Sunday, December 31, 2017

तीन खराब मैचों के बाद मेलबर्न में इस तरह का प्रदर्शन करना अच्छा रहा

The Ashes 2017-18: After 3 difficult games, it was pleasing to put in a performance like that, says Joe Root

TOC NEWS

एशेज सीरीज में तीन लगातार टेस्ट मैच हारने के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न टेस्ट ड्रॉ होने से इंग्लैंड के कप्तान जो रूट  खुश हैं।

मेलबर्न क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए बॉक्सिंग डे टेस्ट में इंग्लैंड की जीत की संभावना काफी ज्यादा थी लेकिन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ की 102 रनों की संघर्षपूर्ण पारी की बदौलत मेजबान टीम मैच ड्रॉ कराने में सफल रही। मैच के बाद मीडिया से बात करते हुए रूट ने कहा, “तीन खराब मैचों के बाद यहां आकर इस तरह का प्रदर्शन करना खुश करने वाला है।
बतौर टीम यही हमारी पहचान है। हमारी क्षमता का यही सही उदाहरण है। मुझे निराशा है कि हम आज के दिन पिच का पूरा फायदा नहीं उठा सके लेकिन हमने हरसंभव कोशिश की और सभी खिलाड़ियों ने पूरे दिन मेहनत की।”  मेलबर्न की सपाट और बेजान पिच इंग्लैंड की घरेलू पिचों जैसी थी लेकिन मेजबान टीम आखिरी दिन इस धीमी पिच पर आठ विकेट लेने में नाकाम रही। रूट ने इस मैच में दोहरा शतक लगाने वाले एलेस्टर कुक की जमकर तारीफ की।
उन्होंने कहा कि टीम को सीनियर खिलाड़ियों से इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद रहती है। रूट ने पूरी टीम की तारीफ करते हुए कहा, “टीम की बात करें तो मैने खिलाड़ियों के चरित्र पर कभी सवाल नहीं किया। हम जिस तरह से खेलते हैं वो हमेशा एक जैसा रहता है। तीन मुश्किल मैचों के बाद, वापसी करना और इस तरह का प्रदर्शन करना बतौर कप्तान मेरे लिए बहुत अच्छा है। हम जिस तरह से इस दौरे पर खेले हैं, हम उससे कहीं ज्यादा बेहतर टीम हैं।
ये मैच हमारे लिए पैमाना है।”  रूट ने आगे कहा, “बेशक हम क्लीव स्वीप नहीं होना चाहते थे लेकिन हम इस मैच में जीत के उत्साह के साथ आए थे। हमने कोशिश की थी कि टीम का पूरा ध्यान मैच जीतने पर रहपे और फिर सिडनी जाकर वहां भी जीत हासिल करें। खिलाड़ियों को सही मानसिक स्थिति में लाना मुश्किल नहीं था। पर्थ के बाद से उनके मन में काफी निराशा थी और अभ्यास में आप वो साफ देख सकते थे कि वो लोगों को गलत साबित करना चाहते हैं।” सीरीज की पांचवां और आखिरी टेस्ट मैच 4 जनवरी को सिडनी में होगा।

5 जवान शहीद-2 आतंकवादी ढेर, जम्मू-कश्मीर में CRPF के ट्रेनिंग सेंटर पर बड़ा आतंकी हमला

पुलवामा में CRPF कैंप पर बड़ा हमला: 5 जवान शहीद, 2 अातंकी ढेर के लिए इमेज परिणाम

श्रीनगर . ऑपरेशन ऑल आउट से बौखलाए आतंकवादियों ने साल के आखिरी दिन जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पठानकोट एयरबेस की तर्ज पर बड़ा हमला किया है। सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर में रविवार तड़के 2 बजे घुसे जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने जबरदस्त फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने तुरंत मोर्चा संभाला और मुठभेड़ शुरू हो गई।

इस दौरान सीआरपीएफ के 5 जवान शहीद हो गए और 2 अन्य घायल हुए हैं। सुरक्षाबलों ने 2 आतंकवादियों को मार गिराया है। अभी सर्च ऑपरेशन जारी है।  जैश-ए-मोहम्मद ने 2016 में पठानकोट एयरबेस पर नए साल के जश्न के बीच ही हमला किया था। तब 1 जनवरी की रात हुए इस हमले में 7 सैनिक शहीद हो गए थे। उस समय मुठभेड़ 80 घंटे तक चली थी। बताया जा रहा है कि यह अचानक किए गए सबसे खतकनाक हमलों में से है।
रविवार दोपहर तक दोनों ओर से गोलीबारी होती रही, जिसके बाद सेना को सफलता मिली।   आतंकी हमले पर जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने बताया कि सर्च ऑपरेशन में दो आतंकियों के शव बरामद हुए हैं।
एएनआई ने सीआरपीएफ के हवाले से बताया कि फिदायीन लेथपोरा स्थित सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स के 185 बटालियन कैंप में लगभग 2 बजे घुसने में कामयाब रहे थे। आतंकियों ने पहले हैंड ग्रेनेड फेंके और उसके बाद फायरिंग शुरू कर दी। आतंकी एक इमारत में जाकर छिप गए और वहां से गोलीबारी करने लगे। न्यूज एजेंसी ने सीआरपीएफ के हवाले से कहा है कि दूसरे कैंपों पर भी ऐसे ही हमले की आशंका है।
अधिकारी ने कहा, 'आतंकवादियों से निपटने के लिए राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और राज्य पुलिस सहित सुरक्षा बलों ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया।' एहतियात के तौर पर प्रशासन ने पुलवामा जिले में इंटरनेट सेवा निलंबित कर दिया है। आतकंवाद रोधी अभियान के दौरान श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर यातायात कुछ समय के लिए बाधित रहा

अमित शाह के एक फोन से सुलझा मामला, नितिन पटेल बने वित्त मंत्री

अमित शाह के एक फोन से सुलझा मामला, नितिन पटेल बने वित्त मंत्री
TOC NEWS
नयी दिल्ली : कैबिनेट बंटवारे को लेकर गुजरात सरकार में छाया संकट का बादल खत्म हो गया. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के एक फोन के बाद नितिन पटेल को वित मंत्री का कमान सौंपी गयी. दिग्गज पाटीदार नेता नितिन पटेल ने उपमुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण कर लिया तथा मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से मिलने उनके बंगले पहुंचे. नितिन पटेल ने भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व पर आभार प्रकट किया. दो दिनों से चल रहे विवाद के बीच रविवार को उन्होंने ऐसी तमाम अटकलों पर विराम लगा दिया और कार्यभार संभालने के लिए राजी हो गये. मामले को लेकर आज नितिन पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की.
गौरतलब है कि आज सुबह नितिन पटेल ने कहा था कि काफी समय से मैं सूबे में दूसरे स्थान का नेता हूं. मुख्यमंत्री के बाद दूसरे स्थान के नेता को जो मंत्रालय शोभा देते हैं वैसे मुझे इस बार नहीं दिया गया. पहले मेरे पास जो मंत्रालय थे वह भी मुझसे छीन लिये गये. मैंने मुख्यमंत्री अमित शाह और सभी बड़े नेताओं से इसके संबंध में बात की है कि मुझे ऐसे मंत्रालय दिया जाए, जिससे मैं गौरव से काम करने में सक्षम हो सकूं.
 

आगे पटेल ने कहा कि आज सुबह 7:30 बजे मुझे अमित शाह जी ने कॉल किया. उन्होंने कहा कि आपकी जो नाराजगी है वह हम समझते हैं और हम आपको ऐसे मंत्रालय जरूर देंगे जो आप की शोभा बढ़ाये. मुझे नया विभाग मिले इसके लिए गवर्नर को जो पत्र भेजा जाता है वह मुख्यमंत्री रविवार दोपहर तक भेज देंगे. इसीलिए मैं अभी अपना कार्यभार संभालने जा रहा हूं.

निःशुल्क कोचिंग का दीप प्रज्जलित कर किया शुभारंभ।



TOC NEWS

गाडरवारा। अपने जीवन को सफलता के मुकाम पर ले जाना है तो शिक्षा की आवश्यता पड़ती है। शिक्षा जितनी ज्यादा और अच्छी होगी आप उतने बड़े मुकाम पर होंगे। इसलिए पढ़ाई सबके लिए जरूरी है। आप सभी अच्छे से पढ़ाई लिखाई करें। इस कोचिंग में आपको जो बताया जायें वह आपके अच्छाई के साथ साथ आपके उज्जबल भविष्य के लिए अतिआवश्यक है। उपरोक्त मार्गदर्शन विचार निःशुल्क कोचिंग के शुभारंभ के अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में उपस्तिथ मुख्य नगर पालिका अधिकारी दुर्गेश ठाकुर ने मौजूद विधार्थियों के बीच रखें। समाजसेवी संगठन श्री साईं श्रद्धा सेवा समिति के द्धारा बच्चों को शिक्षा के ज्ञान के साथ साथ भौतिक ज्ञान प्रदान करने के उद्देश्य से विगत चार वर्षों से निचले तवके के बच्चों के लिए इस निःशुल्क कोचिंग का आयोजन करती आ रही है। इसी श्रंखला में गतदिवस साईं बाबा के तैलचित्र की पूर्जा अर्चना एवं दीप प्रज्जलित कर इस का शुभांरभ मुख्य नगर पालिका अधिकारी दुर्गेश ठाकुर,समिति राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष राय,समाजसेवी जरदार खान की उपस्तिथि में किया गया। तद्पश्चात अतिथि द्धारा बच्चों को शिक्षण सामग्री कम्पास बॉक्स का वितरण किया गया। साथ ही बहुत जल्द बच्चों के लिए ड्रेस इत्यादि भी बाँटी जाएगी जिसकी घोषणा सीएमओ दुर्गेश ठाकुर द्धारा की गई। जिसका अभिवादन बच्चों ने ताली बजाकर किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्तिथ बच्चों के साथ समिति संरक्षक अशोक राय,रफीक खान,कुणाल वर्मा,बादशाह खान,सचिन कहार,दीपेश श्रीवास,दीपू शर्मा मुख्य रूप से मौजूद थे। 

Saturday, December 30, 2017

"जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया" (जय) पत्रकार संगठन की नेपानगर इकाई गठन, रवींद्र इंगले बने नेपा तहसील अध्यक्ष

Image may contain: 3 people, people standing and indoor

"जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया" (जय) पत्रकार संगठन की नेपानगर इकाई का हुआ गठन। रवींद्र इंगले बने नेपा तहसील अध्यक्ष, नेपा विधायिका सुश्री मंजू दादू जी ने नवनियुक्त पदाधिकारियों को बधाई प्रेषित की।

toc news // www.tocnews.org
बुरहानपुर। आज नेपानगर स्थित नेपा क्लब में जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (जय) पत्रकार संगठन की वर्ष 2017-18 की कार्यकारिणी का  गठन हुआ। जिसमें रविंद्र इंगले को नेपा तहसील अध्यक्ष बनाया गया। जय संगठन के जिलाध्यक्ष उमेश जंगाले ने नेपानगर तहसील  इकाई के सभी पदाधिकारियों की घोषणा सर्व सर्वसम्मति से की और जय संगठन के नवनियुक्त पदाधिकारियों को नियुक्ति पत्र भेंट किए।
जय संगठन के आयोजन में नेपानगर विधायिका सुश्री मंजू दादू जी मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित हुए। कार्यक्रम पश्चात सुश्री दादू ने अपने उद्बोधन में कहा कि जय संगठन की सामाजिक गतिविधियों एवं पत्रकारों के हित के कार्यों में सदैव पत्रकारों के लिए तत्पर रहूंगी। एवं पत्रकारों के हित के कार्य करती रहूंगी। सुश्री मंजू दादू ने नेपानगर के नवनियुक्त सभी पदाधिकारियों को बधाई प्रेषित की।
Image may contain: 4 people, people standing and indoor
नेपा नगर तहसीलदार श्री मुकेश काशिव ने अपने विचार रखते हुए जय पत्रकार संगठन के सभी पदाधिकारियों से सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने की बात कही।
Image may contain: 7 people, people standing, tree and outdoor
जय के संभागीय उपाध्यक्ष श्री महेश मावले ने सभी पत्रकारों को सदैव एकजुट होकर कार्य करना बात कही। जय संगठन के जिलाध्यक्ष श्री उमेश जंगाले ने अपने उद्बोधन में कहां की शासन द्वारा चलाई जा रही पत्रकारों के लिए सभी योजनाओं का लाभ जिले के पात्र पत्रकारों को दिलाया जाएगा।
Image may contain: 7 people, people smiling, people standing
वरिष्ठ पत्रकार एवं अतिथि रविंद्र पांडे नेपानगर के सभी पदाधिकारियों को बधाई प्रेषित की एवं एकजुट होकर कार्य करने की बात कही। कार्यक्रम में भाजपा वरिष्ठ कार्यकर्ता संजय विजयवर्गीय, मनोज माहेश्वरी ने भी शिरकत की ।
Image may contain: 4 people, people standing and indoor
बुरहानपुर से आए जय संगठन के पदाधिकारियों का नेपानगर में फूल माला से भव्य स्वागत किया और साथ ही नेपानगर के नवनियुक्त पदाधिकारियों का स्वागत जय पत्रकार संगठन के बुरहानपुर पदाधिकारियों ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में पत्रकार साथी उपस्थित रहे।
Image may contain: 3 people, people standing

नेपानगर तहसील में इनकी हुई नियुक्तियां

नेपा तहसील अध्यक्ष - रविंद्र इंगले

उपाध्यक्ष - छगनलाल पटाईल

जिला महासचिव - विनोद चंदेले

सचिव - राजू राठौर

सह सचिव - दीपक आड़ाले,

                 पंकज रघुवंशी,

                 प्रमोद अग्रवाल

प्रचार सचिव - महेश वाणी

                    संदीप धाहट

*कार्यकारिणी सदस्य*- राजेंद्र चौधरी, सीताराम खराटे, कैलाश बिसरे, विनोद मोरे, मोहम्मद मुबारक, को नियुक्त किया।

Image may contain: 4 people, people smiling, people standing

*बुरहानपुर से जय संगठन के पदाधिकारियों में यह रहे मौजूद।*

संभागीय सचिव- नितिन इंगले
संभागी उपाध्यक्ष महेश मावले
जिलाध्यक्ष- उमेश जंगाले
जिला उपाध्यक्ष- बनवारी मेटकर
                        राजेश मावले
                        प्रवीण वाणे
जिला महासचिव- नयन कापड़िया, नौशाद नूर
सचिव- नीलेश सोनी
जिला मीडिया प्रभारी- निलेश महाजन
सह मीडिया प्रभारी - मुजफ्फर अली
*जिला कार्यकारिणी सदस्य* मोहम्मद अरमान, रफीक अंसारी, सुमित महेंद्रकर, श्याम सारवान
मोहम्मद अरमान
आदि पत्रकार उपस्थित थे।

आप सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को *जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया* "jai" परिवार की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई
आपका
*विनय जी डेविड*

जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (जय)

प्रदेश अध्यक्ष (मप्र) 9893221036

Image may contain: 4 people, people smiling, indoor

अब 'पद्मावती' नहीं ये हो सकता है फिल्म का नाम!

'पद्मावती' के लिए इमेज परिणाम
संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित 'पद्मावती' पर नई खबर सामने आई है कि फिल्म को सेंसर बोर्ड की मंजूरी मिल गई है, लेकिन इस पर भी कुछ शर्त रखी गई हैं। इस फैसले के बाद राजपूत करणी सेना ने आरोप लगाया है कि अंडरवर्ल्ड के दवाब में पद्मावती को मंजूरी मिली है। करणी सेना ने धमकी दी कि जिस भी हॉल में पद्मावती दिखाई जाएगी उसे तहस-नहस कर दिया जाएगा।
इन बदलाव के मिले हैं निर्देश
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सेंसर बोर्ड ने फिल्म का नाम बदलकर 'पद्मावत' करने का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही ये भी कहा गया है कि फिल्म में एक डिस्क्लेमर भी डाला जाएगा। कहा ये भी जा रहा है कि फिल्म का घूमर सॉन्ग पर भी बदलाव किए जाएंगे।
करणी सेना का आरोप
करणी सेना ने आरोप लगाया है कि अंडरवर्ल्ड के दबाव में आकर सेंसर बोर्ड इस फिल्म को रिलीज कर रही है। करणी सेना ने धमकी दी है कि अगर फिल्म रिलीज हुई तो उनके लोग सिनेमा हॉल के बाहर ही खड़े रहेंगे और जहां पद्मावती दिखाई जाएगी वहां तोड़फोड़ होगी।

सहज संवाद // वास्तविक आनन्द के लिए आवश्यक है पुरातन बेडियों से मुक्ति

डा. रवीन्द्र अरजरिया के लिए इमेज परिणाम

सहज संवाद / डा. रवीन्द्र अरजरिया

विश्व में प्रकृति संरक्षण की उपाय तेज होने लगे हैं। ‘आओ प्रकृति की ओर लौट चलें’ का नारा बुलंद होने लगा है। जागरूकता के उपायों को मूर्त रूप देने की वकालत होने लगी है। देश की सदियों पुराने सांस्कृतिक मूल्य चारों ओर दस्तक देने लगे हैं। मानव से लेकर जीव-जन्तुओं तक, खनिज सम्पदा से लेकर भू-गर्भीय भण्डारों तक और प्रदूषण से लेकर पर्य़ावरण संरक्षण तक के लिए सामूहिक प्रयासों पर बल दिया जाने लगा है।

अत्याधुनिक चिकित्सा पद्धतियों के स्थान पर विशुद्ध प्राकृतिक चिकित्सा के विभिन्न पक्षों को व्यवहार में लाया जाने लगा है। आयुर्वेद के सूत्रों पर औषधियों के निर्माण ने गति पकड ली है। शारीरिक व्याधियों से लेकर मानसिक विकृतियों तक के निदान के लिए प्राकृतिक वरदानों का खुलकर उपयोग होने लगा है। जब आयुर्वेद के सूत्रों में स्वस्थ जीवन का रहस्य छुपा है तो फिर इतने लम्बे समय तक इसे हाशिये पर रखने का कारण भी गम्भीर होगा।
स्वास्थ की कीमत पर होता रहा क्यों होता रहा पाश्चात्य संस्कृति का अंधा अनुशरण। इसी तरह के अनेक प्रश्न धीरे-धीरे मुखरित होकर एक बडे पुंज के रूप में विकसित होकर उत्तरों की मांग करने लगे। दिमाग पर जोर डाला तो मध्य प्रदेश के आयुर्वेदिक विभाग में लम्बे समय तक योगदान देकर सेवा निवृत हुए जानमाने वैध पण्डित हरिश्चन्द्र चौबे का चेहरा उभने लगा।
पं. चौबे आयुर्वदिक औषधियों के ज्ञाता होने के साथ-साथ प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति के खासे जानकार हैं। विलम्ब किये बिना हमने उन्हें फोन लगाकर प्रत्यक्ष मुलाकात का समय निर्धारित कर लिया। निश्चित समय पर हम उनके आवास पर पहुंच गये। दरवाजे पर दस्तक देते ही उन्होंने स्वयं ही दरवाजा खोला और उत्साहवर्धक स्वागत किया। अभिवादनों का आदान-प्रदान होने के बाद वे हमें लेकर अपनी औषधि प्रयोगशाला में लेकर आये।
कमरे में रखे मूढे, चौकियां और चटाइयां देखकर अतीत ने अपना चलचित्र प्रारम्भ कर दिया। हम अपने गांव, गांव की चौपाल और नदी के किनारों में खोते, उसके पहले ही उन्होंने मूढे पर आसन ग्रहण करने के लिए कहकर मन के भटकाव पर पूर्णविराम लगा दिया। बिना भूमिका के हमने उनके सामने अपनी जुग्यासायें रखीं। हमेशा मुस्कुराते रहने वाले पं. चौबे के मुख-मण्डल पर गम्भीरता दिखाई देने लगी।
आयुर्वेद के अनेक सूत्रों का संस्कृत में उच्चारण करते हुए कहा कि गुलामी की जंजीरों में जकडे देश में सत्ताधारी सबसे पहले उनका स्वास्थ, फिर उनकी संस्कृति और अन्त में उनकी सम्पत्ति से उन्हें वे दखल कर स्वयं का कब्जा करते हैं। अपने अनुरूप ढालने के लिए चाटुकारों और लालचियों के माध्यम से अपनी अधकचरा व्यवस्था थोपते हैं। ऐसा ही हमारे साथ भी हुआ।
लम्बे समय तक पराधीनता का दंभ भोग रहे लोगों की अपनी सोच, अपनी व्यवस्था और अपनी सम्पन्नता दासता की दीमक ने चट कर ली। अंग्रेजी दवाइयों के हानिकारक प्रकोप, पाश्चात्य की भौडी नकल और कथित अभिजात वर्ग में होने का हवा में तैरते अभिमान ही हमारी थाथी बनकर रह गया। हम इतराने लगे। सत्ताधारियों के दरवारों में प्रवेश जी मिल गया था।
समाज में शासकों के डंडे के साथ हमारे मेल-मिलाप ने लोगों को दिखावटी सम्मान की स्थिति निर्मित कर दी। दर्शन और दार्शनिकता मे ज्यादा गहराई तक उतरते देखकर हमने उन्हें बीच में ही टोकते हुए कहा कि ‘आओ प्रकृति की ओर लौट चलें’ के पीछे के विश्व कारणों को रेखांकित करें ताकि जिग्यासा का मूल नष्ट होने से बच सके।
उनके हौठों ने मुस्कुराहट के लिए फैलने का उपक्रम किया। आज विश्व में शुगर, ब्लडप्रेशर, अपच, गैस जैसी अनेक बीमारियां आम हो गईं है। नेत्रों से लेकर दांतों तक, स्वांस से लेकर त्वचा तक और स्नायुसंस्थान से लेकर हृदय तक की अनजानी बीमारियों ने लोगों के शरीर में डेरा डाल लिया है। जबरन कब्जाधारियों को हटाने के लिए किसी बडे असामाजिक तत्व का सहारा लेने वाले बाद में उस बडे को हटाने के लिए बहुत बडे की शरण में जाते हैं।
बाद में उस बहुत बडे का कब्जा ही स्थाई हो जाता है, जिसे हटाना दूर की कौडी लाना होता है। वही दूर की कौडी लाने के लिए ही तो हम ‘आओ प्रकृति की ओर लौट चलें’ की युगों पहले स्थापित की गई की जीवन संजीवनी को फिर तलाशने लगे हैं, जब कि उसका मूल स्वरूप तो आक्रांताओं व्दारा पहले ही हथिया लिया गया था। हथियाये गये सूत्रों को पेटेंट, रजिस्टर्ड, कापीराइट जैसे एकाधिकार स्थापित करने वाले कानूनों की सीमा में पुनः कैद कर दिया गया है।
यह कानून भी कथित शक्तिशाली देशों ने समूचे विश्व पर जबरन थोपा है और उसे मानने के लिए बाध्य है। गम्भीर परिणाम भुगतने की धमकी देने वाले राष्ट्र अपने विशेषाधिकारों की पूरी तरह संरक्षित करके अन्य प्रतिभा सम्पन्न देशों को अपने षडयंत्र का शिकार बनाकर आज भी ‘फूट डालो, राज्य करो’ की नीतियों को मूर्त रूप देने में लगे हैं। जीवन के वास्तविक आनन्द के लिए आवश्यक है बेडियों से मुक्ति।
बातचीत चल ही रही थी कि उनके सहयोगी वैध ने कमरे में प्रवेश कर हमारे सामने चौकी रखी और उस पर कई तरह का मुरब्बा, आयुर्वेदिक काढा और अनेक तरह के अवलेह कटोरियों में सजा दीं। चल रही चर्चा को विराम देना पडा। संस्कृति और संस्कारों से जुडे स्वागत-भोज्य की खुशबू कमरे में फैलने लगी। इसी बीच उन्होंने हमें सभी पदार्थों के बारे में विस्तार से बताया। जिग्यासा से जुडा बबंडर काफी हद तक शांत हो चुका था, सो पुनः मिलने का आश्वासन देकर उनसे विदा ली। इस बार बस इतना ही। अगले हफ्ते एक नये मुद्दे के साथ फिर मुलाकात होगी। तब तक के लिए खुदा हाफिज।
Dr. Ravindra Arjariya
Accredited Journalist
for cont. -
ravindra.arjariya@gmail.com
ravindra.arjariya@yahoo.com
+91 9425146253

बिहार की राजनीति में तूफान, BJP-JDU के कई नेता और विधायक-सांसद, कांग्रेस में शामिल..

बिहार की राजनीति में तूफान, कांग्रेस में शामिल होंगे BJP-JDU के कई नेता और विधायक-सांसद

TOC NEWS

बिहार में इन दिनों एक बार फिर सियासी तूफान मच गया है. इस बार नेताओं के पाला बदलने को लेकर राजनीतिक बवाल मचा है. जानकारी के मुताबिक बिहार के कई नेता कांग्रेस पार्टी को ज्वाइन कर सकते हैं. हालांकि, महागठबंधन टूटने के बाद पहले यह अटकलबाजी लगायी जा रही थी कि कांग्रेस के 27 में 13 विधायक जदयू के संपर्क में हैं और वह कभी भी जदयू का दामन थाम सकते हैं. वहीं, अब दूसरी बात सामने आ रही है.

बताया जा रहा है कि कांग्रेस के स्थायी अध्यक्ष की दौड़ में कौकब कादरी का नाम सामने आ सकता है और इसे ध्यान में रखकर कार्यकारी अध्यक्ष अब सक्रिय हो गये हैं और केंद्रीय नेतृत्व के सामने अपनी क्षमता साबित करने में लगे हुए हैं. इसलिए, वह बिहार के कई नेताओं को अपने साथ जोड़ना चाहते हैं.
कांग्रेस के अंदरखाने से यह खबर मिल रही है कि पूर्व में कांग्रेस को छोड़कर एनडीए समेत दूसरे दलोें में जाने वाले कई पूर्व कांग्रेसी नेता पार्टी में दोबारा वापस आ सकते हैं. राजनीतिक हलकों में इस बात को लेकर चर्चा गर्म है कि यह बहुत जल्द हो सकता है. वहीं राजनीतिक सूत्र यह भी कह रहे हैं कि कई पार्टियों के दलित नेता, जिन्हें यह लग रहा है कि पार्टी में उनकी कोई पूछ नहीं है, वह भी यह फैसला ले सकते हैं. प्रदेश कांग्रेस की जनवरी से शुरू हो रही आमंत्रण यात्रा के दौरान पार्टी में वापसी का सिलसिला शुरू हो सकता है.
 
कांग्रेस में वापसी करने वालों में कई पूर्व विधायक और राजनीति में लम्बा अनुभव रखनेवाले नेता भी शामिल हैं. बताया जा रहा है कि कई ऐसे नेताओं की इच्छा वापस कांग्रेस में लौटने की है. इसके लिए उन्होंने वैसे नेताओं से संपर्क किया है जो उन्हें सम्मानपूर्वक पार्टी में वापस लाने में सक्षम हैं. ऐसे सभी नेता कांग्रेस के वर्तमान नेतृत्व के संपर्क में हैं. आधा दर्जन से ज्यादा पुराने नेता जो जहां गये थे, वहां अपने को सही महसूस नहीं कर रहे हैं और कांग्रेस में आने को इच्छुक हैं. इन सभी नेताओं द्वारा कांग्रेस से संपर्क साधा गया है. कांग्रेस के सूत्रों की मानें, तो ऐसे नेताओं से अभी कोई फाइनल बातचीत नहीं हुई है, लेकिन बिहार की राजनीति के कई बड़े नाम इसमें शामिल हो सकते हैं.
 
कांग्रेस द्वारा बिहार में शुरू की जा रही सियासी यात्रा से बिहार कांग्रेस के सभी नेता काफी खुश हैं, उन्हें लग रहा है कि वैसे में कई नेता उनके संपर्क में आ सकते हैं. एक नेता ने बताया कि पार्टी में वापस आने के लिए कई नेताओं से बातचीत हुई है। इनमें कई बड़े नाम भी शामिल हैं. प्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने मीडिया को यह जानकारी दी है कि प्रदेश कांग्रेस की आमंत्रण यात्रा जनवरी से शुरू होनेवाली है. इस यात्रा के दौरान पुराने नेताओं को पार्टी से जोड़ना है और उन्हें सम्मानित करना है. कांग्रेस छोड़ दूसरे दलों में गये कई नेता हमारे संपर्क में हैं. वह दोबारा कांग्रेस में शामिल होना चाहते हैं.

Thursday, December 28, 2017

सलमान खान की फिल्म 'तेरे नाम' की यह अभिनेत्री, अब कर रही है ये काम

b88f14a4489afac86608b3fa4658251d--romantic-scenes-bollywood-actress
TOC NEWS
2003 में आई फिल्म 'तेरे नाम' सलमान खान की सुपरहिट फिल्मों में से एक हैं l इस फिल्म में सलमान और अभिनेत्री भूमिका चावला मुख्य भूमिका में नजर आये थे l इस फिल्म का निर्देशन सतीश कौशिक ने किया था l इस फिल्म से भूमिका चावला ने हिंदी फिल्मों में डेब्यू किया था l दर्शको को इस फिल्म में सबसे ज्यादा 'राधे' यानी सलमान खान का किरदार पसंद आया था l आज हम इस आर्टिकल में भूमिका चावला के बारे में बात करने वाले हैं l
कुछ ऐसा रहा फ़िल्मी करियर :
भूमिका चावला एक भारतीय अभिनेत्री और मॉडल है l इन्होने साल 2000 में तेलुगु फिल्म 'युवाकुडु' से एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी l भूमिका ने कई भाषाओं की फिल्मों में काम किया हैं जिनमे तेलुगु, तमिल, हिंदी, मलयालम, कन्नड़, भोजपुरी और पंजाब जैसी भाषाएं शामिल हैं l कई फिल्मों में काम करने के बाद भी वो मशहूर नहीं हुई बाद में फिल्म 'तेरे नाम' में सलमान के अपोजिट काम करने के बाद वह काफी मशहूर हुई और वहां से उनका फ़िल्मी करियर काफी अच्छा चल रहा था और अचानक से हिंदी फिल्मों में से गायब सी हो गई थी l बता दे की कुछ फिल्मों में वह फिल्म अभिनेत्री के साथ साथ फिल्म प्रोडूसर भी रह चुकी हैं l
अपने योग गुरु से की शादी : 
बता दे कि अपने योग शिक्षक के साथ चार साल तक डेट करने के बाद भूमिका चावला ने 21 अक्टूबर, 2007 को एक गुरुद्वारा में अपने प्रेमी और योग शिक्षक भरत ठाकुर से शादी की थी।

अब कर रही है ये काम :
अब वो ज्यादातर तेलुगु और तमिल फिल्मों में ही काम कर रही हैं हिंदी फिल्मों में बहुत कम बार नजर आ रही है और वो शार्ट किरदार में l आज यह अभिनेत्री लाइम लाइट से दूर है और वो अपने परिवार के साथ समय बिता रही 

नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप कर बनाया वीडियो, पुलिस ने भी किया परेशान

नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप कर बनाया वीडियो, पुलिस ने भी किया परेशान
TOC NEWS
शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जिले के सिंधौली थाना क्षेत्र के एक गांव में मंगलवार को कोचिंग पढ़ कर वापस लौट रही नाबालिग छात्रा के साथ तीन युवकों ने बंधक बनाकर रेप किया और घटना का वीडियो भी बना लिया. पुलिस ने युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.
पुलिस अधीक्षक के.बी. सिंह ने बुधवार को बताया कि सिंधौली क्षेत्र के एक गांव की नाबालिग छात्रा मंगलवार शाम कोचिंग पढ़ कर वापस घर लौट रही थी, रास्ते में तीन युवकों ने उसे कथित तौर पर बंधक बनाकर उसके साथ रेप किया और मोबाइल में घटनाक्रम का वीडियो बना लिया.
उन्होंने बताया कि अमनदीप, रंजीत और गुरुजंट सिंह के खिलाफ गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है और पीड़ित छात्रा को चिकित्सा जांच के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है.
उधर, पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया कि घटना की प्राथमिकी दर्ज करने में पुलिस आना-कानी कर रही थी और थाने के बाहर दो घंटे तक बैठाए रखा. बाद में पुलिस के उच्चाधिकारियों के आदेश पर थाने की पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है.

कृषि विज्ञान केन्द्र, खण्डवा की सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न

 

खण्डवा // 27-दिसम्बर-2017

कृषि विज्ञान केन्द्र की सलाहकार समिति की रबी मौसम की बैठक मंगलवार को सम्पन्न हुई।

इस कार्यक्रम के विशेष अतिथि डॉ.आई.एस. तोमर, सह निदेशक अनुसंधान, आफंचलिक कृषि अनुसंधान केन्द्र, झाबुआ थे व कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. पी.पी.शास्त्री अधिष्ठाता बी. एम. कृषि महाविद्यालय ने की। कार्यक्रम में उप संचालक कृषि श्री आर.एस.गुप्ता, उप संचालक आत्मा श्री ए.एस.सोलंकी, उप संचालक पशुपालन डॉ. जितेन्द्र कुल्हारे, नाबार्ड के श्री एम.वी.पाटील, कृषि अभियांत्रिकी के श्री शुक्ला, सहायक संचालक कृषि श्री सी.एस.डावर, श्री एस.एस.निगवाल, बीज प्रमाणीकरण के श्री ओमेश्वर जाधवच व श्री राधेष्याम पटीदार, प्रगतिशील कृषक श्री राजकुमार पटेल, जामनी (खालवा), श्री भगवान पटेल (छैगॉंवदेवी) श्री अभय खण्डेलवाल एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों ने भाग लिया।

इस अवसर पर कार्यक्रम समन्वयक डॉ. डी. के. वाणी ने इस वर्ष खरीफ मौसम में की गई गतिविधियों का विवरण प्रस्तुत किया। इसके पश्चात कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों सर्वश्री वाय.के. शुक्ला ने मृदा विज्ञान, आशिष बोबड़े ने पौध संरक्षण, श्री सुभाष रावत ने कृषि विस्तार, एवं रश्मि शुक्ला ने कृषि में महिलाओं विषय पर अपनी कार्य योजना प्रस्तुत की।

अधिष्ठाता डॉ. शास्त्री ने मृदा स्वास्थ्य कार्ड के उपयोग को बढाकर उर्वरकों के सही उपयोग से उत्पादन को अधिकतम सीमा तक ले जाने हेतु प्रशिक्षणें की आवश्यकता बतलाई। कृषि विज्ञान केन्द्र में चलाई जा रही कड़कनाथ मुर्गी पालन को और बढाकर बड़ी हैचरी लगाने व आय बढाने हेतु कृषकों के लिए मुर्गी पालन एवं गौ पालन पर विशेष जोर दिया।

डा. शास्त्री ने कृषि से जुड़े अन्य व्यवसाय को कृषकों को अपनाने पर ज्यादा काम करने को कहा ताकि प्रसंस्करण से कृषकों को उसी उत्पाद का ज्यादा फायदा मिल सके। सह निदेषक अनुसंधान डॉ. आई. एस. तोमर ने फसल उत्पादन के साथ साथ उद्यानिकी व पशुपालन की अनिवार्यता बतलाई। डॉ. तोमर ने भूमि की उर्वरता बढाने व मौसम की अनुंकूलता को देखते हुए फसलें व किस्मों के चुनाव का सुझाव दिया।

छा. तोमर ने लाख पर किये जाने वाले कार्यो को ज्यादा क्षेत्र में फैलाने की आवश्यकता बतलाई। उप संचालक कृषि श्री गुप्ता ने कृषकों के प्रशिक्षणों व प्रदर्शनों में पूरा सहयोग का आश्वासन दिया।

उप संचालक पशुपालन श्री कुल्हारे ने कड़कनाथ पोल्टी के विस्तार हेतु प्रोत्साहत किया। उप संचालक आत्मा श्री सोलंकी ने लाख उत्पादन में कृषकों की भागीदारी सुनिश्चित हेतु वादा किया। कृषक श्री भगवान पटेल ने प्रदर्शनों की संख्या बढानें व नई तकनीकों को अपनाने हेतु सहयोग की अपेक्षा की।

महीनों से फरार थी ‘3700 करोड़ की धोखाधड़ी’ करने वाली कानपुर की आयुषी, पुणे से गिरफ्तार

कई महीनों से फरार थी '3700 करोड़ की धोखाधड़ी' करने वाली कानपुर की आयुषी, पुणे से गिरफ्तार

TOC NEWS

नोएडा में सोशल ट्रेडिंग के नाम पर 37 अरब की ऑनलाइन ठगी के आरोपी अनुभव मित्तल की पत्नी आयुषि को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सोशल ट्रेड कंपनी में बतौर डायरेक्टर कार्यरत आयुषि को पुणे से गिरफ्तार किया गया. फरवरी 2017 में एसटीएफ ने सोशल ट्रेडिंग के नाम पर 37 अरब की ठगी का खुलासा किया था.

इस मामले में यूपी एसटीएफ ने सबसे पहले इस ठग रैकेट के सरगना अनुभव मित्तल सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया था. कंपनी का बैंक अकाउंट भी सीज करा दिया गया था, जिसमें 500 करोड़ की धनराशि जमा थी. ये लोग नोएडा के सेक्टर 63 में अब्लेज़ इन्फ़ो सोल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक ऑनलाइन कंपनी चला रहे थे.
इस कंपनी ने socialtrade.biz नाम से एक वेबसाइट बनाई थी. इससे 7 लाख लोग जुड़े हुए थे. इनसे पोंजी स्कीम के तहत 3700 करोड़ से ज़्यादा इनवेस्ट कराई गई थी. इस पोर्टल से जुड़ने वाले को 5750 रुपये से 57 हजार 500 रुपये तक कंपनी के अकाउंट में जमा कराने होते थे. इसके बदले हर सदस्य को हर क्लिक पर 5 रुपये घर बैठे मिलते थे.
नाम- अनुभव मित्तल, उम्र- 30 साल, पढ़ाई- बीटेक. नाम- श्रीधर प्रसाद, उम्र- 50 साल, पढ़ाई- एमबीए. नाम- महेश दयाल, उम्र- 35 साल, पढ़ाई- ग्रैजुएट. ये वो तीन नाम हैं, जिन्होंने दिल्ली-एनसीआर समेत देश भर के करीब सात लाख लोगों को ऐसा ठगा कि अब सारे के सारे लोग अपना सिर धुन रहे हैं. ठगी की शुरुआत अनुभव की शातिर चालों से हुई.
हापुड़ के रहने वाले अनुभव ने साल 2010 में अपने हॉस्टल के कमरे से ही पहली फ़र्ज़ी कंपनी की शुरुआत की थी. लेकिन तब इस कंपनी की मार इतनी ज़्यादा नहीं थी. धीरे-धीरे इसने जाल-बट्टा फैलाया और कंपनी ने नोएडा के सेक्टर 63 में सोशल ट्रेड डॉट बिज़ के नाम काम शुरू किया. पकड़े जाने का डर था. लिहाजा, ये बार-बार कंपनी का नाम बदल दिया करता. 
सोशल ट्रेड डॉट बिज़ से कंपनी का नाम अचानक फ्रीहब डॉट कॉम हो गया. फिर फ्री हब डॉट कॉम से इन्टमार्ट डॉट कॉम और इन्टमार्ड डॉट कॉम से फ्रेंजअप डॉट कॉम और फ्रेंजअप डॉट कॉम से थ्री डब्ल्यू डॉट कॉम हो गई. फिर से इस कंपनी ने अपना नाम बदल कर अब्लेज इन्फो सॉल्यूशंस रख लिया था. ये कंपनी लोगों को इनवेस्ट करने का ऑफर देती थी.
इसके बदले में लिंक्स पर हर क्लिक पर पांच रुपये देने का वादा करती थी. इसी वादे की बदौलत उन्होंने आम लोगों को ऐसा चूना लगाया कि उन्हें पता नहीं चला कि कब उनके साथ ठगी हो गई. वो तो जब वादे के मुताबिक ज़्यादातर लोगों को कंप्यूटर पर होने वाले हर क्लिक के बदले में पैसे नहीं मिल रहे थे, तब उन्होंने थाने में जाकर इसकी शिकायत की थी.
यूपी एसटीएफ़ ने इस कंपनी पर अपना शिकंजा कसा, लेकिन इसके बाद जब इस ठग कंपनी के राज बेनकाब होने लगे, तो सुन कर खुद पुलिस भी हैरान हो गई. ये कंपनी लोगों को बैठे-ठाले अमीर बनने का झांसा देती थी. यही झांसा लोगों के लिए फांस बन गया. कंपनी का कहना था कि एक बार रुपये निवेश करने के बाद हर क्लिक पर 5 रुपये मिलने तय हैं.
एसटीएफ के तत्कालीन एसएसपी अमित पाठक ने बताया था कि इस बिज़नेस मॉडल की जांच की गई तो पाया गया कि कंपनी के द्वारा सदस्यों को धोखे में रख कर उनसे पैसे अकाउंट में जमा करा लेते थे. जब मेंबर अपने पेज को लॉगिन करते थे, अक्सर उन्हें जो यूआरएल मिलता था, वही गलत होता था. इस लोगों के साथ धोखा होता था.

धर्मनिरपेक्षता के विरुद्ध केन्द्रीय मंत्री हेगड़े का बयान कमजोर संविधान का प्रमाण!

केंद्रीय मंत्री हेगड़े के लिए इमेज परिणाम

TOC NEWS // लेखक: डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'

बेंगलुरु में केंद्रीय सरकार में कौशल विकास राज्यमंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने भारत के संविधान की धर्मनिरपेक्षता के मुद्दे बेहद घटिया और असंवैधानिक टिप्पणी की है। जिसे मीडिया गुलाम द्वारा मात्र विवादास्पद बयान बताकर मंत्री को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। राज्यमंत्री हेगड़े ने कहा कि ''धर्मनिरपेक्ष और प्रगतिशील होने का दावा वे लोग करते हैं, जिन्हें अपने मां-बाप के खून का पता नहीं होता। लोगों को अपनी पहचान सेक्युलर के बजाय धर्म और जाति के आधार पर बतानी चाहिए। हम संविधान में संशोधन कर सेक्युलर शब्द हटा सकते हैं।''
अपने मंत्री पद की शपथ और संविधान के उपबन्धों के विरुद्ध दिये गये, इस बयान के बावजूद आश्चर्यजनक रूप से हेगड़े अपने पद पर बने हुए हैं! मीडिया इसे केवल विवादास्पद बयान बता रहा है और संविधान की रक्षा की गारण्टी देने वाली न्यायपालिका स्वयं संज्ञान लेकर हेगड़े को मंत्री पद से बर्खास्त करने की जिम्मेदारी निभाने के बजाय मौन है! जबकि इससे भी कम गंभीर मामलों में न्यायपालिका स्वयं संज्ञान लेकर दिशानिर्देश जारी करती रही है।

संघ की साम्प्रदायिक नीतियों के क्रियान्वयन के लिये अग्रसर केन्द्र सरकार से यह उम्मीद नहीं की जा सकती कि संविधान का अपमान करने वाले लोगों को मंत्री पद से बर्खास्त किया जा सके? बल्कि मेरा तो स्पष्ट मत है कि हेगड़े के बयान के द्वारा संघ भारत के संविधान को तोड़ने और बदलने से पहले देश के लोगों और संवैधानिक संस्थानों के धैर्य की परीक्षा ले रहा है।

ऐसे असंवैधानिक और अपमानकारी बयानों के माध्यम से संघ द्वारा यह पता लगाने की कोशिश हो रही है कि यदि भाजपा द्वारा संविधान के साथ खिलवाड़ किया जाये तो देश के लोग क्या प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं? हेगड़े के इस बयान से एक बार फिर से यह बात सिद्ध हो गयी है कि भारत का संविधान इतना कमजोर है, कि वह खुद अपनी रक्षा करने में असमर्थ है। यदि संविधान निर्माताओं ने संविधान के उल्लंघन और अपमान को दण्डनीय अपराध घोषित किया होता तो आज संविधान का मजाक उड़ाने की हेगड़े जैसों की हिम्मत नहीं हो पाती?

इन हालतों में यदि संविधान के अनुसार संचालित लोकतांत्रिक गणतंत्रीय व्यवस्थाओं और संस्थानों को बचाना है तो भारत के संविधानविदों को इस बात पर गम्भीरता पूर्वक विमर्श करना होगा कि संविधान के उल्लंघन और अपमान को रोकने के लिये संविधान में कठोर दण्डात्मक प्रावधान किस प्रकार से लागू किये जावें? इन हालातों में, मैं इस तथ्य को दोहराने को विवश हूं कि देश के सभी समुदायों के प्रबुद्ध लोगों को इस बारे में गम्भीरतापूर्वक चिंतन, मंथन और विमर्श करने के सख्त जरूरत है। अन्यथा भारत भी उन देशों में शामिल हो सकता है, जहां पर जनता को दशकों से फासिस्ट लोगों के अधिनायकतंत्र से मुक्ति मिलना असंभव हो चुका है! आखिर हम कब तक यों ही चुपचाप सिसकते रहेंगे? देशवासियों को अपनी चुप्पी तोड़नी होगी, क्योंकि बालेंगे नहीं तो कोई सुनेगा कैसे?
'हमारा मकसद साफ! सभी से साथ इंसाफ!'
जय भारत! जय संविधान!
नर-नारी सब एक सामान!
डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'
राष्ट्रीय प्रमुख: हक रक्षक दल (HRD) सामाजिक संगठन
जयपुर, राजस्थान। 9875066111

बेनजीर की हत्या के लिए मुशर्रफ दोषी -बिलावल

बेनजीर की हत्या के लिए मुशर्रफ दोषी -बिलावल

TOC NEWS

इस्लामाबाद : पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (PPP) के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी ने सनसनीखेज आरोप लगाते हुए पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को अपनी मां बेनजीर भुट्टो का हत्यारा बताया है. बिलावल ने यह आरोप पाकिस्तान की मरहूम पीएम और अपनी माँ बेनजीर की 10वीं पुण्यतिथि के मौके पर लगाया.

उल्लेखनीय है कि गढ़ी खुदा बख्श में अपने पार्टी समर्थकों को संबोधित करते हुए बिलावल ने कहा कि मैं उसे हत्या के लिए जिम्मेदार समझता हूं जिसने सुरक्षा घेरे को हटवाया, न कि उसे जिसने मेरी मां को गोली मारी. बिलावल ने कहा 'मुशर्रफ हत्यारा' है. बिलावल ने यह भी कहा कि मुशर्रफ ने तत्कालीन परिस्थितियों का इस्तेमाल मेरी मां की हत्या के लिए किया. उन्होंने जानबूझकर मां की सुरक्षा कम की, ताकि उनकी हत्या की जा सके.
गौरतलब है कि 27 दिसंबर, 2007 को रावलपिंडी के लियाकत बाग में एक चुनावी रैली पर हुए हमले में बेनजीर भुट्टो सहित 21 लोग मारे गए थे. जबकि दूसरी ओर पाकिस्तान के तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ ने पहली बार मंजूर किया है कि पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या में व्यवस्था के कुछ अराजक तत्वों का हाथ हो सकता है. एक मीडिया रिपोर्ट में आज यह बात सामने आई है.बता दें कि पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति मुशर्रफ ने तालिबान के पूर्व नेता बेतुल्लाह महसूद पर हत्या की योजना बनाने का आरोप लगाया था.

ट्रिपल तलाक बिल संसद में हुआ पेश, 3 साल की सजा का प्रावधान, ओवैसी ने किया विरोध

ट्रिपल तलाक बिल संसद के लिए इमेज परिणाम
TOC NEWS
नई दिल्‍ली: कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद नेट्रिपल तलाक बिल को सदन में पेश कर दिया है. इस बिल में तीन साल की सजा का प्रावधान है. रविशंकर प्रसाद ने बिल को पेश करते हुए कहा कि यह बिल महिलाओं के अधिकारों और न्‍याय के लिए है और यह किसी प्रार्थना, धार्मिक आचार और धर्म से ताल्‍लुक नहीं रखता.
कानून मंत्री ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को पाप करार दिया था. इसका विरोध करते हुए AIMIM के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यह बिल मूल अधिकारों का उल्‍लंघन करता है और कानूनी कसौटी पर सही नहीं उतरता. ऐसा इसलिए क्‍योंकि पहले से ही घरेलू हिंसा से संबंधित कानून मौजूद है. हालांकि इस अवसर पर ओडि़शा के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक की पार्टी बीजद के सांसद भर्तहरि महताब ने कहा कि इस बिल के भीतर कई अंतर्विरोध हैं.
ट्रिपल तलाक बिल संसद में हुआ पेश, 3 साल की सजा का प्रावधान, ओवैसी ने किया विरोध
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिल को संसद में सर्वसम्मति के साथ पास करने की अपील की थी. वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी तीन तलाक को गैरकानूनी बताते हुए उस पर कानून बनाए जाने का समर्थन किया था. इस विधेयक के जरिए तत्काल तीन तलाक को अपराध की श्रेणी में लाया जाएगा. मुस्लिम महिला (अधिकार और विवाह का संरक्षण) विधेयक में विवाहित मुस्लिम महिलाओं को अधिकार की रक्षा और किसी भी व्यक्ति द्वारा अपनी पत्नी को शब्दों, इलेक्ट्रॉनिक माध्यम या अन्य किसी तरीके से तलाक देने पर पाबंदी लगाई गई है.
विधेयक में तत्काल तीन तलाक को दंडात्मक श्रेणी में रखा गया है और इसे संवैधानिक नैतिकता और लैगिंक समानता के विरुद्ध बताया गया है. विधेयक में ऐसा करने वालो के लिए सजा और जुर्माने का प्रावधान है. सजा को बढ़ाकर तीन साल तक किया जा सकता है. इससे पहले, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने सभी विपक्षी पार्टियों को विधेयक पारित करवाने में मदद करने का आग्रह किया था.
इस विधेयक को गृह मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाले अंतर मंत्रीस्तरीय समूह ने तैयार किया है जिसमें मौखिक, लिखित या एसएमएस या व्हाट्सएप के जरिए किसी भी रूप में तीन तलाक या तलाक ए बिद्दत को अवैध करार देने तथा पति को तीन साल के कारावास की सजा का प्रावधान किया गया है .इस विधेयक को इस महीने ही केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी थी. यह विधेयक पिछले सप्ताह पेश किया जाना था लेकिन संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने संवाददाताओं से कहा था कि इसे अगले सप्ताह पेश किया जाएगा.
ट्रिपल तलाक के खिलाफ मोदी सरकार की ओर से पेश होने वाले बिल के खिलाफ आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने 24 दिसंबर को इमरजेंसी बैठक बुलाई थी. AIMPLB की बैठक में ‘ट्रिपल तलाक बिल’ को मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने इस्लाम के खिलाफ बड़ी साजिश बताया. बैठक के बाद बोर्ड के सदस्य सज्जाद नोमानी ने कहा था कि, इस बिल को ड्रॉफ्ट करने में किसी प्रक्रिया का पालन नहीं हुआ,
न ही किसी स्टैकहोल्डर से सलाह ली गई. उन्होंने कहा था, बोर्ड के अध्यक्ष पीएम मोदी से बात करेंगे और बिल को वापस लेने की अपील करेंगे. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा, “ट्रिपल तलाक पर यह बिल मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है. सरकार को अभी यह बिल पास नहीं करना चाहिए. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से सलाह मांगी जाए. यह बिल इस्लाम धर्म के खिलाफ बड़ी साजिश है.”

संविदा कर्मचारी की प्रताडऩा से मौत, कैंडिल जलाकर श्रद्वांजली देगा महासंघ जबलपुर जिला पंचायत सीईओ हर्षिका तिवारी को बर्खास्त करने की मांग

TOC NEWS
संविदा कर्मचारी की प्रताडऩा से मौत, कैंडिल जलाकर श्रद्वांजली देगा महासंघ
जबलपुर जिला पंचायत सीईओ हर्षिका तिवारी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर सौंपा जाएगा ज्ञापन

भोपाल। मध्यप्रदेश संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के नेतृत्व में राज्य शिक्षा मिशन कार्यालय के सामने बुधवार दिनांक 27 दिसंबर को शाम 5: 30 (साढ़े पांच बजे) कैंडिल जलाकर संविदा कर्मचारी को श्रद्धांजली दी जाएगी। महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष ने बताया कि जबलपुर जिले की सिहोरा तहसील में स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत विकास खण्ड समन्वयक के पद पर कार्यरत जया रणनवरे की बिना उचित कारण के संविदा समाप्त करने के  कारण कौमा में गई रणनवरे की शनिवार को देहांत हो गया। जबलपुर जिला पंचायत सीईओ हर्षिका सिंह की प्रताडऩा के कारण जया रणनवरे की मौत से गुस्साए प्रदेश भर के संविदा कर्मचारी अधिकारी प्रत्येक जिले में जबलपुर जिला पंचायत सीईओ हर्षिका तिवारी को बर्खास्त करने की मांग करते हुए सभी जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन कर कैंडिल जलाकर जया रणनवरे को बुधवार 27 दिसंबर को शाम 5: 30 (साढ़े पांच बजे) श्रंद्वांजलि देंगें।

बर्खास्त करने की पुरजोर मांग
महासंघ प्रदेशाध्यक्ष रमेश राठौर ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन जबलपुर जिले की सीहोरा तहसील ब्लाक समन्वयक के पद पर कार्यरत जया रणनवरे बहुत ही अच्छी कर्मचारी थीं तथा अपने काम के प्रति समर्पित थी। उनके द्वारा शौचालय निर्माण से लेकर प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन के तहत् सीहोरा तहसील में सराहनीय तथा उल्लेखनीय कार्य किए गये थे। लेकिन अहंकारी तथा गुस्सेल जबलपुर जिला पंचायत सीईओ हर्षिका तिवारी ने अकारण बिना किसी नोटिस को दिये, बिना किसी विभागीय जांच के जया रणनवरे को कार्य में लापरहवारी बरतने का आरोप लगाकर सेवा समाप्त कर दी थी।

हाईकोर्ट का नहीं माना था स्थगन
महासंघ प्रदेशाध्यक्ष रमेश राठौर ने बताया कि जबलपुर उच्च न्यायालय ने जया रणनवरे को  हटाने के आदेश पर स्टे भी दे दिया था तथा दोबारा सेवा में लिये जाने का आदेश दिया था। उसके बावजूद जिला पंचायत सीईओ जबलपुर ने उनको ज्वाईन नहीं कराया था। जिससे जया रणनवरे तनाव में आ गईं थीं और कोमा में चली गई और शनिवार 23 दिसंबर को उनकी मृत्यु हो गई। श्री राठौर ने मांग की है कि जबलपुर जिला पंचायत सीईओ हर्षिका सिंह को बर्खास्त किया जाए। बताया कि इस सबंध में मुख्यमंत्री और मुख्यसचिव को ज्ञापन भी सौंपगें।

============= ये है मप्र पुलिस का हीरो: कुएं में कूदकर बच्ची की जान बचाई सलाम है ऐसे हीरो को


TOC NEWS
भोपाल। मप्र पुलिस पर असंवेदनशीलता के आरोप तो हजारों लगते रहते हैं। भोपाल गैंगरेप में यह प्रमाणित भी हुआ है। पुलिस अधिकारी अपनी शिकायत करने वालों के खिलाफ फर्जी मुकदमे दर्ज कर लेते हैं, अटेर में एसडीओपी ने कांग्रेस विधायक के खिलाफ फर्जी एफआईआर दर्ज कर ली लेकिन इस सबके बीच इसी मप्र पुलिस में कुछ हीरो भी हैं, बिल्कुल वैसे ही जैसी कि जनता को जरूरत है। आज की कहानी का हीरो है मप्र पुलिस का सिपाही शिवम सिंह जिसने अपनी जान की परवाह किए बिना कुएं में गिरी एक बच्ची को अपनी जान पर खेलकर बचाया। बिना वक्त गंवाएं वो खुद कुएं में कूद गया।
घटनाक्रम पुलिस लाइन का है। दोपहर करीब 3.30 बजे एक मां कुएं के नजदीक खड़ी सहायता के लिए पुकार रही थी। तभी वहां से सिपाही शिवमसिंह ठाकुर निकल रहे थे। जैसे ही उन्होंने इस बच्ची की मां की चीख-पुकार सुनी तो वह कुएं के पास पहुंच गए। उन्होंने पलभर की देरी किए बिना तत्काल कुएं में छलांग लगा दी। खुशकिस्मती से उन्हें यह बच्ची जल्द ही मिल गई। इसके बाद जवान शिवमसिंह और इस बच्ची को आसपास के लोगों की मदद से कुएं से बाहर निकाला गया।
सिपाही ठाकुर ने बताया कि मैंने अपनी ट्रेनिंग और सीनियर्स यही सीखा है कि संकट के समय हालात की परवाह किए बिना मदद की जाए। मैंने इसी नियम का पालन किया। इधर एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने सिपाही शिवमसिंह के साहस और सूझबूझ की प्रशंसा करते हुए उन्हें पुरस्कृत करने का निर्णय लिया है।

गैंगरेप के आरोपी दरोगा के फार्महाउस से मिला हथियारों का जखीरा, थाने से गायब कई गाड़ियां भी मिलीं

TOC NEWS
संभलः जनपद के हयातनगर थाने की पुलिस ने गैंगरेप के आरोपी दरोगा के फार्महाउस पर छापा मारा। छापे की कार्रवाई में हथियारों का जखीरा और थाने से गायब गाड़ियां मिलीं। दरोगा पर एक युवती को बंधक बनाकर गैंगरेप करने व हेड कॉन्स्टेबल की हत्या की साजिश रचने का आरोप है। बलात्कार समेत कई संगीन अपराधों की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करने के बाद दरोगा को जेल भेज दिया गया।

पुलिस ने दरोगा देवेंद्र यादव के फार्म हाउस पर छापा मारा। छापे की कार्रवाई से पहले गोपनीयता बरती गई। छापेमारी में पुलिस को हथियारों का जखीरा और थाने से गायब कई गाड़ियां मिलीं। और भी सामान बरामद किया है।
मई 2013 से अप्रैल 2016 तक हयातनगर थाने में तैनात रहे अलीगढ़ जिले के निवासी दरोगा देवेंद्र यादव को हयातनगर पुलिस ने छात्रा को बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म करने व हयातनगर थाने में हेड मोहर्रिर के पद पर तैनात नवरत्न सिंह की हत्या कराने की सुपारी देने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

दरोगा देवेंद्र यादव पर थाने के मालखाने से सरकारी पिस्टल 28, गाड़ियां व अन्य सामान का गबन करने के भी आरोप है।  3 दिन पहले दरोगा को गिरफ्तार कर जेल भेजा था।
बीती रात पुलिस अधिकारियों को सूचना मिली कि हयातनगर थाना इलाके के ही गांव शकरपुर में देवेंद्र यादव दरोगा का फार्म हाउस है जहां पर कुछ सामान थाने का वहां पर हो सकता है।
अपर पुलिस अधीक्षक पंकज कुमार पांडे के निर्देश पर हयातनगर थाना पुलिस ने थाना इलाके के ही गांव शकरपुर में दरोगा देवेंद्र यादव के फार्म हाउस पर छापेमारी की तो दरोगा के फार्म हाउस पर ईटों के ढेर के नीचे सात तमंचे, 19 कारतूस, एक सरकारी पिस्टल की मैगजीन, दो हथकड़ी के रस्से सहित थाने से गायब की गई चार गाड़ियां मिलीं। पुलिस ने हथियारों और मौके से बरामद गाड़ियों को कब्जे में ले लिया है।
एएसपी सुधासिंह का कहना है कि दरोगा के खिलाफ और भी कार्रवाई की जाएगी।

IAS जुलानिया की CAR ने बुजुर्ग को टक्कर मारी, गंभीर घायल, फिर भी नहीं रुके


TOC NEWS
विदिशा। मिर्जापुर-कमापार बायपास के छह रस्ता पर कपूरिया गार्डन के सामने सोमवार सुबह 9 बजे सागर की तरफ जा रहे जल संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया की कार ने एक साइकिल सवार 75 वर्षीय मूलचंद मालवीय को टक्कर मार दी। इस एक्सीडेंट में बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हो गया लेकिन जुलानिया मौके पर रुके नहीं, आगे बढ़ गए। उन्होंने विदिशा कलेक्टर को फोन पर एक्सीडेंट की सूचना दी। अब कलेक्टर अनिल सुचारी मामले को संभालने की कोशिश कर रहे हैं। घायल के सिर में खून का थक्का जम गया है, जिसके कारण उसे भोपाल रिफर किया गया है।

बताया गया है कि कार में एसीएस राधेश्याम जुलानिया खुद सवार थे लेकिन हादसे के बाद वो मौके पर नहीं रुके और ना ही घायल को अस्पताल पहुंचाया। टक्कर से मालवीय उछलकर कार के ऊपर जा गिरे, जिससे कार के आगे का हिस्सा नीचे धंस गया। जुलानिया ने विदिशा कलेक्टर अनिल सुचारी को मामले की जानकारी दी। इसके बाद वे अपने वाहन से दमोह रवाना हो गए। वे वित्तमंत्री जयंत मलैया की मां के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने जा रहे थे। इसके बाद एडीएम एचपी वर्मा और सीएसपी भारतभूषण शर्मा भी पहुंचे। तब तक घायल तड़पता रहा। यदि उसे तत्काल इलाज मिलता तो शायद उसके सिर में खून को थक्का ना जमता। यह कार क्रमांक एमपी 02, एडी- 0603 पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के नाम दर्ज है।

क्या कहा कलेक्टर ने
कलेक्टर ने बताया कि घटना के बाद तुरंत ही एंबुलेंस वाहन को अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया ने कॉल कर दिया था। उन्होंने घायल साइकिल सवार को जिला अस्पताल भिजवाया था। इसके बाद ही वे मुझे जानकारी देकर आगे के लिए रवाना हुए थे। सिविल लाइंस थाने में केस दर्ज हुआ है।
लौटने के बाद भी घायल से मिलने नहीं गए

आईएएस राधेश्याम जुलानिया खुद को एक ईमानदार और संवेदनशील अधिकारी बताते हैं परंतु इस मामले में उनकी असंवेदनशीलता सामने आई। दमोह से लौटने के बाद भी वो घायल से मिलने अस्पताल नहीं गए और ना ही उसके इलाज का उचित प्रबंध कराया गया। इस तरह की कोई खबर समाचार लिखे जाने तक प्राप्त नहीं हुई है।

रक्षक बना भक्षक अड़ीबाज पुलिस अधिकारी का एक और मामला सामने आया


 

TOC NEWS // 27/12/ 2017

भोपाल। शाहपुरा क्षेत्र में एक व्यापारी के घर में बेवजह आधी रात को घुसकर 50 हजार रूपए लूट ले जाने के आरोपी एएसआई बहादुर सिंह पटेल के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। सीएसपी हबीबगंज भूपेंद्र सिंह जांच कर रहे हैं, इसी बीच एक और मामला सामने आया है। एक महिला ने शिकायत की है कि इसी पुलिस अधिकारी ने उनके बेटे को मोबाइल चोरी के मामले में फंसाने की धमकी देकर 50 हजार रुपए की मांग की थी। 10 हजार रुपए दिए जा चुके हैं, 10 हजार की दूसरी किस्त 30 दिसम्बर को देनी थी। आरोप है कि एएसआई बहादुर सिंह खुद को क्राइम ब्रांच का एसआई बताकर लोगों के यहां बेवजह छापेमारी करता था। अभी और भी मामले सामने आ सकते हैं।

ऐशबाग निवासी गुलबानो पति सलीम मंगलवार दोपहर पुलिस कंट्रोल रूम पहुंची। महिला ने डीआईजी संतोष कुमार सिंह को एक लिखित शिकायत की। इसमें उसने आरोप लगाए कि बहादुर सिंह पटेल गत 19 दिसंबर की दोपहर 12 बजे घर आए थे। उन्होंने कहा कि वे क्राइम ब्रांच से आए हैं। मेरे 17 वर्षीय बेटे के बारे में पूछते हुए कहा कि उसने चोरी का मोबाइल फोन खरीदा है। उसे गिरफ्तार करने की धमकी देने लगे फिर मामला रफादफा करने के बदले 50 हजार रुपए की मांग की। हमने कहा कि इतने रुपए कहां से देंगे, तो बात 20 हजार रुपए में तय हुई। हमने शाम को जेवर बेचकर 10 हजार रुपए दे दिए, जबकि शेष 10 हजार रुपए 30 दिसंबर को देना तय हुआ था।

मैं तो घूस देने गया था, वही वीडियो में दिख रहा है
डीआईजी संतोष सिंह ने दूसरी शिकायत भी जांच के लिए दे दी है। सीएसपी हबीबगंज भूपेंद्र सिंह दोनों मामलों की जांच कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि जांच के दौरान आरोपी एएसआई पटेल ने कहा कि उसे मकान में संदिग्ध गतिविधियों की सूचना मिली थी। इसी की तफ्तीश के लिए वह शाहपुरा थाने की महिला आरक्षक को लेकर गया था। उसने घर की तलाशी ली और पूछताछ की, लेकिन रुपए नहीं लिए। एएसआई भूपेन्द्र सिंह ने यह भी कहा कि वो शिकायत के बाद डर गया था इसलिए व्यापारी को घूस देने गया था ताकि वो शिकायत वापस ले लें। वीडियो में वही घूस की रकम दिखाई दे रही है। जब सवाल किया गया कि हबीबगंज थाने में पदस्थ होते हुए तुम शाहपुरा इलाके में दबिश देने क्यों गए थे तो आरोपी एएसआई ने चुप्पी साध ली। 

वर्दी वाला गुंडा आधीरात को व्यापारी के घर घुसा ASI, 50 हजार रुपए लूट ले गया


TOC NEWS
भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी में 'वर्दी वाला गुंडा' सामन आया है। एएसआई बहादुर सिंह पटेल महिला सिपाही पूजा पांडे के साथ व्यापारी अमन खान के घर पहुंचा। खुद को क्राइमब्रांच का अफसर धर्मेंद्र मोर्य बताकर उनके घर में रविवार रात जबरन घुस गए। पूरे घर की तलाशी लेने के बाद अलमारी में रखे 50 हजार रुपए निकलवाकर ले गए। जब उनसे घर की तलाशी लेने की वजह पूछी तो उन्होंने बताया कि घर में अवैध हथियार रखे हुए हैं। पुलिस अधिकारी ने व्यापारी को झूठे मामले में फंसाने की धमकी भी दी। 

यहां भी पुलिस की लापरवाही दिखी
व्यापारी अमन ने आरोप लगाए कि वह दोनों आधे घंटे तक डराते-धमकाते रहे। उनके जाने के बाद मैंने परिचित वकील से जानकारी निकलवाई तो पता चला कि धर्मेंद्र क्राइम ब्रांच में नहीं है, बल्कि हबीबगंज थाने में हैं। हमने टीआई हबीबगंज से शिकायत की, लेकिन उन्होंने ध्यान तक नहीं दिया। सुबह डीआईजी संतोष कुमार से शिकायत करने पर उन्होंने क्राइम ब्रांच की एएसपी रश्मि मिश्रा से मिलने को कहा। अमन की शिकायत पर पुलिस ने जब धर्मेंद्र मौर्य से पूछताछ की तो उसने साफ मना कर दिया। अमन का धर्मेंद्र मौर्य से सामने कराया गया तो अमन ने उन्हें पहचानने से मना कर दिया। 

शिकायत होते ही पैसे लौटाने आ गया
अमन के मुताबिक शिकायत करने पर सोमवार शाम एएसआई रुपए लेकर घर आ गया। वह रुपए वापस करने का कहते हुए माफी मांगने लगा। पीड़ित व्यापारी ने उसका वीडियो बना लिया। कुर्सी पर रुपए गिनते हुए एएसआई पटेल कहता है- आजमाफ कर दो। आप रुपए ले लें। आप जो कहेंगे मैं करूंगा। जब भी फोन लगाएंगे, मैं आपके पास मौजूद हो जाऊंगा। आप बस अपनी शिकायत वापस लेे लें। 

व्यापारी ने बताया कि हमने एक लिखित शिकायत क्राइम ब्रांच एएसपी को दी है। इसके अलावा हबीबगंज सीएसपी भूपेंद्र सिंह को अपने बयान दर्ज करा दिए हैं। इससे पहले तक पुलिस इसे हल्के में ले रही थी परंतु वीडियो वायरल होने के बार डीआईजी संतोष सिंह ने एएसआई बहादुर सिंह पटेल को सस्पेंड कर दिया लेकिन अब तक उसके खिलाफ लूट का मामला दर्ज नहीं किया गया है

Tuesday, December 26, 2017

शिवराज के दावों की खुली पोल, 6 साल पहले बना पुल बीच से टूटा

VIDEO: एमपी में दो हिस्सों में बंटा ब्रिज, यातायात रोका गया

TOC NEWS
मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले को रतलाम से जोड़ने वाली मुख्य सड़क पर बना ब्रिज अचानक धंस गया. ब्रिज में अधिकांश जगह दरारें आ गई हैं. इस वजह से यातायात को पूरी तरह से रोक दिया गया है.

मध्य प्रदेश में मंगल की दोपहर एक बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में किसी के नुकसान होने की खबर नहीं है लेकिन सरकार और सरकारी विभाग के काम पर उंगली जरूर उठ गई है।

महज 6 साल पहले झाबुआ को रतलाम से जोड़ने वाला पुल दो टुकड़ों में टूट गया। इससे सड़क पर गाड़ियों का लंबा जाम लग गया।

गौरतलब है कि मालवा अंचल में रतलाम को झाबुआ से जोड़ने वाला पुल अचानक ढह गया। यह पुल रामनगर को पेटलावद से जोड़ता था और 6 साल पहले ही बनकर तैयार हुआ था।

गनीमत यह रही कि पुल के गिरने के वक्त उस पर किसी  तरह के वाहनों का आना-जाना नहीं हो रहा था अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। इस पुल के गिरने से झाबुआ-पेटलावद और रतलाम आने-जाने वाला मार्ग पूरी तरह से बंद हो गया है जिससे लोगों की परेशानियां काफी बढ़ गई हैं।

गर्दन का दर्द हो जाएगा छूमंतर अपनाएं ये तरीकें

गर्दन का दर्द हो जाएगा छूमंतर अपनाएं ये तरीकें

TOC NEWS
लाइफस्‍टाइल : आप घर और ऑफिस के कामों में काफी थक जाते होंगें। कई बार अनियतिम कामों की वजह से, गलत तरीके से सोने की वजह से, गलती से लगी चोट के कारण शरीर के कई भागों में दर्द होने लगता हैं। 

शरीर के इन्‍ही हिस्‍सों में गर्दन का दर्द भी शामिल हैं। गर्दन में दर्द होना एक आम समस्या है। जिसे लोग अक्सर इग्नोर कर देते है। कई बार आपके द्वारा की गई इग्‍नोरेंस की वजह से आपका ये दर्द काफी मुश्किलें खडा कर देता हैं। जिस वजह से आपको डॉक्‍टरी मशवरा लेना पडता हैं। आज हम आपको बतायेंगें उन नुस्‍खों के बारे में जो आपके गर्दन के दर्द को कद दें छूमंतर…

पार्टनर से हो गया है ब्रेकअप, तो उसे भुला पाने मे ये टिप्स आएगें बड़े काम
जैतून का तेल
जैतून का तेल कई बिमारियों में लाभकारी हैं। ये बहुत गुणकारी होता है। दर्द को नैचुरल तरीके से दूर करने के लिए यह लाभकारी है। इससे रोजाना दिन में 2 बार गर्दन की मसाज कर सकते हैं। इससे आपको जल्‍द राहत मिलेगी।

नमक
नमक में मैग्निशियम सल्फेट होता है। इसके जरीयें नैचुरल तरीके से दर्द को कम किया जा सकता है।
सामग्री-
5 बड़े चम्मच, जैतून का तेल- 10 बड़े चम्मच, कांच का जार
गर्दन के दर्द को दूर करने के लिए कांच के जार में जैतून का तेल और नमक डालकर मिक्स कर लें। इससे तेल का रंग हल्का हो जाएगा। इस तेल से 2-3 मिनट के लिए गर्दन की मसाज करें। मसाज करने से ब्लड सर्कुलेशन बढ़कर मांसपेशियों का तनाव दूर हो जाएगा। दिन में 2 बार इस तेल से मसाज करने पर फायदा जल्दी मिलेगा।

मसाज से आप अच्‍छी नींद सो सकते है, लेकिन मसाज हमेशा हल्के हाथों से ही करनी चाहिए। गर्दन की दर्द में मसाज करने से बहुत फायदा मिलता है।
इस शो पर प्रियंका ने पहनी ऑफ शोल्डर ड्रैस की बन बैठा हर कोई दीवाना

50-60 बच्चियों को एक साथ खिलाता था पावडर, फिर बारी-बारी से करता था बलात्कार

50-60 बच्चियों को एक साथ खिलाता था पावडर, फिर बारी-बारी से करता था बलात्कार


TOC NEWS

दिल्ली के उत्तरी इलाके रोहिणी में स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय पर पुलिस की कार्रवाई के बाद बाबा वीरेंद्र देव दिक्षित के कई राज सामने आया रहे है.
खुद को भगवान कृष्ण का अवतार बताकर 16 हजार लड़कियों के साथ शारीरिक सबंध बनाने की लालसा रखने वाला ये बाबा एक साथ 50-60 लड़कियों के साथ सबंध बनाता था.

मंगलवार को मध्य प्रदेश के इंदौर में वीरेंद्र देव के आश्रम में छापेमारी के दौरान छुड़ाई गई तीन लड़कियों में से एक ने मीडिया को बताया कि हॉल में 50-60 नाबालिग लड़कियों को खड़ा कर पुड़िया में पावडर दिया जाता था, फिर बिना पानी के ही उसे पीने (फाकने) को कहा जाता था.

पीड़िता बताती है कि पावडर फाकने के बाद उन्हें बेचैनी होती थी, दिमाग कुछ काम नहीं करता था. फिर बाबा और उसके गुर्गे बारी-बारी से बच्चियों से बलात्कार करता था.
वहीँ दूसरी और दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) का कहना है कि इस आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता कि दीक्षित मानव तस्करी का गिरोह चलाने में संलिप्त हो.

नयनतारा का डीपी लगाकर चोर की बनीं गर्लफ्रेंड

नयनतारा का डीपी लगाकर चोर की बनीं गर्लफ्रेंड, इस महिला पुलिसकर्मी ने किया कमाल

TOC NEWS
पटना। पटना से 150 किमी दूर स्थित दरभंगा जिला है जहां बीजेपी नेता संजय कुमाप महातो का महंगा मोबाइल फोन चोरी हो गया था। चोर था मोहम्मद हसनैन। इस मामले में शिकायत दर्ज की गई और केस को एक असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर मधुबाला देवी हैंडल कर रही थी। जांच में पता चला कि हसनैन अभी भी मोबाइल का यूज कर रहा है। लेकिन कई कोशिशों के बावजूद पुलिस उसे नहीं पकड़ पाई।

फिर क्या था मधुबाला ने एक प्लान तैयार किया। उसने खुद को उस तरह से पेश किया कि जैसे वह हसनैन के साथ लव अफेयर करना चाहती है। उसने धीरे-धीरे हसनैन को कॉल करना भी शुरू कर दिया। मधुबाला ने अपने मोबाइल फोन का प्रोफाइल फोटो साउथ इंडियन सुपरस्टार नयनतारा का डाल दिया।

मधुबाला के मुताबिक फोटोग्राफ देखने के बाद हसनैन खुशी से पागल हो गया और उससे दरभंगा शहर में एक जगह पर मिलने के लिए सहमत हो गया। आखिरकार जब वह उस जगह पहुंच गया तो सादे कपड़ों में वहां मौजूद पुलिस ने उसे दबोच लिया।

इस महिला पुलिसकर्मी ने बुर्का पहन रखा था और हसनैन उसे पहचानने में असफल रहा और इस तरह वह पकड़ा गया।
मोहम्मद हसनैन ने अपना अपराध कबूला लेकिन उसने यह भी बताया कि उसने यह मोबाइल एक दूसरे शख्स से 4,500 रुपए में खरीदा था और उसकी दी गई जानकरी से पुलिस ने दूसरे शख्स को भी पकड़ लिया।

बिहार के पुलिस विभाग ने मधुबाला देवी को इनाम देने की घोषणा की है।

dhamaal Posts

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

ANI NEWS INDIA

‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
मोबाइल : 098932 21036


क्र. पद का नाम योग्यता
1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

SUPER HIT POSTS

TIOC

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

''टाइम्स ऑफ क्राइम''


23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

Mobile No

98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

http://tocnewsindia.blogspot.com




यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

''टाइम्स ऑफ क्राइम''

23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





Followers

toc news