमि नं. 834/1 अवैध रूप से क्रय कर स्थानीय संस्थान की निधि का दुरुपयोग कर वास्तविक कीमत से अधिक 27 लाख रुए का अनुचित भुगतान कराया है।
प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता केके मिश्रा ने आज सोमवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में आरोप लगाया है राज्य मंत्री हर्षसिंह पुत्र विक्रमसिंह ने रामपुर बघेलान के वार्ड क्रमांक 8 में अपनी ही ‘मां माधवी सिंह की भूमि नं. 834/1 अवैध रूप से क्रय कर स्थानीय संस्थान की निधि का दुरुपयोग कर वास्तविक कीमत से अधिक 27 लाख रूपयों का अनुचित भुगतान कराया है।
केके मिश्रा का आरोप है कि सतना जिले के उक्त ग्राम पंचायत रामपुर बघेलान में सतना-रीवा रोड पर बस स्टैण्ड स्थापित है। बस स्टैंड के मुख्य मार्ग से लगी 0.80 डेसीमल भूमि आराजी क्र. 826, रकबा 1.70 एकड़, 0.80 ए तत्कालीन जिला कलेक्टर द्वारा आदेश, दिनांक 1 मार्च 1969 को आवंटित की गई थी। इसमें यात्री प्रतिक्षालय व दुकानें दक्षिणी किनारे पर 5 फिट छोड़कर बनाई गईं थी। तथा उत्तर की ओर रोड को छोड़कर बस स्टैण्ड कायम था।
केके मिश्रा का आरोप है कि इस बस स्टैण्ड के विस्तार के लिए नगर परिषद अध्यक्ष विक्रम सिंह ने 22 मार्च 2016 को एक संकल्प पारित किया। इसके तहत कलेक्टर गाइड लाइन के अनुसार भूमि क्रय किया जाना उल्लेखित था। इस आवंटित भूमि के दक्षिण छोर से लगी माधवी सिंह के भू-स्वामित्व की जमीन खेत के रूप में थी। भूमि के अंश भाग उत्तर-दक्षिण 15 फिट, पूर्व-पश्चिम 182 फिट, दिनांक 20 जुलाई, 16 को नगर पंचायत ने ई-पंजीयन एमपी 348642016 ए 1436225 से रूपये 27 लाख 90 हजार 892 रूपये में क्रय कर ली। जबकि नगर परिषद को भूमि करने का अधिकार ही नहीं है।
केके मिश्रा का आरोप है कि यदि बस स्टैण्ड के विस्तार के लिए भूमि की आवश्यकता थी, तो अधिनियमानुसार भू-अर्जन की प्रक्रिया निर्धारित है। इसमें नगर परिषद की कोई भूमिका नहीं होती है। भू-अर्जन का अधिकार जिला कलेक्टर को ही होता है।
केके मिश्रा ने कहा कि यहां यह उल्लेख किया जाना प्रासांगिक है कि गाइड लाइन के अनुसार रोड से लगी भू-अर्जित भूमि की दर 11 हजार रूपये प्रति वर्गमीटर है। इसी दर से माधवी सिंह को उक्त बड़ी राशि का भुगतान नगर परिषद से चैक के माध्यम से किया गया है। जबकि क्रय की गई भूमि जहां पर स्थित है, गाइड लाइन के अनुसार उसकी कीमत 2600 रूपये प्रति वर्गमीटर है। यही नहीं बस स्टैण्ड में भूमि क्रय करने के बाद पुराने प्रतीक्षालय व दुकानों को हटाकर उसी भूमि पर दुकानों का निर्माण किया जा रहा है, जो तत्कालीन जिला कलेक्टर सतना द्वारा 1969 में आवंटित की गई थीं।
इस प्रकार माधवी सिंह से क्रय की गई भूमि की कोई भी उपयोगिता नहीं है। इसी प्रकार नगर परिषद के पक्ष में किए गए किसी भी अंतरण पर अधिनियम की धारा 102 के अंतर्गत स्टाम्प शुल्क में छूट नियत है, पर इस प्रकरण में 25,954/- रू. का स्टाम्प व्यय भी किया गया है, जो शासकीय निधि के दुरूपयोग की श्रेणी में आकर आरोपितों से वसूली योग्य है।
केके मिश्रा का कहना है कि इस मामले में दूसरी सबसे बड़ी विसंगति यह है कि जिन माधवी सिंह की भूमि क्रय की गई है, उसके संबंध में नगर परिषद के सदस्यों व आम जनता को गुमराह किया गया है। रोड से लगी जमीन जिसे बताया गया है उसके बाबत् पारित संकल्प, विभिन्न पत्राचारों, चेक दिये जाने की तिथि तक भूमि स्वामी का नाम, खसरा, रकबा नंबर कहीं भी नहीं दर्शाया गया है और ना ही कोई पटवारी नक्शा अथवा नजरी नक्शा लगाया गया, इसके पीछे कौन सी (ई)-मानदार पूर्ण मंशा जुड़ी हुई है, वह सार्वजनिक होना चाहिए।
केके मिश्रा का कहना है कि कांग्रेस पार्टी की मांग है कि राज्यमंत्री हर्ष सिंह के पुत्र विक्रम सिंह द्वारा अपनी ही मां माधवी सिंह को पद के दुरूपयोग के साथ किए गए आर्थिक भ्रष्टाचार को अमल में लाते हुए पहुंचाये गए अनुचित लाभ की शासन उच्च स्तरीय जांच कराई जानी चाहिए। साथ ही दोषियों के विरुद्ध भी आपराधिक प्रकरण दर्ज कराया जाए।

5 साल भी नहीं चली थी 100 करोड़ की ये शादी, 126 देश से आए थे VIP गेस्ट

Image result for 5 साल भी नहीं चली थी 100 करोड़ की ये शादी, 126 देश से आए थे VIP गेस्ट

TOC NEWS

उदयपुर/लुधियाना. मॉडल और एक्ट्रेस प्रिया सचदेव इन दिन अपनी शादी और अफेयर को लेकर चर्चाओं में हैं। वह करिश्मा कपूर के एक्स हसबैंड संजय कपूर के साथ जल्द शादी के फेरे लेने वाली है। बताया जाता दोनों एक-दूसरे को लंबे समय से डेट कर रहे हैं। बता दें कि प्रिया सचदेव होटल मालिक विक्रम चटवाल की एक्स वाइफ हैं। विक्रम और प्रिया ने उदयपुर के जगमंदिर पैलेस में 2006 में शादी की थी। इस शादी ने उस वक्त इतिहास रच दिया था 10 दिन तक समरोह चलते रहे थे। यह शाही शादी दुनिया की सबसे महंगी शादियों में गिनी जाती है। शादी में खर्च हुए थे 100 करोड़, 5 साल भी नहीं चली शादी...

- दिल्ली, मुंबई और उदयपुर में 10 दिनों तक चले शादी समारोह में 126 देशों के 600 मेहमानों को इनवाइट किया गया था। इस शादी में 20 मिलियन खर्च किए गए थे।
- इस शाही शादी में शामिल होने ज्यादातर मेहमान चार्टर्ड जेट से पहुंचे थे।​ शाहरुख खान और रैपर डिडी जैसी बड़ी-बड़ी सेलिब्रिटी इस शादी में नजर आए थे।
- इसमें पीएम डॉ. मनमोहन सिंह से लेकर अमेरिका के फॉर्मर प्रेसिडेंट बिल क्लिंटन तक बतौर गेस्ट मौजूद थे।
- मॉडल पैट्रिकिया वेलासक्वेड, मॉडल नाओमी कैंपबेल, इंडस्ट्रियलिस्ट लक्ष्मी निवास मित्तल, ग्रीस के प्रिंस और धर्मगुरु दीपक चोपड़ा जैसी कई बड़ी हस्तियां भी शामिल हुई थीं।
- करोड़ों की लागत वाली यह शाही शादी ज्यादा दिन तक नहीं चली। 2011 में प्रिया और विक्रम चटवाल के रिश्तों में दरार के बाद दोनों अलग हो गए।

कौन हैं विक्रम चटवाल ?

- विक्रम ड्रीम ग्रुप ऑफ होटेल्स के फाउंडर हैं। वे कई बार विवादों में रह चुके हैं। 2013 में उन्हें एक अमेरिकी एयरपोर्ट पर ड्रग्स के साथ पकड़ा गया था। इसके लिए उन्हें जेल भी हुई थी।
- 2014 में विक्रम के हॉलीवुड सेलिब्रिटी लिंडसे लोहान से अफेयर की खबरें आईं। इसी दौरान विक्रम ने माना था कि ड्रग्स की वजह से वो 10 बार रिहैबिलटेशन सेंटर जा चुके हैं।

कौन हैं प्रिया सचदेव?

- 40 साल की प्रिया सचदेव दिल्ली में जन्मी और पली-बढ़ी हैं। प्रिया ने यश चोपड़ा की 'नील और निक्की' से फिल्मी करियर की शुरुआत की थी।
- प्रिया पंजाबी म्यूजिक वीडियो Jazzy-B और Jassi Sidhu में भी दिखीं थी।

- प्रिया सचदेव करिश्मा कपूर को लंबे समय से डेट कर रहीं हैं। दोनों को अक्सर कई बार साथ में देखा जा चुका है।

महान वीरांगना थी रानी अवंति बाई- मुख्यमंत्री चौहान

TOC NEWS
भोपाल। वीरांगना अवंति बाई बलिदान दिवस पर आज माता मंदिर चौराहा स्थित प्रतिमा पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय जल-संसाधन और नदी विकास मंत्री सुश्री उमा भारती ने श्रद्धा-सुमन अर्पित कर, नमन किया।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि रानी अवंती बाई महान वीरांगना थी। उन्होंने देश की परतंत्रता की बेडिय़ाँ काटने के लिये अपने रक्त की अंतिम बूँद न्यौछावर कर दी थी। स्वतंत्रता के लिये सर्वस्व अर्पित कर दिया। वीरों का सम्मान देश समाज का कत्र्तव्य है। वीर पूजे नहीं गये तो, वीरता बाँझ हो जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने वीरांगना की स्मृतियों को चिरस्थायी बनाने और उनके प्रति सम्मान प्रगट करने के लिये अनेक कार्य करवाये हैं। भविष्य में भी जो कार्य आवश्यक होंगे, करवायें जायेंगे। सरकार जनता को भगवान मानकर उसकी सेवा के लिये सदैव तत्पर है। जन-आंकाक्षाओं को पूरा करना सरकार का कत्र्तव्य है।
केंद्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि वीरांगना रानी अवंति बाई की प्रतिमा देश की राजधानी में स्थापित करवाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि रानी अवंतिबाई ने अंग्रेजों को युद्ध में परास्त कर दिया था। एक वर्ष तक स्वतंत्र रूप से शासन भी किया था। विश्वासघात के कारण ही अंग्रेज उनके विरूद्ध सफल हो सके।
मुख्यमंत्री चौहान ने केंद्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती का सम्मान किया। माता मंदिर चौराहे से दशहरा मैदान के लिये रैली को रवाना किया। इस अवसर पर सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विश्वास सारंग, विधायक प्रताप सिंह लोधी, खनिज विकास निगम के पूर्व अध्यक्ष कोकसिंह नरवरिया एवं पूर्व विधायक भैय्या साहब लोधी आदि जन-प्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में जनसमूह उपस्थित था।

उत्तर प्रदेश में नई सरकार बनते ही बदमाशों का तांडव शुरू, बीएसपी नेता की गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश में नई सरकार बनते ही बदमाशों का तांडव शुरू, बीएसपी नेता की गोली मारकर हत्या

Toc News

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिला है और रविवार को योगी आदित्यनाथ ने मुख्यममंत्री के तौर पर शपथ भी ग्रहण कर ली है। योगी ने मुख्यमंत्री बनते ही विकास और राज्य में कानून व्यवस्था की प्रमुखता से बात की थी, लेकिन पहले ही दिन यूपी में गुंडागर्दी शुरू हो गई है।

बदमाशों ने इलाहाबाद में बहुजन समाज पार्टी के नेता की गोली मारकर हत्या कर दी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इलाहाबाद में बीती रात एक बीएसपी के नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई हत्या के बाद से बदमाश फरार बताये जा रहे हैं।

इसके साथ ही अभी तक हत्या के कारणों का खुलासा भी नहीं हो सका है। यह घटना इलाहाबाद शहर से करीब 50 किलोमीटर दूर मउआइमा इलाके की है, जहां बीएसपी के नेता मोहम्मद शमी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने इस घटना को करीब रात नौ से साढ़े नौ बजे के बीच अंजाम दिया है।

जानकारी के अनुसार मोहम्मद शमी अपने घर लौट रहे थे, तभी बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ कई राउंड गोलियां बरसा दी। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। लोग अब भाजपा की नई सरकार पर ही सवाल उठा रहे हैं। मोहम्मद शमी की हत्या क्यों की गई और इस वारदात में किसका हाथ है, अभी इसका खुलासा नहीं हुआ है।

फिलहाल हत्या के पीछे पुरानी रंजिश की बात सामने आ रही है। बता दें, शमी सपा के टिकट पर बाहुबली विधायक राजा भैया के खिलाफ चुनाव लड़ चुके थे।

पिटाई के बाद पत्नी के प्राइवेट पार्ट में डाल दी लोहे की गर्म रॉड

Image result for पिटाई के बाद पत्नी के प्राइवेट पार्ट में डाल दी लोहे की गर्म रॉड

TOC NEWS

बाराबंकी । प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी में कल मामूली विवाद में पति ने अपनी पत्नी की पिटाई की और उसके बाद प्राइवेट पार्ट में दहकती लोहे राड डाल दिया। इसके बाद महिला को गंभीर अवस्था में गांव के लोग सीएचसी ले गए, जहां जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

महिला चिकित्सक मुताबिक महिला के प्राइवेट पार्ट में गर्म लोहे की राड डाली गई है, जिससे उसे रेफर करना पड़ा। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

महिला की हालत गंभीर
स्टॉफ नर्स, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोठी, संध्या सिंह ने बताया महिला चोटिल अवस्था में आई थी, वह काफी गंभीर थी, जांच की तो पता चला कि उसका प्राइवेट अंग किसी गर्म लोहे के छड़ से जला हुआ था। हालात नाजुक थी, इसलिए उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।


शादी का झांसा देकर दसवीं की छात्रा से की ज्यादती

Related image

TOC NEWS

भोपाल. गोविंदपुरा थाना क्षेत्र में दसवीं की छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोपी भी नाबालिग है, जो छात्रा के घर दूध देने आता था। 

गोविंदपुरा एसआई सलोनी सिंह के मुताबिक बरखेड़ा पठानी क्षेत्र में रहने वाली 17 वर्षीय किशोरी दसवीं की छात्रा है। इलाके में ही रहने वाला आरोपी उसके घर दूध देने आता था। इसी दौरान दोनों में पहचान हो गई।   

दो महीने पहले उसने छात्रा से शादी की बात की। फिर झांसे में लेकर उसके साथ अपने खेत पर ज्यादती कर दी। फिर ऐसा कई बार हुआ। बाद में शादी की बात से आरोपी मुकर गया। शनिवार शाम मां के साथ थाने पहुंची छात्रा ने उसके खिलाफ केस दर्ज करवाया। 

Sunday, March 19, 2017

“हैलो, मोदी जी प्रणाम ! योगी आदित्‍यनाथ को फाइनल कर दीजिए” जानिए किसका था ये फोन ?

Toc News
योगी आदित्‍यनाथ यूपी के मुख्‍यमंत्री बन चुके हैं। लेकिन, उनके CM बनने के पीछे कई कहानियां सामने आ रही हैं। हर कोई हर कहानी जानना चाहता था।

New Delhi : भारतीय जनता पार्टी के फायर ब्रांड नेता और गाेरखपुर से बीजेपी के सांसद योगी आदित्‍यनाथ उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री बन चुके हैं। हालांकि उनके नाम की चर्चा उस दिन से ही शुरु हो गई थी जब यूपी में बीजेपी ने चुनावी बिगुल भी नहीं फूंका था। योगी आदित्‍यनाथ के साथ पहली बार उत्‍तर प्रदेश में दो-दो उपमुख्‍यमंत्री भी बनाए गए हैं। केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को डिप्‍टी सीएम बनाया गया है। पार्टी के सूत्रों के मुताबिक शनिवार की सुबह तक इस रेस में केशव प्रसाद मौर्य सबसे आगे चल रहे थे। लेकिन, ऐन वक्‍त पर ऐसा कुछ हुआ कि सारा का सारा गेम ही बदल गया। सूत्र बताते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास एक फोन आया जिसमें योगी आदित्‍यनाथ का नाम फाइनल करने को कहा।

ऐसे में हर कोई ये जानना चाहता है कि आखिर किस व्‍यक्ति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन किया और वो क्‍या वाकई इतना पावरफुल था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी उनकी बात माननी पड़ी। जानकारी के मुताबिक ये फोन आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का था। उन्‍होंने ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर योगी आदित्‍यनाथ को उत्‍तर प्रदेश का मुख्‍यमंत्री बनाने को कहा। इसके बाद योगी को फौरन ही दिल्ली बुलवाया गया और उनके नाम पर मुहर लगा दी गई। सूत्र बताते हैं कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुबह करीब साढ़े छह बजे के करीब फोन किया था। इससे पहले शुक्रवार को देर रात तक बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह और संघ के नेता डॉ कृष्‍णा गोपाल के बीच मीटिंग हुई थी।

सूत्र बताते हैं कि संघ को मनोज सिन्‍हा के नाम पर आपत्ति थी। संघ के नेता अमित शाह के सामने योगी आदित्‍यनाथ का नाम रखना चाहते थे। लेकिन, अमित शाह भी इस बात को टाल देते हैं और संघ के नेताओं से कह देते हैं कि अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आराम कर रहे हैं। सुबह जैसे ही वो उठेंगे ये मामला निपटा लिया जाएगा। लेकिन जानकार बताते हैं कि शनिवार को अमित शाह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात कर पाते इससे पहले ही संघ प्रमुख मोहन भागवत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन लगा दिया। मोहन भागवत ने ही योगी आदित्‍यनाथ को उत्‍तर प्रदेश का मुख्‍यमंत्री बनाने को कहा। संघ के इस प्रस्‍ताव के बाद मोदी भी परेशानी में पड़ गए थे। लेकिन, उन्‍होंने हां बोल दिया।

मोहन भागवत से बात होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमित शाह से फोन पर बात की और कह दिया कि योगी आदित्‍यनाथ को ही उत्‍तर प्रदेश का मुख्‍यमंत्री बनाना है। इसके बाद योगी को प्राइवेट प्‍लेन से दिल्‍ली बुलवाया गया। उनका नाम फाइनल होने के बाद ही अमित शाह ने प्रधानमंत्री से यूपी में दो उपमुख्‍यमंत्री बनाने का प्रस्‍ताव रखा। जिसे मोदी से स्‍वीकार कर लिया था। ये सारी बात इतनी गोपनीय रखी गई कि पर्यवेक्षकों को भी इस बात की भनक नहीं लग सकी कि यूपी में क्‍या हो गया। भारतीय जनता पार्टी ने वैंकेया नायडू और भूपेंद्र यादव को पर्यवेक्षक बनाया था। ये दोनों नेता शनिवार की सुबह ही लखनऊ पहुंचे थे। लेकिन, इन्‍हें पता नहीं था कि वो जिस काम के लिए लखनऊ आए हैं उसका फैसला पहले ही हो चुका है।

योगी आदित्यनाथ के साथ 46 मंत्री की शपथ, हमारे पास है पूरी लिस्ट, कुछ हैरान करने वाले नाम



Toc News
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आज बीजेपी सरकार के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। उनके साथ केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। लखनऊ के स्मृति उपवन में होना वाला शपथ ग्रहण समारोह अब से कुछ देर में होने वाला है।
पढ़िए यूपी कैबिनेट की लिस्ट :







ताजमहल का भी बदलूंगा नाम, जैसे उर्दू बाजार को हिंदी बाजार कियाः योगी



Toc News

नई दिल्लीः यूपी का मुख्यमंत्री बनने से पहले दिए एक इंटरव्यू में योगी आदित्यनाथ दो टूक कहते दिख रहे हैं कि वे अतीत का गौरव स्थापित करने के लिए प्राचीन धरोहरो, शहरों और स्थानों का नाम बदलने का समर्थन करते हैं। समय आने पर यह करके दिखाएंगे। समय आने से उनका संकेत है पॉवर यानी सत्ता में आने से। यह जवाब तब दिया जब जावेद नामक एक शख्स ने सवाल किया था कि उन्होंने गोरखपुर को क्यों हिंदुत्व की लैबोरेटरी बना दिया है। आखिर गोरखपुर में अलीनगर का नाम आर्यनगर और उर्दूबाजार का नाम हिंदी बाजार रखने के पीछे क्या मंशा है, यह सिलसिला कब थमेगा। अब मुख्यमंत्री बनने के बाद क्या योगी ऐसा कोई कदम उठाएंगे, इसको लेकर चर्चा शुरू हो गई है। देखें खबर के साथ संलग्न वीडियो।इंटरव्यू का वीडियो काफी लंबा है। मगर आप देखें-35:31/ 42:40 वाला अंश। जिसमें नाम बदलने का योगी दावा कर रहे हैं।

क्या दिया योगी आदित्यनाथ ने जवाब
महज दो हफ्ते पहले की बात है। एबीपी न्यूज चैनल के गोरखपुर में हुए घोषणापत्र कार्यक्रम में योगी हिस्सा लिए थे। उस दौरान एबीपी संवाददाता जावेद ने नामों को बदलने पर सवाल पूछा तो योगी के तेवर तल्ख हो गए थे। उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि गोरखपुर मे स्थानों का नाम बदलने का उनका फैसला सही है। उन्होंने सवाल उछालते हुए कहा कि अलीनगर का गोरखपुर से क्या नाता हो सकता है। गोरखपुर में तो आर्यनगर हो सकता है, मगर अलीनगर नहीं। योगी आदित्यनाथ ने तर्क दिया कि अतीत के गौरव के साथ वर्तमान को जुड़ना चाहिए। जब अतीत के गौरवशाली पलों के साथ वर्तमान समाज जुड़ता है तो उसके सामने ढेर सारी संभावनाएं होती हैं।

आदित्यनाथ का यह जवाब सुनकर एंकर दिबांग ने कहा-तो क्या आप ताजमहल का नाम भी बदलाव देंगे। इस पर योगी आदित्यनाथ ने कहाकि-बिल्कुल। फिर दिबांग ने पूछा कि ताजमहल का क्या नाम रखेंगे। इस पर योग ने कहा-आप बताइए, क्या नाम रखना चाहिए। दिबांग ने कहा-मैं क्यों बताऊं, इस पर योगी ने कहा कि-सबका नाम बदलेंगे, बस अनुकूल समय आने दीजिए। अब योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बन गए हैं, क्या वे मुगलों के जमाने में हिंदूप्रतीक स्थलों के बदले गए नाम को फिर से स्थापित कर पुरानी पहचान कायम करने की कोशिश करेंगे। यह बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है।

ताजमहल को शिवमंदिर मानते हैं योगी
दरअसल दिसंबर 2014 में योगी आदित्यनाथ का ताजमहल को लेकर दिया बयान सुर्खियों में आया था। उन्होंने कहा था कि-अगर शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड ताज पर दावा कर सकते हैं तो हिंदू क्यों नहीं। ताजमहल एक हिंदू मंदिर का हिस्सा था, जिसका नाम तेजो महालय था। योगी के इस बयान को तब कांग्रेस ने सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति कहकर भाजपा पर निशाना साधा था।

सपा विधायकों ने पूरी निधि से कर्बला बनवाया
उमेश पाठक ने सवाल किया कि आखिर वे क्यों कहते हैं कि सपा की सरकार फिर बनी तो चारोंओर कर्बला बन जाएगा। इस पर योगी ने कहा कि प्रदेश में 14 साल तक यही काम तो हुआ। सुल्तानपुर में जब वे गए तो पता चला कि यहां के सपा विधायक ने पूरी विधायक निधि कर्बला के निर्माण में दे दिया है। जबकि वहां सड़कों का हाल बुरा है। एक सप्ताह इस गांव में अगले सप्ताह दूसरे गांव में अखिलेश सरकार ने बिजली की व्यवस्था की। यह कैसी व्यवस्था है।

योगी आदित्यनाथ ज्यादा दिन तक नहीं रह पाएंगे सीएम, हो सकती है मौत की सजा



Toc News

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कट्टर हिन्दू नेता योगी आदित्यनाथ आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। लेकिन योगी के लिए राह इतनी आसान नहीं होगी। योगी के ऊपर कई आपराधिक धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। अगर बात उनके 2014 लोकसभा चुनावों में दाखिल हलफनामे की करें तो इसमें योगी ने अपने ऊपर लगे सभी मामलों के बारे में जानकारी दी है। योगी के खिलाफ कुछ मुकदमें तो इतने गंभीर हैं कि साबित होने पर उनको मौत की सजा भी हो सकती है।
हम आपको बतातें हैं कि किन मामलों में योगी फंस सकते हैं।

उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री पर इस साल महाराजगंज जिले में आईपीसी की धारा 147 (दंगे के लिए दंड), 148 (घातक हथियार से दंगे), 295 (किसी समुदाय के पूजा स्थल का अपमान करना), 297 (कब्रिस्तानों पर अतिक्रमण), 153A (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना), 307 (हत्या का प्रयास) और 506 (आपराधिक धमकी के लिए दंड) के मामले दर्ज हुए थे। पुलिस ने इन मामलों में क्लोजर रिपोर्ट तो साल 2000 में ही दाखिल कर दी थी, लेकिन स्थानीय अदालत का फैसला आना अभी बाकी है।

1999: यहां भी मामला महाराजगंज का ही है, जहां उन पर धारा 302 (मौत की सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया था। इसके अलावा 307 (हत्या का प्रयास) 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) और 427 (पचास रुपये की राशि को नुकसान पहुंचाते हुए शरारत) के तहत भी उन पर मामला दर्ज हुआ था। पुलिस ने 2000 में ही क्लोजर रिपोर्ट फाइल कर दी थी, लेकिन फैसला आना बाकी है।

1999: इसी साल महाराजगंज में उन पर आईपीसी की धारा 147 (दंगे के लिए दंड), 148 (घातक हथियार से दंगे), 149, 307, 336 (दूसरों के जीवन को खतरे में डालना), 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान) और 427 (पचास रुपये की राशि को नुकसान पहुंचाते हुए शरारत) के तहत मामले दर्ज किए गए। एफिडेविट के मुताबिक पुलिस ने क्लोजर रिपोर्ट दाखिल कर दी थी, लेकिन फैसला आना बाकी है।

2006: गोरखपुर में उन पर आईपीसी की धारा 147, 148, 133A (उपद्रव को हटाने के लिए सशर्त आदेश), 285 (आग या दहनशील पदार्थ के संबंध में लापरवाही), 297 (कब्रिस्तानों पर अतिक्रमण) के तहत मामला दर्ज किया गया था। यहां भी पुलिस ने क्लोजर रिपोर्ट दाखिल कर दी थी, लेकिन फैसला अभी नहीं आया।

Saturday, March 18, 2017

ऐश्वर्या राय के पिता के गुजरने पर अमिताभ, संजय लीला, अनिल अंबानी समेत कई करीबी पहुंचे उनके घर

TOC NEWS

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन के पिता कृष्णा राज राय का देहांत हो गया है. मीडिया में आई रिपोर्ट्स के अनुसार कृष्णा राज ने आज शाम करीब 4 बजे मुंबई के लीलावती अस्पताल में अपनी आखिरी सांसे लीं. पिता के गुजरने से ऐश्वर्या राय पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है. इस दुख भरे माहौल में ऐश्वर्या और उनके परिवार वालों को सांत्वना देने बॉलीवुड जगत और उनके करीबी कृष्णा राज के घर पहुंच रहे हैं.

इस वक्त उनके घर पहुंचने वालों में अनिल अंबानी उनकी पत्नी टीना अंबानी, अभिनेता रंधीर कपूर, कुनाल कपूर, फिल्ममेकर गोल्डी बहल, सोनाली बेंद्रे और संजय लीला भंसाली का नाम शामिल हैं. इनके अलावा भी और कई सेलिब्रिटीज के पहुंचने की उम्मीद है.

आपको बता दें, ऐश्वर्या के पिता के घर पर उनके ससुर और बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन भी मौजूद हैं. उनके अलावा इस वक्त अंतिम संस्कार में ऐश्वर्या के साथ कई फिल्मों में काम कर चुके उनके करीबी दोस्त शाहरुख खान भी पहुंचे हैं. कृष्णा राज राय का अंतिम संस्कार आज ही होना है, जिसके लिए उन्हें विले पार्ले के श्मशान घाट ले जाया जा रहा है.

धनी आवादी , सार्वजनिक स्थलों से दूर आवंटित हो नवीन शराब दुकान - आशीष राय 


ashish rai.jpg दिखाया जा रहा है

राज्यपाल, मुख्यमंत्री,  कमिश्नर को भेजा ज्ञापन। 



TOC NEWS

नरसिंहपुर। सार्वजनिक स्थानों से शराब दुकानों के शहर से बाहर स्थांतरण की पहल में विगत वर्षों से संधर्षरत समाजसेवी संगठन श्री साईं श्रद्धा सेवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष राय ने जनहित में राज्यपाल,मुख्यमंत्री,कमिश्नर को ज्ञापन भेजा जिसमे मांग की है की राज्य के अधिकांश प्रायःशहर में कालेज, स्कूलों के मार्गो के पास,धनी आवादी ,सार्वजनिक स्थलों के समीप देशी, विदेशी शराब दुकानों का संचालन किया जा रहा है जिनसे आये दिन क्षेत्र का माहौल खराब होता जा रहा है यहाँ से गुजरने वाले छात्र,छात्राएं विद्यार्थी,महिलाएं,पुरुष अपने आपको असहज महसूस करते है क्योकि शराबीतत्वो द्वारा यही शराब पीकर कई बार गाली गलोच, उत्पात मचाया जाता है जिससे दुर्धटना,जाम जैसा माहौल आये दिन देखने को मिलता है।

जिसका उदाहरण बड़े शहर के साथ सम्पूर्ण जिला एवं तहसील गाडरवारा में भी देखा जा सकता है जिसका साक्षो सहित पूरा शहर साक्षी है। जिसे आपके समक्ष पूर्व में भी हजारों हस्ताक्षर ज्ञापन की प्रतिलिपि भी प्रस्तुत कर चुका हूँ परन्तु उक्त दिवस तक कोई सराहनीय पहल नही हुई। अतः माननीय महोदय जनहित में आपसे पुनःअपील है कि इस बार कालेज, स्कूलों के मार्गो,धनी आवादी ,सार्वजनिक स्थलों से दूर नवीन शराब दुकानों का आवंटन किया जाये ताकि आमजन मानस को वर्षों की इस विकराल समस्या से निजात मिल सकें।

IMG_20170318_171302.jpg दिखाया जा रहा है

LIVE: योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम, केशव मौर्य और दिनेश शर्मा को डिप्टी सीएम बनाया गया



Toc News

लखनऊ। गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के नये मुख्यमंत्री होंगे जबकि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा उप मुख्यमंत्री होंगे। पत्रकारों को संबोधित करते हुए नायडू ने सभी की घोषणा की ।

इस बीच सूत्रों के अनुसार खबर आ रही है कि बीजेपी विधायक दल की बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ यूपी के 21वें मुख्यमंत्री बन गए हैं।  आखिरी दौर की रेस में योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य के बीच टक्कर थी जिसमें योगी आदित्यनाथ ने बाजी मार ली है। रविवार को दोपहर दो बजे यूपी के नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह रखा गया है। लखनऊ में समर्थकों ने जय श्री राम के नारे लगाने शुरू कर दिए हैं। इस बीच खबर आ रही है कि यूपी में एक मुख्यमंत्री और दो उपमुख्यमंत्री बनेंगे। मुख्यमंत्री के लिए योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री के लिए केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा का नाम तय किया गया है।

ये होंगे UP में मुख्यमंत्री कैबिनेट के मंत्री!


Toc News
नई दिल्ली. शुक्रवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के लिए त्रिवेंद्र सिंह रावत के नाम पर मौहर लगा दि गई है। शनिवार दोपहर तक भाजपा उत्तर प्रदेश के लिए भी अपना मुख्यमंत्री चेहरा बता देगी।

अब मुख्यमंत्री का पद किसी को भी मिले लेकिन चार दर्जन मंत्री इस कैबिनेट में शामिल होना तय है। इसमें ज्यादातर वरिष्ठ नेता और पूर्व सरकारो में मंत्री रहें विधायकों को सीट मिलेगी। वरिष्ठ नेताओं के अनुभव के साथ-साथ युवा चेहरों को भी जगह दी जाएगी।

कई नए चेहरे भी इसमें शामिल होंगे और महिलाओं को भी अहम पद दिए जाएंगे। यूपी की इस भाजपा सरकार के कैबिनेट में पार्टी के वरिष्ठ नेता व आठ बार विधायक चुने गए सुरेश खन्ना, सातवीं बार विधायक बने सतीश महाना, वरिष्ठ नेता राधा मोहन दास अग्रवाल, हृदय नारायण दीक्षित, वरिष्ठ नेता सूर्य प्रताप शाही, जयप्रताप सिंह, जगन प्रसाद गर्ग, धर्मपाल सिंह, राजेंद्र सिंह उर्फ मोती सिंह, उपेंद्र तिवारी, दल बहादुर, सत्यप्रकाश अग्रवाल, कृष्णा पासवान, राजेश अग्रवाल, श्रीराम सोनकर, वीरेंद्र सिंह सिरोही, रमापति शास्त्री और अक्षयवर लाल को जगह मिल सकती है।

युवा नेताओं में सिद्धार्थनाथ सिंह, श्रीकांत शर्मा, देवमणि द्विवेदी और मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से चुनाव जीते युवा नेताओं को सरकार में शामिल किया जा सकता है। बुंदेलखंड क्षेत्र के झांसी से दूसरी बार विधायक बने रवि शर्मा का नाम भी आगे है। इन्हीं नेताओं में से एक को विधानसभा अध्यक्ष का पद मिल सकता है।

मिनकपुर से जीते पूर्व सांसद आरके पटेल के साथ, नेता प्रतिपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य, पूर्व मुख्यमंत्री वीरबहादुर सिंह के पुत्र पूर्व मंत्री फतेहबहादुर सिंह और पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी भी दावेदारी में हैं। भाजपा सरकार में लखनऊ से भी कई चेहरों को शामिल किए जाने की चर्चा जोरों पर है इनमें मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को हराने वाली रीता बहुगुणा जोशी, लालजी टंडन के पुत्र आशुतोष टंडन प्रमुख हैं।

साथ ही बृजेश पाठक और दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह को भी मौका मिल सकता है। अल्पसंख्यक (सिख) कोटे से विधायक हरिमिंदर सिंह उर्फ रोमी साहनी को जगह मिलनी तय है। वह बसपा छोड़कर भाजपा में आए और विधायक चुने गए हैं। भाजपा इस बार महिलाओं को मंत्रिमंडल में अहम पद देगी।

रीता बहुगुणा जोशी, कृष्णा पासवान, प्रदेश महामंत्री अनुपमा जायसवाल, मंत्री नीलिमा कटियार, महिला मोर्चा की अध्यक्ष स्वाति सिंह के अलावा रजनी तिवारी, रानी पक्षालिका सिंह व कांग्रेस के गढ़ को फतह करने वाली भूपति भवन की रानी गरिमा सिंह (कांग्रेस नेता संजय सिंह की पहली पत्नी) को भी मौका मिल सकता है।

भाजपा सरकार में गठबंधन के सहयोगी दलों- अपना दल (सोनेलाल) व भारतीय समाज पार्टी (भासपा) को एक-एक मंत्री पद मिलना तय है। भासपा कोटे से अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर व अपना दल कोटे से दोबारा विधायक बने आरके वर्मा का नाम चर्चा में है।

योगी आदित्यनाथ होंगे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री…दो चेहरे बनेंगे डिप्टी सीएम !



TOC NEWS

उत्तर प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। इस बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। माना जा रहा है कि योगी आदित्यनाथ ही अगले मुख्यमंत्री होंगे।

तमाम अटकलों, तमाम उठापठक, तमाम राजनीतिक चर्चाओं का दौर चल रहा है कि आखिर उत्तर प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। इस बारे में एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है और बताया जा रहा है कि इस वक्त योगी आदित्यनाथ के नाम पर सर्वसम्मति बनती दिख रही है। उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत हासिल करने के बाद रणनीतिकार और पॉलिटिकल पंडित इस बात की चर्चा कर रहे थे कि आखिर देश के सबसे बड़े राजनीतिक सूबे की कमान किसे सौंपी जाएगी ? मीडिया रिपोर्ट्स पर यकीन करें तो सीएम पद की दौड़ में अब केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा का नाम पीछे चला गया है। कहा जा रहा था कि इस रेस में योगी और केशव प्रसाद मौर्य का नाम चल रहा है। लेकिन इस बीच एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है।

सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर ये ही है कि इस वक्त योगी के नाम पर सहमति बनती दिख रही है। रविवार दोपहर 2 बजकर 15 मिनट पर कांशीराम स्मृति उपवन में नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह होगा। उत्तर प्रदेश के सीएम के रूप में योगी का नाम इसलिए आगे चल रहा है क्योंकि यूपी में योगी बीजेपी के फायर ब्रांड नेता के तौर पर माने जाते हैं। इससे पहले योगी सिर्फ पूर्वांचल तक ही सीमित थे।

लेकिन इस चुनाव से पहले पार्टी ने योगी से वेस्ट यूपी में भी जमकर प्रचार कराया । योगी की हिंदू हार्डलाइनर वाली इमेज है। गोरखपुर से सांसद आदित्यनाथ का नाम चुनाव नतीजे आने के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए काफी पीछे चल रहा था। हैरानी तो तब हुई जब बीजेपी विधायक दल की बैठक शुरू होने से पहले योगी का नाम सीएम की दौड़ में अचानक से आगे हो गया।

इसके अलावा कहा जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में 20 कैबिनेट मिनिस्टर होंगे। इनमें स्वाति सिंह को भी लाल बत्ती मिल सकती है। कहा जा रहा है कि इस बार उत्तर प्रदेश में दो डिप्टी सीएम होंगे। फिलहाल इस बात की ही बड़ी जानकारी निकलकर सामने आ रही है कि उत्तर प्रदेश की कमान इस बार योगी आदित्यनाथ को सौंपी जा सकती है। आज दिन भर क्या क्या हुआ इस बारे में भी हम आपको बता रहे हैं। बताया जा रहा है कि राजभवन से कुछ ही दूरी पर VVIP गेस्ट हाउस में वेंकैया नायडू बड़े नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे हैं। इस बैठक में योगी और केशव प्रसाद मौर्या भी शामिल हैं। आपको बता दें कि नायडू को बीजेपी विधायक दल की मीटिंग के लिए आलाकमान ने सेंट्रल ऑब्जर्वर बनाया है।

सुबह तक सीएम पद की रेस में मनोज सिन्हा का नाम आगे चल रहा था। वो अब तक लखनऊ नहीं पहुंचे। कहा जा रहा है कि लखनऊ में योगी की वेंकैया नायडू के साथ बंद कमरे में मीटिंग हुई। कहा जा रहा है कि सीएम पद की रेस में मनोज सिन्हा पीछे हो गए हैं। उधर केशव प्रसाद मौर्या दिल्ली से लौटकर लखनऊ पहुंचे। मीडिया के सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि अभी मीडिया को इस बात का इंतजार करना चाहिए।

तो कह सकते हैं कि इस वक्त लखनऊ में गर्मा गर्मी का माहौल चल रहा है और बात लगभग पक्की है कि योगी ही उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री हो सकते हैं। देखना है कि उत्तर प्रदेश की कमान अब किसे सौंपी जाएगी। जाहिर है कि देश के सबसे बड़े पॉलिटिकल स्टेट में सीएम पद के लिए राजनीति तो गर्मानी ही चाहिए।

रतन टाटा बताते हैं सफलता के मूल मंत्र : Ratan Tata 10 Rules for getting success

Image result for रतन टाटा बताते हैं सफलता के मूल मंत्र : Ratan Tata 10 Rules for getting success

toc news

रतन टाटा सफलता के 10 मूल मंत्र

1.  मैं कभी भी सही निर्णय लेने पर विश्वास नहीं करता। मैं निर्णय ले कर, उसे सही साबित करने में विश्वास करता हूं।

 2.जीवन में आगे बढ़ते रहने के लिए उतार-चढ़ाव का बड़ा ही महत्व है। यहां तक कि ई.सी.जी. (ECG) में भी सीधी लकीर का अर्थ- मृत माना जाता है।

3.उन सारे पत्थरों को अपने पास रख लें, जिसे लोग आप पर फेकते हैं और उन पत्थरों का प्रयोग एक मजबूत स्मारक बनाने में करे।

4.लोहे को कोई नुकसान नहीं पहूंचा सकता लेकिन यह कार्य उसका अपना ही जंग (Rust) कर सकता है। वैसे ही किसी व्यक्ति को कोई नष्ट नहीं कर सकता सिवाय उसकी अपनी मानसिकता के।

5.हम सभी के पास समान योग्यता नहीं है लेकिन हमारे पास अपनी प्रतिभा को विकसित करने के लिए समान अवसर है|

6.अगर आप तेज चलना चाहते है तो अकेले चलिए। लेकिन अगर दूर तक जाना चाहते है तो साथ-साथ चलिए।

7.मैं उन लोगों की प्रसंशा करता हूं जो बहुत सफल हैं। लेकिन अगर वह सफलता बहुत ज्यादा निर्ममता से हासिल हो तो मैं उस व्यक्ति की प्रसंशा तो करूँगा लेकिन इज्जत नहीं।

8.जिन जीवन मूल्यों और नीतियों को मैं जीवन में जीता रहा, इसके अतिरिक्त मैं जो संपंदा अपने पीछे छोड़ना चाहता हूं वह यह है कि आप हमेशा जिस चीज को सही माने उसके साथ डट कर खड़े रहे और जहां तक संभव हो निष्पक्ष बने रहे।

9.हो सकता कि मेरे निर्णयों से कई लोग दुःखी हो लेकिन मैं उस व्यक्ति के रूप में पहचाना-जाना चाहता हूं जिसने कभी किसी भी परिस्थिती में सही काम को सही ढ़ग से करने के लिए समझौता नहीं किया।

10.मैं भारत के भविष्य और इसकी क्षमता को लेकर काफी आशान्वित हूं। यह बहुत महान देश है। इसमें बहुत क्षमता हैं।

CCH ADD

CCH ADD
CCH ADD

Popular Posts

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news