Showing posts with label राष्ट्रीय. Show all posts
Showing posts with label राष्ट्रीय. Show all posts

Tuesday, January 28, 2020

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी आपके घरों में घुसेंगे और बहनों से रेप कर कत्ल कर देंगे : सांसद का बेतुका बयान

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी आपके घरों में घुसेंगे और बहनों से रेप कर कत्ल कर देंगे : सांसद का बेतुका बयान

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
 नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा का कहना है कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में बैठे प्रदर्शनकारियों को एक घंटे में हटाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि अगर भाजपा की सरकार बनती है तो सरकारी जमीन पर बनीं मस्जिदों को एक महीने में हटा देंगे. सांसद ने कहा, 'यह केवल एक मात्र चुनाव नहीं है.

यह देश की एकता पर फैसला करने का चुनाव है. अगर भाजपा 11 फरवरी को सत्ता में आती है तो आपको एक घंटे के भीतर वहां पर एक भी प्रदर्शनकारी नजर नहीं आएगा. और एक महीने के भीतर सरकारी जमीन पर बनी एक भी मस्जिद को हम नहीं छोड़ेंगे.' पश्चिम दिल्ली से सांसद वर्मा दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए विकासपुरी में चुनाव प्रचार कर रहे थे.
इसके साथ ही उन्होंने कहा, '...वहां (शाहीन बाग में) लाखों लोग जमा होते हैं... दिल्ली के लोगों को सोचना होगा, और फैसला करना होगा... वे आपके घरों में घुसेंगे, आपकी बहन-बेटियों के साथ बलात्कार करेंगे, उन्हें कत्ल कर देंगे... आज ही वक्त है, कल मोदी जी और अमित शाह आपको बचाने नहीं आ पाएंगे..."
वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला तेज़ करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को ‘आप' प्रमुख को दिल्ली के शाहीनबाग जाने की चुनौती दी, ताकि विधानसभा चुनाव में लोग यह फैसला कर सकें कि उन्हें किसे वोट देना है. शाहीनबाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है. शाह ने उत्तर पश्चिम दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी सभा में कहा कि केजरीवाल और कांग्रेस नेता राहुल गांधी राममंदिर के निर्माण और अनुच्छेद 370 निरस्त किये जाने के खिलाफ थे और उन्हें देश की छवि एवं सैनिकों की कोई परवाह नहीं थी.
उन्होंने कहा कि विपक्ष को डर है कि वे उनके वोट बैंक को बिगाड़ देंगे. उन्होंने सवाल किया, ‘क्या आप उनके वोट बैंक हैं? उनका वोट बैंक कहां है? ' इस पर भीड़ ने जवाब दिया, ‘शाहीनबाग.' भाजपा नेता ने दावा कि दिल्ली पुलिस ने 'संर्कीण गलियारा काटने की कोशिश' और पूर्वोत्तर को शेष भारत से अलग करने की टिप्पणी के आरोप में जेएनयू के छात्र शरजील इमाम के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया है. शाह ने कहा, 'मैं केजरीवाल से पूछना चाहता हूं कि क्या वह शरजील इमाम को पकड़वाने के पक्ष में हैं या नहीं? क्या आप शाहीनबाग के लोगों के साथ हैं या नहीं, कृपया दिल्ली के लोगों को बताएं.'
भाजपा पर पलटवार करते हुए केजरीवाल ने आरोप लगाया कि भगवा पार्टी कालिंदी कुंज के शाहीनबाग खंड को नहीं खोलना चाहती है, इसलिए वह इस पर ‘गंदी राजनीति' कर रही है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी की कानून व्यवस्था की पूरी जिम्मेदारी केंद्र की है और ‘यदि वह कह रही है कि उसे मुझसे अनुमति चाहिए तो मैं अनुमति दे रहा हूं, एक घंटे में सड़क का जाम हटा दो.' केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा, ‘मैं आपको लिखकर दे सकता हूं कि भाजपा शाहीन बाग में उस मार्ग को खोलना नहीं चाहती है. शाहीन बाग मार्ग आठ फरवरी तक बंद रहेगा और फिर नौ फरवरी को खुल जाएगा.'
साभार : NDTV

Sunday, January 19, 2020

ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड स्टेपल फाइबर डिवीजन के प्लांट विस्तारीकरण की लोक सुनवाई का मामला सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, याचिकाकर्ता ने की निरस्त करने की मांग

ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड स्टेपल फाइबर डिवीजन के प्लांट विस्तारीकरण की लोक सुनवाई का मामला सुप्रीम कोर्ट में मंजूर, याचिकाकर्ता ने की निरस्त करने की मांग

TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
नागदा- मेहतवास, बिरलाग्राम, नागदा में ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के विस्कोस स्टेपल फाइबर डिवीजन के विस्तारीकरण के संबंध में दिनांक 05/09/2019 को एसडीएम कार्यालय नागदा में आयोजित की गई लोक सुनवाई को निरस्त करने के संबंध में कांग्रेस नेता दीपक 'पप्पी' शर्मा द्वारा माननीय सुप्रीम कोर्ट में दिनांक 07/01/2020 को दायर याचिका को सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्वीकार करते हुए उसे पंजीकृत करते हुए केस डायरी क्रमांक 2386/SCI/PIL(E)2020 प्रदान कर दिया गया हैं जिसकी जानकारी याचिकाकर्ता को प्रदान की गई हैं।
याचिकाकर्ता दीपक शर्मा ने बताया कि उक्त प्रकरण में माननीय सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबाडे के समक्ष 19 बिंदुओं पर ध्यान आकर्षित करवाते हुए उक्त लोक सुनवाई को निरस्त करने हेतु अपील की गई हैं ।
याचिकाकर्ता दीपक शर्मा ने बताया कि उक्त लोक सुनवाई का आयोजन ही अनुचित था क्योंकि जिस भूमि पर विस्तारीकरण होना हैं वह भूमि एक विवादित भूमि हैं और वर्तमान में उसका प्रकरण माननीय सुप्रीम कोर्ट में मध्यप्रदेश शासन विरूद्ध ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड विचाराधीन हैं । इस बात का संज्ञान होने के बावजूद शासन द्वारा लोक सुनवाई का आयोजन ताबड़तोड़ करवाया गया यहीं नहीं अरबों रुपए की शासकीय भूमि को ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड को दिलवाने में भी शासन के कई अधिकारियों की सांठगांठ के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट में विचारधीन केस को कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा हैं ।
याचिकाकर्ता दीपक शर्मा ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और पर्यावरण मंत्रालय पर भी आरोप लगाया हैं कि किसी भी वक़्त ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड को पर्यावरणीय स्वीकृति का प्रमाण पत्र जारी किया जा सकता हैं इसीलिए इस याचिका को लगाना अतिआवश्यक विषय था । इसके साथ ही जिन 19 बिंदुओं पर माननीय सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई हैं उसमें शामिल कुछ प्रमुख बिंदु निम्नलिखित हैं जिन्हें याचिका में शामिल किया गया है - मेहतवास को ग्राम दर्शाना, भारत कामर्स की विवादित भूमि को अपना दर्शाना, पानी की खपत बड़ाना और क्षेत्र में पानी की कमी होना, बिजली प्लांट का विस्तारीकरण की अनुमति मांगना जिससे प्रदूषण और बढ़ेगा क्योंकि कोयले कि खपत बढ़ेगी, नए जल स्त्रोत स्थापित नहीं होना.
नागदा और ग्रामीण क्षेत्रों में सीएसआर के तहत कोई बड़ी उपलब्धि नहीं होना, प्लांट का विस्तारीकरण शहर के मध्य होना, प्लांट में जिंक का उपयोग दर्शाना जिसके उपयोग से पूर्व में ही चंबल नदी डाउन स्ट्रीम में मृत हो चुकी हैं, प्रदूषण से 22 गावों में गंभीर प्रभाव होना, प्लांट में कास्टिक सोडा का भारी उपयोग होना जो मानव जीवन के लिए खतरनाक हैं, प्लांट विस्तारीकरण की ईआईए रिपोर्ट और कार्यकारी सारांश अंग्रेजी में होना एवं चंबल नदी के समस्त जल स्त्रोतों पर ग्रेसिम इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड का अधिपत्य होना और चंबल नदी का प्रदूषित घोषित हो जाना आदि सहित कई अन्य बिंदुओं पर सुप्रीम कोर्ट के समक्ष अपील करते हुए लोक सुनवाई को निरस्त करने का निवेदन किया है ।

Monday, January 13, 2020

CAA और NRC पर कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, बढ़ सकती है कांग्रेस की मुश्किल

संबंधित इमेज
CAA और NRC पर कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, बढ़ सकती है कांग्रेस की मुश्किल
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
CAA और NRC को लेकर तमाम पार्टियों ने सरकार का विरोध किया था। कांग्रेस पार्टी तो इस मसले पर राष्ट्रपति से भी मुलाकात की थी हालांकि उसका कोई असर नहीं हुआ।
ऐसे में कांग्रेस ने CAA और NRC को लेकर आज पूरे विपक्ष की बैठक बुलाई थी लेकिन इस बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती शामिल नहीं होंगी। मायावती का ना शामिल होना कांग्रेस के लिए किसी झटके से कम नहीं हैं। 
मायावती ने ट्वीट कर कहा की, जैसा कि विदित है कि राजस्थान कांग्रेसी सरकार को बीएसपी का बाहर से समर्थन दिये जाने पर भी, इन्होंने दूसरी बार वहाँ बीएसपी के विधायकों को तोड़कर उन्हें अपनी पार्टी में शामिल करा लिया है जो यह पूर्णतयाः विश्वासघाती है। मायावती ने एक अन्य ट्वीट में लिखा – ऐसे में कांग्रेस के नेतृत्व में आज विपक्ष की बुलाई गई बैठक में बीएसपी का शामिल होना, यह राजस्थान में पार्टी के लोगों का मनोबल गिराने वाला होगा। इसलिए बीएसपी इनकी इस बैठक में शामिल नहीं होगी। 
आपको यह खबर कैसी लगी आप हमें जरूर बताएं ताकि राजनीति से जुड़ी इस तरह की खबरें हम आपको ऐसे ही देते रहें। अगर आपको यह लेख पसन्द आया है तो इसे शेयर करें और मुझे ज्यादा से ज्यादा संख्या में फॉलो करना ना भूलें।

Tuesday, January 7, 2020

निर्भया कांड के दोषियों को 22 जनवरी को दी जाएगी फांसी : निर्भया को मिलेगा न्याय

निर्भया कांड के दोषियों को 22 जनवरी को दी जाएगी फांसी : निर्भया को मिलेगा न्याय

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

 : निर्भया गैंगरेप केस :

दोषियों का डेथ वारंट जारी

सालों से पूरा देश निर्भया के दोषियों को फांसी का इंतजार कर रहा था और आज अदालत ने वो फैसला सुना ही दिया। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के दोषियों का डेथ वारंट जारी करते 22 जनवरी को फांसी की तारीख तय की है।
निर्भया के दोषियों का डेथ वारंट जारी कर दिया गया है. निर्भया गैंगरेप कांड के चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दी जाएगी। देश की राजधानी दिल्ली में साल 2012 में हुए रेप कांड को लेकर मंगलवार को पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई।
  • चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी होगी
  • निर्भया के चारों दोषियों का डेथ वारंट जारी
  • चारों दोषियों को 22 जनवरी को होगी फांसी
  • सुनवाई के दौरान कोर्ट में रो पड़ीं निर्भया की मां
निर्भया के दोषियों का डेथ वारंट जारी कर दिया गया है। निर्भया रेप कांड के चारों दोषियों को 22 जनवरी को फांसी होगी. देश की राजधानी दिल्ली में साल 2012 में हुए रेप कांड को लेकर मंगलवार को पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई. पटियाला हाउस कोर्ट के जज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चारों दोषियों से बात की. सुनवाई के दौरान निर्भया की मां और दोषी मुकेश की मां कोर्ट में ही रो पड़ीं. दोषियों को सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। 
पटियाला हाउस कोर्ट के जज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चारों दोषियों से बात की। बातचीत के दौरान कोर्ट ने मीडिया की एंट्री पर रोक लगा दी थी. बता दें कि निर्भया मामले में चारों दोषियों अक्षय, मुकेश, विनय और पवन को पहले ही फांसी की सजा दी जा चुकी है।

अब जारी हुआ डेथ वारंट

अब निर्भया के दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी हो गया है. इस डेथ वारंट में लिखा है, 'एग्जीक्यूशन ऑफ अ सेंटेंस ऑफ डेथ.' इसे ब्लैक वारंट के नाम से भी जाना जाता है. ब्लैक वॉरंट पर जारी करने वाले जज के साइन होते हैं. उसके बाद ये डेथ वॉरंट जेल प्रशासन के पास पहुंचता है, फिर जेल सुप्रीटेंडेंट समय तय करता है उसके बाद फांसी की जो प्रक्रिया जेल मैनुएल में तय होती है, उस हिसाब से फांसी दी जाती है.

निर्भया के माता-पिता क्या बोले?

कोर्ट के फैसले के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि दोषियों को फांसी से न्याय व्यवस्था में भरोसा बढ़ेगा. मेरी बेटी को न्याय मिला है. 4 दोषियों की सजा देश की महिलाओं को सशक्त बनाएगी. वहीं निर्भया के पिता बदरीनाथ सिंह ने भी कोर्ट के फैसले पर खुशी जताई है. उन्होंने कहा कि कोर्ट के फैसले से हम खुश हैं.  इस फैसले से ऐसे अपराध करने वाले लोगों में डर पैदा होगा.

दोषी करेंगे क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल

निर्भया के दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन दाखिल करेंगे. एपी सिंह ने कोर्ट के आदेश के बाद कहा है कि वह सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर करेंगे.

SC से खारिज हो चुकी है याचिका

इस मामले में अब निर्भया केस से जुड़ा कोई भी केस दिल्ली की किसी भी अदालत में लंबित नहीं है. पिछले 1 महीने के दौरान तकरीबन 3 याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट और पटियाला हाउस कोर्ट से खारिज हो चुकी हैं. सुप्रीम कोर्ट एक दोषी की पुनर्विचार याचिका खारिज कर चुका है. जबकि दिल्ली हाई कोर्ट ने एक और दोषी की उस याचिका को खारिज कर दिया जिसमें उसने खुद को जुवेनाइल बताकर मामले की सुनवाई जेजे एक्ट के तहत करने की गुहार लगाई थी.

क्या है निर्भया केस का घटनाक्रम?

निर्भया के साथ 16 दिसंबर 2012 को चलती बस में दरिंदगी से गैंगरेप हुआ था. गैंगरेप के बाद दोषियों ने निर्भया का वीभत्स तरीके से कत्ल कर दिया था. इस हादसे के बाद देशभर प्रदर्शन हुए थे, जिसके बाद आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग उठी थी। निर्भया ने 29 दिसंबर को आखिरी सांस ली थी. दिल्ली के मुनिरका इलाके में निर्भया के साथ गैंगरेप हुआ था. घटना वाले दिन निर्भया अपने एक दोस्त के साथ साकेत स्थित सेलेक्ट सिटी मॉल में 'लाइफ ऑफ पाई' मूवी देखने गई थी. लौटते वक्त दोनों एक बस में सवार हुए जिसके बाद उनके साथ दरिंदगी हुई।

एक आरोपी ने की थी खुदकुशी

18 दिसंबर 2012 को  घटना के दो दिन बाद दिल्ली पुलिस ने छह में से चार आरोपियों राम सिंह, मुकेश, विनय शर्मा और पवन गुप्ता को गिरफ्तार किया. वहीं 21 दिसंबर 2012- दिल्ली पुलिस ने पांचवां आरोपी जो नबालिग था उसे दिल्ली से और छठे आरोपी अक्षय ठाकुर को बिहार से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने मामले में 80 लोगों को गवाह बनाया था. सुनवाई के दौरान 11 मार्च, 2013 को आरोपी बस चालक राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी. हालांकि राम सिंह के परिवार वालों और उसके वकील का मानना है कि जेल में उसकी हत्या की गई थी।

Saturday, January 4, 2020

महाराष्ट्र में विभागों का हुआ बंटवारा, अजित पवार को वित्त तो अनिल देशमुख को गृह मंत्रालय

महाराष्ट्र में विभागों का हुआ बंटवारा, अजित पवार को वित्त तो अनिल देशमुख को गृह मंत्रालय

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
महाराष्ट्र में चली लंबी खींचतान के बाद मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हो गया है। सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के बालासाहेब थोराट को राजस्व, अशोक चव्हाण को पीडबल्यूडी, शिवसेना के एकनाथ शिंदे को नगरविकास, दादा भुसे को कृषि मंत्रालय मिला है। एनसीपी नेता अनिल देशमुख को गृह विभाग और अजित पवार को वित्त विभाग की जिम्मेदारी मिली है। गृह राज्य मंत्री का पद एक शिवसेना को और एक कांग्रेस को मिला है।
शिवसेना के मंत्री और विभाग
एकनाथ शिंदे : नगरविकास
सुभाष देसाई : उद्योग
आदित्य ठाकरे : पर्यावरण, पर्यटन
संजय राठोड़ : वन
दादा भुसे : कृषि
अनिल परब : परिवहन संसदीय कार्य
शंकरराव गडाख : मृदू जलसंधारण
संदीपान भुमरे : रोजगार
उदय सामंत : उच्च व तंत्र शिक्षण
गुलाब राव पाटिल – पानी पुरवठा
गृह राज्य मंत्री –
एक शिवसेना को और एक कांग्रेस को
एनसीपी- मंत्री और विभाग
अनिल देशमुख – गृह विभाग
अजित पवार – वित्त व नियोजन
छगन भुजबल – फ़ूड और सिविल सप्लाई
कांग्रेस – मंत्री और विभाग
बालासाहेब थोरात -राजस्व
अशोक चव्हाण – पीडबल्यूडी
नितीन राऊत – ऊर्जा
विजय वड्डेटीवार – ओबीसी
के.सी.पाडवी – आदिवासी विकास
यशोमती ठाकूर – महिला व बालकल्याण
अमित देशमुख – वैद्यकीय शिक्षण
सुनील केदार – दुग्ध विकास व पशुसंवर्धन
वर्षा गायकवाड – शालेय शिक्षण
अस्लम शेख – वस्त्रोद्योग

Tuesday, December 31, 2019

IAS ग़िरफ़्तार : वाह रे टॉपर, एक लाख में बेच दिया ज़मीर

IAS ग़िरफ़्तार : वाह रे टॉपर, एक लाख में बेच दिया ज़मीर

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
ओडिशा में सतर्कता विभाग ने विजय केतन उपाध्याय को एक लाख रुपए घूस लेते हुए ग़िरफ्तार कर लिया. 2009 बैच के ओडिशा कैडर के अधिकारी विजय केतन उपाध्याय को भुवनेश्वर से गिरफ्तार किया गया.
सतर्कता विभाग का कहना है कि उन्हे उस समय ग़िरफ़्तार किया गया जब वे एक फार्म हाउस के मालिक से घूस ले रहे थे. ख़बरों के अनुसार 2008 के सिविल सेवा परीक्षा में उपाध्याय ने पांचवीं रैंक हासिल की थी.
अधिकारियों ने बताया कि सूचना के आधार पर उपाध्याय के बालासोर और भुवनेश्वर स्थित आवास पर छापेमारी की गई थी. उपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद राज्य सरकार ने उन्हें निलंबित कर दिया है. उपाध्याय फ़िहलाल हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर हैं. उपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद सतर्कता विभाग के अधिकारियों ने बताया, 'पिछले कुछ सप्ताह से ऐसी सूचनाएं मिल रही थीं कि हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर घूस ले रहे हैं. इसी के बाद हमने उनपर नजर रखनी शुरू कर दी और इसी कड़ी में यह कार्रवाई की गई है.’
ओडिशा में पिछले 9 साल में सतर्कता विभाग ने 9 आईएएस अधिकारियों के खिलाफ 11 मामले दर्ज किए हैं. वहीं 227 केस ओएएस अधिकारियों के खिलाफ हैं. ओडिशा में विपक्ष सरकार पर आरोप लगा रहा है कि राज्य में पड़े अफ़सरों पर कार्रवाई नहीं की जाती है

Monday, December 23, 2019

हेमंत सोरेन को झारखंड की सत्ता, झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को मिली जबरदस्त जीत

झारखंड चुनाव परिणाम के लिए इमेज परिणाम
हेमंत सोरेन को झारखंड की सत्ता, झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को मिली जबरदस्त जीत
TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
झारखंड में झामुमो, कांग्रेस और राजद के गठबंधन को सरकार बनाने का जनादेश मिला है। हेमंत सोरेन के नेतृत्व में अगली सरकार बनाने की तैय़ारी की जा रही है। झामुमो ने 30 सीटें हासिल कर बड़ी कामयाबी हासिल की है। कांग्रेस को 15 और राजद की एक सीटों को मिलाकर विपक्षी गठबंधन के पास कुल 46 सीटें हैं। इसके साथ ही झामुमो ने प्रदेश में सरकार बनाने के जादुई आंकड़े 41 को पार कर लिया है। सत्तारूढ़ भाजपा 37 से 26 सीटों पर सिमट गई है।
सुबह में दस बजे के बाद मतगणना के शुरुआती रुझान के साथ ही प्रदेश में हर ओर कमल मुरझाने के नजारे दिखाई देने लगे। बदलाव की बयार ऐसी बही कि 65 पार का दावा करने वाली भाजपा ताश के पत्ते की तरह उड़ गई। जनता ने केसरिया ब्रिगेड को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। पिछली बार से नौ सीटें कम लाकर मुख्यमंत्री रघुवर दास पार्टी की प्रतिष्ठा बचाने में भी कामयाब नहीं रहे। सत्ता साझीदार होने पर भी भाजपा के साथ बिना गठबंधन के चुनाव लड़ रही आजसू को भी करारा झटका लगा है। 2014 में पांच सीटों पर जीतने वाली आजसू इस बार महज दो सीटों पर सिमट गई।  
प्रदेश में चली बदलाव की लहर की मार मुख्यमंत्री रघुवर दास पर भी जमशेदपुर पूर्व सीट से करारी हार के रूप में पड़ी है। रघुवर सरकार के मंत्री राज पलिवार मधुपुर से और लोईस मरांडी दुमका से चुनाव हार गए हैं। विधानसभाध्यक्ष दिनेश उरांव को भी झामुमो के हाथों अपनी सिसई सीट गंवानी पड़ी है। रघुवर सरकार में आजसू कोटे से मंत्री रामचंद्र सहिस भी जुगसलाई विधानसभा क्षेत्र से चुनाव हार गए हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा  को भी चक्रधरपुर में पराजित होना पड़ा है। लगातार चुनाव हार रहे पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की विधानसभा में फिर से वापसी हो गई है।
ऐसे मिला जनमत
पार्टी    2014  2019
झामुमो   19     30
भाजपा    37     26
कांग्रेस      6     15
राजद        0      1
आजसू       5      2
झाविमो      8      3
माले          1      1
एनसीपी     0      1
निर्दलीय     5      2
बसपा        1      0

Wednesday, December 11, 2019

कोटा मंडल में ब्लॉक के कारण रतलाम मंडल की गाड़ियाँ प्रभावित

कोटा मंडल में ब्लॉक के कारण रतलाम मंडल की गाड़ियाँ प्रभावित
TOC NEWS @ www.tocnews.org
ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567
पश्चिम मध्य रेलवे कोटा मंडल के कोटा नागदा खंड में ब्लॉक के कारण रतलाम मंडल की कुछ गाड़ियाँ प्रभावित होगी ।
इसकी जानकारी देते हुए मंडल रेल प्रवक्ता ने बताया कि पश्चिम मध्य रेलवे कोटा मंडल के कोटा-नागदा के मध्य ब्रिज संख्या 162, 163, 164 एवं 167  का गर्डर बदलने के लिए 13.12.19 से 03.01.2020 तक प्रत्येक शुक्रवार को 08.30 बजे से 13.30 बजे तक पांच घंटे का मेगा ब्लॉक लिया जाएगा। इसके कारण कई गाड़ियाँ प्रभावित होगी जिसका विवरण निम्नानुसार हैः-
निरस्त गाड़ियाँ
1. गाड़ी संख्या 59832 कोटा वडोदरा पैसेंजर दिनांक 13.12.19, 20.12.19, 27.12.19 एवं 03.01.2020 को  निरस्त रहेगी।
2. गाड़ी संख्या 59831 वडोदरा कोटा पैसेंजर दिनांक 14.12.19, 21.12.19, 28.12.19 एवं 04.01.2020 को निरस्त रहेगी।
रेगुलेट गाड़ियाँ
1. गाड़ी संख्या 19040 मुजफ्फरपुर-बान्द्रा टर्मिनस एक्सप्रेस, मुजफ्फरपुर से दिनांक 12.12.19, 19.12.19, 26.12.19 एवं 02.01.2020 को चलने वाली कोटा-नागदा खंड में 2.10 घंटे रेगुलेट होगी।
2. गाड़ी संख्या 22969 ओखा वाराणसी एक्सप्रेस, ओखा से दिनांक 12.12.19, 19.12.19, 26.12.19 एवं 02.01.2020 को चलने वाली नागदा-कोटा खंड में 04.15 घंटे रेगुलेट होगी।
3. गाड़ी संख्या 12903 मुम्बई सेंट्रल अमृतसर एक्सप्रेस, मुम्बई सेंट्रल से दिनांक 12.12.19, 19.12.19, 26.12.19 एवं 02.01.2020 को चलने वाली नागदा-कोटा खंड में 03.10 घंटे रेगुलेट होगी।
4. गाड़ी संख्या 12465 इंदौर जोधपुर एक्सप्रेस, इंदौर से दिनांक 13.12.19, 20.12.19, 27.12.19 एवं 03.01.2020 को चलने वाली नागदा-कोटा खंड में 01.45 घंटे रेगुलेट होगी।
5. गाड़ी संख्या 69155 रतलाम मथुरा पैसेंजर, रतलाम से दिनांक 13.12.19, 20.12.19, 27.12.19 एवं 03.01.2020 को चलने वाली नागदा-कोटा खंड में 01.00 घंटे रेगुलेट होगी।

Friday, November 29, 2019

डॉक्टर प्रियंका से गैंगरेप क जलाकर मार डाला, दिल दहलाने वाला अपराध, 4 आरोपी गिरफ्तार, अब खुलेंगे राज़

डॉक्टर प्रियंका से गैंगरेप क जलाकर मार डाला, दिल दहलाने वाला अपराध, 4 आरोपी गिरफ्तार, अब खुलेंगे राज़

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
रंगारेड्डी (तेलंगाना) । जिले के शादनगर में महिला वेटनरी डॉक्टर की गैंगरेप और जिंदा जला देने की बर्बर घटना में पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों में मोहम्मद पाशा, नवीन, केशवलू और शिवा शामिल है। मृतक महिला प्रियंका रेड्डी महबूबनगर जिले के नवाबपेट मंडल के कोल्लुरु स्थित सरकारी वेटनरी अस्पताल में डॉक्टर थीं।
शादनगर में महिला की स्कूटी पंक्चर होने के बाद शराब के नशे में धुत हमलावरों ने टोल प्लाजा के निकट के मैदान में घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने अपनी तहकीकात में पाया कि घटना में चार लोग शामिल थे जिनमें एक ट्रक ड्राइवर और तीन क्लीनर शामिल थे। इनपर महिला से रेप के बाद उसे जिंदा जलाकर मार डालने का आरोप है। मुख्य आरोपी मोहम्मद पाशा नारायणपेट जिले का निवासी है।

इत्तेफाक नहीं योजना बनाकर की गई स्कूटी पंचर, जांच मे खुलासा

पुलिस के मुताबिक, यह एक पूर्व नियोजित बलात्कार और हत्या का मामला है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने पीड़िता पर नजर रखी हुई थी। टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पास पार्क की हुई प्रियंका की स्कूटी के टायर को जानबूझकर पंचर किया गया ताकि दरिंदे अपनी हवस मिटा सके। घटना वैसे ही हुई जैसे प्लानिंग की गयी थी, और प्रियंका अनजाने में आरोपियों के चंगुल में फंस गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट्स के अनुसार, शम्साबाद में आउटर रिंग रोड पर टोंडुपल्ली टोल प्लाजा के पीछे खाली जमीन में उन्होंने प्रियंका के साथ सामूहिक बलात्कार किया। फिर रंगा रेड्डी जिले के शादनगर शहर के पास चटानपल्ली पुल पहुंचकर उन्होंने प्रियंका पर मिट्टी का तेल डालकर उसे जला दिया। इसके बाद चारों वहां से भाग निकले।
doctor priyanka reddy muder case 4 arrested ANI NEWS INDIA copy
डॉक्टर प्रियंका से गैंगरेप क जलाकर मार डाला, दिल दहलाने वाला अपराध, 4 आरोपी गिरफ्तार, अब खुलेंगे राज़
प्रियंका रेड्डी के पिता ने पुलिस पर लापरवाही और उदासीनता का आरोप लगाते हुए कहा कि वे रात 10 बजे प्रियंका के लापता होने की शिकायत दर्ज कराने गए थे और उन्हें अन्य दो पुलिस स्टेशन के लिए भेज दिया गया। टोल प्लाजा के निकट से आखरी कॉल आयी थी। आखिरकार शमशाबाद पुलिस ठाणे में मध्य रात्रि 2ः50 बजे एफआईआर दर्ज की। उनका कहना है कि पुलिस सतर्क होती तो उनकी बेटी की जान बच सकती थी।
गौरतलब है कि प्रियंका बुधवार शाम 6 बजे डॉक्टर से मिलने के लिए घर से निकली थी। प्रियंका अपनी स्कूटी से तोंडुपल्ली स्थित टोलप्लाजा पहुंची। वहां अपनी स्कूटी पार्क कर वह एक अन्य वाहन से गच्चीबावली स्थित एक स्किन क्लिनिक गई। वापस रात  9 बजे टोल प्लाजा पहुंचने के बाद प्रियंका जब स्कूटी से घर जाने लगी तो देखा कि उसका टायर पंक्चर है। घटनाक्रम में पास में खड़े 20 वर्षीय युवक स्कूटी का पंक्चर जोड़कर लाने के बहाने प्रियंका की स्कूटी अपने साथ ले गया। इस युवक पर तीन अन्य के साथ मिलकर घटना को अंजाम देने का आरोप है।
प्रियंका रात्रि 9.22 बजे अपनी बहन भव्या को फोन कर बताया कि उसकी स्कूटी का टायर पंक्चर हुआ है और एक युवक उसे जोड़कर लाने के लिए गया है। उसने कहा, ‘बगल में लॉरी में कुछ लोग हैं जो मुझे घूर रहे हैं। यहां चारों तरफ लॉरी ड्राइवर हैं और उन्हें देखकर डर लगने लगा है और सभी मेरी तरफ देख रहे हैं।’ प्रियंका ने बहन से कुछ देर तक फोन पर बातें करने की अपील की। इस तरह करीब 6 मिनट तक प्रियंका अपनी बहन से फोन पर बातें करती रही. लेकिन उसके बाद प्रियंका का फोन स्विच ऑफ हो गया।

Tuesday, November 26, 2019

बीजेपी के विधायक कालिदास कोलंबकर होंगे महाराष्ट्र के प्रोटेम स्पीकर

बीजेपी के विधायक कालिदास कोलंबकर होंगे महाराष्ट्र के प्रोटेम स्पीकर

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036
महाराष्ट्र में मंगलवार को तेजी से बदले घटनाक्रम में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और एनसीपी के बाग़ी नेता अजीत पवार ने उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया। इसके बाद प्रोटेम स्पीकर कालिदास कोलांबकर को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शपथ दिलाई।
शपथ लेने के बाद कोलाबंकर ने बताया कि बुधवार को सुबह 8 बजे से नई विधानसभा का पहला सत्र शुरू होगा और इसमें नये विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी। 
फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में इस्तीफ़ा देने की घोषणा की थी और राजभवन जाकर राज्यपाल को इस्तीफ़ा सौंप दिया था। राज्यपाल ने 23 नवंबर को फडणवीस और पवार को शपथ दिलाई थी। शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का रुख  किया था और राज्यपाल के फ़ैसले को चुनौती दी थी।
अदालत ने दो दिन तक सुनवाई के बाद बुधवार को फ़्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था। लेकिन उससे पहले पवार और फडणवीस ने इस्तीफ़ा दे दिया। 

बिना बहुमत बने सीएम देवेंद्र फडणवीस ने किया इस्तीफे का ऐलान, अजीत पवार ने साथ छोड़ा

बिना बहुमत बने सीएम देवेंद्र फडणवीस ने किया इस्तीफे का ऐलान, अजीत पवार ने साथ छोड़ा

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शपथ लेने के महज तीन दिन बाद ही पद से इस्तीफा दे दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने आज ही बुधवार को फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया था, लेकिन उन्होंने उसका इंतजार किए बगैर ही पद छोड़ दिया।

मुंबई. महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शपथ लेने के महज तीन दिन बाद ही पद से इस्तीफा दे दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने आज ही बुधवार को फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया था, लेकिन उन्होंने उसका इंतजार किए बगैर ही इस्तीफा दे दिया है। देवेंद्र फडणवीस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं यहां से सीधे गवर्नर हाउस जा रहा हूं और अपनी इस्तीफा उन्हें सौंप दूंगा।


जो सबसे बड़ा दल है वो अब विपक्ष मे र्रहेगा और चिल्लर लोग मिलके सरकार बना रहे हैं, ए भी भारत का संविधान ही है. वो भी कांग्रेस्स और शिवसेना, सत्ता के लिये कुछ भी हो सकता हैं आज
फडणवीस से पहले डेप्युटी सीएम अजित पवार ने भी इस्तीफा दे दिया था। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब फडणवीस से पूछा गया कि क्या अजित पवार से समर्थन लेने का फैसला गलत था तो उन्होंने कहा कि गलती हुई या नहीं, यह हम बाद में सोचेंगे।

इसे भी पढ़ें :- 95000 करोड़ के आरोपी को मोदी ने बना दिया महाराष्ट्र का उप मुख्यमंत्री

उन्होंने कहा, 'देखिए, चुनाव में वह चुन कर आए और एनसीपी ने उनको (अजित पवार) गुट नेता (विधायक दल का नेता) बनाया। अब सरकार बनाने के लिए गुट नेता की बात तो सुननी पड़ती है न? गलती हुई या नहीं, ये बाद में सोचेंगे।' माना जा रहा है कि देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार को यह लग रहा था कि वे फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित नहीं कर पाएंगे और इसके चलते दोनों ने पद से इस्तीफा दे दिया।

इसे भी पढ़ें :- ‘श्वेत हनी’ का चमड़ीखोर ‘छोटू’… IAS एस. के. मिश्रा : ”लोक स्वामी” की पोल खोल वीडियो ख़बर

मैं पत्रकार वार्ता के बाद राज्यापाल से मिलकर इस्तीफा दे दूंगा। उन्होंने कहा कि कितने दिन राष्ट्रपति शासन रहेगा यह सोच के अजित पवार ने सहयाेग दिया। उन्होंने समर्थन का पत्र दिया और हमने सरकार बनाई। आज सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आया। उसके बाद अजित दादा ने बताया कि कुछ कारणों से मैं इस गठबंधन में अधिक समय तक नहीं रह सकता। लिहाजा अब हमारे पास बहुमत नहीं है। इसलिए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने जा रहा हूं ।

अब तीन पहिए वाली सरकार

फडणवीस ने कहा कि हम पहले से ही कहते आ रहे हैं कि हम किसी दल के विधायक नहीं तोड़ेंगे। मैं पत्रकार वार्ता के बाद इस्तीफा देने जा रहा हूं। राज्यपाल से मिलूंगा। नई सरकार बनाने जा रहे लोगों को मेरी शुभेच्छा। लेकिन मुझे नहीं लगता कि वे अच्छे तरीके से सरकार चला पाएंगे। ये सरकार अपने ही बोझ के तले दब जाएगी। अब तीन पहिए वाली सरकार है। ऑटोरिक्शा भी तीन पहिए पर दौड़ता है। लेकिन नई बनने जा रही सरकार के तीन पहिए अलग-अलग दिशा में चलने वाले हैं। लिहाजा क्या होगा इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

Wednesday, November 20, 2019

महाराष्ट्र के राजनीतिक समीकरण पल-पल बदल रहे, शरद पवार ने यह कहकर सस्पेंस बढ़ा दिया

महाराष्ट्र के राजनीतिक समीकरण पल-पल बदल रहे, शरद पवार ने यह कहकर सस्पेंस बढ़ा दिया


TOC NEWS @ www.tocnews.org
 
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

महाराष्ट्र के राजनीतिक समीकरण पल-पल बदल रहे हैं। मंगलवार सुबह शिवसेना के प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि राज्य में शिवसेना ही सरकार बनाएगी। वहीं एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने यह कहकर सस्पेंस बढ़ा दिया कि जिन्हें सरकार बनानी है उन्हीं से पूछ लो। अब खबर है कि राज्य में सरकार बनाने को लेकर आज या कल में कांग्रेस और एनसीपी के बीच बैठक हो सकती है। जिसमें न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमति बन सकती है। वहीं सोनिया गांधी के घर कांग्रेस के प्रमुख नेताओं की बैठक हुई। 

एनसीपी और कांग्रेस के बीच होगी बैठक

सूत्रों ने बताया है कि एक या दो दिनों में कांग्रेस और एनसीपी के नेता न्यूनतम साझा कार्यक्रम को अंतिम आकार देने के लिए दिल्ली में मुलाकात करेंगे। शिवसेना के साथ चर्चा से पहले दोनों पक्षों के शीर्ष नेतृत्व द्वारा इस पर अंतिम मसौदा तैयार किया जाएगा।
 

सोनिया गांधी के घर पर बैठक

कांग्रेस की अंतमिर अध्यक्ष सोनिया गांदी के दिल्ली स्थित आवास पर पार्टी नेता अहमद पटेल, एके एंटोनी और मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ बैठक चल रही है। इसमें महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर चर्चा की जा रही है। 

सरकार बनेगी और सदन में 170 का बहुमत होगा: संजय राउत

राउत से जब पवार के बयान को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह गलत क्या बोल रहे हैं, सरकार शिवसेना ही बनाएगी। उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार बनेगी और सदन में 170 का बहुमत होगा। शिवसेना बड़ी पार्टी है, महाराष्ट्र में हम सरकार बनाने जा रहे हैं, हमें किसी की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है। सरकार बनेगी, सरकार का नेतृत्व शिवसेना करेगी।' शरद पवार को लेकर उन्होंने कहा कि शरद पवार को समझने में कई जन्म लग जाएंगे। राउत ने कहा कि हम किसानों के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे, ये मुलाकात शरद पवार की अगुवाई में ही होगी।
 
कांग्रेस-एनसीपी नेताओं की बुधवार को बैठक 

कांग्रेस-एनसीपी नेताओं की बुधवार को दिल्ली में बैठक होगी। बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार, प्रफुल्ल पटेल, अजित पवार और कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, पृथ्वीराज चव्हाण, अशोक चव्हाण शामिल होंगे। 

उद्धव ठाकरे ने बुलाई बैठक 
 
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने 22 नवंबर को अपने आवास मातोश्री पर पार्टी विधायकों की बैठक बुलाई।  

वीर सावरकर को भारत रत्न पर बोले राउत 

वीर सावरकर को भारत रत्न देने के सवाल पर संजय राउत ने कहा- हमने हमेशा इसका समर्थन किया है। 
जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो 
शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत रोजोना महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर ट्वीट करते रहते हैं। मंगलवार को उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अगर जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो इरादे नहीं। जय महाराष्ट्र।' उनका ट्वीट इस बात का संकेत दे रहा है कि शिवसेना राज्य में सरकार बनाने के लिए हर तरह के विकल्पों पर विचार करने के लिए तैयार है।
 
 
शिवसेना ने भाजपा की तुलना 13वीं सदी के हमलावर मोहम्मद गोरी से की जिसने पृथ्वीराज चौहान की हत्या कर दी थी जबकि चौहान ने कई बार उसकी जान बख्श दी थी। अपने मुखपत्र ‘सामना’ में तल्ख तेवरों में लिखे संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि वह भाजपा को उखाड़ फेंकेंगी जिसने उसे चुनौती देने का साहस किया है। उसने यह भी दावा किया कि सत्तारूढ दल के ‘नेता बच्चे थे’ जब शिवसेना के सहयोग से एनडीए बना था ।

शिवसेना ने संपादकीय में लिखा, ‘मोहम्मद गोरी ने भारत में इस्लामी शासन की नींव रखी ओर हिंदू शासक पृथ्वीराज चौहान से कई युद्ध लड़े। हार के बाद हमेशा चौहान ने उसे बख्श दिया लेकिन जब गोरी ने युद्ध जीता तो उसे पृथ्वीराज चौहान को मार डाला।

कांग्रेस-एनसीपी की बैठक कल, उद्धव ठाकरे ने 22 को बुलाई बैठक

कांग्रेस-एनसीपी की बैठक कल, उद्धव ठाकरे ने 22 को बुलाई बैठक के लिए इमेज परिणाम

TOC NEWS @ www.tocnews.org
खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

महाराष्ट्र के राजनीतिक समीकरण पल-पल बदल रहे हैं। मंगलवार सुबह शिवसेना के प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि राज्य में शिवसेना ही सरकार बनाएगी। वहीं एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने यह कहकर सस्पेंस बढ़ा दिया कि जिन्हें सरकार बनानी है उन्हीं से पूछ लो। अब खबर है कि राज्य में सरकार बनाने को लेकर आज या कल में कांग्रेस और एनसीपी के बीच बैठक हो सकती है। जिसमें न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमति बन सकती है। वहीं सोनिया गांधी के घर कांग्रेस के प्रमुख नेताओं की बैठक हुई। 

एनसीपी और कांग्रेस के बीच होगी बैठक

सूत्रों ने बताया है कि एक या दो दिनों में कांग्रेस और एनसीपी के नेता न्यूनतम साझा कार्यक्रम को अंतिम आकार देने के लिए दिल्ली में मुलाकात करेंगे। शिवसेना के साथ चर्चा से पहले दोनों पक्षों के शीर्ष नेतृत्व द्वारा इस पर अंतिम मसौदा तैयार किया जाएगा।

सोनिया गांधी के घर पर बैठक

कांग्रेस की अंतमिर अध्यक्ष सोनिया गांदी के दिल्ली स्थित आवास पर पार्टी नेता अहमद पटेल, एके एंटोनी और मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ बैठक चल रही है। इसमें महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर चर्चा की जा रही है। 

सरकार बनेगी और सदन में 170 का बहुमत होगा: संजय राउत

राउत से जब पवार के बयान को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह गलत क्या बोल रहे हैं, सरकार शिवसेना ही बनाएगी। उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार बनेगी और सदन में 170 का बहुमत होगा। शिवसेना बड़ी पार्टी है, महाराष्ट्र में हम सरकार बनाने जा रहे हैं, हमें किसी की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है। सरकार बनेगी, सरकार का नेतृत्व शिवसेना करेगी।' शरद पवार को लेकर उन्होंने कहा कि शरद पवार को समझने में कई जन्म लग जाएंगे। राउत ने कहा कि हम किसानों के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे, ये मुलाकात शरद पवार की अगुवाई में ही होगी।

कांग्रेस-एनसीपी नेताओं की बुधवार को बैठक 

कांग्रेस-एनसीपी नेताओं की बुधवार को दिल्ली में बैठक होगी। बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार, प्रफुल्ल पटेल, अजित पवार और कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे, पृथ्वीराज चव्हाण, अशोक चव्हाण शामिल होंगे। 

उद्धव ठाकरे ने बुलाई बैठक 
 
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने 22 नवंबर को अपने आवास मातोश्री पर पार्टी विधायकों की बैठक बुलाई।  

वीर सावरकर को भारत रत्न पर बोले राउत 

वीर सावरकर को भारत रत्न देने के सवाल पर संजय राउत ने कहा- हमने हमेशा इसका समर्थन किया है। 
जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो 
शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत रोजोना महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर ट्वीट करते रहते हैं। मंगलवार को उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अगर जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो इरादे नहीं। जय महाराष्ट्र।' उनका ट्वीट इस बात का संकेत दे रहा है कि शिवसेना राज्य में सरकार बनाने के लिए हर तरह के विकल्पों पर विचार करने के लिए तैयार है।

शिवसेना ने ‘कृतघ्न’ भाजपा की तुलना मोहम्मद गोरी के ‘विश्वासघात’ से की
शिवसेना ने भाजपा की तुलना 13वीं सदी के हमलावर मोहम्मद गोरी से की जिसने पृथ्वीराज चौहान की हत्या कर दी थी जबकि चौहान ने कई बार उसकी जान बख्श दी थी। अपने मुखपत्र ‘सामना’ में तल्ख तेवरों में लिखे संपादकीय में शिवसेना ने कहा कि वह भाजपा को उखाड़ फेंकेंगी जिसने उसे चुनौती देने का साहस किया है। उसने यह भी दावा किया कि सत्तारूढ दल के ‘नेता बच्चे थे’ जब शिवसेना के सहयोग से एनडीए बना था ।

शिवसेना ने संपादकीय में लिखा, ‘मोहम्मद गोरी ने भारत में इस्लामी शासन की नींव रखी ओर हिंदू शासक पृथ्वीराज चौहान से कई युद्ध लड़े। हार के बाद हमेशा चौहान ने उसे बख्श दिया लेकिन जब गोरी ने युद्ध जीता तो उसे पृथ्वीराज चौहान को मार डाला।’

CCH ADD

CCH ADD
CCH ADD

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news