Wednesday, May 31, 2017

गाय को राष्‍ट्रीय पशु घोषित किया जाए, गोहत्या पर हो उम्रकैद: राजस्‍थान हाईकोर्ट



TOC NEWS
जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट ने कहा है कि गाय और बछडे जीवित और निरीह प्राणी है और हिन्दुओं की गाय में गहरी आस्था है। हिंदू राष्ट्र नेपाल ने भी अपने नए संविधान में गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया है। भारत जैसे कृषि प्रधान देश में कृषि और पशुपालन जीविका के प्रमुख साधन हैं। इसलिए संविधान के अनुच्छेद 48 और 51 ए (जी) के तहत गायों को विधिक अस्तित्व दिलाने और संरक्षण के लिए सरकार से आशा है कि वह गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करें।

न्यायाधीश महेशचंद्र शर्मा ने यह आदेश अपने अंतिम कार्यदिवस को जागो जनता सोसायटी की याचिका पर दिए। कोर्ट ने राजस्थान गौवंशीय पशु (वध का प्रतिषेध एवं निर्यात का विनियम ) कानून में संशोधन कर गाय को मारने पर आजीवन कारावास की सजा का प्रावधान करने के निर्देश भी दिए हैं। कोर्ट ने हिंगोनिया गौशाला में गायों की दशा सुधारने के लिए 16 मार्च,2012 को दिए निर्देशों की पालना के लिए सीनियर एडवोकेट सज्जनराज सुराणा की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया है।

कमेटी में एडवोकेट पूनमचंद भंडारी,ललित शर्मा,विजय सिंह पूनियां और राजस्थान हाईकोर्ट बार के अध्यक्ष और महासचिव को पदेन सदस्य नियुक्त किया है। निर्देशों की पालना नहीं होने पर कमेटी अवमानना याचिका दायर करने को स्वतंत्र होगी।

कोर्ट ने यह निर्देश भी दिए
एसीबी के डीजी या एडीजी पदेन रुप से हिंगोनिया गौशाल में भ्रष्टाचार रोकने को व्यक्तिगत रुप से देखरेख करेंगे। एसीबी हर तीन महीने में रिपोर्ट तलब करेगी भ्रष्टाचार का मामला हो तो एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही करेंगे। बस्सी के एसडीएम और गिरदावर हिंगोनिया गौशाली की जमीन से अतिक्रमण हटाएं गौशाला की जमीन का चिरकाल तक उपयोग नहीं बदला जाएं।

सरकार और जयपुर नगर निगम गौशाला के विकास के लिए बजट की कमी नहीं होने दें। बजट हर महीने की 15 तारीख को जारी हो।गोपालन विभाग और सरकार हरे कृष्णा मूवमेंट की रिपोर्ट के अनुसार गौशाला की चारदीवारी,नए शेड और भंडार गृह बनवाए गौशाला की वर्तमान व भविष्य में होने वाली बढोतरी के अनुसार उचित वित्तीय प्रबंध करें सरकार गौशाला में वित्तीय दुरुपयोग रोकने को मॉनिटरिंग करे ।

गौशाला को हरे कृष्णा मूवमेंट को देने के बाद गौशाला में सुधार हुआ है सरकार इसमें निरंतर सहयोग जारी रखे अतिक्रमण की शिकायत पर जेडीए और जयपुर नगर निगम तत्काल कार्यवाही करे हरे कृष्णा मूवमेंट यदि गौशाला में वेद पाठशाला या विद्यालय खोलना चाहे तो सरकार व निगम स्वीकृति प्रदान करें।

वन विभाग गौशाला में हर साल पांच हजार पौधे लगाए और देखभाल करे सरकार राजस्व रिकार्ड सही करवाए और गौशाला की जमीन गौशाला के नाम से ही दर्ज करवाए। गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करवाने के लिए कोई भी व्यक्ति या संस्था याचिका दायर करने को स्वतंत्र लापरवाही करने वाले कर्मचारी व अधिकारी के खिलाफ सरकार तत्काल कार्यवाही करे।

जेडीसी,सीईओ नगर निगम और यूडीएच सचिव महीने में एक बार हिंगोनिया गौशाला का निरीक्षण करें। कोर्ट कमिश्नर की शिकायत पर 15 दिन में शिकायत का निवारण किया जाए। 

मोदी सरकार के नोटबंदी से बर्बाद हुए गरीब, मजदूर और कामगार, ये रहा वर्ल्ड बैंक का रिपोर्ट...



TOC NEWS
नई दिल्ली। मोदी सरकार ने जब नोटबंदी का फैसला भारत की जनता पर थोपा था तब उनका कहना था कि इस फैसल से किसान, मजदूर, और गरीब को फायदा मिलेगा। लेकिन नोटबंदी ने अब अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। वर्ल्ड बैंक ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि नोटबंदी का सबसे बुरा असर गरीबों और आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग पर पड़ा है।

पिछले साल नवंबर में नरेंद्र मोदी सरकार के 500 और 1000 के पुराने नोटों को बंद करने और उसके बाद एटीएम निकासी पर पाबंदी लगाने के फैसले के बाद पूरे देश में हाहाकार मच गया था। लेकिन मोदी सरकार ने यह बार-बार दावा किया नोटबंदी का देश के किसान, मजदूर, और कामगारों पर कोई असर नहीं होगा। अर्थशास्त्रियों का कहना था कि नोटबंदी का असर छह महीने बाद दिखेगा और यह सच साबित हो रहा है। वर्ल्ड बैंक ने साफ कहा है कि नोटबंदी से सबसे ज्यादा गरीबों और कामगारों को हुआ है।

वर्ल्ड बैंक का कहना है कि इसका सबसे ज्यादा असर कंस्ट्रक्शन और असंगठित खुदरा क्षेत्र में देखने को मिल रहा है। कमजोर आर्थिक वर्ग के ज्यादातर लोग इस सेक्टर में काम करते हैं। इस सेक्टर में काम की कमी और छंटनी की वजह से रोजगार पर नकारात्मक असर तो पड़ा ही है, ग्रामीण सेक्टर में चीजों की खपत और उपभोग भी घटा है।

देश की जीडीपी में अऩौपचारिक सेक्टर की हिस्सेदारी भले ही 40 फीसदी हो लेकर यह देश के 90 फीसदी कामगारों को रोजगार देता है। नोटबंदी का नकारात्मक असर सबसे ज्यादा इसी सेक्टर पर पड़ा है। लाजिमी है कि इसकी चोट देश के कामगारों के रोजगार पर पड़ी है।

गरीब और कमजोर आर्थिक पृष्ठभूमि वाले अधिकतर लोग किसानी, छोटे खुदरा और कंस्ट्रक्शन सेक्टर में काम करते हैं। इस सेक्टर कैशलेस होने की क्षमता कम होती है। लिहाजा जब नोटबंदी हुई तो सबसे ज्यादा बुरा असर इन्हीं सेक्टरों पर पड़ा। नतीजतन लोगों को नौकरियां गई और वे गरीबी में धकेल दिए गए।

इन अऩौपचारिक सेक्टरों में जिन लोगों की नौकरियां गई हैं, उनमें से कइयों को पास अब भी रोजगार नहीं हैं। क्योंकि नोटबंदी की वजह से अनौपचारिक सेक्टर की कई इंडस्ट्री उबर नहीं पाई हैं। कंस्ट्रक्शन गतिविधियां सुस्त पड़ी हुई हैं। किसानों के लिए मोदी सरकार ने जिस बढ़े हुए समर्थन मूल्य का वादा किया था वह पूरा नहीं हुआ है।

टेक्सटाइल, लेदर, जेम्स-ज्वैलरी सेक्टर भी सुस्त पड़े हुए है क्योंकि विकसित देशों की आयात मांग में कोई खास इजाफा नहीं हुआ है। रोजगार के मोर्चे पर इस संकट का बुरा असर साफ दिख रहा है। सरकार पर हर ओर से रोजगार बढ़ाने का दबाव बढ़ रहा है। लेकिन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का कहना है कि बेरोजगारी की खबरें मीडिया की गढ़ी हुई हैं।

Tuesday, May 30, 2017

सपा महिला नेता ने योगी को तोहफे में दीं चूड़ियां और कहा, इस्तीफा देकर घर बैठो?

Image result for सपा महिला नेता ने योगी को तोहफे में दीं चूड़ियां और कहा
TOC NEWS

आगरा। उत्तर प्रदेश में विपक्षी पार्टियों ने 70 दिन की योगी सरकार को कानून व्यवस्था के मुद्दे पर घेरना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में समाजवादी पार्टी आगरा ने कलेक्ट्रेट में पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया और सिटी मजिस्ट्रेट को राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौंपकर कानून व्यवस्था पर उनसे हस्तक्षेप की अपील की। हालांकि इस दौरान सपा दो खेमों में बंटी नजर आयी।र विपक्ष ने योगी सरकार के ‘चाल, चरित्र एवं चेहरे’ को लेकर सवाल उठाया।

प्रदेश में लगातार हो रही अपराधिक घटनाओं और बिगड़ रही कानून व्यवस्था को लेकर जहां सोमवार को पूरे सूबे में समाजवादी पार्टी प्रदर्शन कर रही थी। वहीं, आगरा में भी सपाइयों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रभावी प्रदर्शन किया। हालांकि इस मौके पर भी सपा दो खेमों में बटी नजर आयी।
वहीं, इस दौरान सपा महिला कार्यकर्ता ने सीएम के नाम चूड़ियां सौंपीं। कार्यकर्ता मोनिका नाज खान का कहना था कि सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश में बढ़ रहे अपराध को रोक नही पा रहे हैं।
महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे हैं, बच्चे जिंदा जलाए जा रहे हैं और बच्चियों के साथ बलात्कार हो रहा है। कार्यकर्ता ने कहा कि 'मैं मीडिया के माध्यम से योगी जी को चूड़ियां गिफ्ट कर रही हूं, कि वे चूड़िया पहनकर घर बैठें, वे सरकार नहीं चला पाएंगे।'

बीयर बार के उद्घाटन में पहुंचीं मंत्री स्वाति सिंह

Image result for बीयर बार के उद्घाटन में पहुंचीं मंत्री स्वाति सिंह

TOC NEWS

लखनऊ: उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाति सिंह ने एक बीयर बार का फीता क्या काटा कि मानों मुसीबतें मोल ले लीं। जैसे ही उन्होंने बीयर शॉप का उद्घाटन किया, समूचा विपक्ष योगी सरकार की तीखी आलोचना करने लगा।

बीयर बार के उद्घाटन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद ये मामला तूल पकड़ता चला गया। आखिरकार विपक्ष ने योगी सरकार के ‘चाल, चरित्र एवं चेहरे’ को लेकर सवाल उठाया।
अब इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद संज्ञान लिया है। मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम में शामिल होने वाली स्वाति सिंह और अधिकारियों से अपनी स्थिति साफ करने को कहा है। इस बारे में अधिकारियों को सख्त निर्देश भी दिए गए हैं। तस्वीरों में स्वाति सिंह को कुछ लोगों के साथ लाल फीता काटते हुए दिखाया गया है। 
उनके साथ कुछ नौकरशाह भी खड़े नजर आ रहे हैं। विपक्ष ने मौका गंवाये बिना प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। सपा और कांग्रेस ने सवाल किया कि क्या योगी आदित्यनाथ सरकार का यही असली ‘चाल चरित्र और चेहरा’ है। सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि इससे सत्ताधारी भाजपा का विरोधाभास नजर आता है। वे कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं।
Image result for बीयर बार के उद्घाटन में पहुंचीं मंत्री स्वाति सिंह
दरअसल सरोजनीनगर से बीजेपी विधायक स्वाति सिंह ने राजधानी में 20 मई को अपनी एक दोस्त के बीयर बार का उदघाटन किया था। इसकी तस्वीरें आज सोशल मीडिया पर वायरल हो गयीं।
Image result for बीयर बार के उद्घाटन में पहुंचीं मंत्री स्वाति सिंह
गौरतलब है कि बीजेपी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह स्वाति सिंह के पति हैं। दयाशंकर को पिछले साल बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियों के बाद पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था, हालांकि विधानसभा चुनाव में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद उन्हें वापस पार्टी में शामिल कर लिया गया।

BJP आॅफिस में महिला मित्र के साथ रास रचा रहे थे भाजपा नेता, बाहर निकाला

Image result for BJP आॅफिस में महिला मित्र के साथ रास रचा रहे थे भाजपा नेता, बाहर निकाला
TOC NEWS

भोपाल। भाजपा का होशंगाबाद आॅफिस बीते रोज भाजपा मंडल के अध्यक्ष राजकुमार चौकसे की रंगरेलियों को अड्डा बन गया। वो कार्यालय में आयोजित होने वाली बैठक से कुछ देर पहले आए। उनके साथ एक महिला मित्र भी थी। आरोप है कि चौकसे कार्यालय में ही महिला मित्र के साथ रास रचाने लगे। 

जब पार्टी कार्यकर्ता आॅफिस पहुंचे तब दोनों आपत्तिजनक स्थिति में थे। मामला मुख्यालय तक भेजा गया। यहां भाजपा ने अपनेे रंगीनमिजाज मंडल अध्यक्ष को पार्टी से बाहर कर दिया है।
पिछले दिनों होशंगाबाद जिला भाजपा कार्यालय में उस वक्त शर्मनाक स्थिति बन गई थी, जब मंडल अध्यक्ष राजकुमार चौकसे को एक महिला के साथ आपत्तिजनक हालत में देखा गया। चौकसे एक मीटिंग के सिलसिले में दफ्तर मे आए थे। 
उनके साथ एक महिला भी थी। इसी बीच कुछ कार्यकर्ता वहां पहुंचे। जब वे अंदर पहुंचे, तो नेताजी घबरा उठे। लेकिन बाद में वे कार्यकर्ताओं पर भड़क उठे। हालांकि पहले तो यह मामला दबा रहा, लेकिन किसी ने इसकी शिकायत पार्टी हाईकमान तक पहुंचा दी। आखिरकार मंगलवार को पार्टी ने चौकसे को पार्टी से हटा दिया।

संगठनमंत्री के केबिन में चल रही थी रासलीला

बताया जा रहा है कि यह सारा खेल भाजपा संगठन मंत्री के केबिन में चल रहा था। अंदर से कुंडी बंद थी। जब भाजपा कार्यकर्ताओं ने दरवाजा खोला तो मंडल अध्यक्ष भड़क उठे। उसके बाद कार्यालय में काफी देर तक ड्रामा चलता रहा। भाजपा जिलाध्यक्ष ने इसकी शिकायत प्रदेश कार्यलय से की। इस बीच होशंगाबाद के स्थानीय अखबारों में मामला सुर्खियां बन गया। अंतत: मंडल अध्यक्ष राजकुमार चौकसे को पार्टी से बाहर निकाल दिया गया।
NEWS BY - Bhopal Samachar

OMG! सिर्फ एडल्ट ही देख सकेंगे प्रियंका चोपडा की ये फिल्म. जाने क्यों

Related image
TOC NEWS
मुंबई : बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा की पहली हॉलीवुड फिल्म 'बेवॉच' अमेरिका में 25 मई को रिलीज की जा चुकी है। हालांकि, फिल्म क्रिटिक्स ने बेवॉच को बहुत अच्छा तो नहीं बताया है मगर प्रियंका के काम की काफी तारीफ की गई है। इस फिल्म में प्रियंका ने एक निगेटिव भूमिका निभाई है। हॉलीवुड के अधिकांश फिल्म समीक्षकों ने इसे एक बुरी फिल्म करार दिया है, जिसमें उनके हिसाब से कुछ भी अच्छा नहीं हैं। 
समीक्षकों ने प्रियंका चोपड़ा की परफॉरमेंस को भी स्तरहीन कहा है। वहां के अधिकांश समीक्षकों की राय में, इस फिल्म का आइडिया अच्छा था, लेकिन मसालों और एक्सपोज के चक्कर में इसे दोयम दर्जे की.. सभी को पता है कि बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा इन दिनों भारत से ज्यादा विदेशों में दिखाई देती है। 
Related image
वह फिल्म ‘बेवॉच’ से हॉलीवुड में डेब्यू भी करने जा रही हैं। लेकिन प्रियंका की इस फिल्म को भारत में सिर्फ एडल्ट ही देख सकेंगे। प्रियंका की इस फिल्म को CBFC (सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन) का सर्टिफिकेट मिल गया है।
सेंसर बोर्ड ने फिल्म से पांच सीन्स, एक विजुअल और 4 वर्बल सीन्स कट करने के बाद इसे ‘ए’ सर्टिफिकेट दे दिया है। 2 जून को इंडिया में रिलीज हो रही इस फिल्म में प्रियंका चोपड़ा के अलावा ड्वेन जॉनसन और जैक एफ्रॉन लीड रोल में है।
90 के दशक के एक टीवी शो पर बेस्ड फिल्म है ‘बेवॉच’। इंडिया में रिलीज होने से पहले ये फिल्म सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (CBFC) के पास गई। जहां से फिल्म को ‘ए’ सर्टिफिकेट मिल गया।  CBFC चीफ पहलाज निहलानी ने फिल्म से बिकिनी सीन्स न काटते हुए ‘ए’ सर्टिफेकिट देने पर तर्क दिया कि इन सीन्स को काटना बोर्ड ने जरूरी नहीं समझा।
Related image

सुहागरात की रात पति पत्नी को क्या करना चाहिए?

Image result for सुहागरात
TOC NEWS
सुहागरात की रात पति पत्नी के लिए बहुत ही खास होता है यह रात शादीशुदा जोड़ी की जिंदगी में पहली और आखरी बार आता है क्योंकि शादीशुदा जिंदगी में ऐसी रात तो बहुत आती है पर जो सुहागरात की रात होती है उसके कुछ खास ही महत्व होती है
इसलिए हर कोई चाहता है कि यह पल उसका सबसे प्यार भरा पल बने आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिससे आपकी सुहागरात हमेशा के लिए यादगार बनी रहेगी. इस दिन आपके पास पूरा मौका है कि आप एक दूसरे को समझें और एक दूसरे को कमियों को जाने ताकि आगे चल कर आप उन्हें सुधार सकें. 
एक दूसरे के टैलेंट को जाने ताकि उसे आगे ले जाने में मदद कर सके इसके जरूरी है कि आप उनकी पसंद को जाने ताकि आने वाले वक्त में आप उनकी पसंद के मुताबिक चीजें कर सके और उन्हें खुश कर सके.
आप अपने पार्टनर को तोहफे दे. जैसे कि, आजकल की लड़कियों को मॉडर्न ड्रेस पसंद होती है या फिर कोई ब्रांडेड घड़ी भी दे सकते हैं आप उनकी इच्छाओं का ख्याल रखते हैं.
सुहागरात की रात इंटीमेट होने में जल्दबाजी न करें बल्कि धीरे-धीरे उनके करीब जाए लड़कियों को धीरे-धीरे करीब जाने वाले इंसान ज्यादा पसंद आते हैं. धीरे-धीरे उन्हें और जब वह रिस्पांस देना शुरू करें तो फिर अपनी हरकतों को तेज करें.

बीजेपी का ढोंग, यहाँ बीफ सस्ता कर बनाना चाहती है सरकार!

Image result for बीजेपी
TOC NEWS
शिलोंग: गाय के नाम पर सभी को क ,ख, ग सिखाने वाली बीजेपी का दोहरा चरित्र सामने आया गया है। मेघालय में बीजेपी नेता सत्ता पाने के लिए बीफ पर बैन नहीं बल्कि इसको सस्ता करने का वादा करते नजर आ रहे हैं। यहाँ बीजेपी के एक नेता ने राष्ट्रीय नेत्रत्व से मांग की है कि वह राज्य में सत्ता में आने पर राज्य में बीफ को लेकर कोई नया कानून नहीं लागू होगा।
देश के पीएम नरेन्द्र मोदी सहित कई बीजेपी शासित राज्यों के सीएम गाय को लेकर तरह तरह की बातें करते आ रहे हैं। जिसमें यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ तो सबसे आगे ही हैं। यूपी में बीजेपी को सत्ता मिली तो योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाया गया। वहीँ सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकार में आते ही पहला कदम बूचड़खानों को बंद करवाने का लिया। लेकिन बीजेपी का गौ प्रेम अब दोहराए पर खड़ा है।
एकओर तो बीजेपी गौ प्रेम दिखा रही है और गौ हत्या पर पाबंदी चाहती है। वहीँ मेघालय में बीजेपी सत्ता में आने के लिए बीफ सस्ता करने का वादा कर रही है। मेघालय में बीजेपी के नेता ने दावा किया है कि अगर प्रदेश में भाजपा सरकार सत्ता में आती है तो वह बीफ को सस्ता कर देगी। यहाँ बीजेपी नेता बर्नार्ड मारक ने कहा कि गारो जनजाति में बीफ खाना एक साधारण सी बात है और वह लंबे समय से इसे खाते आ रहे हैं, ये लोग ज्यादातर क्रिश्चियन हैं। लेकिन यहां बीफ का दाम काफी ज्यादा है, क्योंकि यहां इसपर कोई नियम नहीं है।
ऐसे में अगर हमारी पार्टी सत्ता में आती है तो हम बीफ की बिक्री को नियम के तहत करेंगे जिससे कि इसके दामों में कमी आईएगी। मारक के इस बयान के बाद से बीजेपी का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है। बीजेपी एकओर तो गाय को माता कहकर देश को गुमराह कर रही है। वहीँ दूसरी ओर सत्ता पाने के लिए मेघालय में बीफ सस्ता करने घोषणा कर रही है। साथ ही केन्द्रीय नेत्रत्व से भी इस पर मुहर लगवा रही है।
ज्ञात हो कि मेघालय में मुख्य रूप से आबादी ईसाई है, यहां कुल 74.59 फीसदी लोग ईसाई है। मेघालय में बड़े स्तर पर बीफ की खपत होती है। इसके प्रदेश बीजेपी यूनिट ने नलिन कोहली को पत्र लिखकर कहा है कि वह इस बात का भरोसा दिलाने की बात कही है कि मेघालय में सत्ता में आने पर नया बीफ कानून लागू नहीं किया जाएगा। मारक मेघालय में तुरा सिटी यूनिट के अध्यक्ष हैं। वहीँ प्रदेश अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह ने मारक के इस बयान से किनारा करते हुए इसे उनकी व्यक्तिगत राय बताया है।

पति के खिलाफ केस लड़ रही महिला के सामने वकील ने रखी ये घिनौनी शर्त,कहा...

Image result for पति के खिलाफ केस लड़ रही महिला के सामने वकील ने रखी ये घिनौनी शर्त,कहा...
TOC NEWS
नई दिल्ली । कचहरी के एक वकील द्वारा पीड़ित महिला के केस की पैरवी करने के लिए घिनौनी शर्त रखने का मामला सामने आया है। आरोप है कि वकील ने पीड़िता से पहले तो 10 हजार रुपए बतौर फीस ले लिए और जब महिला के केस में उन्होंने कुछ नहीं किया तो महिला ने उनपर केस को आगे बढ़ाने का दबाव बनाया। जिस पर वकील साहब ने उसके सामने केस लडऩे की शर्त पर अपने साथ रात बिताने का दबाव बनाया।
महिला ने मामले की श्किायत कविनगर पुलिस से की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। नन्दग्राम इलाके में रहने वाली पीड़ित महिला का कहना है कि उसका पति के साथ कोर्ट में मामला विचाराधीन है। केस की पैरवी के लिए उसने एक वकील से संपर्क साधा। 
वकील ने उसके केस को मजबूती से लडऩे का भरोसा दिया और उससे फीस के रूप में 10 हजार रुपए ले लिए। इसके बाद भी महिला के केस में जब कोई उन्नति नहीं हुई तो उसने वकील पर पैसे वापस करने या फिर केस की मजबूत पैरवी करने का दबाव बनाया। इस पर आरोपी वकील ने महिला से कहा कि वह पहले उसके साथ एक रात बिताए तब वह उसके केस को मजबूती से लडेंग़े।
शुक्रवार को महिला ने मामले की शिकायत कविनगर पुलिस से की है। एसएचओ कविनगर हेमंत राय का कहना है कि महिला ने शिकायत दी है। उसकी शिकायत के बारे में बार अध्यक्ष को अवगत करा दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आडवाणी, उमा, जोशी समेत 12 आरोपीयों को जमानत



TOC NEWS। 30 May. 2017 13:44

नई दिल्ली। बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती मंगलवार को विशेष सीबीआई कोर्ट ने निजी मुचलके पर जमानत दे दी।
विशेष सीबीआई जज एस के यादव ने इनके अलावा भाजपा नेता विनय कटियार, विहिप के विष्णु हरि डालमिया और साध्वी ऋतंबरा को भी कोर्ट में उपस्थित रहने का आदेश दिया है। कोर्ट ने सभी को व्यक्तिगत उपस्थित रहने को कहा है। साथ ही कहा है कि व्यक्तिगत उपस्थिति के किसी आवेदन पर विचार नहीं किया जाएगा।

विवादित ढांचा ढहाने के दो अलग-अलग मामलों में सुनवाई कर रहा कोर्ट महंत नृत्यगोपाल दास, महंत राम विलाल वेदांती, बैकुंठ लाल शर्मा उर्फ प्रेमजी,चंपत राय बंसल, महंत धर्मदास और सतीश प्रधान को भी दूसरे मामले में उपस्थित रहने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने 19 अप्रैल को आडवाणी, जोशी,उमा और अन्य के खिलाफ आपराधित षड्यंत्र रचने के मामले में मुकदमा चलाने के आदेश दिए थे। इस मामले में दो साल तक हर दिन मुकदमा चलाने के आदेश भी दिए थे।

Monday, May 29, 2017

विधायक सतीश मालवीय के खिलाफ जमानती वारंट जारी



TOC NEWS
उज्जैन। घट्टिया से बी जे पि के विधायक सतीश मालवीय के खिलाफ उज्जैन कोर्ट ने जमानती वारंट जारी किया है और उज्जैन एस पि को वारंट तामिल करने के निर्देश भी जारी हुए हे। इदर असल मामला है 22 अगस्त २०१५ का जब विधायक मालवीय और उज्जैन के बी जे पि के नेता भंवर सिंह चोधरी की आपस में कहा सुनी हो गयी थी और ये सब केन्द्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत के सामने हुआ था ।

जिसके बाद दोनों को समझा दिया गया था लेकिन कुछ देर में ही खबर आई थी की फ्री गंज स्थित विधायक सतीश मालवीय के ऑफिस के पास चोधरी और विधायक के समर्थक आपस में भीड़ लिए जिसके बाद चोधरी ने आरोप लगाया था की विधायक मालवीय  ने  फायरिंग भी थी और जान लेने की कोशिश की । इस पर से माधव नगर थाने में विधायक मालवीय के खिलफ केस दर्ज हुआ था ।

जिसके बाद मालवीय कोर्ट में पेशी पर नहीं गए जबकि दो अन्य सम्र्तःक कोर्ट में पेश हो गए थे लेकिन मालवीय के  लगातार पेश नहीं होने के चलते उज्जैन कोर्ट ने उज्जैन एस पि को निर्देशित किया और जमानती वारंट जारी किया है साथ ही अगली पेशी 26 . 6 .16 को विधायक के वारंट की तामिल करने के निर्देश भी कोर्ट ने दिए है ।

Sunday, May 28, 2017

महिला IAS के वॉट्सऐप पर बीजेपी नेता प्रकाश अग्रवाल ने भेजे अश्लील मैसेज, मुकदमा दर्ज

Image result for महिला IAS के वॉट्सऐप पर बीजेपी नेता प्रकाश अग्रवाल ने भेजे अश्लील मैसेज, मुकदमा दर्ज

TOC NEWS

बीजेपी यूथ विंग लीडर प्रकाश अग्रवाल केखिलाफ एक महिला कलेक्टर ने केस दर्ज कराया है! IAS महिला का आरोप है कि बीजेपी यूथ विंग लीडर प्रकाश अग्रवाल उन्हें वॉट्सऐप पर अश्लील मैसेज भेजे है!

बीजेपी यूथ विंग लीडर प्रकाश अग्रवाल पर एक महिला कलेक्टर के खिलाफ वॉट्सऐप पर अभद्र टिप्पणी के लिए केस दर्ज किया गया है ।
नई नियुक्ति पर आई रायगढ़ जिले की कलेक्टर शम्मी आबिदी के खिलाफ टिप्पणी करने की वजह से इस भाजपा नेता के खिलाफ दो अलग-अलग जगहों पर केस दर्ज हुआ है ।
आबिदी एक आईएएस ऑफिसर हैं और उनकी शादी जगदलपुर के एसपी आरिफ़ शेख से हुई है ।
इस घटना पर कांग्रेस प्रवक्ता आर पी सिंह कहते हैं ‘महिला होने की वजह से कलेक्टर को इस तरह से गाली दी गई । क्या भाजपा इस समुदाय के लिए इसी तरह के बर्ताव का समर्थन करती है!’
प्रकाश अग्रवाल का भाई अमित भाजपा की ओर से सारनगढ़ नगर पंचायत अध्यक्ष है। ऐसा पहली बार नहीं है जब कोई भाजपा नेता इस तरह के विवाद में पड़ा हो ।
अभी पिछले ही महीने भारतीय जनता युवा मोर्चा, उत्तर प्रदेश के नेता योगेश वार्ष्णेय ने ममता बनर्जी का सिर लाने वाले को 11 लाख का इनाम देने की घोषणा की थी।

कुलभूषण जाधव को जल्द फांसी के लिकुलभूषण जाधव को जल्द फांसी के लिए पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिकाए पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका

Image result for कुलभूषण जाधव को जल्द फांसी के लिए पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका
कुलभूषण जाधव की जल्द फांसी के लिए पाक ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई याचिक (फाइल फोटो)
TOC NEWS
इस्लामाबाद: पाकिस्तान किसी भी कीमत पर कुलभूषण जाधव मुद्दे पर पीछे हटने के मूड में नहीं है. मीडिया सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान की जेल में बंद भारत के कुलभूषण जाधव को फौरन फांसी देने की मांग पाकिस्तान में उठ रही है. इस संबंध में एक याचिका पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई है.
पाक ने सुप्रीम कोर्ट में जाधव की फांसी से संबधित एक याचिका दायर की है. याचिका में जाधव की फौरन फांसी की मांग की गई है. पाकिस्तानी मीडिया की मानें तो यह याचिका मुजामिल अली नाम के एक वकील की है.
याचिकाकर्ता ने दलील दी है कि पाकिस्तान के नागरिकों को ऐसे लोगों से बदला लेने का अधिकार है, जो उनके देश के खिलाफ साजिश रचते हैं. याचिका में इस बात पर भी जोर दिया गया है कि पाकिस्तान वियना संधि की शर्तें मानने के लिए विवश नहीं है.
पाकिस्तानी वकील मुजामिल अली ने पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है. इस याचिका में मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट सरकार को ये आदेश दे कि जाधव मामले में वह कानून के तहत जल्द से जल्द निर्णय ले. साथ ही मांग की गई कि जाधव को जल्द से जल्द फांसी दी जाए अगर उसकी सजा को कोर्ट उम्रकैद में तब्दील नहीं करती.
गौरतलब हो कि अंतरराष्‍ट्रीय अदालत ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगा दी है. जाधव को पाकिस्‍तान की सैन्‍य अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है. उसे पाकिस्तान की सरकार की ओर से न तो कोई कानूनी मदद दी जा रही है और न ही उसके बारे में कोई सूचना उसके परिवार को दी जा रही है. जाधव से मिलने भी नहीं दिया जा रहा है.
पाकिस्तान का दावा है कि कुलभूषण जाधव एक भारतीय जासूस है जिसे पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था. जबकि भारत जाधव को भारतीय नौसेना का पूर्व अधिकारी बता रहा है जिसे ईरान से गिरफ्तार किया गया.
पाक की मिलिट्री कोर्ट ने जाधव को जासूसी और देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है. भारत का कहना है कि जाधव को ईरान से अगवा किया गया था. इंडियन नेवी से रिटायरमेंट के बाद वे ईरान में बिजनेस कर रहे थे.
हालांकि, पाकिस्तान का दावा है कि जाधव को बलूचिस्तान से 3 मार्च 2016 को अरेस्ट किया गया था. पाकिस्तान ने जाधव पर बलूचिस्तान में अशांति फैलाने और जासूसी का आरोप लगाया है.
इंटरनेशनल कोर्ट में भारत की तरफ से सीनियर एडवोकेट हरीश साल्वे ने 8 मई को पिटीशन दायर की थी. भारत ने यह मांग की थी कि भारत के पक्ष की मेरिट जांचने से पहले जाधव की फांसी पर रोक लगाई जाए.

आगर मालवा : पानी की किल्लत के चलते महिलाओं ने किया सड़क जाम



आगर जिले के सुसनेर तहसील के  से 3 की.मी. दूर कायरा गाँव में इस भीषण गर्मी में पानी की उचित व्यवस्था नहीं होने से शनिवार को दोपहर में गाँव की आक्रोशित महिलाओ ने रोड़ पर पानी के खाली बर्तन रखकर कीया चक्का जाम ।

आगर (मालवा) // TOC NEWS 
सुसनेर से ✍ गिरिराज बंजारिया की रिपोर्ट (टीओसी)
मो.9617717441



सुसनेर (TOC NEWS) -नगरीय क्षेत्र से करीब 3 किलोमीटर दूर गाँव कायरा में पानी की समस्या को लेकर गाँव की आक्रोषित महिलाओ ने जिरापुर-खिलचीपुर रोड़ पर शनिवार को दोपहर में रोड पर पानी के खाली बर्तन रखकर  चक्का जाम कर दिया और आने जाने वाली बसो का परिवहन बंद कर दिया था।

उल्लेखनीय है कि ग्राम वासियो के पानी भरनेके लिए 7 हैंडपम्प थे जिनमे से 6 हैंडपम्प ने पिछले दिनो ही पानी की कमी के कारण बंद हो गए है। और शेष बचे एक हैंडपम्प ने शनिवार को पानी देना बंद कर दिया। गाँववासियो ने कई बार जनप्रतिनिधियो को उक्त संबध मे अवगत कराया भी था पर किसी ने भी गाँव वासियो की परेशानीयो पर ध्यान नही दिया। घटना की जानकारी मिलते

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जीएस डावर ने तहसीलदार मुकेश सोनी और थाना प्रथारी ओपी मोहटा व एस आई रश्मि भदौरिया को गाँव की स्थिती का जायजा लेने के लिए भेजा। मौके पर पहुच कर अधिकारियो ने गाँव की महिलाओ को समाझाईश दी और जाम को हटवाया।

उक्त मामले मे एसडीएम जीएस डावर ने गाँववासियो की समस्या को समझते हुए पीएचई विभाग के सब इंजीनियर नागदिवानी को निर्देशित करते हुए गाँव में पानी की परेशानी को जल्द से जल्द दूर करने को कहा।

मां को इस हालत में देख बेटे से रहा नहीं गया- फिर जो हुआ वो चौंकाने वाला है

Image result for HOT AUNTY
TOC NEWS
कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर से कुछ दिनों पहले एक चौंकाने वाली वारदात का खुलासा हुआ था, जिसमें एक बेटे ने अपनी ही मां की निर्मम हत्या कर दी थी। हालांकि मां की जिस गलती के लिए बेटे ने उसे मौत के घाट उतार दिया उस घटना को जानकर आपके पैरो तले भी जमिन खिलस जाएगी, जैसा की अपनी ही मां के हत्यारे बेटे के पैरों तले जमीन खिसक गई थी।
Related image
दरअसल मामले में बताया जाता है कि बेटा किसी के काम से बाहर गया हुआ था, लेकिन जब वह वापस अपने घर लौटा तो वह अपनी मां के कमरे गया जहां मां को देख कर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई, इस दृश्य को देखकर उससे रहा नहीं गया और उसने गुस्से में आकर अपनी मां का कत्ल कर दिया।
खबरों के अनुसार उस जदिन युवक के कुछ दोस्त उसके घर आए थे, उन्हीं में से एक दोस्त को युवक की मां से प्यार हो गया था, युवक जब घर पहुंचा तो उसकी मां कमरे में दोस्ते के साथ आपत्तिजनक हालत में पाई गई। दृश्य को देखकर वह गुस्से से लाल हो गया और दोस्त के साथ-साथ मां की भी हत्या कर दी।
जानकारी के अनुसरा हत्या करने के बाद उसने दोनों लाश को बोरे में भर कर नदी में बहा दिया। हालांकि मामले की जांच में आरोपी बेटा पकड़ा गया और उसे अपनी गुनाहों की सजा भी भुगतनी पड़ी।

सहारनपुर में दलितों ने छोड़ दिया हिंदू धर्म

Image result for सहारनपुर में दलितों ने छोड़ दिया हिंदू धर्म
TOC NEWS
सहारनपुर दंगों से परेशान होकर कुछ लोग हिंदू धर्म छोड़ कर दूसरा धर्म अपनाने की राह पर चल रहे हैं। मुरादाबाद में कई वाल्मीकि परिवारों द्वारा हिंदू धर्म छोड़ने के बाद, अब कई और दलित परिवारों ने भी हिंदू धर्म को त्याग दिया है।
Image result for सहारनपुर में दलितों ने छोड़ दिया हिंदू धर्म
 आ रही खबरों के मुताबिक उन्होंने हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों को रामगंगा नदी में बहा दिया। हालांकि उन्होंने अभी यह तय नहीं किया है कि वे किस धर्म को अपनाएंगे।
Image result for सहारनपुर में दलितों ने छोड़ दिया हिंदू धर्म
यह आयोजन भारतीय वाल्मीकि समाज की क्षेत्रीय प्रभारी कमलेश देवी के नेतृत्व में हुआ। यह वही संगठन है जिसके बैनर तले 14 मई को कई दर्जन दलित परिवारों ने हिंदू धर्म छोड़ा था।
Image result for सहारनपुर में दलितों ने छोड़ दिया हिंदू धर्म
कमलेश ने कहा कि जब से योगी सरकार सत्ता में आई है, दलितों को पूरे प्रदेश में निशाना बनाया जा रहा है। हम समाजवादी पार्टी में भी इतने डरे हुए नहीं थे जितना कि इस सरकार में हैं।
Image result for सहारनपुर में दलितों ने छोड़ दिया हिंदू धर्म
दलितों ने फेंकी देवी-देवताओं
जब प्रदेश में बीएसपी की सरकार थी, तब कानून-व्यवस्था बिल्कुल दुरुस्त रहती थी। लेकिन आज बढ़ते अपराधों और दलितों पर हो रहे जुल्मों पर कोई लगाम नहीं है।'
यह पूछे जाने पर कि अब वे किस धर्म को अपनाएंगे, कमलेश ने कहा, 'अभी हमने यह तय नहीं किया है कि कौन सा धर्म अपनाएंगे। हम अपने अध्यक्ष लल्ला बाबू के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। हम उनके फैसले को मानेंगे।'

बीफ बैन के खिलाफ केरल यूथ कांग्रेस ने सरेआम काटी गाय, बीजेपी प्रवक्ता ने शेयर किया वीडियो

View image on Twitter

TOC NEWS
पिछले साल मार्च में महाराष्‍ट्र सरकार ने बीफ बैन लगाया था। इसका काफी विरोध भी हुआ था।

केंद्र सरकार द्वारा वध के लिए पशुओं की बिक्री पर प्रतिबंध का खासा विरोध हो रहा है। इनमें सबसे मुखर प्रदर्शन केरल में किया जा रहा है। जहां की सरकार ने केंद्र के इस कदम को ‘फासीवादी और संघीय ढांचे के खिलाफ’ बताया है। कांग्रेस के कई नेताओं ने भी इस फैसले की जमकर आलोचना की है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी की दिल्‍ली इकाई के प्रवक्‍ता तेजंदिर पाल सिंह बग्गा ने शनिवार शाम को ट्विटर पर एक वीडियो जारी किया, जो उनके हिसाब से यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं जिन्‍होंने नरेंद्र मोदी सरकार के इस फैसले के विरोध में सरेआम ‘गाय’ की हत्‍या की। 

वीडियो में दिख रहा है कि कुछ सफेदपोश लोग ‘यूथ कांग्रेस जिंदाबाद’ के नारे लगाते हुए जानवर के टुकड़े-टुकड़े कर रहे हैं। नारेबाजी होती रहती है, घटनास्‍थल पर अच्‍छी-खासी भीड़ है और कुछ लोग पूरी घटना को मोबाइल में रिकॉर्ड करते दिख रहे हैं। बग्‍गा का दावा है कि ”कांग्रेस ने खाली ये गाय नही काटी बल्कि 100 करोड़ हिन्दुओ को चुनौती दी है । 100 करोड़ हिन्दुओ की को भावनाओ को भड़काने के काम किया है।”

इसके बाद एक दूसरे ट्वीट में लिखा गया कि घोड़े की टांग टूटने पर राजनीति करने वालों गाय को मार दिया। केरल में कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए की सरकार है। केरल सरकार पहले ही साफ कर चुकी है की पशुओ की बिक्री रोक को लेकर जारी किसी भी नोटिफिकेशन को वो नहीं मानेंगे। 

सिलसिलेवार ट्वीट में सीएम अॉफिस की ओर से कहा गया, इस नए नियम से लाखों नौकरियां चली जाएंगी और चमड़ा व्यापार खत्म हो जाएगा। उन्होंने इस नोटिफिकेशन को गरीब, दलित और किसानों पर हमला बताया है। गोवध पर रोक से लाखों लोगों के खाने की खपत पर असर पड़ेगा। यह देश की बहुलता पर हमला है। अब इसके बाद ये वीडियो ट्वीटर पर विवाद का नया कारण बनता दिख रहा है।

डीएम ने राहुल के आगे हाथ जोड़े, लौटने को कहा, राहुल गांधी प्रशासन की तमाम रोक के बाद सहारनपुर पहुंचे और पीड़ित परिवारों से मुलाकात की


TOC NEWS

Image result for डीएम ने राहुल के आगे हाथ जोड़े, लौटने को कहा, राहुल गांधी प्रशासन की तमाम रोक के बाद सहारनपुर पहुंचे और पीड़ित परिवारों से मुलाकात की
शाहजहांपुर चैकपोस्ट पर राहुल गांधी के आगे हाथ जोड़ते डीएम।

सहारनपुर। शब्बीरपुर बवाल के बाद मचे सियासी तूफान के बीच शनिवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी प्रशासन की तमाम रोक के बाद सहारनपुर पहुंचे और पीड़ित परिवारों से मुलाकात की। हरियाणा की सीमा पर रोके जाने के बाद करीब एक किलोमीटर पैदल चलकर वे शाहजहांपुर पुलिस चौकी से पहले स्थित ढाबे पर पहुंचे। वहां पीड़ितों को निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन देने के बाद सांसद राहुल गांधी बोले, भाजपा की सरकार में देशभर में दलितों पर अत्याचार हो रहा है। गरीबों को डराया और दबाया जा रहा है।

शब्बीरपुर कांड प्रदेश की योगी सरकार के कानून व्यवस्था की पोल खोल रही है। भाजपा की नफरत की राजनीति के चलते सांप्रदायिक और जातीय हिंसा हो रही है। राहुल गांधी को वापस भेजने के लिए उनके पास पहुंचे जिलाधिकारी और एसएसपी उनके सामने हाथ जोड़ते रहे। हालांकि प्रशासन के समझाने और निष्पक्ष कार्रवाई के वायदे के बाद राहुल वापस जाने को राजी हो गए। इस दौरान करीब छह घंटे तब अंबाला-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग पुलिस के कब्जे में रहा।

शाहजहांपुर के पंजाब-हिमाचल ढाबे पर पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पहले प्रदेश की योगी और बाद में केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, मैं शब्बीरपुर में जाकर पीड़ितों से मिलना चाहता था, मगर मुझे उत्तर प्रदेश में जाने से रोका गया। प्रदेश में कानून व्यवस्था को मुद्दा बनाकर सत्ता में आई भाजपा की सरकार अपने शुरुआती कार्यकाल में विफल हो चुकी है। 

यहां गरीबों और दलितों को डराया-धमकाया जाता है। देश जैसा यह लोग चला रहे हैं वैसे नहीं चलता है। सहारनपुर जैसा हाल ही पूरे देश में दिखाई दे रहा है। उन्होंने शब्बीरपुर बवाल में पीड़ितों को न्याय और उचित मुआवजे की मांग भी उठाई। इसके बाद केन्द्र की मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा, जम्मू कश्मीर में अशांति कराकर पाकिस्तान को फायदा पहुंचाया जा रहा है।

जम्मू कश्मीर जल रहा है और मोदी सरकार देशद्रोही ताकतों को फूट होल्ड दे रही है। जम्मू में शांति से देश को फायदा होता है। सरकार के तीन साल पूरे होने पर एक भी वायदा पूर नहीं करने का आरोप लगाया और कहा, चुनाव में उन्होंने प्रतिवर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वाद किया था। मगर, तीन साल में एक भी रोजगार नहीं दिया गया। इससे पहले राहुल गांधी को सहारनपुर आने से रोकने के लिए गृह सचिव एमपी मिश्र और एडीजी लॉ एंड आर्डर आदित्य मिश्र के नेतृत्व में पूरा प्रशासनिक-पुलिस का अमला सुबह से डटा रहा।

करीब सवा दो बजे राहुल गांधी यमुना नगर से होते हुए सहारनपुर की सीमा पर पहुंचे। वहां बैरिकेडिंग देखकर राहुल गांधी गाड़ी से उतर गए और करीब एक किलोमीटर पैदल चलकर ढाबे पर पहुंचे। वहां पहले से मौजूद पीड़ित परिवारों से बातचीत की। इसके बाद डीएम प्रमोद कुमार पांडेय और एसएसपी बबलू कुमार ने हाथ जोड़कर उनसे वापस लौट जाने को कहा। 

इसके बाद राहुल गांधी ने उन पर कई सवाल भी दागे। हालांकि निष्पक्ष कार्रवाई और कानून व्यवस्था को बनाए रखने के आश्वासन पर राहुल गांधी लौट गए। इस दौरान उनके साथ गुलाब नबी आजाद, पीएल पुनिया, राजबब्बर, भगवती चौधरी, इमरान मसूद सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

जंगल में सरेआम 2 लड़कियों से हुई छेड़छाड़, मनचलों ने ने पकड़ लिया है और उसके साथ



TOC NEWS // 28 May. 2017 

रामपुर: उत्तरप्रदेश की सत्ता में आते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं की सुरक्षा को सबसे पहले प्राथमिकता देते हुए एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन किया था। शुरुआत में तो योगी का ये स्क्वॉड काफी असरदार साबित हुआ था। लेकिन अब धीरे-धीरे प्रदेश के मनचले इस दल की धज्जियां उड़ाते जा रहे हैं।

दरसअल, यूपी के रामपुर से छेड़खानी का बेहद ही सनसनीखेज वीडियो सामने आया है। रामपुर के टांडा थाने के कुंखाखेड़ा गांव में कुछ मनचलों ने जंगल में 2 लड़कियों को पकड़ लिया और उसके बाद उनके साथ जो हरकतें की वो आप इस वीडियो में देख सकते हैं। जंगल से जा रही इन लड़कियों को कुछ मनचलों ने पकड़ लिया और उसके बाद दोनों लड़कियों के साथ छेड़खानी करने लगे। वीडियो देखने के बाद ये लग रहा है कि इन लड़कियों के साथ एक लड़का भी है जिसे इन मनचलों ने पकड़ लिया है और उसके साथ मारपीट कर रहे हैं।

इस दौरान लड़कियां मनचलों को हर तरह की दुहाई देती रही कि वो उन्हें छोड़ दें लेकिन मनचलों पर लड़कियों की बात का कोई असर नहीं हुआ। इस दौरान लड़कों ने लड़कियों के शरीर के हर अंग को छुआ। यहां तक कि उनके सिर से दुपट्टा भी खींच दिया और लड़की को गोद में भी उठा लिया। इतना ही नहीं इस पूरी घटना का लड़कों ने वीडियो भी बना लिया। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि लड़कों ने लड़कियों के साथ सभी हदों को पार कर दिया।

ये घटना 26 मई की बताई जा रही है। इस वीडियो के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है और एक आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है। लेकिन हैरानी वाली बात ये है कि वी़डियो होने के बाद भी और 2 दिन बीत जाने के बाद पुलिस के हाथों बाकी आरोपी नहीं चड़ पाए हैं।

CBSE 12th Results: 99.6% के साथ नोएडा की रक्षा गोपाल ने किया टॉप, देखिए उनकी मार्कशीट

Image result for CBSE 12th Results: 99.6% के साथ नोएडा की रक्षा गोपाल ने किया टॉप, देखिए उनकी मार्कशीट

TOC NEWS //  28 May. 2017 12:12

सीबीएसई के दिल्ली रीजन में सबसे ज्यादा 2,58,321 छात्र थे। इसके बाद पंचकुला और अजमेर का नंबर था।

नई दिल्‍ली। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 12वीं का रिजल्‍ट जारी कर दिया है। नोएडा की रक्षा गोपाल ने 99.6 प्रतिशत अंकों के साथ पूरे देश में टॉप किया है। ऑल इंडिया टॉपर ने इस बेहतरीन परफॉर्मेंस का श्रेय अपने पेरेंट्स और टीचर को दिया है।

CBSE 12th Results: 99.6% के साथ नोएडा की रक्षा गोपाल ने किया टॉप, देखिए उनकी मार्कशीट

वहीं दूसरे नंबर पर आदित्‍य जैन है जिनको 99.4 फीसदी नंबर मिले हैं। तीसरे नंबर पर आदित्‍य जैन हैं जिनको 99.2 फसदी अंक मिले हैं। भूमि सावंत और आदित्‍य जैन दोनों चंडीगढ़ के हैं। आपको बता दें कि इस साल 9 मार्च से 29 अप्रैल तक आयोजित बोर्ड परीक्षा में 10,98,891 छात्र बैठे थे।

सीबीएसई के दिल्ली रीजन में सबसे ज्यादा 2,58,321 छात्र थे। इसके बाद पंचकुला और अजमेर का नंबर था। इस साल 2 हजार 497 ऐसे छात्रों ने भी परीक्षा दी थी जो शारीरिक रूप से अक्षम हैं। ग्रेस मार्क्स पर मंगलवार को आए दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीएसई बोर्ड ने मॉडरेशन पॉलिसी का पालन करते हुए नतीजों की घोषणा की है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है रक्षा की मार्कशीट
रक्षा गोपाल की मार्कशीट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। रक्षा को इंग्लिश, पॉलिटिकल साइंस और इकोनॉमिक्स में 100 प्रतिशत अंक मिले हैं जबकि हिस्ट्री और साइकोलॉजी में 99 प्रतिशत अंक मिले। इन्हें सभी सब्जेक्ट में ए1 ग्रेड मिला है।

CBSE 12th Results: रक्षा गोपाल ने किया टॉप, देखिए मार्कशीट

CBSE 12th Results: रक्षा गोपाल ने किया टॉप, देखिए मार्कशीट

बिजली के बिल बकाया पर किसानों की सम्पत्ति जब्त सोम डिस्लरी पर सरकार मेहरबान


Image result for बिजली के बिल बकाया पर किसानों की संपत्ति


TOC NEWS // अवधेश पुरोहित

भोपाल। वर्षों पहले सोम डिस्टलरी के सेहतगंज स्थित परिसर में आयोजित एक समारोह में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा अपने उद्बोधन में यह कहकर सबको चौंका दिया था कि अरोरा बंधुओं की तिजोरी पर लक्ष्मी मैया की कृपा बनी रहे …. ?

सोम डिस्टलरी के कार्यक्रम में इस तरह का उद्बोधन किया गया था तो राजनीति में तरह-तरह की चर्चाएं चली थीं लेकिन उस दिन से लेकर आज तक प्रदेश की सत्ता पर चाहे कांग्रेस रही हो या भाजपा ऐसा नहीं लगता कि सोम डिस्टलरी के प्रबंधक अरोरा बंधुओं पर सरकार की कृपा नहीं रही हो, पता नहीं यह कृपा लक्ष्मी देवी की अरोरा बंधुओं की तिजोरी के कारण है या कोई अन्य कारण, जो भी हो लेकिन चाहे सरकार कांग्रेस की रही हो या भाजपा की हर सरकार हमेशा अरोरा बंधुओं पर मेहरबान रहती है।
इसका जीता जागता उदाहरण है सोम डिस्टलरी को हर तरह से मदद पहुंचाना फिर चाहे वह एमपीएसआईडीसी के कर्ज की वसूली का मामला हो या फिर देशी शराब की बकाया वसूली का मामला हो या फिर मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल की बकाया राशि का मामला, यही नहीं तत्कालीन मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के समय तो सोम के द्वारा १२० करोड़ से ज्यादा चेक और ड्राफ्ट का संदिग्ध मामला भी हो, ऐसे एक नहीं अनेकों मामले सोम को लेकर हैं लेकिन फिर भी सरकार सोम पर सरकार तो मेहरबान है ही।
सोम डिस्टलरी द्वारा बेतवा प्रदूषण को लेकर उठे हंगामे के बाद विधानसभा की याचिका समिति द्वारा आये दो प्रतिवेदन भी इस बात को उजागर करते हैं कि अब तो कार्यपालिका ही नहीं विधायिका भी सोम की खनक के आगे प्रभावित होती नजर आ रही है। याचिका समिति के ३०वां प्रतिवेदन भाग-दो जो एक मई १९९८ को विधानसभा में प्रस्तुत किया गया था उसके अनुसार सोम के संचालकों द्वारा अपने राजनैतिक प्रभाव के चलते सोम डिस्टलरी के प्रबंधन में तमाम मनमानी पाई गई तो वहीं उसी विधानसभा की याचिका समिति के ४२वाँ प्रतिवेदन जो कि दस जुलाई २०१३ को विधानसभा में प्रस्तुत किया गया उसके अनुसार सोम को पाक-साफ घोषित कर दिया गया, इन दोनों याचिका समिति की रिर्पोटों को लेकर यह चर्चा आम है कि सच्ची रिपोर्ट कौन और झूठी रिपोर्ट कौन?
इस प्रश्न की खोज में हर कोई लगा हुआ है। खैर, यह विधायिका से जुड़े लोग जानें कि इस ४२वें प्रतिवेदन की रिपोर्ट में की गई सिफारिशें कितनी सही हैं और कितनी गलत इसका परीक्षण करने में लोग लगे हुए हैं और समय आने पर न्यायालय की शरण में तो जााएंगे ही तो वहीं ग्रीन ट्रिब्यूनल के साथ-साथ विधानसभा की याचिका समिति में वह तथ्य रखने की तैयारी में लोग लगे हुए हैं जिनके माध्यम से ४२वें प्रतिवेदन की सिफारिशों और अनुशंसाओं पर पुन: विचार करने का निवेदन किया जाएगा।
तो वहीं एक ओर जहां सतना सहित प्रदेश के तमाम बिजली के बकायादार किसानों की सरकार सम्पत्ति जब्त करने की तैयारी कर रही है तो वहीं सोम डिस्टलरी जिस पर कांग्रेस विधायक डॉ. गोविंदसिंह के तारंाकित प्रश्न क्रमांक २८३२ के अनुसार लाखों रुपया बकाया होने की बात सरकार द्वारा अपने १९ मार्च २०१५ को दिये गये जवाब में स्वीकार किया कि सोम डिस्टलरी पर बिजली बिल की बकाया राशि जमा न करने के कारण ४९.९२ लाख रुपये बकाया हैं और इसके भुगतान की वसूली का मामला न्यायालय में विचाराधीन है पता नहीं सरकार के इस तरह के जवाब के बाद और कितनी राशि सोम डिस्टलरी पर बकाया होगी, लेकिन सवाल यह उठता है कि सोम डिस्टलरी जैसे बकायादारों पर इस तरह की वसूली के मामले में हीला हवाली क्यों की जाती है तो वहीं प्रदेश के उन अन्नदाताओं जिस पर हजारों रुपये बिजली का बिल बकाया होता है उनकी सम्पत्ति जब्त किये जाने की कार्यवहाी की जाती है, सरकार की इस तरह की नीति को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त हैं।
सवाल यह भी उठता है कि एक ओर जहां सतना में विद्युत विभाग द्वारा वहां के जिले के किसानों जिन पर हजारों रुपए की बकाया बिजली राशि बाकी है उनकी सम्पत्ति को जब्त किए जाने की कार्यवाही क्यों की जा रही है। पिछले दिनों सतना के रामनगर डीसी क्षेत्र के विद्युत बकायादार रामधार पटेल जिन पर विद्युत विभाग की बकाया राशि ९६०० रुपये थी तो उसकी वसूली के लिये दो पहिया वाहन जब्त किये गये, ऐसा ही मामला उसी जिले के बिजौरा के रामराजा पटैल का भी है जिन पर ७३०० रुपए बकाया थे तो उनके दो पहिया वाहन जब्त किए गए इसी प्रकार बिजली बकाया के कर्जधार राजभान पटेल जिन पर १५८०० रुपये बकाया थे उनकी बाइक जब्त की गई।
इसी प्रकार ग्राम मड़कारा के बकायादारा किसान राम शिरोमणि पटेल पर १०८९१ रुपये बकाया होने पर उनका स्कूटर व शिवप्रसाद पटेल से १३०० रुपये की सूलने व दो नग पंखे जब्त किये गये वहीं अमरपाटन डीसी के अंतर्गत आने वाले ग्राम मोहोरिया में बकायादार मनीष यादव जिन पर २१००० के पम्प व दो पहिया वाहन व मझला साकेत से १५५०० रुपये के लिये टीवी व पंखा इसी प्रकार कोदूलाल चौधरी जिन पर साढ़े ११ हजार बकाया थे उनकी साइकिल व घरेलू सामान, शिवधारी चौधरी से ५३०० की साइकिल व राजराम साकेत से २३०० रुपये के दो पंखे कुर्क किये गये।
सरकार की इस तरह की दोहरी नीति को लेकर यह चर्चा जोरों पर है कि आखिर सरकार उद्योगपतियों, अन्नदाताओं में फर्क क्यों नहीं समझता और ऐसे उद्योगपति अपनी स्थापना से लेकर आज तक सरकार को विभिन्न मामलों में करोड़ों रुपये का कर्ज ले चुके हैं और उनसे वसूली के लिये उससे जुड़े अधिकारियों द्वारा जिस तरह की हीलाहवाली बरती जा रही है उसको लेकर भी तमाम सवाल उठते हैं और लोग यहां तक कहते नजर आते हैं कि भजकलदारम् की खनक के चलते आखिर सोम जैसे कारोबारी से जो कि अपने कारोबार से क्षेत्र ही नहीं बल्कि बेतवा को प्रदूषित करने में लगा हुआ है तो वहीं करोड़ों रुपये की राशि बैंकों से कर्ज ले रखी है और उसकी ठीक से आज भी अदायगी नहीं हो पा रही है, तो वहीं इसी प्रदेश में भाजपा के शासन के चलते विद्युत की बकाया राशि होने पर कई किसानों को जेल तक जाना पड़ा। आखिर, यह दोहरी नीति से सोम जैसे कारोबारियो को सरकार कब तक उपकृत करती रहेगी और किसानों की छोटी राशि होने के बाद उनका घर गृहस्थी का सामान और वाहन जब्त कराती रहेगी?

"शिव". राज में रेत माफिया इतने बेखोफ ? जवान की वर्दी फाड़ ट्रैक्टर छुड़ा ले गए...


Image result for जवान की वर्दी फाड़ ट्रैक्टर छुड़ा ले गए...

TOC NEWS

खरगोन. एमपी में सीएम शिवराज सिंह  ओर रेत उत्खनन माफिया के बीच "जीत किसकी होगी"का खेल चल रहा है। इसलिए तो शिवराज की  नर्मदा से किसी भी प्रकार का उत्खनन करने पर प्रतिबन्ध की घोषणा के वाद रेत माफिया ने फिर एक पुलिस जवान की वर्दी फाड़ने का दुस्साहस किया है। 

मध्य प्रदेश में नर्मदा से रेत का उत्खनन जहाँ सरकार के लिए सिरदर्द बना हुआ है वहीं रेत माफिया के भी हौसले बुलंद हैं| और यह सब खनिज सिंडिकेट के बिना ग्रीन सिग्नल के संभव नहीं है। इसलिए तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रदेश के कलेक्टरों को दिए निर्देशों के बाद भी रेत माफियाओं द्वारा छोटी नदियों से रेत उलीचने का काम जोरों पर किया जा रहा है| 

मध्यप्रदेश के खरगोन जिले के कुंदा में खनन की कार्रवाई पर माफिया की होमगॉर्ड के जवान से झड़प भी हो गई| धक्का-मुक्की में जवान की वर्दी भी फट गई और माफिया के लोगों ने रेत से भरे ट्रेक्टर-ट्राली छुड़ाकर ले गए| पुलिस के अनुसार  होमगार्ड जवान श्रीकृष्ण चौहान ने बड़घाटेश्वर मंदिर के पास से एक ट्रैक्टर पकड़ा। वो इसे लेकर कोतवाली थाने आ रहा था, तभी पोस्ट ऑफिस चौराहा पर घटना हुई। 

Image result for जवान की वर्दी फाड़ ट्रैक्टर छुड़ा ले गए...
पीड़ित होमगार्ड चौहान का कहना है दांगी मोहल्ला निवासी अज्जू दांगी बाइक लेकर ट्रैक्टर के सामने खड़ा हो गया। उसने मुझे ट्रैक्टर से नीचे उतरने को कहा। मना किया तो झूमाझटकी की। वर्दी फट गई। बटन टूट गए और कंधे में चोट आई। कोतवाली थाने में शासकीय कार्य में बाधा की शिकायत की है।

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news