Showing posts with label अजब गजब / अनोखी खबरें. Show all posts
Showing posts with label अजब गजब / अनोखी खबरें. Show all posts

Saturday, August 17, 2019

दुनिया का सबसे अमीर शख्स ये था, अंबानी की दौलत से ज्यादा सोना एक दिन में करता था दान !


ये था दुनिया का सबसे अमीर शख्स, अंबानी की दौलत से ज्यादा सोना एक दिन में करता था दान !
Third party image reference
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

दुनिया के सबसे अमीर राजा के बारे में आज हम आपको अवगत करवाएंगे, जिसके उपहारों ने एक देश की अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी थी। लेकिन उस शासक का खुद का देश अब आर्थिक संकट से लड़ रहा है। वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति जेफ बेजोस की संपत्ति 9028 अरब रुपये से भी ज्यादा है, लेकिन वह इस राजा के आसपास भी नहीं है। हम बात आकर रहे है 14वीं सदी में माली देश के राजा रहे मनसा मूसा की। मनसा मूसा इतिहास के सबसे दानी शासकोंमें से एक थे। वह जहां जाते, वहां आम लोगों को इतना दान करते थे कि उस देश की अर्थव्यवस्था डगमगाने लगती थी।

Third party image reference
मनसा मूसा के राज्य में सोने और अन्य सामानों का आयात निर्यात करने वाले मुख्य व्यापारिक केंद्र थे, इस व्यापार से उन्हें काफी लाभ होता था , उस वक्त में इस राजा के पास पूरी दुनिया के सोने का लगभग आधा हिस्सा था। एक बार मूसा ने सहारा रेगिस्तान और मिस्र से होते हुए मक्का में हज यात्रा पर जाने का निर्णय लिया। माली से हज के लिए निकलते समय उनके कारवां में 60,000 से अधिक लोग, हाथी, घोड़े, ऊंट व अन्य कई प्रकार के जानवर और भारी मात्रा में साजो-सामान समलित था। यात्रा के समय उन्होंने काहिरा में अपने लाव-लश्कर के साथ तीन माह का प्रवास किया था।

Third party image reference
इस बीच उन्होंने वहां के लोगों को उपहार में इतना सोना दे दिया कि मिस्र की अर्थव्यवस्था ही ख़त्म हो गई थी। मूसा के सोने के उपहारों के कारण पूरे 10 वर्ष तक मिस्र में सोने की कीमतें गिरी रही। तीर्थ यात्रा के चलते मूसा ने इतने स्वर्ण उपहार बांटे कि पूरे मध्य पूर्व (मिडिल ईस्ट) क्षेत्र को लगभग 100 अरब रुपये से ज्यादा का आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा था। जब वह हज यात्रा से वापसी कर रहे थे तो मिस्र से होकर गुजरे और देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए उन्होंने सोने को प्रचलन से बाहर करने का यत्न किया। इसके लिए उन्होंने सोने को ब्याज पर वापस लेना शुरू कर दिया था।TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
दुनिया के सबसे अमीर राजा के बारे में आज हम आपको अवगत करवाएंगे, जिसके उपहारों ने एक देश की अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी थी। लेकिन उस शासक का खुद का देश अब आर्थिक संकट से लड़ रहा है। वर्तमान में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति जेफ बेजोस की संपत्ति 9028 अरब रुपये से भी ज्यादा है, लेकिन वह इस राजा के आसपास भी नहीं है।
हम बात आकर रहे है 14वीं सदी में माली देश के राजा रहे मनसा मूसा की। मनसा मूसा इतिहास के सबसे दानी शासकोंमें से एक थे। वह जहां जाते, वहां आम लोगों को इतना दान करते थे कि उस देश की अर्थव्यवस्था डगमगाने लगती थी।
 
 
Third party image reference
मनसा मूसा के राज्य में सोने और अन्य सामानों का आयात निर्यात करने वाले मुख्य व्यापारिक केंद्र थे, इस व्यापार से उन्हें काफी लाभ होता था , उस वक्त में इस राजा के पास पूरी दुनिया के सोने का लगभग आधा हिस्सा था। एक बार मूसा ने सहारा रेगिस्तान और मिस्र से होते हुए मक्का में हज यात्रा पर जाने का निर्णय लिया।
माली से हज के लिए निकलते समय उनके कारवां में 60,000 से अधिक लोग, हाथी, घोड़े, ऊंट व अन्य कई प्रकार के जानवर और भारी मात्रा में साजो-सामान समलित था। यात्रा के समय उन्होंने काहिरा में अपने लाव-लश्कर के साथ तीन माह का प्रवास किया था।
 
 
Third party image reference
इस बीच उन्होंने वहां के लोगों को उपहार में इतना सोना दे दिया कि मिस्र की अर्थव्यवस्था ही ख़त्म हो गई थी। मूसा के सोने के उपहारों के कारण पूरे 10 वर्ष तक मिस्र में सोने की कीमतें गिरी रही। तीर्थ यात्रा के चलते मूसा ने इतने स्वर्ण उपहार बांटे कि पूरे मध्य पूर्व (मिडिल ईस्ट) क्षेत्र को लगभग 100 अरब रुपये से ज्यादा का आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा था।
जब वह हज यात्रा से वापसी कर रहे थे तो मिस्र से होकर गुजरे और देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए उन्होंने सोने को प्रचलन से बाहर करने का यत्न किया। इसके लिए उन्होंने सोने को ब्याज पर वापस लेना शुरू कर दिया था।

Monday, July 29, 2019

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

Model elizabeth

ब्रिटेन की एक मॉडल कुत्ते के साथ शादी रचाने जा रही हैं। इस अजब- गजब शादी के लिए चर्च के पादरी को मनाने की बात की जा रही हैं। ब्रिटेन के बर्क्स की निवासी एलिजाबेथ होड एक मॉडल रह चुकी हैं। उन्होंने ही अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी करने का फैसला किया है। उन्हें उम्मीद है इस शादी के लिए वह चर्च के फादर को जरूर मना लेंगी। लेकिन सवाल यह है कि एलिजाबेथ ने एक कुत्ते के संग शादी रचाने का फैसला क्यों किया है।
Third party image reference
सुनने में अजीब जरूर लग रहा है लेकिन हाल ही में ये बात सामने आई है कि मॉडल रह चुकी एक महिला ने अपने कुत्ते से 'शादी' करने का फैसला किया है. इस बारे में मॉडल का कहना है कि पुरुषों के साथ डेट करने का अनुभव अच्छा नहीं था और इसी के बाद उन्होंने कुत्ते से शादी करने की ठानी है.
Third party image reference
जानकर हैरानी होगी कि मॉडल ने यह फैसला 220 पुरुषों के साथ डेट करने के बाद लिया है. अपनी लाइफ में ये पूरे 220 पुरुषों को डेट कर चुकी है और इसका अनुभव भी काफी खराब रहा जिसके कारण उन्होंने कुत्ते से शादी का फैसला किया.
Third party image reference
वहीं एलिजाबेथ होड को उम्मीद है कि वह एक चर्च के पादरी को अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी कराने के लिए मना लेगी. जानकारी के अनुसार ब्रिटेन के बर्क्स की रहने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार एन्गेजमेंट हो चुकी है. लेकिन शादी नहीं हुई. इस बारे में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं. उन्होंने कहा- मैं बीते 8 सालों में 6 डेटिंग साइट के जरिए 220 पुरुषों के साथ डेट पर गई. लेकिन ये अच्छा नहीं रहा.' बता दें कि, ब्रिटेन के बर्क्स में जीवन बिताने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार सगाई हो चुकी है। किन्तु विवाह नहीं हो पाया। इसके सम्बन्ध में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं।.
Third party image reference
इसके अलावा अजीब बात ये है एलिजाबेथ ने कुत्ते से शादी के लिए प्लानिंग भी कर ली है. एक रिपोर्ट के अनुसार, शादी के दौरान महिला वेडिंग रिंग पहनेगी, जबकि लोगन रिस्टबैंड पहनेगा. शादी के दौरान सिर्फ 20 लोगों को बुलाया जाएगा. इसके बाद एलिजाबेथ डॉग फ्रेंडली होटल में हनीमून के लिए जाएगी. इस बट से एलिज़ाबेथ काफी खुश भी है.

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

पुरुषों से थक चुकी मॉडल एलिजाबेथ अब करेगी इस कुत्ते से शादी, 220 लोगों को कर चुकीं डेट

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

ब्रिटेन की एक मॉडल कुत्ते के साथ शादी रचाने जा रही हैं। इस अजब- गजब शादी के लिए चर्च के पादरी को मनाने की बात की जा रही हैं। ब्रिटेन के बर्क्स की निवासी एलिजाबेथ होड एक मॉडल रह चुकी हैं। उन्होंने ही अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी करने का फैसला किया है। उन्हें उम्मीद है इस शादी के लिए वह चर्च के फादर को जरूर मना लेंगी। लेकिन सवाल यह है कि एलिजाबेथ ने एक कुत्ते के संग शादी रचाने का फैसला क्यों किया है।

Third party image reference
सुनने में अजीब जरूर लग रहा है लेकिन हाल ही में ये बात सामने आई है कि मॉडल रह चुकी एक महिला ने अपने कुत्ते से 'शादी' करने का फैसला किया है. इस बारे में मॉडल का कहना है कि पुरुषों के साथ डेट करने का अनुभव अच्छा नहीं था और इसी के बाद उन्होंने कुत्ते से शादी करने की ठानी है.

Third party image reference
जानकर हैरानी होगी कि मॉडल ने यह फैसला 220 पुरुषों के साथ डेट करने के बाद लिया है. अपनी लाइफ में ये पूरे 220 पुरुषों को डेट कर चुकी है और इसका अनुभव भी काफी खराब रहा जिसके कारण उन्होंने कुत्ते से शादी का फैसला किया.

Third party image reference
वहीं एलिजाबेथ होड को उम्मीद है कि वह एक चर्च के पादरी को अपने 6 साल के गोल्डेन रिट्रीवर कुत्ते लोगन से शादी कराने के लिए मना लेगी. जानकारी के अनुसार ब्रिटेन के बर्क्स की रहने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार एन्गेजमेंट हो चुकी है. लेकिन शादी नहीं हुई. इस बारे में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं. उन्होंने कहा- मैं बीते 8 सालों में 6 डेटिंग साइट के जरिए 220 पुरुषों के साथ डेट पर गई. लेकिन ये अच्छा नहीं रहा.' बता दें कि, ब्रिटेन के बर्क्स में जीवन बिताने वाली एलिजाबेथ की इससे पहले दो बार सगाई हो चुकी है। किन्तु विवाह नहीं हो पाया। इसके सम्बन्ध में उनका कहना है कि वो पुरुषों से थक चुकी हैं।.

Third party image reference
इसके अलावा अजीब बात ये है एलिजाबेथ ने कुत्ते से शादी के लिए प्लानिंग भी कर ली है. एक रिपोर्ट के अनुसार, शादी के दौरान महिला वेडिंग रिंग पहनेगी, जबकि लोगन रिस्टबैंड पहनेगा. शादी के दौरान सिर्फ 20 लोगों को बुलाया जाएगा. इसके बाद एलिजाबेथ डॉग फ्रेंडली होटल में हनीमून के लिए जाएगी. इस बट से एलिज़ाबेथ काफी खुश भी है.

Friday, July 26, 2019

ग्रीक इतिहास की खूंखार राक्षसी, इंसान को बदल देती थी पत्थर में


ग्रीक इतिहास की खूंखार राक्षसी, इंसान को बदल देती थी पत्थर में
Third party image reference
आज हम बात करने वाले है ग्रीक के प्राचीन इतिहास की राक्षसी मेडुसा के बारे में. मेडुसा प्राचीन ग्रीस पौराणिक कथाओं के अधिक असामान्य दिव्य आंकड़ों में से एक है। गोरगोन बहनों के तीनों में से एक, मेडुसा एकमात्र बहन थी जो अमर नहीं थी। वह अपने सांप की तरह बाल और उसकी नज़र के लिए प्रसिद्ध है.

Third party image reference
मेडुसा गोरगोन बहनों में से एक थी, फॉर्सी और केटो की बेटी वह एक बार लंबे, सुनहरे बाल के साथ एक सुंदर युवती थीं। हालांकि, उसने पवित्रता का प्रतिज्ञा की शपथ ली और जल्द ही पोसेडॉन के साथ एक चक्कर लगाकर इसे तोड़ दिया, माना जाता है कि एथेना के मंदिर में सजा के रूप में, एथेना ने अपना चेहरा एक पुरानी ईसाई में बदल दिया, उसके सुंदर बालों को सांपों की माने में बदल दिया, और उसकी त्वचा को एक हरा रंग दिया। उसने उसे भी शाप दिया था: जो भी मेडुसा की आँखों में देखेगा वह तुरंत पत्थर में बदल जाएगा। मेडुसा थोड़ी देर के लिए अफ्रीका के माध्यम से घूमते थे, और उनके बाल से निकलने वाले सांप अफ्रीका में जहरीले सांप क्यों हैं.

Third party image reference
पर्सियस को सर्दुहुस के राजा पॉलिटेक्शस द्वारा माडुसा के सिर को वापस लाने के लिए खोज पर भेजा गया था। वह हेमीज़ द्वारा प्रदान की गई पंखों वाला सैंडल, अदृश्यता के हेडस के हेल्म, हेपैस्टस द्वारा प्रदान की गई तलवार और एथेना से एक चिंतनशील ढाल का इस्तेमाल किया। जब उन्होंने मेडुसा को अपनी मांद में देखा, तो उसने ढाली का इस्तेमाल करके मेडुसा का प्रतिबिंब देखा और उसके पीछे तलवार को दबा दिया, उसकी हत्या कर दी। उसने अपने सिर को हटा दिया, और जैसा उसने किया था, उसके बच्चों पेगसस और क्रिससावर उसके रक्त में खून से उग आए थे.

Third party image reference
पर्सियस ने एक बोरी में मेडुसा का सिर रखा था और जब उसने आखिरकार इसे घर बनाया, तो पता चला कि खोज को रास्ते से बाहर निकालने के लिए खोज का एक मकसद रहा है ताकि राजा पॉलिडेटेस पर्सियस की मां दाना से शादी कर सकें। उन्होंने राजा को राजा के पत्थर में बदलने और उसकी मां को बचाने के लिए मेडुसा के सिर का इस्तेमाल किया। उसने फिर अपने सिर को समुद्र के नीचे फेंक दिया, जहां यह मूला बना देता है जहां कहीं भी बहाया जाता है. पौराणिक कथाओं के अन्य संस्करणों में, पर्सियस ने मेडुसा के सिर को एथेना को दिया, जिसने इसे तत्वाधान में पहन रखा था.

x

x

Tuesday, July 23, 2019

जब अज़गर ने आदमी को निग़ल लिया, ऐसे निकला लोगों ने वीडियो देखें आखिर फिर किया हुआ


सावन के पावन महिने पर भक्ति विषेश, बाबा अमरनाथ से जुड़ी अमर कबूतर की कथा

सावन के पावन महिने पर भक्ति विषेश, बाबा अमरनाथ से जुड़ी अमर कबूतर की कथा

TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
पुराणों में वर्णित है कि एक बार माता पार्वती ने भगवान शिव से पूछा, आप अजर-अमर हैं और मुझे हर जन्म के बाद नए स्वरूप में आकर फिर से वर्षों की कठोर तपस्या के बाद आपको प्राप्त करना होता है। मेरी इतनी कठोर परीक्षा क्यों? और आपके कंठ में पड़ी यह नरमुण्ड माला तथा आपके अमर होने का रहस्य क्या है?
भगवान शंकर ने माता पार्वती से एकांत और गुप्त स्थान पर अमर कथा सुनने को कहा जिससे कि अमर कथा कोई अन्य जीव न सुन पाए। क्योंकि जो कोई भी इस अमर कथा को सुन लेता है, वह अमर हो जाता।
पुराणों के मुताबिक, शिव ने पार्वती को इसी परम पावन अमरनाथ की गुफा में अपनी साधना की अमर कथा सुनाई थी, जिसे हम अमरत्व कहते हैं।

कहते हैं भगवान भोलेनाथ ने अपनी सवारी नंदी को पहलगाम पर छोड़ दिया, जटाओं से चंद्रमा को चंदनवाड़ी में अलग कर दिया और गंगाजी को पंचतरणी में तथा कंठाभूषण सर्पों को शेषनाग पर छोड़ दिया।
इस प्रकार इस पड़ाव का नाम शेषनाग पड़ा। अगला पड़ाव गणेश पड़ता है, इस स्थान पर बाबा ने अपने पुत्र गणेश को भी छोड़ दिया था, जिसको महागुणा का पर्वत भी कहा जाता है। पिस्सू घाटी में पिस्सू नामक कीड़े को भी त्याग दिया।
इस प्रकार महादेव ने जीवनदायिनी पांचों तत्वों को भी अपने से अलग कर दिया। इसके बाद मां पार्वती साथ उन्होंने गुप्त गुफा में प्रवेश कर किया और अमर कथा मां पार्वती को सुनाना शुरू किया।
कथा सुनते-सुनते देवी पार्वती को नींद आ गई और वह सो गईं, जिसका शिवजी को पता नहीं चला। भगवन शिव अमर होने की कथा सुनाते रहे। उस समय दो सफेद कबूतर शिव जी से कथा सुन रहे थे और बीच-बीच में गूं-गूं की आवाज निकाल रहे थे। शिव जी को लगा कि माता पार्वती कथा सुन रही हैं और बीच-बीच में हुंकार भर रहीं हैं। इस तरह दोनों कबूतरों ने अमर होने की पूरी कथा सुन ली।
कथा समाप्त होने पर शिव का ध्यान पार्वती की ओर गया, जो सो रही थीं। जब महादेव की दृष्टि कबूतरों पर पड़ी, तो वे क्रोधित हो गए और उन्हें मारने के लिए आगे बड़े।
इस पर कबूतरों ने भगवान शिव से कहा कि, हे प्रभु हमने आपसे अमर होने की कथा सुनी है यदि आप हमें मार देंगे तो अमर होने की यह कथा झूठी हो जाएगी। इस पर शिव जी ने कबूतरों को जीवित छोड़ दिया और उन्हें आशीर्वाद दिया कि तुम सदैव इस स्थान पर शिव पार्वती के प्रतीक चिन्ह के रूप निवास करोगे।
अत: यह कबूतर का जोड़ा अजर-अमर हो गया। कहते हैं आज भी इन दोनों कबूतरों का दर्शन भक्तों को यहां प्राप्त होते हैं। और इस तरह से यह गुफा अमर कथा की साक्षी हो गई व इसका नाम अमरनाथ गुफा के नाम से प्रसिद्ध हो गया।

Wednesday, June 26, 2019

जेल के अंदर बंदियों को दिया नशे से दूर रहने का ज्ञान, नशे से होने वाले शारीरिक नुकसान की जानकारी

जेल के अंदर बंदियों को दिया नशे से दूर रहने का ज्ञान, नशे से होने वाले शारीरिक नुकसान की जानकारी




TOC NEWS @ www.tocnews.org
जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770
जबलपुर. अंतर्राष्ट्रीय नशामुक्ति दिवस के उपलक्ष्य में आज बुधवार को केन्द्रीय जेल जबलपुर स्थित नशामुक्ति केन्द्र में रेडक्रॉस सोसायटी की जिला शाखा द्वारा आयोजित किये गये कार्यक्रम में बंदियों को नशे से स्वास्थ्य को होने वाले नुकसान की जानकारी दी गई । 

जेल के अंदर सजायाफ्ता बंदियों को दिया नशे से दूर रहने का ज्ञान बाटने के पीछे वजह जो भी हो पर मामला रोचक है और जो जनसम्पर्क जबलपुर द्वारा जारी फोटो को सच्चाई को समझे तो इस ज्ञान को प्राप्त करने के में सजायाफ्ता कैदी शामिल है जिनको 5 से दस वर्ष की सजा काट रहे है, सवाल यह उठता है की जो इतने वर्ष जेल में बिता रहा है उसे नशा की सामग्री जेल के अंदर कहा से मिल रही है जिस वजह से ये सजायाफ्ता बंदी नशे की लत में नशेले हो गये है जिन्हें नशे के दुष्प्रभावों की विस्तार से जानकारी दी जाए तथा नशे से दूर रहने की नशे से होने वाले शारीरिक नुकसान की जानकारी सलाह दी जाए. खैर जब इतने बड़े बड़े अधिकारी आयोजन में ज्ञान बाँट रहे है तो सजायाफ्ता बंदियों को जरूर जेल के अन्दर नशे से दूर रहकर इन बांटे जाने वाले ज्ञान को गंभीरता से लेकर नशा मुक्ति अभियान में शामिल होकर नशे से दूर ही रहना होगा।
जेल के अंदर बंदियों को दिया नशे से दूर रहने का ज्ञान
रानी दुर्गावती अस्पताल के डॉ. संजय मिश्रा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित कार्यक्रम में जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव एवं प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित भी मौजूद थे ।  इस अवसर पर डॉ. मिश्रा ने जेल बंदियों से नशे के दुष्प्रभावों की विस्तार से जानकारी दी तथा नशे से दूर रहने की सलाह दी । कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि मनोवैज्ञानिक डॉ. रजनीश जैन ने नशे से मुक्त रहने के उपाय बताये ।     
जेल के अंदर बंदियों को दिया नशे से दूर रहने का ज्ञान
रानी दुर्गावती अस्पताल के डॉ. संजय मिश्रा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित कार्यक्रम में जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव एवं प्रभारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय आशीष दीक्षित भी मौजूद थे ।  इस अवसर पर डॉ. मिश्रा ने जेल बंदियों से नशे के दुष्प्रभावों की विस्तार से जानकारी दी तथा नशे से दूर रहने की सलाह दी । कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि मनोवैज्ञानिक डॉ. रजनीश जैन ने नशे से मुक्त रहने के उपाय बताये । 
https://1.bp.blogspot.com/-fjtVwg0CpNw/XROIopbzhSI/AAAAAAAA1mw/SBlCTurxytoSqSye5uaCIL98yav4IsOfACLcBGAs/s1600/Untitled-1.jpg
डॉ. रीना जैन ने सकारात्मक ध्यान विधि द्वारा बंदियों को नशामुक्ति के लिए जागरूक किया ।कार्यक्रम का संचालन काउंसलर तेज सिंह ठाकुर ने किया । जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव श्री दीक्षित ने कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त किये ।  
इस अवसर पर उप जेल अधीक्षक राजेन्द्र मिश्रा, सहायक जेलर आर.के. चौरे, श्री कुलदीप, श्री उपेन्द्र मिश्रा, श्रीमती अंजु मिश्रा तथा रेडक्रॉस सोसायटी के सदस्य सुनील गर्ग एवं संदीप मिश्रा एवं विजय सिंह ठाकुर भी मौजूद थे ।

Thursday, May 16, 2019

घोड़ी चढ़ गई दुल्हन बारात लेकर शादी मंडप पर पहुंची, दूल्हा करता रहा मंडप में इंतजार, फिर समाज को कह दी यह बड़ी बात.

दुल्हन घोड़ी पर चढ़कर बारात लेकर शादी के मंडप पर पहुंची के लिए इमेज परिणाम
दुल्हन घोड़ी पर चढ़कर बारात लेकर शादी के मंडप पर पहुंची
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
भोपाल. राजधानी भोपाल में बुधवार की शाम को एक शादी में अलग नजारा देखने को मिला। आमतौर पर शादियों में दूल्हे को घोड़ी पर बैठकर मंडप पर पहुंचते देखा होगा, लेकिन यहां इसके ठीक उलट दुल्हन घोड़ी पर चढ़कर शादी के मंडप पर पहुंची। 
वहां दूल्हा उसका इंतजार कर रहा था। लड़की को घोड़ी पर चढ़कर बारात चलने लगी तो देखने वालों की भीड़ जुट गई, वह वीडियो भी बना रहे थे।  भोपाल में बापू कॉलोनी जहांगीराबाद की रहने वाली 22 वर्षीय दुल्हन मनाली मेहरोलिया इसलिए घोड़ी पर चढ़ीं, ताकि हर लड़की समाज में निडर बने और खुद को सुरक्षित महसूस करे। इसलिए, मनाली घोड़े पर चढ़कर गाजे-बाजे और बारात लेकर विवाह स्थल पर पहुंचीं, जहां दूल्हा कुणाल चांवरिया उनका इंतजार कर रहा था।
मनाली ने बताया कि ऐसा करने के पीछे उनका मकसद शहर की महिलाओं और युवतियों को निर्भीक बनने का संदेश देना था। परिजनों ने बताया कि मनाली ने संकल्प लिया था कि जब प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार में कमी आएगी और उनका विवाह होगा, तब वे बारात घोड़ी पर चढ़कर निकालेंगी, जिससे अन्य महिलाएं भी निडर बन सकें।
हर लड़की घोड़े पर चढ़कर शादी करने जाए
मनाली ने कहा, "मैंने ये फैसला इसलिए लिया, जिससे लड़कियां और महिलाएं खुद को सुरक्षित समझें, मैं चाहती हूं कि हर महिला सशक्त, निडर बने और खुद को समाज में सुरक्षित महसूस करे। साथ ही अपनी शादी में घोड़े पर चढ़कर शादी करने जाए।"

CCH ADD

CCH ADD
CCH ADD

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news