Wednesday, July 21, 2010

Thursday, July 15, 2010

कुख्यात अपराधी की ह्त्या

ब्यूरों प्रमुख// सुरिन्दर सिंह अरोरा (होशंगाबाद// टाइम्स ऑफ क्राइम)
ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 99939 93300 -
जिले की तहसील बनखेड़ी के गांव हनोतिया में नदी किनारे गांव के ही कुख्यात अपराधी की लाश मिली। घटना की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी डीएस चौहान मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का निरीक्षण किया। लाश की शिनाख्त क्षेत्र के कुख्यात अपराधी बबलू गुजर के रूप में हुई है। पुलिस ने सूचना के आधार पर जानकारी एकत्रित की जिसमें पता लगा कि गांव के ही राय सिंह, लखन, करैया, सुखराम उर्फ पचौरी, बंटी, राजू, सोनू ठाकुर ने पुरानी रंजिश के चलते बबलू गुजर की हत्या कर नदी किनारे फेंक दिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 302 एवं 25,27 आम्र्स एक्ट के तहत अपराध क्रमांक 188/10 कायम कर विवेचना में लिया है। आरोपी फरार बताए जाते है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार बबलू गुजर क्षेत्र का कुख्यात अपराधी रहा है। इस पर पूर्व में जिलाबदर की कार्यवाही भी की गई थी।
- पत्रकार प्रीतम सिंह के घर फायरिंग -
होशंगाबाद, नगर के पत्रकार प्रीतम सिंह राजपूत के घर आज तीन लोगों ने आकर अंधाधंध फायरिंग कर दी। इसमें श्री राजपूत को कोई नुकसान नहीं हुआ है। नशे में धुत्त तीनों आरोपियों को गांव वालों की मदद से पुलिस के हवाले कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक आज डोलरिया स्थित श्री राजपूत के ढाबे में इटारसी और ग्वारी गांव के कुछ लोगों के बीच विवाद हो गया, बाद में देर शाम ग्वारी गांव के 25 से 30 लोग जीप में भरकर आए और ढाबे में इटारसी के लोगों को ढूंढने लगे, जब वह नहीं मिले तो ढाबा मालिक श्री राजपूत के घर का पता पूछकर वहां पहुंच गए और 8 से 10 फायर किए। फायरिंग सुनकर गांव वाले एकत्र हो गए और नशे में धुत्त तीनों आरोपियों को पुलिस के हवाले कर दिया।

महानगरो जैसी होगी कानून व्यवस्था - आईजी -

ब्यूरों प्रमुख// सुरिन्दर सिंह अरोरा(होशंगाबाद //टाइम्स ऑफ क्राइम)ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 99939 93300 -
आई जी श्री स्वर्ण सिह ने सोमवार को आयुक्त कार्यालय के प्रथम तल पर बने आई जी कार्यालय मे प्रकरणो का अवलोकन किया -

इन्दौर-भोपाल-जबलपुर-ग्वालियर जैसे म.प्र. के महानगरो की तर्ज पर रेंज के शहरो की पुलिस कानून व्यवस्था मे बदलाव लाया जाऐगा यह व्यवस्था वर्तमान व्यवस्था से कुछ अलग हटकर होगी। इस व्सवस्था के तहत चोरियो पर अंकुश लगाने के लिए प्रतिदिन लगने वाली गस्त प्रकिया में बदलाव लाया जाऐगा इसके चलते रेंज के पुलिस अधीक्षकों से विस्तृत जानकारी के आधार पर प्लान तैयार किया जा रहा है। उक्त बात होशंगाबाद पुलिस रेंज के आई जी श्री स्वर्ण सिह ने इस प्रतिनिधी से विशेष मुलाकात में कहीं। आई जी श्री स्वर्ण सिह ने सोमवार को आयुक्त कार्यालय के प्रथम तल पर बने आई जी कार्यालय में पूजन के साथ प्रवेश किया। अब आई जी सप्ताह मे दो दिन यहॉ बैठेगे। इस मौके पर आई जी ने इस संवाददाता को बताया कि शहर के साथ-साथ रेंज के अन्र्तगत आने वाले नगरों की कानून व्यवस्था में कुछ बदलाव किया जाऐगा। अपराधों को रोकने के लिए चिन्हित स्थानो पर थोड़ी थोड़ी दूरी पर पुलिस या पुलिस मोबाईल वैन तैनात की जाऐगी। आईजी ने क्षेत्र में चोरियों पर अंकुश लगाने दिन व रात्रि गस्त में परिवर्तन के संकेत दिए है। उन्होंने स्टाफ की कमी है को स्वीकारते हुए कहा कि प्रतिवर्ष 2000 कर्मियों की भर्ती करने का निर्णय सरकार ने लिया है इससे बल की कमी को पूरा करने का प्रयास किया जाऐगा। उन्होंने बताया कि होशंगाबाद जिले की तहसील सिवनी मालवा को पुलिस अनुभाग बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। आई जी ने कहा कि महानगरों की तरह अन्य सुरक्षा वयवस्थांए भी यहॉ अपनाई जाएगी और सुरक्षा बल में भी वृद्धि की जाएगी। आई जी सरदार स्वर्ण सिह ने आज बाबई थाना क्षेत्र के मढ़ावन गॉव में उस घटना स्थल को भी देखा जहॉ बीती रात एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या की गई थी। मामले को लेकर आई जी ने बताया कि कुछ लोगों को पूछताछ के लिए लाया गया है। हत्या के आरोपी शीघ्र पुलिस गिरफत में होंगे। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक रूचि वर्धन श्रीवास्तव, एसडीओपी मलय जैन, बाबई थाना प्रभारी प्रशिक्षु डीएसपी ऋचा राय भी उपस्थित थे।

सिहोरा चिकित्सालय की तमाम नर्सें भ्रष्टाचार में लिप्त

प्रभारी डॉक्टर श्री दास के अधीनस्थ डॉक्टर और नर्सें कर रही उनके आदेश की अवहेलना
सिहोरा के सिविल अस्पताल में नर्सों का बोलबाला

-------------------

अस्पताल के कायदे कानून बला-ए-ताक पर रख, कर रही मनमानी।

---------------------

सिहोरा अस्पताल की नर्सें हुई सब बेलगाम।

-------------------------------
प्रतिनिधि // उदयसिंह पटेल (सिहोरोटाइम्स ऑफ क्राइम)प्रतिनिधि से सम्पर्क 93298 48072

मध्य प्रदेश सरकार ने खासतौर पर गर्भवती महिलाओं के लिये अस्पतालों में नि:शुल्क चिकित्सा, तथा (जननी) सुरक्षा योजना के तहत महिलाओं को 1400/- (चौदह सौ) की नगद राशि निर्धारित की है। किन्तु खेद है, कि प्रसवकाल के उपरान्त जो राशि हितग्राही (प्रसूता) को सरकार द्वारा मिलती है, उससे कहीं अधिक राशि अस्पताल में फीस और मेहनताना के नाम पर डॉक्टर तथा नर्से गर्भवती महिलाओं से ढग़ लेती हैं। इसी प्रकार सिहोरा अस्पताल में अभी ताजी दो घटनाएं प्रकाश में आईं। प्रथम घटना विगत 17 जून की है, जब ग्राम गुनहरू मोहसाम की रमा बर्मन नामक एक गर्भवती मजदूर महिला के पेट में दर्द हुआ तो वह अपने परिजनों के साथ सिहोरा अस्पताल पहुंची ड्यूटी पर उपस्थित नर्स मंजू राय ने पूंछा की? क्या जजकी कराने आई हो, तो पीडि़ता के परिजनों ने बताया की काफी देर से पेट में दर्द हो रहा है, और जजकी का समय भी पूरा हो गया है, तब नर्स ने कहा की इस अस्पताल में बिना फीस के जजकी नहीं होगी। उल्लेखनीय है कि, पीडि़ता के पेट में अधिक दर्द होने से नर्स ने पर्ची में लिखकर दवाइयाँ लाने पीडि़ता के पति को बाजार भेजा, तब तक आरोपी नर्स मंजू राय ने पीडि़ता पर शिकंजा कसा और उस पर दबाव बनाकर पीडि़ता से 1400/- (चौदह सौ) जजकी कराने के नाम पर अपना मेहनताना वसूल कर लिया। जबकि उक्त योजना के अन्तर्गत पीडि़ता को 1400/- (चौदह सौ) की राशि मिलना तो दूर की बात है। किन्तु गरीब महिला से आरोपी नर्स ने चौदह सौ की नगद राशि पहले ही दम देकर हड़प ली। और पीडि़ता को धमकाया की इस बात की वह चर्चा नहीं करे वरना ठीक नहीं होगा। अत: पीडि़ता ने एक बच्चे को जन्म दिया किन्तु नर्स ने घूस लेकर भी अपने कर्तव्य का निर्वाह नहीं किया। सिहोरा ''टाइम्स ऑफ क्राइमÓÓ को जानकारी में बताया गया है, कि आरोपी नर्स ने पीडि़ता के बच्चे की साफ-सफाई नहीं की और न ही उस शिशु को टिटनिस का इन्जेक्शन लगाया अत: जन्म होने के एक घंटे बाद शिशु की मृत्यु हो गई। लोगों का मानना है, कि पीडि़ता के बच्चे की मौत आरोपी नर्स मंजू राय की लापरवाही के कारण हुई। ज्ञात हो कि बच्चे की मृत्यु के तुरंत बाद आरोपी नर्स ने पीडि़ता को अस्पताल से बाहर निकाल दिया तो पीडि़ता के परिजनों ने नर्स से कहा पीडि़ता की हालत ठीक नहीं है। उसका डॉक्टरी इलाज करवा दें तो नर्स ने कहा कि यदि डॉक्टरी इलाज कराना है तो डॉक्टर पलोड की फीस अलग से देना किन्तुु पीडि़ता के पास इलाज के लिये रूपये नहीं थे, रात भी अधिक हो गई थी गांव जाने का कोई साधन नहीं था, तब एमबूलेन्स के ड्रायवर को पीडि़ता पर दया आई तो उसने पीडि़ता और उसके परिजनों को गांव तक पहुंचाया। इसी प्रकार दूसरी घटना विगत 30 जून रात 9 बजे की है। जब सुकरती बाई नाम एक गर्भवती महिला को मझगवाँ के शासकीय चिकित्सालय से रेफर कर उसे सिहोरा अस्पताल भेजा गया था। उल्लेखनीय है, कि उक्त पीडि़त महिला को अस्पताल में भर्ती तो कर लिया किन्तु पीडि़ता के पास डॉक्टर पलोड तथा ड्यूटी पर तैनात नर्स नमिता विक्टर एवं संगीता डेनियल को देने के लिये पीडि़ता के पास 1000/- (एक हजार रूपये) नहीं थे इस कारण दोनों नर्सों ने गर्भवती महिला पर अनैतिक दबाव डालकर 1000/- (एक हजार रूपये) मजबूर किया। अत: पीडि़ता ने रूपये देने में अपनी अस्मर्थता जताई। ज्ञात हो कि पीडि़ता के पास केवल सौ रूपये थे जो नर्सों ने ले लिये और डॉक्टर पलोड से कहकर पीडि़ता को तुरंत जबलपुर रेफर करा दिया और उक्त पीडि़ता को तुरंत अस्पताल से बाहर निकाल दिया उल्लेखनीय है, कि अस्पताल के बाहर गेट पर गर्भवती महिला ने एक शिशु को जन्म दिया और सुबह उजाला होते ही पीडि़ता वहां से चली गई। सिविल अस्पताल सिहोरा में कार्यरत नर्सों के इस अमानवीय कृत्य से दुखी जनता ने नर्सों के खिलाफ सक्त कार्रवाई करने की मांग जिला प्रशासन से की है।

घूसखोर दर्शन_२ : शासकीय अष्टांग आयुर्वेदिक कॉलेज के बाबू रामेश्वर चौहान को रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार

लोकायुक्त पुलिस इंदौर ने लोकमान्यनगर स्थित शासकीय अष्टांग आयुर्वेदिक कॉलेज के बाबू रामेश्वर चौहान को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया ।

इंदौर. लोकायुक्त पुलि इंदौर ने लोकमान्यनगर स्थित शासकीय अष्टांग आयुर्वेदिक कॉलेज के बाबू को रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया। लोकायुक्त पुलिस की एक सप्ताह में यह दूसरी कार्रवाई है। आरोपी रामेश्वर चौहान कॉलेज की स्थापना शाखा में सहायक श्रेणी-दो के पद पर कार्यरत है। फरियादी रामचंद्र वर्मा ने लोकायुक्त एसपी वीरेंद्रकुमार सिंह से शिकायत की थी कि वह उसी कॉलेज से फरवरी 2007 में सहायक श्रेणी वर्ग-दो के पद से सेवानिवृत्त हुआ है। उसका 2006 से छठे वेतनमान के एरियर के करीब 56 हजार रुपए का भुगतान लंबित है जो आरोपी रामेश्वर ने अटका रखा था। उसने भुगतान के बदले दो हजार रुपए मांगे और रुपए लेकर 8 जुलाई को कॉलेज बुलाया है। एसपी ने शिकायत की पुष्टि करने के बाद डीएसपी अशोकसिंह सोलंकी के नेतृत्व में टीम गठित की। गुरुवार दोपहर तय समय अनुसार रामचंद्र कॉलेज पहुंचा और रामेश्वर को दो हजार रुपए दिए। जैसे ही उसने रुपए ड्रॉॅअर में रखे, टीम ने उसे रंगेहाथ पकड़ लिया और रुपए जब्त कर उसके खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की।

घूसखोरादर्शन: कालूखेड़ा थाने में रिश्वत लेते टीआई गिरफ्तार

रतलाम जिले के कालूखेड़ा थाना प्रभारी गोपाल सिंह चौहान को गुरुवार रात आठ बजे रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया।
जावरा. लोकायुक्त पुलिस टीम ने रतलाम जिले के कालूखेड़ा थाना प्रभारी गोपालसिंह चौहान को गुरुवार रात आठ बजे रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया। लोकायुक्त उज्जैन एसपी अविनाश शर्मा ने बताया मंदसौर की सीतामऊ तहसील के गांव रतेडिय़ा निवासी फरियादी रमेश शर्मा ने 30 जून को लोकायुक्त में शिकायत दर्ज कराई थी। कालूखेड़ा थाना पुलिस ने मई 2010 में पौने तीन किलो अफीम बरामद कर आरोपी राजू और मांगू के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था। मांगू ने रमेश शर्मा को भी इस मामले में लिप्त बताया था। टीआई गोपालसिंह चौहान ने इस मामले में रमेश शर्मा को छोडऩे के नाम पर पांच लाख रुपए मांगे थे। बाद में टीआई के दलाल पर्वत निवासी थाना सीतामऊ क्षेत्र (मंदसौर) के माध्यम से ढाई लाख रुपए में सौदा तय हुआ था। इसमें से 49 हजार रुपए पर्वत के माध्यम से टीआई पूर्व में ले चुका था। गुरुवार को लोकायुक्त पुलिस टीम ने 50 हजार रुपए फरियादी रमेश के माध्यम से पर्वत को पहुंचाए। पर्वत ने जब इसमें से 45 हजार रुपए टीआई गोपालसिंह चौहान को दिए तो लोकायुक्त टीम ने टीआई को धरदबोचा। लोकायुक्त एसपी श्री शर्मा के मुताबिक टीआई गोपालसिंह चौहान को गिरफ्तार कर जमानत पर छोड़ा गया है। अन्य कार्रवाई की जा रही है।

Wednesday, July 14, 2010

ऑल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर एसोसिएशन की सदस्यता

ऑल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर एसोसिएशन की सदस्यता

आइसना के प्रान्तीय अध्यक्ष श्री अवधेश भार्गव ने प्रदेश के समस्त पत्रकारों को ऑल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर एसोसिएशन की सदस्यता प्राप्त करने के लिए आंमत्रित किया है। प्रदेश में मिडिया जगत से जुड़े विभिन्न स्तर पर जुड़े कर्मचारी इस संस्थान से जुड़ सकते हैं। सदस्यता प्राप्त करने के लिये निर्धारित फार्म भर कर अपने तीन पासपोर्ट साइज फोटो, आई।डी। प्रुफ, संस्थान का नियुक्ति पत्र, एवं संस्थान द्वारा जारी जीवित परिचय पत्र की अनुशंसा के साथ सदस्यता शुल्क 160 रू। एवं डाक खर्च 40 रु। कुल 200 रुपये भेज कर प्राप्त की जा सकती है। निम्नलिखित फार्म में विवरण भर कर निर्धारित पते पर अपने फार्म भेज सकते है एवं अन्य जानकारी के लिये आइसना के प्रान्तीय महासचिव विनय जी. डेविड के मोबाइल नं. 9893221036, एवं 9584389889 पर सम्पर्क कर सकते हैं।
---------------------------------------------------------------------------------------

सदस्यता फार्मप्रति, महासचिव, आइसना, महासचिव कार्यालय,
23/टी-7, गोयल निकेत अर्पाटमेंट, प्रेस कॉम्प्लेक्स,
जोन-1, एम।पी। नगर भोपाल, म। प्र।।
महोदय, मैं आइसना की सदस्यता लेना चाहता हूं। जिसके नियम एवं शर्तों का पूर्ण रूप से पालन करुंगा। जिसकी निर्धारित सदस्यता शुल्क 150/-रू। तथा प्रवेश शुल्क 10/-रू. एवं डाक खर्च 40 रु. सहित 200/-रु. की राशि सदस्यता शुल्क के रूप में जमा कर रहा हूं। 1.
सदस्यता फार्म
1. नाम ...........................................................................
2. पिता/पति का नाम......................................................
3. जन्म तिथि .................................................................
4. पता..............................................................................
5. फोन नं.........................................................................
6.मोबाइल नं...................................................................
7. ई-मेल...........................................................................
8. समाचार पत्र का नाम .................................................
9. प्रकाशन स्थल...............................................................
10. आर.एन.आई.नम्बर............. ..........................................
11. स्वामी/सम्पादक का नाम ...........................................
12. प्रतिनिधि का पद........................................................
13. प्रसार संख्या...............................................................
दिनांक........................... सदस्य के हस्ताक्षर-
---------------------------------------------------------------------------------------

घटिया खाद्य पदार्थों की बिक्री से फैल रही बीमारियां

जिला कारागार में चल रहा रूपये का खेल1। बन्दियों को मिलती है सहूलियत। 2. आये दिन कैदियों के बीच होती है मारपीट।
ब्यूरो प्रमुख उ. प्र.// सूर्य नारायण शुक्ल (इलाहाबाद //टाइम्स ऑफ क्राइम)
ब्यूरो प्रमुख उ. प्र. से सम्पर्क 99362 29401
प्रतापगढ़ बेलहा की जेल हमेशा सुर्खियों में रहती है हो भी क्यों न यहा कुख्यात शूटरों को जो डेरा जमा रहता है इसके अलावा जेल में बन्दियों को हर सुविधा मिल जाती है। लेकिन उसके लिए उन लोगों को पैसा खर्च करना पड़ता है। इतना ही नहीं बन्दियों के बीच मारपीट के कारण आए दिन बवाल भी मचा रहता है। जिला कारागार में जारी बवाल रूकने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि जेल प्रशासन इस मामले में मुंह खोलने को राजी नहीं है। गौरतलब है कि बेलहा का कारागार हमेशा सुर्खियों में रहता है। चाहे वह आपस में बन्दी रक्षकों के बीच मारपीट का हो या फिर बन्दियों की मौत का इसके अलाव जेल में निरूद्ध अपराधियों के दबंई के आगे हमेशा जेल प्रशासन को ही झूकना पड़ता है। जिला कारागार में अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान जहां सब कुछ ठीक-ठाक मिला है वहीं उनके निकलते ही सब कुछ गड़बड़ हो जाती है। अभी कुछ दिन पहले फतनपुर इलाके के एक बन्दी की जेल प्रशासन की लापरवाही के चलते मौत हो गयी थी। जिसके लिए घरवालों ने जेल प्रशासन को दोषी ठहराया है। वहीं जेल प्रशासन अपना दामन बचाने के लिए बन्दी को अन्तिम समय से उपचार के लिए जिला अस्पताल लाकर भर्ती करा दिया। बन्दी के मौत के तीन दिन बाद ही जिला कारागार में निरूद्ध अनिरूद्ध पटेल पर कातिलाना हमला हुआ। उसके उपर हमला किसने किया यह जेल प्रशासन को भी नहीं पता। अस्पताल में भर्ती अनिरूद्ध दर्द से परेशान है लेकिन जेलर की तरफ से पुलिस को दी गयी तहरीर में घटना को छिपाने के लिए सब कुछ किया गया है। पुलिस ने तहरीर के मुताबिक एनसीआर दर्ज किया है। अभी यह माला चर्चा का विषय ही बना था कि कुछ दिन पहले बैरेक नम्बर सात के दबंक बन्दियों ने मिलकर एक बन्दी को काम न करने के मामले को लेकर मारपीट किया जिससे उसे चोंटे आयी लेकिन इस मामले में जेल प्रशासन सीधे तौर पर इंकार कर रहा है। वहीं बन्दियों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि जेल में खुलेआम सुविधा शुल्क की बयार चल रही है जो बन्दी पैसा देते हैं उनके साथ रियायत बरती जाती है। और जो नहीं दे पाते उनका तरह-तरह से उत्पीडऩे किया जाता है, इसलिए जेल प्रशासन किसी भी दबंग बन्दी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पाता। जब कि जेल में छोटा राजन गिरोह के शूटर खान मुबारक को खुली छुट मिली थी वहीं जौनपुर के बदमाश करिया सिंह को भी तमाम सुविधायें मिल रही है। इससे इधर उन बन्दियों पर सबसे अधिक कहर ढाया जाता है। जिनकी जेब में ढेला नहीं होता यहां तक कि उनसे जेल का अधिकांश काम कराया जाता है और सबसे अधिक परेशानी उन लोगों को ही उठाना पड़ती है इसके अलावा जेल में तैनात बन्दी रक्षकों की जब तक जेब नहीं भर जाती वे लोग अपनी मर्जी से बन्दियों के साथ जोर जुल्म कराते हैं जेल में चल रहे खेल से आज भी गरीबों को ही परेशानी का दंश झेलना पड़ रहा है।

पत्रकार की मोटर सायकिल व नगदी पचास हजार लेकर एक युवक फरार

ब्यूरो प्रमुख उ. प्र. // सूर्य नारायण शुक्ल (इलाहाबाद // टाइम्स ऑफ क्राइम)

ब्यूरो प्रमुख उ. प्र. से सम्पर्क 99362 २९४०१

जद्दोजहद के बाद कोरांव थाने में दर्ज हुई प्राथमिकी।

पुलिस की निष्कियता से अपराधी गिरफ्त से दूर।

तहसील अन्तर्गत ग्राम नेवढिय़ा-42 पोस्ट पचेड़ा थाना कोरांव के एक हिन्दी दैनिक अखबार के पत्रकार व एक साप्ताहिक अखबार के ब्यूरो प्रमुख उ।प्र. की मोटर सायकिल, मोटर सायकिल की डिग्गी में रखे नगदी पचास हजार व महत्वपूर्ण दस्तावेज एवं नोकिया एन-72 मोबाइल जिसमें 1 जी.बी. मेमोरी कार्ड व एयरटेल की चालू सिम लगी थी लेकर श्रीस सिंह उर्फ चन्दन पुत्र रणधीर सिंह निवासी ग्राम चकड़ीहा थाना माण्डा जिला इलाहाबाद फरार हो गया।


उल्लेखनीय है कि दिनांक 23।06.2010 को पत्रकार सूर्यनारायण शुक्ल के घर नेवढिय़ा-42, श्रीस सिंह आया था। श्रीस सिंह पूर्व में अपने मां बाप के साथ हनुमना (रीवा म.प्र.) में पत्रकार शुक्ल के घर में किराये से रहता था। श्रीस के माता-पिता के कुछ समय बाद देहावसान होने के बाद वह कुछ समय पश्चात रायल मार्केट, भोपाल (म.प्र.) रहने लगा। श्रीस सिंह दो भाई हैं। जिसमें उत्तम सिंह बड़ा है जो कि कहीं बाहर नौकरी करता है। दोनों भाईयों का स्थायी निवास ग्राम चकड़ीहा थाना माण्डा जिला इलाहाबाद है। श्रीस सिंह पत्रकार का पूर्व परिचित होने के नाते जब पत्रकार शुक्ल के घर गया तब पत्रकार द्वारा उसका यशोचित सत्कार किया गया एवं दिनांक 23.06.2010 को ही श्रीस व पत्रकार एक रिश्तेदारों में विवाहोत्सव मेंं सम्मिलित होने गये व 24 जून को पत्रकार के घर श्रीस भी साथ में ही वापस आ गया।

24 जून को ही सुबह 1 बजे के करीब जब पत्रकार अपने घर में सो गये उसी बीच धोखेबाज श्रीस सिंह ने बड़ी ही चालाकी से पत्रकार के कमरे में जाकर टी.व्ही.एस स्टार सिटी काले की नई मोटर सायकिल की चाभी व मोबाइल लेकर भाग निकला जिसे पत्रकार के परिजन भी नहीं जान पाये कि वह वहां से कब निकला। पत्रकार की मोटर सायकिल की डिग्गी में पचास हजार नगदी रखा था। जिसे वह अपने मामा को उनकी लड़की के तिलक क लिए देने वास्ते रखा था एवं साथ ही पत्रकार के मार्कशीट निवास प्रमाण पत्र सहित कुछ अन्य जरूरी दस्तावेज भी डिग्गी में रखे थे। भुक्तभोगी पत्रकार की नींद खुलने पर जब वे अपने मामा के यहां जाने को तैयार हुआ तब देखा कि लुटेरा चोर श्रीस सिंह गाड़ी व मोबाइल सहित घर से नदारत था। जब भुक्तभोगी ने लुटेरे श्रीस सिंह से मोबाइल से बात करना चाहा तो उसका मोबाइल बंद था। जिससे पत्रकार ने अपने मोबाइल पर फोन किया तो उस एहसान फरामोश चोर से बात हुई व उसने कहा कि वह कोरांव बैलेन्स डलवाने आया था।
अब वह शीघ्र ही घर वापस लौट रहा है। जिससे पत्रकार उसकी बातों में आकर उसका इन्तजार करने लगा। किन्तु एक घण्टे में उसके वापस न आने पर पत्रकार सूर्यनारायण शुक्ल ने उससे दुबारा सम्पर्क करना चाहा तो मोबाइल बंद हो चुका था। इसके बावजूद भी भुक्तभोगी 24 जून को रात भर उसके आने की उम्मीद से उसका इन्तजार करता रहा किन्तु वह वापस नहीं लौटा। विवश होकर पत्रकार ने 25 जून 2010 को क्षेत्रीय चौकी रामगढ़ के एस।आई. शुक्ला जी को मामले से अवगत कराया जिससे एस.आई. ने पत्रकार को कोरांव थाने जाकर तहरीर देने को कहा।

जब पत्रकार को कोरांव थाने में तहरीर दी तो एक दीवान ने कहा कि जाओ पहले दो चार दिन उसको ढूंढो उसके बाद यहां आओ तब प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार किया जायेगा यह कोई चोरी का प्रकरण नहीं है। जिस पर पत्रकार शुक्ल ने कहा कि आपके द्वारा यदि प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा सकती तो मुझे तहरीर की पावती ही दे दीजिए जिस पर दीवान ने कहा कि यहां यह नियम नहीं है। कभी किसी को तहरीर की पावती नहीं दी जाती जिससे पत्रकार ने उसी दिन तहरीर की मूल प्रति दीवान को दे दी व तहरीर की छायाप्रति पोस्ट ऑफिस से थानाध्यक्ष कोरांव के नाम रजिस्ट्री कर दी।

दिनांक 24 जून को ही सी।ओ. मेजा को मामले से अवगत कराकर पत्रकान ने थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाने का अनुरोध किया किन्तु उनके द्वारा भी इस मामले में ध्यान नहीं दिये जाने से भुक्तभोगी ने 25 जून 2010 को ही थाने में दी गई तहरीर की छायाप्रति में यह नोट लगाकर कि प्रार्थी की कोरांव थाने में प्राथमिकी नहीं दर्ज की जा रही है, को डी.आई.जी. इलाहाबाद को फैक्स किया किन्तु 27 जून 2010 तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई जिससे विवश होकर पत्रकार द्वारा आई.जी. इलाहाबाद मण्डल महोदय द्वारा कोरांव थाने पर प्राथमिकी दर्ज करने के लिए निर्देशित किया जिस पर हीलाहवाली करते हुए दीवान ने आखिरकार प्राथमिकी दर्ज ही कर ली व विलम्ब का कारण वादी को स्वयं ठहरा दिया व अपराधी के विरूद्ध धारा 380 आई.पी.सी. का मुकदमा दर्ज कर दिया गया। एवं विवेचना अधिकारी रामगढ़ चौकी इंचार्ज श्री शुक्ला जी को नियुक्त किया गया।

प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस द्वारा न तो कोई तहकीकात की जा रही है। न ही अपराधी को कपडऩे किसी प्रकार का प्रयास किया जा रहा है। शुक्तभोगी द्वारा चकड़ीहा गांव के कुछ लोगों से पूंछताछ करने पर पता चला कि वह 24 जून को एक काले रंग की टी.व्ही.एस. स्टार सिटी गाड़ी जिसमें प्रेस ''टाइम्स ऑफ क्राइम'' व दैनिक आज लिखा एवं आगे व पीछे के नंबर प्लेट पर यू.पी. 70-बी.डी. 2377 नंबर लिखी हुई गाड़ी लेकर अपने घर गया था उसके बाद वह कहां चला गया कोई पता नहीं चलपाया। भुक्तभोगी पत्रकार ने आई.जी. इलाहाबाद मण्डल इलाहाबाद से मांग की है कि श्रीस सिंह उर्फ चन्दन को गिरफ्तार करने के लिए कोरांव पुलिस निर्देशित करें ताकि फरार अभियुक्त के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही हो सके।

जिला चिकित्सालय बालाघाट में निरकुंश चिकित्सा प्रणाली

जिला प्रतिनिधि // डी. जी. चौरे (बालाघाट // टाइम्स ऑफ क्राइम)
जिला प्रतिनिधि डी. जी. चौर से सम्पर्क 93023 02479
मध्यप्रदेश के गिने चुने अस्पताल में ही बालाघाट चिकित्सालय के जैसी स्वच्छता देखने को मिलेगी जिला चिकित्सालय बालाघाट में स्वच्छता के नाम पर उसका कोई सानी नहीं है। जिला चिकित्सालय बालाघाट में चिकित्सा के नाम पर आँसु पोंछने वाला कार्य किया जा रहा है। चिकित्सालय में भर्ती मरीजों को दवाई के नाम पर सस्ती दवाई दी जाती है। मरीजों के लिए चिकित्सालय में दवाईयाँ उपलब्ध नहीं है। मरीजों को सभी दवाईयाँ बाहर से लेनी पड़ती है। परंतु बाहर की दवाई लिखने की मनाई है और डॉक्टर से विनती करने पर ही डॉक्टर बाहर की दवाई लिखता है गरीब आदमी ना जी सकता है और ना मर सकता है, जिस डॉक्टर बाहर की दवाई लिखता है गरीब आदमी ना जी सकता है और ना मर सकता है, जिस डॉक्टर के द्वारा मरीज भर्ती होता है वहीं डॉक्टर मरीज को देखता है, दूसरे डॉक्टर के द्वारा भर्ती किये गये मरीज पर डॉक्टर ध्यान नहीं रखता। चाहे वह डॉक्टर छुट्टी पर क्यों न गया हो, मरीज की हालत अधिक खराब या सिरियस होने पर नागपुर रिफर कर दिया जाता है। जिला चिकित्सालय की सोनोग्राफी ठीक न होना आश्चर्य की बात है, जिला शासकीय चिकित्सालय होने के बावजूद सोनोग्राफी खराब होना आश्चर्य की बात है, डॉक्टर सोनोग्राफी खराब कहकर अपने निजी अस्पताल में सोनोग्राफी करवाते हैं, जिसमें मरीज से 500 से 900 रूपये तक वसूली करते है दीनदयाल पचार योजना के अंतर्गत 20,000 हजार रूपये तक दवा देने का प्रावधान है। परंतु मरीज को अस्पताल से दवाई के नाम पर नाम मात्र की दवाई उपलब्ध होती है, अन्यथा बाहरी दुकान से ही दवाई मंगाई जाती है, ऑपरेशन के लिए भी इंजेक्शन एवं अन्य दवाईयां बाहर से मंगाई जाती है। भर्ती होने वाले मरीज से नर्स एवं कर्मचारी मरीजों के सहायक रिश्तेदारों से बतमिजी से पेश आते हैं। अत: मरीज के सहायक रिश्तेदार नर्स एवं अन्य कर्मचारियों से बात करने से डरते है अन्यथा उन्हें डाँट खानी पड़ती है, जिला प्रशासन एवं जिला चिकित्सालय विभाग के उच्चाधिकारियों के मिलीभगत का परिणाम है जो शासन से मिलने वाली सुविधा के अंतर्गत गरीबों को करोड़ों रूपया दीनदयाल अंत्योदय उपचार के नाम पर मंत्री एंव अधिकारी डकार रहे है एवं साथ ही मुख्यमंत्री एवं लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अपने नाम का प्रचार कर रहे हैं।

आटो संघ अध्यक्ष साढ़े चार किलो गांजे के साथ गिरफ्तार

ब्यूरों प्रमुख// सुरिन्दर सिंह अरोरा (होशंगाबाद // टाइम्स ऑफ क्राइम) ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 99939 93300
जिला पुलिस अधीक्षक रूचि वर्धन श्रीवास्तव के निर्देशन पर जिले में मादक पदार्थो के व्यापार से जुड़े लोगों के खिलाफ की जा कार्यावाही के तहत कोतवाली पुलिस ने बालागंज निवासी राजेन्द्र कुचबंदिया को साढ़े चार किलो अवैध गांजे के साथ गिरफ्तार किया। राजेन्द्र कुचबंदिया आत्मज मिश्रीलाल कुचबंदिया जो कि 1996 से लगातार अपराधिक कृत्यों में संलग्न रहा है इसका माननीय सीजेएम न्यायालय द्वारा भी धारा 3(1)(2) आबकारी एक्ट के प्रकरण में वारंट जारी किया था जो काफी समय से लंबित था थाना कोतवाली के अप।क्र।92/10 धारा 147,341 ताहि। के प्रकरण में फरार था एवं दिनांक 06।07.10 को मुखबिर की सूचना पर उसके घर से 4 किलो 500 ग्राम अवैध गांजा बरामद किया गया है। जो आरोपी राजेन्द्र कुचबंदिया को दिनांक 07.07.10 को फरारी वारंट एवं अवैध गांजा के प्रकरण मे सीजेएम न्यायालय पेश किया गया था। न्यायालय द्वारा दिनांक 20.07.10 तक जुडिशियल रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। राजेन्द्र कुचबंदिया के विरूद्ध वर्ष 1996 से लगातार मारपीट, बल्वा, चोरी के लगभग 11 अपराध थाने में पंजीबद्ध है। जो कि अपराध करने का आदि है जिसके विरूद्ध धारा 110 जा.फौ. की कार्यवाही की गई है। राजेन्द्र कुचबंदिया के पास कोई आटो नहीं है। किंतु आटो यूनियन का अध्यक्ष बनकर आटोवालों से अवैध पैसा इकठ्ठा करता है। तथा यह अवैध शराब, गांजा इत्यादि का धंधा कराता है। बालागंज में जब भी पुलिस रेड करने जाती है तो महिलाएं बच्चे एवं मोहल्ले के लोग इकठ्ठे होकर पुलिस कार्यवाही में व्यवधान डालते है। तथा राजेन्द्र कुचबंदिया ऐसे लोगों को संरक्षण देता है। इसके विरूद्ध वर्ष 1997 में धारा 110 की कार्यवाही की गई है। इसका अपराधिक रिकार्ड निम्न है।
-------------------------------------------------------------------------------------------
क्र अप.क्र. धारा
1. 740/96 294,323,34 ताहि.
2. 228/97 379 ताहि.
3. 552/97 323,294,341,34 ताहि.
4. 764/97 294,323,506 ताहि.
5. 786/97 342,386,34 ताहि.6. 25/97 110 जा.फौ.
7.246/00 342,294,323,506,367,34 ताहि.
8. 278/01 323,294,506,427,34 ताहि.
9. 788/02 341,294,323,506 ताहि.
10. 129/09 34(1)(2) आबकारी एक्ट
11. 92/10 341,147 ताहि.
12. 680/10 8/20 एनडीपीएस एक्ट
13। 38/10 110 जा.फौ.
-------------------------------------------------------------------------------------------

Monday, July 12, 2010

विकास यात्रा में राज्य की अच्छी प्रगति-डा0 रमन सिंह

भैयाथान में नवीन महाविद्यालय का शुभारम्भ - पशु चिकित्सालयों एवं औषधालयों सहित सड़कों का शिलान्यास 1.81 अरब रूपये के विकास कार्यो की मिली सौगात
ब्यूरो प्रमुख // राजेन्द्र कुमार जैन (अम्बिकापुर //टाइम्स ऑफ क्राइम)
ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 98265 40182

अम्बिकापुर 07 जुलाई 2010/ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि विकास यात्रा से छत्तीसगढ़ राज्य ने अच्छी प्रगति की है। गरीबों के लिए रियायती दर पर चावल, निःशुल्क नमक, चरणपादुका, बालिकाओं के लिए सायकिल, निराश्रित और वृद्धों के लिए सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाएं सहित सभी वर्गो के विकास एवं कल्याण के लिए योजनाएं चलाई जा रही हैं। इसी कड़ी में गरीबों के स्वाभिमान के लिए स्मार्ट-कार्ड के माध्यम से 30 हजार रूपये तक की निःशुल्क इलाज की सुविधा शुरू की गई है। स्मार्ट कार्ड के माध्यम से सरकारी और निजी अस्पतालों में गरीब परिवार अपना समुचि इलाज करवा सकेंगे। मुख्यमंत्री ने आज भैयाथान जनपद मुख्यालय मंे नवीन शासकीय महाविद्यालय का शुभारम्भ कर 1 अरब 80 करोड़ 97 लाख 84 हजार रूपये के विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमि पूजन और लोकापर्ण के अवसर पर यह विचार व्यक्त किये। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विशाल आमसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भैयाथान क्षेत्र के विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता के क्रम में रखा गया है। नवीन महाविद्यालय के शुभारम्भ के साथ ही दो सौ विद्यार्थियों के प्रवेश लेने को उच्च शिक्षा के क्षेत्र मंे सुखद बताते हुए मुख्यमंत्री ने जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कुदरगढ़ी देवी धाम के उन्नयन और विकास के लिए हर संभव विकास कार्य की स्वीकृति देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में छात्रावासों में रहने वाले बच्चों को कम्बल, स्वेटर और मोजे दिये जायेंगे। डॉ. सिंह ने कहा कि भटगांव के विधायक स्वर्गीय रविशंकर त्रिपाठी इस क्षेत्र की समस्याआंे के समाधान के लिए निरंतर तत्पर रहते थे। उनकी आशाआंे के अनुरूप विकास कार्य निरंतर जारी रखा जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरगुजा जिले में लगभग 600 करोड़ रूपये की लागत से सड़कंे बनायी जा रही हैं। गुणवत्तापूर्ण बिजली आपूर्ति के लिए विश्रामपुर में 220 के.व्ही. की लाईन कोरबा से लाई जा रही हैं भैयाथान में 132 के.व्ही. का सब स्टेशन बन रहा है। इसके अलावा भी कई जगहों पर सब स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है। स्कूल शिक्षा और लोक निर्माण मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि भैयाथान क्षेत्र के विकास के लिए मुख्यमंत्री विशेष ध्यान दे रहे हैं। इसी कड़ी में आज से महाविद्यालय शुरू किया गया है और अरबों रूपये के विकास एवं निर्माण कार्यों का शिलान्यास हुआ है। उन्होंने कहा कि जनता की मांग के अनुरूप स्कूलों की स्वीकृति दी जा रही है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री रामविचार नेताम ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री के हाथों आज अरबों के विकास कार्यों की सौंगाते जिले को मिली है। वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों के लिए मंुख्यमंत्री की विशेष पहल पर भारत सरकार द्वारा स्वीकृत सड़कों का शिलान्यास आज किया गया है। इससे सड़क सम्पर्क का दायरा बढ़ेगा और आमजनों को इसका लाभ मिलेगा। सरगुजा विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष और प्रेमनगर की विधायक श्रीमती रेणुका सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री विकास के साथ नक्सलवाद के अंत के लिए संकल्पित हैं। इनके प्रयासों से सभी क्षेत्रों में समग्र विकास देखने को मिल रहा है। अरबों रूपये के विकास कार्यो की मिली सौगातें मुख्यमंत्री ने जनपद पंचायत परिसर में नवीन शासकीय महाविद्यालय का शुभारम्भ किया। वर्तमान मंे यह महाविद्यालय पुराने जनपद पंचायत कार्यालय के भवन में संचालित होगा। नवीन महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एच.एन. दुबे ने बताया है कि इस कॉलेज में कला, वाणिज्य एवं विज्ञान संकाय के प्रथम वर्ष की कक्षाएं संचालित होंगी। विज्ञान संकाय के तहत जीव विज्ञान समूह की कक्षाएं संचालित होंगी। मुख्यमंत्री द्वारा इस अवसर पर जिले को एक अरब 81 करोड़ रूपये के विकास कार्यो की सौगातें दी। उन्होंने विकासखण्ड मुख्यालय में 26 लाख रूपये की लागत से निर्मित तहसील कार्यालय, 7 लाख 70 हजार रूपये की लागत से निर्मित विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय एवं 36 लाख रूपये की लागत से निर्मित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय का लोकार्पण किया। डॉ. रमन सिंह द्वारा इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाये जाने वाले 4 नवीन सड़कों का भूमि पूजन किया गया। इनमें 22 करोड़ 87 लाख की लागत से 24.30 किलोमीटर पटना-भैयाथान मार्ग, 33 करोड़ 45 लाख रूपये की लागत से 35 किलोमीटर प्रतापपुर-भैयाथान मार्ग, 40 करोड़ 70 लाख रूपये की लागत से 49 किलोमीटर कल्याणपुर-लटोरी-दतिमा मार्ग एवं 75 करोड़ 11 लाख रूपये की लागत से 89.20 किलोमीटर विशुनपुर-सूरजपुर-ओड़गी मार्ग शामिल हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा पशुपालन विकास विभाग द्वारा 8 करोड़ 15 लाख 14 हजार की लागत से बनने वाले पशु चिकित्सालय, पशु औषधालय, जिला पशु चिकित्सालय को पॉलीक्लीनिक में उन्नयन, कुक्कुट एवं सूकर प्रक्षेत्र सकालो का विस्तार एवं सकालो मंे कोरेन्टाइन स्टेशन के निर्माण कार्यो का शिलान्यास किया गया। 25-25 लाख रूपये की लागत से 11 पशु चिकित्सालय भवनों, 5-5 लाख रूपये की लागत से 60 पशु औषधालय, 52 लाख 20 हजार की लागत से जिला पशु चिकित्सालय अम्बिकापुर का पॉलीक्लीनिक मंे उन्नयन, 1 करोड़ 49 लाख की लागत से कुक्कुट प्रक्षेत्र सकालो का विस्तार, 27 लाख रूपये की लागत से सूकर प्रक्षेत्र सकालो का विस्तार एवं 12 लाख रूपये की लागत से कोरेन्टाइन स्टेशन सकालो का निर्माण किया जायेगा। भैयाथान में आयोजित कार्यक्रम के दौरान ही मुख्यमंत्री ने कृषि उपज मण्डी बोर्ड द्वारा अंत्योदय परिवार एवं गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापनरत दो हजार खेतीहर महिलाओं को दिये जाने वाली बरसाती का प्रतीकात्मक वितरण किया। सरस्वती सायकल वितरण योजनान्तर्गत शासकीय कन्या उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय भैयाथान, उ.मा.वि. दर्रीपारा, उमावि शिवप्रसादनगर सहित कई हाईस्कूलों में पढ़ने वाली लगभग पांच सौ छात्राओं को सायकल वितरित किया गया। इसके अलावा कृषि विभाग की ओर से किसानों को कृषि उपकरण एवं बीज प्रदान किया गया। इस अवसर पर उच्च शिक्षा एवं जल संसाधन मंत्री श्री .हेमचंद यादव, कृषि मंत्री श्री चंद्रशेखर साहू, लोकसभा सांसद श्री मुरारीलाल सिंह, राज्य सभा सांसद श्री शिवप्रताप सिंह, संसदीय सचिव श्री सिद्धनाथ पैकरा एवं श्री भैयालाल राजवाड़े, मार्केफेड के अध्यक्ष श्री राधाकृष्ण गुप्ता, राज्य श्रम आयोग के सदस्य श्री अनिल सिंह मेजर सहित क्षेत्र के वरिष्ठ जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक, कमिश्नर श्री एम.आर.एस. पैकरा, आई.जी श्री पी.एन.तिवारी, कलेक्टर श्री धनंजय देवागंन, अपर कलेक्टर श्री एच.एल.नायक, पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री टी.आर.पैकरा सहित अन्य विभागों के अधिकारी एवं बड़ी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

Friday, July 9, 2010

किसान हाल बेहाल, हालत गम्भीर

ब्यूरो प्रमुख // संतोष कुमार गुप्ता (शहडोल //टाइम्स ऑफ क्राइम)
ब्यूरो प्रमुख से संपर्क : 94243 30959
किसानों को पानी की समस्या के अलावा खाद संकट से दो-चार होना पड़ रहा है

शहडोल- कम वर्षा की कमी से जूझ रहे किसानों को अब खाद न मिलने की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कृषि विभाग द्वारा खाद का भंडारण किए जाने का दावा किया गया था, लेकिन किसानों का कहना है कि बोनी के लिए खाद ही नही मिल पा रहा है। बताया जाता है कि कृषि विभाग के डबल लाक में पिछले कुछ दिनों से खाद का स्टाक नही है इस कारण इस तरह की समस्या उत्पन्न हुई है। सूत्रों का कहना है कि डबल लाक में खाद का स्टाक उपलब्ध होने में अभी एक सप्ताह का समय और लग सकता है । बताया जाता है कि खाद के लिए डिमांड भेजी गई है। हालांकि कृषि अधिकारियों का कहना है कि समितियों में खाद उपलब्ध है और किसान चाहे तो वहां से किसान खाद ले सकते है। किसानों ने बताया कि समितियों से बड़े किसानों ने खाद ले लिया है इस कारण छोटे किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । कुछ किसानों का तो यहां तक कहना है कि बड़े दुकानदारों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से खाद की कमी निर्मित की गई है। इससे किसान परेशान हैं। पानी की कमी को देखते हुए किसान पानी गिरने का इंतजार कर रहे थे और अब जब उन्होंने बोनी की तैयारी शुरू की तो उन्हें खाद ही नहीं मिल पा रहा है। कई किसानों ने बताया कि उन्हें यूरिया, डीएपी, सुपर फास्फेट और पोटास की जरूरत खेत के लिए है पर वे परेशानहाल है। उन्होंने बताया कि खाद के यही हाल रहे तो बोनी में काफी विलंब हो जाएगा । सिंदूरी के किसान फरीद अहमद, गंगू चौधरी, खोल्ह$क के किसान जुड्डïा बैगा और सेमई बैगा ने बताया कि उन्हें अभी तक खाद नहीं मिला है जिस कारण वे अभी तक बुवाइ्र नही कर पाए है जबकि उनके खेत तैयार है। खरीफ के किसानों को खाद उपलब्ध कराने के लिए कृषि विभाग द्वारा खाद का भंडारण किए जाने का दावा किया जा रहा था। समितियों के माध्यम से खाद उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले में 37 समितियां है, जहां खाद उपलब्ध हैं। डबल लाक में स्टाक नहीं है पर यहां भी शीघ्र ही खाद उपलब्ध हो जाएगी। 31 मई तक बिना किसी ब्याज के खाद उपलब्ध था, पर किसानों ने रूचि नही दिखाई । च

महंगाई के विरोध में बंद का समर्थन करते भाजपा एवं जनता दल यू के कार्यकर्ता

ब्यूरो प्रमुख // संतोष कुमार गुप्ता (शहडोल //टाइम्स ऑफ क्राइम)

ब्यूरो प्रमुख से संपर्क : 94243 30959


शहडोल। महंगाई के विरोध में बन्द सफल रहा. नगर का मुख्य बाजार पूर्णता बन्द रहा वही, पान चाय की दुकान के अलावा बस्ती के अन्दर भी कुछ दुकाने खुली रही. इस दौरान भाजपा और जनता दल यू के पदाधिकारी एवं सदस्य एक मंच पर रहे. जिनके द्वारा केन्द्र सरकार द्वारा बढ़ाई गई महंगाई का जमकर विरोध किया गया. मुख्य बजार की सभी दुकानें सुबह से ही बन्द रहीं. बताया गया है की केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोल, डीजल, गैस के दाम बढ़ाये गये है. जिसके विरोध में भारत बन्द रहा है. इस बढ़ती महंगाई से गरीब तबका के साथ हर कोई परेशान है. जिससे विपक्ष के कई दलों के लोगों ने एकजुट होकर महंगाई का विरोध किया. इस दौरान भारी संख्या में भाजपा एवं जनता दल यू के पदाधिकारी एवं सदस्य एक साथ होकर अपना विरोध जताया. वहीं व्यापारियों का सहयोग भी बना रहा, जिनके द्वारा दुकानें नहीं खोली गई. नगर की मुख्य प्रतिष्ठïान बन्द रही है साथ स्कूल, कालेज भी नहीं लगे।स्थानीय गांधी चौंक पर सुबह से ही भाजपा और जदयू के पदाधिकारी एवं कार्यरत एक साथ दिखाई दिया और इस देश व्यापी हड़ताल में शामिल होकर बढ़ती महंगाई का जमकर विरोध किया गया. इस अवसर पर भारी संख्या में लोग शामिल थे. वहीं इस दौरान विपक्ष एकता की ऐतिहासिक और अभूत पूर्व मिशाल देखी गई. महंगाई के विरोध में शहडोल बन्द में व्यापारी, शिक्षण संस्थान का भी पूरा सहयोग दिखाई दिया. नगर की लगभग सभी स्कूलें बन्द रहीं, बढ़ती महंगाई के कारण गरीब तबका के साथ अन्य सभी लोग परेशान है. पेट्रोल, डीजल, घरेलू गैस की बढ़ोत्तरी को लेकर जिला पूर्णत: बन्द रहा।इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष मार्तण्ड त्रिपाठी, पूर्व विधायक लल्लू सिंह, पूर्व नपा उपाध्यक्ष प्रवीण शर्मा डोली, भाजपा महिला प्रकोष्ठï की महामंत्री शैल अवस्थी, पूर्व जिलाध्यक्ष अनुपम अनुराग अवस्थी, श्याम बाबू जायसवाल, सुनीता तर्किहार, विजय गुप्ता, कृष्ण कुमार ताम्रकार, शंकर गुप्ता, संजय मित्तल, विनोद महाजन, नीलेश निगम, रविन्दर सिंह, विनय केवट, मनीष गुप्ता, विष्णु ताम्रकार, आशीष शर्मा, सुशील शर्मा, मनोज पाठक, महेश भागदेव, भैयन चतुर्वेदी, भुवन भास्कर, अमृत गोले, रमेश कोल एवं पीके गुप्ता समेत भारी संख्या में भाजपा जन शामिल थे. वहीं जनता दल की ओर से जद यू के प्रदेश सचिव सिंकदर खान, जिला महामंत्री रामजी श्रीवास्तव, रंजीत सरावगी सहित कई लोग शामिल थे साथ ही बताया गया है महंगाई के विरोध में जिले के ब्यौहारी, जयसिंहनगर, खन्नौदी, गोहपारू, बुढ़ार, धनपुरी, अमलाई में भी बन्द पूर्णत: सफल रहा।


पत्नी की हत्या कर, आत्महत्या कर ली

ब्यूरो प्रमुख // संतोष कुमार गुप्ता (शहडोल //टाइम्स ऑफ क्राइम) ब्यूरो प्रमुख से सम्पर्क 94243 30959

शहडोल- ब्यौहारी थाना क्षेत्र के ग्राम नंदरौड़ी में रविवार की सुबह जंगल में मिली महिला लाश के बाद आज सुबह घटना स्थल से करीब 1 किलोमीटर दूर जंगल में महिला के पति का शव भी बरामद किया गया है। मामले को लेकर ग्रामीण अंचल में सनसनी का माहौल बना हुआ है। बताया जा रहा है कि शनिवार की सुबह जंगल की ओर निकले दंपत्ति रविवार तक घर वापस नही लौटे थे, जिनका तलाशने निकले परिजन ने 4 जून को मुन्नी बाई पटेल की क्षत-विक्षत लाश देखी। पुलिस ने मामले पर मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ की। मामले की विवेचना कर रहे उप निरीक्षण श्री गहलोत ने बताया कि धारदार हथियार से महिला के गर्दन पर गंभीर वार किया गया।जांच शुरूइस कारण उसकी स्थल पर ही मौत हो गई थी। बताया गया है कि मामले में हत्या की संभावना को लेकर प्रांरभिक जांच पर महिला के पति की भूमिका संदिग्ध रही। बताया गया है कि मृतका मुन्नी बाई पटेल एवं उसके पति मंगलेश पटेल करीब 16 वर्षो से वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे थे, लेकिन इस बीच संतान न होने के कारण, उनके मध्य अनबन होना आम बात हो गई। गहलोत ने बताया कि 25 जून को वर्षो से हो रही अनबन मारपीट में बदल गई व इस दौरान पंचायत में समझौते के बाद दोबारा साथ रहने लगे। इसी बीच 3 जून को षड्यंत्र पूर्वक मृतिका के पति ने उसे जंगल ले जाने के लिए राजी किया तथा साथ-साथ निकले दोनों के वापस न लौटने पर परिजनों व ग्रामीणों ने उनकी खोज बीन शुरू की। पुलिस अधिकारियों ने मामले पर रविवार की रात्रि को उसके पति के विरूद्घ हत्या का मामला दर्ज कर लिया । बताया गया है कि हत्यारे की तलाश में जुटी पुलिस ने आज आरोपी को घटना स्थल से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर महूए के पेड़ से लटके हुए अवस्थ में देखा है । पुलिस ने आंशका व्यक्त की है कि धारदार हथियार से अपनी पत्नी की गर्दन पर हमला करने के बाद आरोपी ने खुदकुशी कर ली।

सरेआम एक युवक को चाकुओं से गोद डाला

ब्यूरो प्रमुख // संतोष कुमार गुप्ता (शहडोल //टाइम्स ऑफ क्राइम) ब्यूरो प्रमुख से सम्पर्क 94243 30959

धनपुरी। नगर के प्रसिद्घ ज्वालामुखी मंदिर के सामने गत दिवस सरेआम एक युवक को प्राणघाती हमला करते हुए चाकुओं से गोद डाला. घटना में घायल युवक को प्राथमिक इलाज के बाद गंभीर अवस्था में शहडोल जिला चिकित्सालय रेफर किया गया, जहां उसका उपचार किया जा रहा है. युवक की हालत गंभीर बतायी गयी है। बताया गया है कि कल शाम साढ़े पांच बजे पुरानी बस्ती निवासी गौरव तिवारी 17 वर्ष पिता बिहारी तिवारी लाल पान ठेला पर खड़ा किसी से बात कर रहा था, तभी हमलावर युवक देवेन्द्र विश्वकर्मा उर्फ लल्लू 22 वर्ष पिता भगवान दास उर्फ कोची आया और उसने गौरव पर चाकू से ताबड़तोड़ वार करने शुरू कर दिये. हमले से गौरव को सिर, जांघ एवं हाथ में चाकू के तीखे प्रहार लगा. बताया गया है कि चाकू का वार हाथ में इतना गंभीर चोट था कि चाकू हड्डïी को फाड़ते हुए आर-पार निकल गया. जिससे वह लहुलुहान होकर वही गिर पड़ा. हमला करने के बाद हमलावर कुदरीटोला की ओर भाग गया. घायल युवक को स्थानीय जन पुलिस थाना धनपुरी ले गये जहा मामला दर्ज कर घायल को बुढ़ार चिकित्सालय ले जाकर इलाज शुरू कराया गया, वहां उसे प्राथमिक उपचार दिया गया और गंभीर रूप से घायल होने के कारण उसे जिला अस्पताल शहडोल उपचार हेतु रेफर कर दिया गया. इस संबंध में थाना प्रभारी हेमंत शर्मा ने बताया कि फरार हमलावर की तलाश की जा रही है और वह शीघ्र ही कानून के शिकंजे में होगा. बताया गया है कि मामला पुरानी रंजिश का है, पूर्व में भी देवेन्द्र के ऊपर इसी तरह की मारपीट और हिंसा का प्रकरण कायम हुआ था। चमोटर सायकल की ठोकर से युवती घायलशहडोल. मोटर सायकल की ठोकर से घायल युवती जिला चिकित्सालय में उपचारार्थ भर्ती. शहडोल। जिला चिकित्सालय के सामने कल शाम 7-8 बजे के बीच मोटर सायकल की ठोकर से एक युवती घायल हो गयी, जिसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है. इस हादसे में युवती के हाथ, पैर एवं सिर में गंभीर चोट आयी है। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार केल्हौरी निवासी 26 वर्षीय रानी चौरसिया पति राजकुमार चौरसिया जिला चिकित्सालय के बच्चा वार्ड में भर्ती एक बालक को देखने आयी थी, जहां से वापस जाते समय जिला चिकित्सालय के सामने एक मोटर सायकल सवार युवक ने उसे ठोकर मार दी. जिसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है, जहा ंउसका उपचार किया जा रहा है।

Thursday, July 8, 2010

शासकीय महाविद्यालय सिहोरा का मुख्य लिपिक भ्रष्टाचारी ओ.पी. दुबे बर्खास्त

क्राइम की पहल पर 10 वर्षों से लंबित मामले का शीघ्र निराकरण हुआ। आयुक्त उच्चशिक्षा म.प्र. शासन भोपाल द्वारा किये गये फैसले को लोगों ने इंसाफ की जीत, और भ्रष्टाचार का मुंह काला निरूपति किया शासकीय राशि का गबन करने वाले फ्राड ओ.पी. दुबेे से गबन की राशि वसूली, की जाय जनता ने मांग की -
प्रतिनिधि // उदयसिंह पटेल (सिहोरोटाइम्स ऑफ क्राइम) -

प्रतिनिधि से सम्पर्क 93298 48072

उल्लेखनीय है कि उपरोक्त मामला सन् 1999 का है उस समय आरोपी ओ।पी. दुबे शासकीय महाविद्यालय पनागर में उच्च श्रेणी लिपिक था, और उसके पास कैश का भी प्रभार रहा। इस प्रकरण के जानकार सूत्रों ने ''टाइम्स ऑफ क्राइमÓÓ को लिखित जानकारी में बताया कि आरोपी ओ.पी. दुबे के खिलाफ दस्तावेजों की कूट रचना करने तथा 58, 357=85 (अन्ठावन हजार तीन सौ सन्तावन रूपये पचासी पैसे) नगद राशि के गबन का गंभीर आरोप था। गौरतलब है कि उस समय शासकीय कला महाविद्यालय पनागर की प्राचार्य श्रीमती कीर्ति गुरू थी, जिनकी शिकायत पर यह प्रकरण आयुक्त उच्चशिक्षा म.प्र. शासन के कार्यालय में लंबित रहा। अत: जांच के दौरान आयुक्त ने आरोपी ओ.पी. दुबे को इस घटना का दोषी मानते हुये विगत 6 दिसंबर 2008 को पदच्युत करने का आदेश पारित कर दिया। अत: आरोपी ओ.पी. दुबे ने उक्त आदेश के खिलाफ डॉ. रघुवंशी उपसचिव उच्चशिक्षा विभाग मंत्रालय में अपील कर दी। और वह हिकमत लगाकर बहाल हो गया उल्लेखनीय है कि आरोपी अपील से बहाल तो हो गया किन्तु प्रकरण में आरोपी के खिलाफ जांच धीमी गति से चलती रही। ज्ञात हो कि शासकीय महाविद्यालय सिहोरा के जानकार सूत्रों द्वारा हमारे सिहोरा संवाददाता को इस प्रकरण के संदर्भ में जैसे ही जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत इस घटना का संपूर्ण उल्लेख 2,3 बार अखबार ''टाइम्स ऑफ क्राइमÓÓ में प्रकाशित कराया और फ्राड ओ.पी. दुबे मुख्य लिपिक की कलई शासन, प्रशासन, एवं जनता के बीच उजागर कर दी। गौरतलब है कि आशीष उपाध्याय आयुक्त उच्च शिक्षा म.प्र. शासन भोपाल द्वारा उक्त प्रकरण में संपूर्ण जांच पड़ताल कर अंतत: आरोपी ओंम प्रकाश उर्फ ओ.पी. दुबे मुख्य लिपिक को विगत 1999 शासकीय कला महाविद्यालय पनागर की घटना (गबन) का दोषी मानते हुये नौकरी से बरखास्त कर दिया। लोगों ने इस फैसले को इंसाफ की जीत होना बताया। और उच्चशिक्षा विभाग के आयुक्त माननीय आशीष उपाध्याय की प्रशंसा की।



कॉलोनियों में विकास कार्य

भोपाल// दिवाकर गुप्ता (टाइम्स ऑफ क्राइम)
रिपोर्टर दिवाकर गुप्ता से सम्पर्क : 97554 01788
म.प्र. की राजधानी भोपाल का सबसे आखिरी वार्ड जिसका नाम है। करोद जो कि 70 के अंतर्गत आता है। यहां पर विकास कार्यों की झड़ी सी लगी हुई है। कॉलोनियों में साफ सुथरी सड़के तथा बोर का उत्खनन पार्षद निधि से तथा अन्य निधि मिलाकर हर कॉलोनी में किया जा रहा है जब ''टाइम्स ऑफ क्राइम'' के रिपोर्टर ने देखा तो पाया कि पार्षद ब्रजमोहन पचौरी रात को 12 बजे तक विकास कार्य को गति प्रदान कर रहे हैं। आज के दौर में कोई भी पार्षद रात के 12 बजे तक कार्य नहीं करता यह तो ठीक राजाभोज जैसा कार्य किया जा रहा है पर थोड़ी बहुत समस्या तो फिर भी लगी रहती है। नगर-निगम के अधिकारियों के उदासीन रवैया की वजह से विकास कार्य में बाधा आ रही है। फिर जहां विकास की गंगा बहती है वहां पर बाधा तो लगी रहती है। जब ''टाइम्स ऑफ क्राइम'' के प्रतिनिधि ने विकास कार्य का जायजा लिया तो स्थिति बेहतर है। इनका कहना है''10 लाख रू. पार्षद निधि तथा विधायक निधि अन्य निधि को मिलाकर 90 लाख रूपये के कार्य किये जा रहे और समस्या का जल्द से जल्द निराकरण होगा।दूसरी पुष्टि करने के लिए विश्वकर्मा नगर कॉलोनी जो कि हाउसिंग बोर्ड में स्थित है वहां पर प्रतिनिधि ने देखा तो स्थिति संतोष जनक है।'' - (पार्षद ब्रजमोहन पचौरी) -

होशंगाबाद : जिले मे बन्द का व्यापक असर - शांतिपूर्ण बन्द

ब्यूरों प्रमुख// सुरिन्दर सिंह अरोरा (होशंगाबाद // टाइम्स ऑफ क्राइम)

ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 99939 93300

पेट्रोल, डीजल कैरोसिन की मूल्यवृद्धि और बढ़ती मंहगाई को लेकर भाजपा द्वारा भारत बन्द का आव्हान पर आज जिले बन्द का असर शतप्रतिशत देखा गया। बन्द शांतिपूर्ण एवं सफल रहा पुलिस एवं प्रशासन ने इस अवसर पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए थे। पुलिस मोबाईल लगातार गस्त करती रही। स्कूल एवं मेडिकल स्र्टोस को छोड़कर समस्त व्यापारिक संस्थान बन्द रहे। सुबह से ही भाजपा नेताओं ने बन्द के लिए समर्थन मॉगा जिसका समर्थन उन्हें मिला। नपाध्यक्ष माया नारोलिया, पूर्व विधायक मधुकर राव हर्णे, नपाउपाध्यक्ष प्रमोद सोनी, मुकेश यादव, नपा के पार्षदगण, युवा नेता विकास नारोलिया, एवं कार्यकर्ताओ ने सहयोग के लिए व्यापारियो का आभार व्यक्त किया। पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन, एसडीएम सपना शिवाले, एसडीओपी एम जैन सहित सभी अनुभागों में राजस्व अधिकारी लगातार स्थिती पर नजर रख समय समय पर वरिष्ठ अधिकारियो को स्थिती से अवगत कराते रहे। - अवैध गांजा रखने पर 5 वर्ष की सजा - होशंगाबाद - अवैध गांजा रखने के आरोप में दोषी पाते हुए आरोपी को 5 वर्ष का सश्रम कारावास व 25 हजार रूपए के अर्थदण्ड से विशेष न्यायाधीश नवीन कुमार सक्सेना ने पिछले सप्ताह दण्डित किया है। अभियोजन के अनुसार 27 फरवरी 2009 को बालागंज क्षेत्र से होशंगाबाद पुलिस ने महेश कुचबंदिया को सौ ग्राम गांजे के साथ पकड़ा था। पुलिस ने प्रकरण तैयार कर न्यायालय मे पेश किया था। विशेष न्यायाधीश ने दोनों पक्षों को सुन साक्ष्यो को देखते हुए धारा 8/20 स्वापक औषधि एवं मन प्रभावी पदार्थ अधिनियम के अपराध मे महेश कुचबंदिया को दोषी पाकर सजा से दण्डित किया है। अभियोजन की और से पैरवी उप संचालक जगमोहन शुक्ला ने की थी।

होशंगाबाद:सरकारी वाहन के दुर्घटना का मामला दबाया

चिकित्सक ने नही भेजा मेमो।
अधिकारी पत्नि व चालक का चल रहा ईलाज।
अधिकारी ने अपने खर्चे से सुधरवाया वाहन।
ब्यूरों प्रमुख// सुरिन्दर सिंह अरोरा(होशंगाबाद // टाइम्स ऑफ क्राइम)
जिले की तहसील सिवनी मालवा में शासकीय सेवा में पदस्थ अधिकारी दम्पति द्वारा शासकीय वाहन का निजी कार्य से उपयोग के दौरान दुघर्टनाग्रस्त होने पर मामले में पुलिस को सूचना न देना, शासकीय वाहन जिस वाहन से टकराया उस वाहन के साक्ष्य मिटाना, दुघर्टना मे घायलों का ईलाज के दौरान चिकित्सक द्वारा पुलिस को मेमो न भेजना व अधिकारी द्वारा दुघर्टनाग्रस्त वाहन को अपने परिचित के यहा खड़ा कर व वाहन से पीली बत्ती,नम्बर प्लेट व अपने ओहदे वाली प्लेट निकालकर वाहन को होशंगाबाद की एक बड़ी वर्कशाप मे सुधरवाने का मामला प्रकाश में आया है। मामले को लेकर जिले के अधिकारी मौन है। लेकिन चर्चा है पुलिस मामले में घायलों का ईलाज करने वाले चिकित्सक/चिकित्सको को नोटिस देने का मन बना रही है। घटना 9 जून 2010 की होना बताया जाता है।प्राप्त जानकारी के अनुसार सिवनी मालवा तहसील में पदस्थ तहसीलदार भुवन गुप्ता उनकी पत्नि नायब तहसीलदार नीतू गुप्ता एवं इनके परिजन शासकीय जीप क्रमांक एम पी 02-आर डी 0504 से बाबरीघाट गए थे वापसी में रात्रि लगभग 9 बजे ग्राम रमपुरा के पास इनका वाहन एक ट्रेक्टर से टकराकर दुघर्टनाग्रस्त हो जाने से वाहन चालक ओम व नायब तहसीलदार नीतू गुप्ता गंभीर रूप से घायल हुए इसके अलावा वाहन में सवार तहसीलदार के माता पिता को भी चोटे आई थी। घायलो का प्राथमिक ईलाज तहसीलदार ने एक निजी नर्सिंग होम अनुष्का क्लीनिक मे डां. जीवन भास्कर से करवाया उस दौरान डां. जीवन भास्कर की डां. पत्नि जो शासकीय सेवा में सिवनी मे ही पदस्थ है क्लीनिक में मौजूद थी ने भी घायलो का उपचार किया। बताया जाता है इसके बाद गंभीर रूप से घायल चालक ओम व नायब तहसीलदार नीतू को ईलाज के लिए होशंगाबाद लाया गया यहॉ पाण्डे नर्सिंग होम व केशव हास्पिटल मे हुआ। कुछ समय भर्ती रहने के बाद अब दोनो अपने अपने घरों में आज भी बिस्तर पर है और स्वास्थ्य लाभ ले रहे है।बताया जाता है कि जीप जिस ट्रेक्टर से टकराई वह बिना नम्बर का था उसमे पीछे कल्टीवेटर व प्लाउ लगी हुई थी अंधेरा होने की वजह से जीप चलाने वाला समझ नही पाया। बताया जाता है कि ट्रेक्टर वाला विदिशा तरफ का था जिसे बिना किसी कार्यवाही के चलता कर दिया गया। और जीप को तहसीलदार द्वारा अपने परिचित के यहॉ भिजवा दिया गया। बाद में इसे योजनाबद्ध तरीके से सुधरवा लिया गया है।सूत्र बताते है कि अभी तक घायलो के ईलाज में लगभग 1 लाख रूपया खर्च हो चुका है और घायल चालक अब लम्बे समय तक वाहन नही चला सकेगा।बताया जाता है कि शासकीय दुघर्टनाग्रस्त जीप को होशंगाबाद के रसूलिया क्षेत्र में स्थित एक बड़े वर्कशाप में सुधरवाकर भुगतान तहसीलदार भुवन गुप्ता ने अपनी जेब से किया।मामले को लेकर जहॉ एक तरफ जिला प्रशासन के अधिकारी मौन है वही दूसरी तरफ पुलिस की जानकारी में मामला आने पर पुलिस विभाग ईलाज करने वाले चिकित्सक/चिकित्सको को नोटिस देने का मन बना रहा है। ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 99939 93300

होशंगाबाद : कुख्यात बदमाश राजा उर्फ सागर तिवारी जिलाबदर

ब्यूरों प्रमुख// सुरिन्दर सिंह अरोरा (होशंगाबाद //टाइम्स ऑफ क्राइम)

जिले में अपराधों पर नियत्रंण लगाने का हर संभव प्रयास जिले की तेज तर्रार पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन द्वारा किया जा रहा है जन सुनवाई में आ रहे गंभीर मामलों पर भी तीव्र कार्यवाही की जाकर आवेदक को न्याय एवं अपराधी पर कार्यवाही की जा रही है हाल ही में दिनांक 22/06/10 को प्रार्थी सुधीर खरे निवासी चिंतामन गली शनिचरा मोहल्ला ने जनसुनवाई में श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय के समक्ष उपस्थित होकर लिखित शिकायत किया था कि उसके मकान चिंतामन गली शनिचरा मोहल्ला होशंगाबाद में आज से करीब 3/4 माह पहले मकान का ताला तोड़कर अज्ञात 8/10 व्यक्तियों द्वारा मकान में जबरन कब्जा कर ताला डाल दिया है। तथा मकान में रखा सामान भी चोरी कर लिया है जो शिकायत जांच श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा थाना प्रभारी कोतवाली को जांच हेतु दी गई शिकायत पत्र की जांच पर पाया गया कि कुख्यात बदमाश राजा उर्फ सागर तिवारी द्वारा अपने साथी सिरीश गौरव, राजेन्द्र चौरे, सचिन शर्मा व अन्य के द्वारा सूने मकान का ताला तोड़कर मकान में कब्जा कर लिया था। जो जांच पर अप।क्र।526/10 धारा 448,452,457,380 ताहि। का प्रकरण पंजीबद्ध किया गया तथा विवेचना पर प्रकरण में राजा तिवारी को गिरफतार कर सीजेएम न्यायालय में पेश किया गया जो न्यायालय द्वारा जेल भेज दिया गया है। आरोपी राजा उर्फ सागर आत्मज भगवानदास तिवारी के साथी सिरीश गौरव, राजेन्द्र चौरे, सचिन शर्मा भी गिरफतार किए गए हैं।राजा तिवारी होशंगाबाद के कुख्यात बदमाश टमन्टू उर्फ प्रशांत तिवारी का साथी है टमन्टू के साथ इसने कई अपराध घटित किए हैं जिसमें एक प्रकरण में 10 साल की सजा हुई है इसके द्वारा अपने साथियों के साथ एक होकर दूसरों के मकान में कब्जा करना, लूट, अड़ीबाजी, मारपीट, हत्या का प्रयास, हथगोला चलाना इत्यादि के कारण आम जनता में दहशत फैलाकर भयभीत कर जबरन अड़ीबाजी करना है।वर्ष 2003 से 2010 तक लगभग 20 अपराधिक प्रकरण लूट, अड़ीबाजी, मारपीट, हत्या का प्रयास, अवैध विस्फोटक पदार्थ इत्यादि अपराध घटित किए है तथा इसके विरूद्ध धारा 110 जा।फौ। के तहत एवं जिलाबदर की कार्यवाही की गई इसकी बढ़ती अपराधिक गतिविधियों को देखते हुए दिनांक 5/12/09 को निगरानी खुलने के उपरांत भी बढ़ती अपराधिक गतिविधियों को देखते हुए वर्ष 2009 में पुन: जिलाबदर पेश किया गया था। जो जिला दंडाधिकारी महोदय द्वारा दिनांक 28/06/10 को एक साल के लिए जिला होशंगाबाद एवं सरहदी जिला हरदा, रायसेन, बैतूल, सीहोर, नरसिंहपुर की सीमा से बाहर रहने हेतु जिलाबदर किया गया है। उल्लेखनीय है कि जिले मे पुलिस अधीक्षक रूचिवर्धन द्वारा योजनाबद्ध तरीके से अपराधो पर नियत्रंण रखने एवं अपराधिक गतिविधियो में लिप्त बदमाशो पर लगातार की जा रही कड़ी कार्यवाही से अपराधी तत्वो मे हड़कम्प मच गया है।

-----------------------------------------------------------------------------------

राजा उर्फ सागर आत्मज भगवानदास तिवारी उम्र 23 साल निवासी राजा मोहल्ला, होशंगाबाद

--------------------------------------------------------------------------------------

क्र अप।क्र। धारा रिमार्क1। 968/03 324,323,506,ताहि. 2. 245/05 307,308 ताहि. 3. 31/06 109 जा.फौ. 4. 401/06 327,341,294,323,506,34 ताहि. 5. 404/06 327,294,506,34,323 ताहि. 3,5 विस्फोटक अधि. 6. 426/06 294,506,34,323ताहि.3,5विस्फोटक अधि. 7. 427/07 327,294,323,506,34 ताहि. 8. 445/07 327,147,148,149 ताहि. 25 आम्र्स एक्ट 10 साल सजा 9. 18/07 110 जा.फौ. 10. 237/08 323,294,506 ताहि. 11. 332/08 327,323,294 ताहि. निर्णय 25.06.08 राजीनामा 12. 14/08 110 जा.फौ. 13. 06/08 जिलाबदर 14. 936/08 327,294,506,34 ताहि. 15. 62/08 110 जा.फौ. 16. 343/09 341,323,294,506,34 ताहि. 17. 631/09 327,341,506,34 ताहि. 18. 652/09 147,341,323,294,506 ताहि. 19. 404/09 107,116(3) जा.फौ. दिनांक 27.08.09 20. 526/10 448 आईपीसी

ब्यूरों प्रमुख से सम्पर्क : 99939 93300

Wednesday, July 7, 2010

पंचायतकर्मी ने किया लाखों का घोटाला

ब्यूरो प्रमुख // संतोष कुमार गुप्ता (शहडोल // टाइम्स ऑफ क्राइम)
जनसुनवाई में आवेदन के बाद भी नहीं हुई कार्यवाही
जिले केजयसिंहनगर जनपद के ग्राम सीधी में पदस्थ पंचायतकर्मी द्वारा किए गए निर्माण कार्यों में शासकीय राशि के दुरूपयोग के संबंध में मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान कमिश्रर को ग्रामीणों ने हस्ताक्षरयुक्त शिकायती पत्र सौंपकर पंचायतकर्मी के विरूद्घ कार्यवाही करनें के लिए मांग की थी। परंतु कमिश्रर साहब कलेक्टर को आदेश देकर यह कार्यवाही को अधूरा ही रखा। ग्रामीणों ने बताया कि पंचायतकर्मी द्वारा सिंह सागर तालाब के गहरीकरण कार्य के नाम पर प्रथम किस्त 56 हजार 764 तथा द्वितीय किस्त 1 लाख 1 हजार 3 सौ 74 रूपए का आहरण कर लिया गया। लेकिन मजदूरों को मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया। जिससे मजदूर अपना किया हुआ कार्य का भुगतान पानें के लिए दर-दर भटक रहे हैं। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि पंचायतकर्मी द्वारा जितनें भी निर्माण कराए गए हैं सभी कार्यों से सामग्री बचाकर अपना घर बना लिया। इसी तरह वृक्षारोपण, छात्रावास एवं जवाहर बाग में कराए गए वृक्षारोपण में तैनात चौकीदार रामकृपाल मौर्य की मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया। जिससे वह आज भी परेशान है। अत: आयुक्त महोदय इस ओर कड़ी कार्यवाही करते हुए ऐसे पंचायतकर्मी पर कड़ी कार्यवाही करते हुए 2008-09 से अब तक की कराए हुए कार्यों का अवलोकन कराकर स्वयं पाएंगे कि पंचायतकर्मी व उपयंत्री द्वारा कितनें रूपए का गमन किया गया।

भोपाल बना मुंबई...गरम गौश्त का तेज व्यापार

भोपाल//अनिल शाक्य
देश की व्यापारिक महानगरी मुंबई की तर्ज पर अब भोपाल में भी वह सारे घटनाक्रम घटित होते देखे जा सकते हैं। जिनकी उम्मीद शायद भोपाल वासियों ने कम ही कि होगी। अगर भोपाल में किसी घटनाक्रम में तेजी आई है तो वह बॉडीमसाज सेंटरों की आड़ में चल रहे गरम गौश्त के व्यापार में। उल्लेखनीय है कि भोपाल महानगर में इन दिनों लगभग सभी बॉडीमसाज सेंटरों में मसाज के नाम देहव्यापार जैसी गतिविधियां संचालित हो रही है इसका खुलासा पुलिस के द्वारा अभी हाल ही में कार्यवाही से हुआ। जिसमें शहर के व्यावसायिक नगरी एम.पी.नगर स्थित नमकीन सेंटर के समीप चल रहे देवश्री समाज सेटर से दो लड़कियों और दो लड़कों को संदिग्ध अवस्था में पुलिस ने पकड़ा था। वहीं दूसरे घटनाक्रम में फैशन बॉडीमसाज सेंटर हकीम होटल बोर्ड ऑफिस चौराहे से भी दो लड़के-लड़कियां संदिग्ध अवस्था में पकड़े गये थे। घटना दूसरे ही दिन पुलिस ने पिपलानी थाना क्षेत्र में भी मसाज सेंटर छ: युवतियों सहित चार युवकों को भी रंगें हाथों पकड़ा था। हालांकि इस मामले में पुलिस ने धरपकड़ का अभियान छेड़ रखा है और बहुत बड़े पैमाने पर एक ऐसे सैक्स रेकेट का भंडाफोड़ होगा जिसमें ऐसे नामचीन हस्तियों के नाम भी उजागर हुये बगैर नहीं रहेंगे। जिनके ऊपर सहसा किसी को विश्वास नहीं होता।
- कहां चल रहा देहव्यापार -
शहर के कुछेक स्थानों को छोड़ लगभग सत्तर फीसदी स्थानों पर देहव्यापार मसाज सेंटरों की आड़ में चल रहा है। इस में एक तयशुदा ग्राहक से 3000/- से 5000/- रूपये तक कि रकम वसूली जाती है। थोड़े समय मसाज का बहाना कर असली तर्ज पर कार्य शुरू किया जाता और निर्धारित दर के अनुसार सुंदर सी कमसिन बालाएं ग्राहक के सामने परोस दी जाती हैं। हालांकि पुलिस यह सब जानते हुये भी किसी राजनैतिक दबाव में इन सेंटरों पर कार्यवाही नहीं कर पाती। उल्लेखनीय यह है कि तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के कार्यकाल में ऐसी महिला नेत्री का नाम उजागर हुआ था। जिसने बड़े-बड़े मंत्रियों को बालाएं उपलब्ध कराने का जिम्मा संभाल रखा था। पुलिस ने घेराबंदी कर उस महिला नेत्री को गिरफ्तार कर उसके पास से जो डायरी जप्त की थी उसमें शहर सहित देश की राजधानी से वास्ता रखने वाले बड़े नामचीन नेताओं के नाम शामिल थे यदि वह नाम पुलिस उजागर करती तो पुलिस वालों कि नौकरी पर तो तलवार लटकना स्वाभाविक थी। वहीं शहर में इन नेताओं के नाम को लेकर बड़ा बवाल खड़ा हो जाता। जो देश की संसद में भी गूंजे बगैर नहीं रहता।
- शहर में वर्तमान में वहीं हालात -
देश की हृदय स्थली कही जाने वाली मध्यप्रदेश कि राजधानी भोपाल में भी जो मसाज सेंटर संचालित हो रहे है। और उन में कमाई का जरिया सिर्फ देहव्यापार के अलावा दूसरा नहीं है यह बात पुलिस प्रशासन भलीभांति जानता एवं समझता है। लेकिन सच तो यह कि मसाज सेंटरों का संचालन ही नामचीन नेताओं की आड़ में संचालक करते हैं। यही वजह है कि दो दिन पूर्व से चल रही देहव्यापार सेंटरों में पुलिस की धरपकड़ कार्यवाही में संचालकों के ऊपर कार्यवाही ना होकर सिर्फ देहव्यापार को अंजाम देने वाले युवक-युवतियों पर ही प्रकरण दर्ज हुये हैं। दूसरी बात यह है कि देहव्यापार में पकड़े युवक-युवतियों से पुलिस कि सेटिंग हो जाती है जिसमें कुछ को वह रास्ते ही गायब कर देती है। और यही वाक्या एम.पी.नगर थाने में सैक्स स्केंडल में पकड़ जाने वाले युवक-युवतियों को छोडऩे एवं कुछेक को उजागर करने के बाद हुआ। जस संवाददाता ने पुलिस से मामले में कायमी की जानकारी चाही तो लगभग 12:45 बजे तक देने में कोताही बरती गई। अंत में घटनाक्रम की जानकारी अ.पु.अधिकारी (घनश्याम मालवीय) ने बमुश्किल उपलब्ध कराई। विडम्बना तो यह है कि आजकल फोन उठाने के मामले में शहर के समस्त 38 थानों में कोताही बरती जाती है। और यदि फोन उठाते भी है तो नंबर देखकर इंग्गेज कर दिये जाते हैं जिससे जानकारी लेने वाला उक्ताकर फोन रख देता है। पुलिस की इस उदासीनता पूर्ण कार्यवाही कि प्रति अवश्य ही वरिष्ठ अधिकारियों को ध्यान देने की आवश्यकता है।
- झुग्गी-झोपड़ी सहित पाश कॉलोनियों में डाले
छापेशहर की पुलिस ने जहां बॉडीमसाज सेंटरों, होटलों, ढाबों, ब्यूटीपार्लरों पर छापा मार कार्यवाही करते हुये देहव्यापार के अवैध कारोबार को रंगे हाथों पकडऩे का जो कमान सम्भाल रखी है उससे इस तरह के कारोबार को अंजाम देने वालों को हड़कम्प सा मच गया है। लेकिन अभी काफी हदतक पुलिस कि यह कार्यवाही अधूरी है जब तक के झुग्गी क्षेत्रों एवं पाशकॉलोनियों में छापा डालकर पुलिस इस अवैध कारोबार पर अंकुश ना लगाये।

टाटा एआईजी लाइफ इंश्योरेंस एजेंट का कमाल, इंश्योरेंस कराया अब जान भी दो

भोपाल//विनय जी. डेविड प्रांतीय महासचिव, म. प्र. ऑल इण्डिया स्माल न्यूज पेपर्स एसोसिएशन
( टाइम्स ऑफ क्राइम) ट्रीन.....ट्रीन......ट्रीन......सर नमस्कार में टाटा ए.आई.जी. इंश्योरेंस कंपनी से जाहिदा खान बोल रही हूं आप हमारी कंपनी में अपना पैसा लगा कर लाभ कमा सकते हैं। सर में आपसे मिल कर और भी जानकारी देना चाहती हूं। ऐसी मीठी-मीठी जुबान से भला कौन समझ पायेगा की उसकी शामत आने वाली है। यहीं से सिलसिला शुरू होता है। इंश्योरेंस कराने वाले ग्राहक का, ये कॉल करने वाले बकायदा कंपनी के दफ्तर के फोन से कॉल करते हैं। ऐसे हजारों फोन रोज अनेकों ग्राहक को लुभाने के लिये किये जाते हैं। जादिदा भी टाटा ए.आई.जी. ऑफिस एम.पी.नगर जोन-1 में तैनात थीं। जो अपने ग्राहकों को अपनी भोली-भाली बातों में फंसा कर ग्राहक को अपने चुंगल में फंसा कर लूट करती थी। वहीं इसके साथ नये-नये लड़के जो अपनी बड़ी इच्छाओं की पूर्ती के लिये ऐसे लोगों को निशाना बनाते थे। जो पचास हजार, एक लाख की पॉलिसी आसानी से लेते हों। क्योंकि ये लड़के नई उम्र में है और भोपाल में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने आये हैं। और इनको मां-बाप सीमित रूपया देते है। जिससे इनका खर्चा पूरा नहीं होता यही कारण है कि ये लोग शरीफ ग्राहकों को अपने चुंगल में फंसा कर लूटते हैं और मौका पडऩे पर जानलेवा हमला करने से बाज भी नहीं आते।
टाटा ए.आई.जी. इंश्योरेंस कंपनी की एजेन्ट आईशा शातिर चालाक और साँठगाँठी है वो अपनी कंपनी के अधिकारियों के साथ भी मिलकर ग्राहक को मामू बनाती है। इन अधिकारियों में इतना सांझा है कि ये एक दूसरे को पूर्ण सहयोग करतें है। ''टाइम्स ऑफ क्राइमÓÓ ऐसे षढय़ंत्रकारियों का भी शीघ्र खुलासा करेगा। घबराईये नहीं बस इतना समझ लें ऐसी अनजानी कॉल के चक्कर में आपको इनके शिकार बनाने से कोई रोक नहीं सकता। थाना बागसेवनियां क्षेत्र में हुई 04 जून की घटना में पुलिस में मेडिकल रिर्पोट आने के बाद धारा 307 और जोड़ दी है जिस पर थाना प्रभारी की मुस्तैदी ने सहयोगी आरोपी थामस फ्रांसिस पिता जी.एल. वर्मा निवासी पन्ना को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है वहीं मुख्य आरोपी विवेक पाठक फरार है। जिसे पुलिस तलाश कर रही है। भला पैसा भी एक मजबूर आदमी को जहां साधन सम्पन्न बना देता है, वहीं ये ही पैसा आदमी को इतना नीचे गिरा देता है जिसकी कल्पना भी आप नहीं कर सकते। ऐसा ही कुछ देखने मिल रहा है भोपाल शहर में, जहां कि इंश्योरेंस कम्पनियां सुंदर बालाओं को लाकर ग्राहकों से लम्ब-सम्ब पैसा ऐंठ रही है, वहीं वे इन सीधे साधे भोले-भाले लोगों के प्राणों की प्यासी बनकर अपनी संदिग्ध गतिविधियों के संचालन में भी पीछे नहीं है। शहर में एक ऐसी ही इश्योरेंस कंपनी का नाम सामने आया है जिनकी एक एजेंट युवती ने शहर में ही एक वरिष्ठ पत्रकार को मीठी-मीठी बातों से अपने चंगुल में लेकर उन्हें कंपनी का सदस्य बनने पर ही मजबूर नहीं किया बल्कि उनके साथ घर पर बुलाकर बदसलूकी भी की गई। इश्योरेंस कंपनी की युवती ने पत्रकार से 4,500 रूपये छीनने के बाद उनके गले की सोने की चैन तथा मोबाइल, अंगूठी आदि छीन ली। साथ ही उनके साथ मारपीट की गई। जिससे मरणसन्न अवस्था में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। इससे ऐसा प्रतीत होता कि किसी भी संस्थान या फर्म में काम करने वाली युवती बिना किसी संरक्षण के इतना बड़ा कदम नहीं उठा सकती। जाहिदा उर्फ आईशा उम्र (22) वर्ष की इस खूबसूरत नैन नक्श वाली लड़की ने अवधेश भार्गव को टेलीफोन करके बुलाया। बीमा करने के उद्देश्य से श्री भार्गव-9ए/282 साकेत नगर पहुंचे जहां से लड़की एक किराये के मकान में निवास करती है। घर पर बुलाते ही लड़की ने उनसे रूपये की मांग की। श्री भार्गव ने पैसे देने को मना कर दिया। श्री भार्गव घर से बाहर निकलते कि जाहिदा उर्फ आईशा एवं उनके साथ देवेन्द्र पाटीदार (24) बीट्स कालेज भोपाल, एवं पीयुष तिवारी (27)वर्ष पुत्र राजेश तिवारी, विवेक पाठक एवं थामस फ्रांसिस पिता जी. एल. वर्मा निवासी पन्ना ने मारपीट कर दी, इन लड़कों ने श्री भार्गव पर प्राणलेवा हमला बोल दिया। अस्पताल में इलाज के दौरान उनके सिर में जहां 54 टांके आए है। वहीं उनके हाथ पैरों में भी गंभीर चोंटे है। सोचनीय पहलू तो यहां यह है कि आखिर चंद दिनों में करोड़ पति बनने का सपना संजोने वाली इन कंपनियों का इस तरह से षडय़ंत्रकारी कदम उठाना उचित है। ऐसी इंश्योरेंस कंपनियां कंपनियां की जाहिदा उर्फ आईशा एजेंट सभ्य एवं सीधे साधे लोगों को अपने मोह में फांसकर उनको लूटती हैं वहीं उनके साथ मारपीट के अलावा प्राण लेने में भी पीछे नहीं रहती इस सच्चाई का पर्दाफाश तो उस समय हुआ जबकि एक पत्रकार पर हमला होने के बाद जैसे-तैसे मामला सामने आया। बीमा कंपनी ऐसे न जाने कितने अवधेश भार्गव पर हमला करवा चुकी होगी जिसकी जानकारी आज तक उजागर नहीं हो पाई। क्योंकि उनका खुलासा करने वाला वहां था कौन? दूसरा यह कि यदि किसी भी तरह घटना सामने आई भी तो उसका शिकार कौन हुआ। वह जो कि हादसे का शिकार हुआ उसके ऊपर बीमा कंपनी तथा मीडिया ने भी न जाने कितने आरोप प्रत्यारोप लगाए। कुल मिलाकर सच तो यही सामने आया कि आखिरकार एक व्यक्ति बीमा कंपनी का सदस्य भी बने अपने पैसे भी फसाये और आरोपित होकर सजा भी काटे। बीमा कंपनी क्यों करती है ऐसाबीमा कंपनी एक नहीं, सभी कहीं न कहीं किसी कार्य में इन्वॉलव रहती है। सच का भांडा फोड़ तो उस समय होता है, जबकि कोई घटना सामने आ जाती है। घटना यदि सामने नहीं आती तो कहीं दिक्कतों-परेशानियों की बात नहीं आती। लेकिन कहीं न कहीं ये कंपनियां दोषी रहती है। क्योंकि बिना किसी अन्य तरीके से इतनी जल्दी इतना धर्नाजन संभव ही नहीं है। आज कोई भी आसानी से इतना बड़ा व्यक्ति नहीं बन सकता उसका कारण है कि इतनी आसानी से इतना अधिक धन अर्जित नही किया जा सकता। दो दिन में इतने बड़े पैमाने पर धर्नाजन संभव नहीं होता।

पच्चीस हजार रूपए का गांजा पकड़ाया

ब्यूरो प्रमुख // दस्तगीर भाभा (बिलासपुर //टाइम्स ऑफ क्राइम)
चकरभाठा। पुलिस को चकमा देकर सब्जी के थैले के नीचे गांजा ले जाते हुए दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के पास से 25 हजार रूपए कीमती साढ़े आठ किलो गांजा जब्त किया गया है। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार घटना चकरभाठा थाना क्षेत्र की है। टीआई आशीष वासनिक को रात में मुखबिर से सूचना मिली कि चकरभाठा में गांजा की तस्करी हो रही है। इस पर उन्होंने आरोपियों को पकडऩे की योजना बनाई। इसके तहत उन्होंने नए हाईकोर्ट भवन के पास मोड़ पर अमसेना निवासी राजेश पिता गजानन सूर्यवंशी साइकिल में झोला लेकर जा रहा था। पुलिस ने उसे रोककर पूछताछ की, तो वह पहले झोला में सब्जी होने की बात कहकर उलझाने लगा। थैले से सब्जी निकाल कर देखा गया, तो उसमें गांजा रखा हुआ था। राजेश ने बताया कि वह चकरभाठा के चैतूराम पिता कन्हैया लोधी के पास से गांजा लेकर अपने गांव जा रहा था। इसके बाद पुलिस ने चैतूराम के घर में दबिश दी, लेकिन इससे पहले ही उसे पता चल गया था कि उसके पास से गांजा लेकर जाने वाला राजेश पुलिस की गिरफ्त में है। इसलिए वह घर से फरार था। पुलिस उसकी तलाश में थी। देर रात पुलिस को पता चला कि वह बोरी में गांजा लेकर हवाई पट्टी की ओर जा रहा है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर जाकर उसे धरदबोचा। दोनों आरोपियों के पास से 25 हजार रूपए कीमती साढ़े आठ किलो गांजा बरामद किया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 20 बी नारकोटिक्स एक्ट के तहत जुर्म दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्टर दस्तगीर भाभा से सम्पर्क 98279 86130

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news