Times of Crime Bhopal

Times of Crime Bhopal

C

C

Wednesday, September 20, 2017

केपिंयन स्कूल के प्राचार्य व फादर अल्फोंस तिर्की के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

TOC News
भोपाल। पालकों के साथ धोखाधड़ी के मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रकाश डामोर की अदालत ने भौंरी बैरागढ़ स्थित केपिंयन स्कूल के प्राचार्य व फादर अल्फोंस तिर्की के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। आवेदक अधिवक्ता संतोश शर्मा ने गोपाल मुखरैया और नीतेश लाल ने अपने बच्चों का एडमीशन अभियुक्तगणों के स्कूल में कराया था। उस समय उनको बताया गया कि स्कूल को सीबीएसई की मान्यता प्राप्त है। स्कूल प्रबंधन की ओर से उनके बच्चों को प्रदान की गई डायरी में भी स्कूल के सीबीएसई पैटर्न से संचालित होने संभीधी जानकारी प्रिंट है। इस पर भरोसा करते हुए ही उन्होंने अपने बच्चों का प्रवेश स्कूल में कराया था। वषज़् 2012 में स्कूल प्रबंधन ने अचानक बहुत ज्यादा फ ीस वृद्धि कर दी जिसपर से आवेदकों ने जिला शिक्षा अधिकारी को शिकायत की। जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा जब मामले की जांच कराई गई तो यह बात सामने आई कि स्कूल सीबीएसई (केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड)से मान्यता प्राप्त नही है।

लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की हत्या -पत्रकार फरीद शेख के विरुद्ध दर्ज एफआईआर से पत्रकारों नाराज

TOC NEWS
ज्ञापन सौंप एसपी से की निष्पक्ष जांच की मांग

खरगोन। दो माह पहले ही पदस्थ हुई सीएमएचओ डॉ. वंदना खरे द्वारा पत्रकार फरीद शेख और एक अन्य पत्रकार के खिलाफ दर्ज की गई पुलिस रिपोर्ट को लेकर तरह-तरह के सवाल खडे होने लगे है। स्थानीय प्रेस क्लब ने यहां तक ऐलान किया कि सही जांच कर पुलिस रिपोर्ट वापस नहीं ली जाती है तो शासकीय खबरों का बहिष्कार कर सांकेतिक धरना देकर क्रमिक हड़ताल की जाएगी। उल्लेखनीय है कि 19 सिंतबर को इलेक्ट्रानिक मीडिया के संवाददाता फरीद शेख स्वास्थ्य सेवाओं जैसे गंभीर मसले को लेकर उनकी बाईट ले रहे थे। 

इसी दौरान आक्रोशित सीएमएचओ डॉ. वंदना खरे ने उनके खिलाफ अभद्रता का आरोप लगाते हुए प्रकरण दर्ज करवा दिया। इस गंभीर मुद्दे पर पत्रकारों का आरोप है कि केवल एक पक्ष की सुनवाई कर अधिमान्य पत्रकार के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है इतना ही नहीं एससी/एसटी एक्ट के तहत संबंधित पत्रकार के खिलाफ कार्रवाई की गई। पुलिस प्रशासन द्वारा की गई एकतरफा कार्रवाई से उद्वेलित होकर आक्रोशित पत्रकारों ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप मामले की गंभीरता को देखते हुए निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग की गई है। स्थानीय पुलिस द्वारा शासन के अधिमान्य पत्रकार होने की अवहेलना करते हुए एकतरफा कार्रवाई की गई। 

पुलिस उप महानिरीक्षक कर सकते है जांच के बाद कार्रवाई 
इलेक्ट्रानिक मीडिया से ताल्लुक रखने वाले फरीद शेख के खिलाफ अधिमान्य पत्रकार होने की नियमों की अनदेखी कर स्थानीय पुलिस द्वारा पूर्णरूप से उपेक्षा की गई है। मप्र शासन, गृह मंत्रालय भोपाल द्वारा जारी पत्र क्रमांक एफ/12-34/2009/ बी-1 भोपाल दिनांक 6 जनवरी 2010 में उल्लेख किया गया है कि किसी भी पत्रकार के विरूद्ध प्रकरण दर्ज करने के पूर्व दंड प्रक्रिया सहिता की धारा 154 के तहत प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की जाए। अपराध पंजीयन के पूर्व प्रकरणों की निष्पक्ष जांच पुलिस अधीक्षक अथवा पुलिस उप महानिरीक्षक द्वारा की जाए। लेकिन स्थानीय पुलिस द्वारा तमाम नियमों की अनदेखी कर सीएमएचओ पद पर पदस्थ डॉ. वंदना खरे द्वारा दुर्भावनावश की गई रिपोर्ट पर एकतरफा कार्रवाई की गई है। देखा जाएं तो प्रदेश सहित समूचे देशभर में पत्रकारों के खिलाफ अत्याचार के मामले तेजी से बढ़ रहे है। हाल ही के दिनों में बैंगलोर की प्रसिद्ध राष्ट्रीय स्तर की प्रतिभावान पत्रकार गौरी लंकेश की गोली मारकर हत्या कर दी गई। 

प्रभारी मंत्री ने भी किया समर्थन 
जिला योजना समिति की बैठक में शामिल होने आए प्रभारी मंत्री और शिक्षा मंत्री विजय शाह ने भी डॉ. वंदना खरे की बात का समर्थन कर पुलिस कार्रवाई का समर्थन किया जबकि विजय शाह ने एक पक्ष की बात ध्यान में रखकर इस बात का समर्थन किया है। प्रभारी मंत्री पद पर बैठे विजय शाह को इतना ज्ञान नहीं था कि  अधिमान्य पत्रकार के खिलाफ जब तक कार्रवाई नहीं हो सकती जब तक पुलिस उप महानिरीक्षक, एसपी स्तर के अधिकारी जब तक निष्पक्ष जांच नहीं कर लेते अधिमान्य पत्रकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की जा सकती। 

पत्रकारो ने दी चेतावनी 
पत्रकार शेख के खिलाफ की गई उक्त कार्रवाई को लेकर जिलेभर के पत्रकारों में रोष व्याप्त है। पत्रकारों ने ज्ञापन सौपते हुए एकतरफा की गई कार्रवाई को वापस लिए जाने की मांग की है। स्थानीय प्रेसक्लब द्वारा साफतौर पर कहा गया है कि यदि शासन स्तर पर पत्रकारों के खिलाफ इसी प्रकार की कार्रवाई होती रही तो जिला प्रशासन की खबरों का बहिष्कार किया जाएगा यहां तक कि क्रमिक हडताल की चेतावनी दी गई है। 

उक्त समूचे मामले में जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया के नितेष गोस्वामी, प्रवीण पाल, शशिकांत शर्मा, यादवेन्द्रसिंह, आशुतोष पुरोहित, सुनील शर्मा, ममताराम पाटूद, हेमंत जाट, नरेन्द्र भटोरे, ओमप्रकाश रामणेकर, तेजकुमार बर्वे, राकेश जायसवाल, सदाशिव वर्मा, पूर्णा ठाकुर, संजय पाराशर, मुकेश ठक्कर, हबीब आजाद खान, प्रदीप पाराशर,चन्द्रशेखर कर्मा ,राजु यादव, आसिफ खान, ब्रजेश राठौड, विशाल छटिये, अश्विन गोस्वामी, करणसिंह चौहान, सुरेश चंदेल, संदीप ठक्कर, तरूण सोनी, उमेश रेवलिया, राजेन्द्र गुप्ता, मनीष मंडाहर, नीरज भावसार, आवेश परसाई, अजय तिवारी, कांतिलाल कर्मा, रोहित भावसार, शुभम बगलाने, शकील खान, साजिद खान, विष्णुप्रसाद वाघे, त्रिलोक रामणेकर, रियाजुदीन शेख, अबरार शेख, नाजीम शेख, विजय कोचले आदि पत्रकारों ने एडीशनल एसपी अंतरसिंह कनेश का ज्ञापन सौंपकर उचित कार्रवाई की मांग की। 

पत्रकारों ने इस विषय पर भी एएसपी का ध्यान आकृष्ट कराया कि कलेक्टे्रट परिसर और विवेकानंद सभागृह के बाहर लगे सीसीटीवी केमरे और बाईट लेने के दौरान फरीद शेख द्वारा बनाये गए विडियो की जाच कर करवाई की जाये एवं जो एससीएसटी एक्ट की धाराये लगाई गई है उन्हें हटाया जाये। एएसपी ने पत्रकारों का पक्ष गंभीरता से सुनने के बाद उन्हें आश्वस्त किया कि जांच कर धाराएं हटाने का प्रयास किया जाएगा।


अभी अभी: नेपाल से पकड़ी गई बाबा की लाडली ‘हनीप्रीत, पूर्व बॉयफ्रेंड के घर…!

TOC NEWS

रेप केस में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत नेपाल में इटहरी के पास स्थित धरान इलाके में देखी गई है. सूत्रों से मिली इस जानकारी में साथ ही बताया गया है कि वह तराई के सुनसरी जिले में छुपी हो सकती है.

अभी अभी: नेपाल से पकड़ी गई बाबा की लाडली ‘हनीप्रीत, पूर्व बॉयफ्रेंड के घर…!


दरअसल साल 2015 में जब भूकंप के चलते नेपाल में भारी तबाही हुई थी, तब राम रहीम ने यहां के नुआटोल जिले में राहत अभियान चलाया था. इस इलाके में राम रहीम के काफी भक्त भी हैं. ऐसे में नेपाल के आस-पास के इन‌ इलाकों में हनीप्रीत के होने की खबर को बल मिलता है.

राम रहीम की हमराज है हनीप्रीत

इससे पहले हनीप्रीत की सहेली साध्वी ने आजतक’ से बातचीत में बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया है, जिससे पता चलता है कि हनीप्रीत भी राम रहीम के गुनाहों में बराबर की शरीक थी. साध्वी ने बताया है कि बाबा और हनीप्रीत पति-पत्नी की तरह रहते थे.

डेरे में हनीप्रीत की सहेली (साध्वी) ने खुलासा किया कि राम रहीम और हनीप्रीत के बीच गलत रिश्ते थे. साध्वी ने बताया, ‘डेरे में राम रहीम और हनीप्रीत पति-पत्नी की तरह रहते थे. दोनों एक ही कमरे में रहते थे. बाहर जाने पर भी दोनों एक ही कमरे में ठहरते थे’.

डेरे में लड़कियां पहुंचाती थी हनीप्रीत

साध्वी ने खुलासा किया कि हनीप्रीत कहने में बाबा की मुंहबोली बेटी थी, मगर देखने में ऐसा नहीं लगता था. यही नहीं, साध्वी ने ‘आजतक’ से बताया, ‘हनीप्रीत राम रहीम के इशारे पर काम करती थी. डेरे में मौजूद लड़कियों को राम रहीम तक पहुंचाने का काम करती थी’. साध्वी ने कहा, ‘बाबा जिस लड़की की ओर इशारे करते थे, हनीप्रीत उसे बाबा तक पहुंचाने में जुट जाती थी’.

राम रहीम के करीबी ने किया था खुलासा

हरियाणा पुलिस राम रहीम के जेल जाने के बाद उसकी चहेती हनीप्रीत को शिद्दत से तलाश कर रही है. पुलिस को पहले ही शक था कि हनीप्रीत नेपाल भाग गई है. वहीं पुलिस की गिरफ्त में आए राम रहीम के करीबी प्रदीप ने भी पूछताछ में खुलासा किया था कि हनीप्रीत नेपाल भाग गई है.

बिहार के 7 जिलों में अलर्ट पर पुलिस

इससे पहले हरियाणा पुलिस का मानना था कि वह नेपाल भागने की फिराक में तो है, लेकिन अभी सीमा पार नहीं कर पाई. इसलिए हरियाणा पुलिस ने इसे लकेर बिहार पुलिस को भी अलर्ट किया था, जिसके बाद नेपाल से सटे बिहार के 7 जिलों में पुलिस की सतर्कता बढ़ा दी गई.

हरियाणा पुलिस से मिली जानकारी के बाद पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, सुपौल, सीतामढ़ी, अररिया और किशनगंज पुलिस की कश्ती और निगरानी बढ़ाई गई है. नेपाल के साथ खुला बॉर्डर होने की वजह से जो भी गाड़ियां भारत की तरफ से नेपाल में घुस रही हैं, उनकी गहन छानबीन की जा रही है.

जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया "JAI" में श्री अशोक सोनी प्रांतीय सचिव बने


TOC NEWS
भोपाल। पत्रकार संगठन *जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया "JAI" मध्य प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष श्री विनय जी डेविड ने संगठन का विस्तार करते हुए मध्यप्रदेश प्रांतीय इकाई में श्री अशोक सोनी बुरहानपुर को प्रांतीय सचिव पद पर नियुक्त किया है। श्री डेविड में अशोक सोनी जी को शुभकामनाएं दी। साथ ही बुरहानपुर जिले का प्रभारी बनाया है श्री सोनी बुरहानपुर जिले में संगठन की सदस्यता शुरु कर पत्रकार साथियों को जोड़कर जिला इकाई का विस्तार एवं सभी तहसील में इकाई का गठन करेगें। श्री सोनी पत्रकारिता जगत में तीन दशक से अपनी सेवाएं टीवी चैनल एवं समाचार पत्रों में देते आए हैं पत्रकारों के हितों में इनका योगदान सराहनीय है।

*श्री अशोक सोनी जी* को *प्रांतीय सचिव* बनाए जाने पर *जय* परिवार की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं एवं बधाई*

संगठन से जुड़ने के लिए बुरहानपुर जिले के इच्छुक पत्रकार साथी श्री अशोक सोनीजी संपर्क कर सदस्यता को प्राप्त कर सकते हैं
संपर्क ~ 09424526100
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
आपका
विनय जी डेविड
9893221036
प्रांतीय अध्यक्ष "जय"
*जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया "JAI"
मध्य प्रदेश

अधिकारियों के रिश्तेदारों के खाते में भी लाखों जमा कर देती थी मनोरमा

TOC NEWS

भागलपुर. सृजन की संस्थापक मनोरमा देवी अधिकारियों और कर्मियों को तो मालामाल करती ही थी उनके रिश्तेदारों के खाते में भी लाखों रुपये जमा करा देती थी। जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार के घर दबिश के दौरान एसआइटी को इस बात की जानकारी मिली।

अरुण ने भी खुद इस बात को एसआइटी के समक्ष कबूल किया कि उसके बेटे और बहू के खाते में भी लाखों रुपये डाले गए हैं।

समय-समय पर किए करोड़ों ट्रांसफर:

मनोरमा देवी सृजन घोटाले में सहयोग करने वाले अधिकारियों और कर्मियों के पत्नियों और रिश्तेदारों का भी खाता नंबर अपने पास रखती थी। जब-जब विभिन्न विभागों के आवंटन का चेक सृजन के खाते में ट्रांसफर होता था तब-तब मनोरमा उपहार स्वरूप अधिकारियों को चार से पांच प्रतिशत तक कमीशन देती थी। इसके अलावा उनके व उनके रिश्तेदारों के खाते में लाखों रुपये जमा करवा देती थी। उन्होंने इंदू गुप्ता के विभिन्न बैंक खातों में करोड़ों रुपये जमा कराए थे। घोटाले में नाम आने पर एसआइटी ने बंधन बैंक में इंदू गुप्ता के डेढ़ करोड़ रुपये फ्रीज कराए दिए हैं।

जेवर खरीदने के लिए दिए पैसे:

कल्याण पदाधिकारी ने एसआइटी के समक्ष कबूल किया कि वर्ष 2016 में मनोरमा देवी ने उन्हें व उनकी बहू रोशनी को जेवर खरीदने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा धानगदरा, गुजरात की शाखा में रुपये हस्तांतरित किए थे। जिसमें से बहू ने करीब दो लाख रुपये की ऑनलाइन शॉपिंग भी की थी। शेष रुपये खाते में सुरक्षित हैं।

वहीं, 2017 में करीब 75 लाख रुपये का चेक सरकारी खाते में जमा करने के बजाए सृजन के खाते में ट्रांसफर कर दिया। जिसके बाद मनोरमा ने कल्याण पदाधिकारी के छोटे पुत्र अविनाश कुमार के खाते में 19 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए।

पत्‍‌नी के नाम बनायी अकूत संपत्ति:

अरुण ने एसआइटी को बताया कि उसने मनोरमा के सहयोग से पत्‍‌नी के नाम से करोड़ों रुपये की संपत्ति बनाई है। डूडा साही कॉम्प्लेक्स बाकरगंज, पटना में एक दुकान करीब डेढ़ करोड़ रुपये की पत्‍‌नी के नाम से रजिस्ट्री कराई। दूसरी दुकान पत्‍‌नी को उपहार स्वरूप 75 लाख रुपये का डूडा साही कॉम्प्लेक्स में लिखवाया। शास्त्रीनगर पटना में तीन कट्ठा जमीन पत्‍‌नी के नाम से लिखवाया। इस जमीन की कीमत डेढ़ करोड़ से ज्यादा है। इसके लिए लाखों रुपये एडवांस भुगतान किए गए हैं।
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

TOC NEWS

TOC NEWS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

फोन नं. - 0755- 4078525,

98932 21036,08305703436

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 09009844445 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 0755- 4078525, 98932 21036, 09009844445

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





appointment times of crime

appointment times of crime

Followers

add tocn

add tocn
आवश्यकता है ‘‘टाइम्स ऑफ क्राइम’’ भारत के सर्वश्रेष्ठ निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण साप्ताहिक समाचार पत्र ‘‘टाइम्स ऑफ क्राइम’’ हेतु सम्पूर्ण भारत में नगर/ब्लाक/पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय प्रतिनिधियों/संवाददाताओं की आवश्यकता है जो अपने गृह नगर क्षेत्र में समाचार/विज्ञापन/प्रसार सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके। आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति। सम्पूर्ण विवरण योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के नवीनतम फोटोग्राफ सहित अधिकतम 25.07. 2013 तक डाक/कोरियर द्वारा आवेदन करें।

toc news

प्रतिनिधियों/संवाददाताओं की आवश्यकता है

review:


म.प्र., छ.ग.के समस्त नगर/ ब्लाक/ ग्राम पंचायत स्तर/ वार्ड में संवाददाता बनाना है


भारत के सर्वश्रेष्ठ निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण साप्ताहिक समाचार पत्र ‘‘टाइम्स ऑफ क्राइम’’ हेतु सम्पूर्ण भारत में नगर/ब्लाक/पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय प्रतिनिधियों/संवाददाताओं की आवश्यकता है जो अपने गृह नगर क्षेत्र में समाचार/विज्ञापन/प्रसार सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके। आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति। सम्पूर्ण विवरण योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के नवीनतम फोटोग्राफ सहित अधिकतम 30.10. 2016 तक डाक/कोरियर द्वारा आवेदन करें।




टाइम्स ऑफ क्राइम

23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, पे्रस काम्पलेक्स,

जोन-1, एम. पी. नगर भोपाल (म.प्र.) दूरभाष क्र.-0755-4078525

मोबाइल 098932 21036, 08305703436



आवेदन पत्र का प्रारूप


1. आवेदक का नाम...................................

2. आवेदित पद........................................

3. कार्य क्षेत्र...........................................

4. पिता/पति का नाम .................................

5. जाति, धर्म एवं राष्ट्रीयता...........................

6. जन्म तिथि .........................................

7. वर्तमान तथा स्थायी पता.............................

8. शैक्षणिक योग्यता..................................

9. पूर्व अनुभव(यदि कोई हो).........................

10. फोन/मोबाइल नं..................................

11.आवेदन के तिथि...................................


सहित हस्ताक्षर