Monday, February 20, 2012

पत्रकारों की नेतागिरी की आड़ में दलाली का घिनौना षडय़ंत्र


पत्रकारों की नेतागिरी की आड़ में 
दलाली का घिनौना षडय़ंत्र

पत्रकार कोई रांड नहीं जो भाडू भाड़ खायेगें


भोपाल // विनय जी. डेविड -  09893221036
toc news internet channal



भोपाल . मध्यप्रदेश की पत्रकारिता आज बाजारवाद की गंदगी से सराबोर है। तीसरे दर्जे की राजनीति के षडयंत्रों से घिरी इस पत्रकारिता को दलालों के गिरोह ने फुटबॉल बनाकर रख दिया है। जो ईमानदार पत्रकार अपनी लेखनी की पूजा करते हैं और सामाजिक विद्रूपताओं को उजागर करते हैं वे दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। इसकी तुलना में वसूली का कारोबार करने वाले विज्ञापन के एजेंटों की पौ बारह है। यही कारण है कि अधिकतर पत्रकार या तो पीआरओ बनते जा रहे हैं या फिर विज्ञापन एजेंट। इसी तरह विज्ञापन एजेंटों ने पत्रकारों की कुर्सियां हथिया लीं हैं और अब तो वे भ्रष्ट अफसरों की कृपा से पत्रकारों के नेता तक बन गए हैं। पत्रकारों के नेताओं के इन हिजड़ा परस्त फार्मूलौं के कारण सरकार जनता के खजाने से पत्रकारों के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध करा रही है लेकिन पत्रकारों का शोषण करने वाले ये सत्ता के दलाल इन संसाधनों को पत्रकारों तक नहीं पहुंचने दे रहे हैं।  

पत्रकारों की ये रसद बीच में ही गड़प कर जाने वाले इन सत्ता के दलालों को मध्यप्रदेश सरकार के जनसंपर्क विभाग के कुछ अफसरों ने अपना एजेंट बना रखा है। पिछले डेढ़ दशक से पत्रकारों की नीतियों को भ्रष्टाचार की गटर गंगा में बहाने वाले इन दलालों को पत्रकारों के एक स्वयंभू नेता ने अपनी सत्ता चमकाने के लिए पनाह दी थी। आज उस गद्दार नेता का सबसे पुराना एजेंट राधावल्लभ शारदा जनसंपर्क विभाग के भ्रष्ट अफसरों का सबसे बड़ा एजेंट बन गया है। पिछले कुछ सालों में इस दलाल ने पत्रकारों को सरकार से मिलने वाली योजनाओं के सहारे ही अपना कारोबार फैलाया है। जनसंपर्क विभाग के अफसरों ने पत्रकारों के बीच पिछले पंद्रह सालों से ज्यादा समय से चल रहे विवादों की आड़ में इस दलाल को भरपूर विकास दिया।

जनसंपर्क विभाग के भुगतानों की आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो से जांच कराई जाए तो राधा वल्लभ शारदा की नपुंसक राजनीति की पोल आसानी से खोली जा सकती है। इसका कारण ये है कि विभाग के भ्रष्ट अफसरों ने इसे जनता के खजाने से टैक्सी की सुविधा उपलब्ध कराकर पूरे प्रदेश के दौरे करने का मौका दिया। इससे इस दलाल ने प्रदेश के पत्रकारों को अपने संगठन का सदस्य बना डाला। कई स्थानों पर तो पत्रकारों के नेताओं ने एकमुश्त रकम देकर सभी पत्रकारों को इसके संगठन का सदस्य बनाया। जो पत्रकार शारदा को खुलेआम गालियां देते हैं वे भी इसके संगठन के सदस्य कैसे बन गए ये उनकी  समझ में खुद नहीं आता।  पत्रकारों को गुमराह करने के लिए इस दलाल ने इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन की मध्यप्रदेश इकाई के नाम से मिलते जुलते नाम वाले संगठन के माध्यम से ये घोटाले किए। जनसंपर्क विभाग के एक रिटायर हो चुके एक अफसर ने सबसे पहले इसके संगठन की नींव डलवाई थी। जब पूर्व की कांग्रेसी सरकार ने आईएफडब्ल्यूजे के नाम का अनुवाद करके बनाए गए मप्र श्रमजीवी पत्रकार संगठन का सूर्य अस्त करने की पहल की तो इसी विवाद का लाभ लेकर शारदा ने अपना संगठन बना लिया। 

जनसंपर्क विभाग के उसी पूर्व अफसर ने इस संगठन को मान्यता भी दिला दी। उस अफसर ने अपनी टैक्सी सेवा के माध्यम से इस दलाल को पूरे प्रदेश के दौरे कराए और दौरों की तीन गुनी संख्या में फर्जी बिल तैयार करके कोषालय से रकम आहरित कर ली। ये बिल विभिन्न ट्रांसपोर्टरों के नाम से तैयार कराए गए थे। उस समय ई पेमेंट की कोई प्रथा ही नहीं थी इसलिए ये बिल पास हुए और आडिट पार्टी ने भी अपनी दस्तूरी लेकर उन्हें अपनी हरी झंडी दे दी।  बस यहीं से इस दलाल की राजनीति चमक गई। तभी से इसका पूरा परिवार जनसंपर्क विभाग में होने वाली लूट के टुकड़ों पर पल रहा है। बाद के अफसरों ने सहज कमाई की ये कहानी सुनी तो उन्होंने भी इस प्रथा को सहज की अपना लिया। सरकारी खजाने से बिल आहरित करने के लिए बनाए गए इस कमीशनखोर के संगठन ने जहां जनसंपर्क विभाग के चंद भ्रष्ट अफसरों के लिए कमाई के नए स्रोत विकसित किए वहीं इस भड़ुए ने पत्रकारों के शोषण के नए तरीके विकसित कर लिए। इसने पत्रकारों की आर्थिक सहायता के बजट पर अपने जहरीले दांत गड़ा दिए। अपने दौरों में ये दलाल पत्रकारों की संख्या के आधार पर सदस्यता राशि सबसे पहले वसूलता है।

 इसके बाद पत्रकारों को आर्थिक सहायता दिलवाने का प्रलोभन देता है। खासतौर पर कमजोर आर्थिक हालत वाले पत्रकारों को इसका शिकार बनाया जाता है। इसके संगठन के इलाकाई दलाल उन सदस्यों को शारदा के पास भिजवाते हैं। उनके आर्थिक सहायता के फर्जी प्रकरण तैयार कराए जाते हैं फिर उन्हें जनसंपर्क विभाग से पास करा लिया जाता है।   अपने इस कारोबार को विस्तार देने के लिए इस शातिर बदमाश ने भोपाल के जय प्रकाश चिकित्सालय में पूर्व सांसद प्रफुल्ल माहेश्वरी की सांसद निधि से एक वार्ड विकसित करवाया था। इस वार्ड के बहाने ये दलाल जेपी अस्पताल के डाक्टरों को अपने हित साधने में इस्तेमाल करता  रहता है। ये डाक्टर इस दलाल के कहने पर प्रदेश भर के उन पत्रकारों के चिकित्सा देयक तैयार करवा देते हैं। डाक्टरों को ये दलीलें देता है कि फलां साथी जरूरत मंद है कृपया उसकी मदद कर दें। डाक्टर इसे पत्रकारों का सेवक समझते हैं और वे फर्जी बिलों पर बगैर कोई विचार किए दस्तखत कर देते हैं। जनसंपर्क विभाग में लगे बिलों से इस तथ्य की पुष्टि की जा सकती है। 

पत्रकारों की आर्थिक सहायता के प्रकरणों की पैरवी करते करते ये दलाल अपने भी फर्जी चिकित्सा देयकों को पारित करवाने की जुगत भिड़ाता रहता है। कुछ दिनों पहले इसने इंदौर के एक अस्पताल के फर्जी चिकित्सा देयक लगाकर मोटी रकम का भुगतान करवाने की योजना बनाई थी. इस राशि का चैक भी तैयार हो चुका था। बस केवल भुगतान होना था। तभी किसी जानकार ने इस मामले की शिकायत कर दी। जनसंपर्क विभाग के अधिकारी ने उन बिलों की जांच करवाने के लिए इंदौर के उस  अस्पताल से संपर्क किया। वहां के चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इस नाम के किसी भी मरीज का इलाज उनके असपताल में नहीं हुआ है। उस बिल क्रमांक पर किसी दूसरे मरीज का नाम दर्ज था। 

इसलिए जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने बिल का भुगतान तो रोक दिया पर जालसाजी करने वाले शारदा को दया करके छोड़ दिया।  पत्रकार बनकर जनता के खजाने से जालसाजी करने वाला ये दलाल आज पत्रकार भवन समिति के अध्यक्ष विनोद तिवारी का संरक्षण लेकर अपना काला कारोबार चला रहा है। मप्र श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष शलभ भदौरिया को इसने जालसाजी के  एक प्रकरण में फंसाकर दबा रखा है। भदौरिया के खिलाफ भी ये प्रकरण आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो में दर्ज है। इस प्रकरण की आड़ में शारदा अपना काला कारोबार चला रहा है और उसे अच्छी तरह मालूम है कि भदौरिया जब तक इस प्रकरण में फंसा रहेगा तब तक वह उसकी भी शिकायत नहीं कर सकता है।  

पत्रकारों के नाम पर चलाई जा रही इस घटिया राजनीति को जनसंपर्क विभाग के अधिकारी आसानी से समाप्त कर सकते थे लेकिन कुछ भ्रष्ट अधिकारियों ने अपना उल्लू सीधा करने के लिए इस दलाल को भरपूर पनाह दी। अब यदि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अप्रैल में होने वाली पत्रकार पंचायत में इस दलाल के काले कारोबार पर सवाल उठेंगे इस दलाल का धंधा बंद हो सकता है। वास्तव में पत्रकारों का शोषण करने वाला ये दलाल पत्रकारिता छोडक़र सब करता है। जनसंपर्क विभाग की खबरों या चुराई गई खबरों में हेरफेर करके ये खुद को पत्रकार साबित करता रहता है। जबकि पत्रकारों और अन्य कर्मचारियों का शोषण करने के लिए ये खुद अपने बेटों के साथ षडयंत्र रचता रहता है। अपने सरकारी घर पर इसने पीडब्लयूडी विभाग से एक दफ्तर बनवा लिया है और इस दफ्तर से ये पत्रकारों के शोषण के नए नए षडयंत्र रचता रहता है। जनसंपर्क विभाग के अधिमान्य पत्रकारों को अपने संगठन के सदस्य बताकर इस दलाल ने कमीशनखोरी का बड़ा जाल बना लिया है।  जब मुख्यमंत्री जी ने पत्रकार पंचायत की घोषणा की तो जनसंपर्क विभाग के भ्रष्ट अधिकारियों और बाबुओं को भय सताने लगा कि कहीं उनकी पोल न खुल जाए। उन्होंने आनन फानन में इस दलाल के माध्यम से इसके नकली संगठन के कुछ पत्रकारों की बैठक बुलवाई। इन पत्रकारों की भोजन व्यवस्था भी इन्हीं भ्रष्ट अफसरों ने ही करवाई थी। इस बैठक में पत्रकारों की कथित कार्यसमिति के नाम से पत्रकार पंचायत का विरोध करने की रणनीति बनाई गई। इसके बाद शारदा ने कई अखबारों में ये खबरें छपवाईं। कुछ अखबारों को तो पूरे के पूरे पेज बनाकर भेजे गए जिनमें पत्रकार पंचायत का विरोध किया गया था। बाद में मुख्यमंत्री कार्यालय को इन अखबारों की कतरनें भिजवाई गईं. सरकारी बजट के इन दलालों ने मुख्यमंत्री को धमकाने के लिए तरह तरह के आरोप लगवाए। जिनमें कहा गया कि बड़े समाचार पत्रों और चैनलों के पत्रकार तो पंचायत में आएंगे नहीं। जबकि सच ये है कि इसी गिरोह ने कुछ तथाकथित बड़े पत्रकारों को भयभीत किया गया कि वे पत्रकार पंचायत का विरोध करें।  

यदि पंचायत होगी तो फिर बड़े पत्रकारों को दिए गए विज्ञापन और सत्कार के देयकों की पोल भी खुलेगी। इसके बाद पूरी दुनिया में पत्रकारों के भ्रष्टाचारों की कहानियां छपेंगी। बड़े कहे जाने वाले कुछ भ्रष्ट पत्रकारों ने जनसंपर्क विभाग से लाखों रुपयों के भुगतान प्राप्त किए हैं इसलिए वे भी धीरे धीरे शारदा के सुर में सुर मिलाने के लिए मजबूर हो गए हैं। जनसंपर्क विभाग और सरकार के कुछ नेता भी भेडियों के इसी सुर में सुर मिला रहे हैं क्योंकि उन्हें भय है कि यदि जनसंपर्क के बजट में भ्रष्टाचार की कहानियां खुलेंगी तो उनकी भी राजनीति चौपट हो जाएगी। इसलिए वे भी मंत्रियों के सहयोग से मुख्यमंत्री जी की ईमानदार पहल का विरोध करने में लग गए हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि मुख्यमंत्री जी अपनी ही सरकार के खिलाफ रची गई इस साजिश का  शिकार होने से खुद को जरूर बचा लेंगे।



लेखक विनय जी. डेविड पत्रकार हैं. भोपाल से प्रकाशित पोल खोल पर आधारित साप्ताहिक टाइम्स ऑफ क्राइम एवं टीओसी न्यूज www.tocnewsindia.blogspot.in के प्रधान संपादक हैं. एवं ऑल इंडिया स्माल न्यूज पेपर्स ऐशोसिएशन आइसना के मध्यप्रदेश के प्रांतीय महासचिव हैं


यह समाचार पत्रकारों के हितों पर आधारित है। उक्त समाचार को सभी बेवसाइड, ब्लॉगर एवं प्रकाशक पत्रकारहित में प्रकाशित करने के लिए स्वतंत्र है। खबर को प्रकाशित कर कृप्या हमें जानकारी अवश्य देने की कृपा करे। 

-------------------------------------------------------------------------------------------------



OR BHI HAI KHABRE...........




  • पत्रकारों की नेतागिरी की आड़ में दलाली का घिनौना ...
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • दो आरोपी गिरफ्तार, हत्या में प्रयुक्त सामान बरामद
  • मध्य प्रदेश में नवभारत के ब्यूरो चीफ चंद्रिका राय ...
  • यौन वर्जनाओं को तोड़ते संचार माध्यम
  • इंदौर में दोस्तों के साथ घूमने गईं दो लड़कियों से ...
  • मोबाइल चाहिए महिलाओं को टॉयलेट नहीं -जयराम
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • गंजा तस्कर को जेल भेजा
  • 100 करोड रुपए की धनराशि का प्रेम मंदिर
  • 'शाहजहां' बना पति, बनाया पत्नी के लिए मंदिर
  • ''पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई, असुरक्षित महसूस क...
  • दैनिक भास्‍कर ने पेश नहीं किए मालिकाना हक के दस्‍त...
  • चुनावी सभा में अश्लील डांस
  • रोजलिन खान के टापलेस विडियो ने मचाई धूम
  • पूनम पांडे का सेक्सी हॉट फोटोशूट VIDEO
  • सिपाहियों ने अपहरण कर मांगी फिरौती
  • video दमोह में लोकायुक्त पुलिस ने एक सबइंजीनियर को...
  • अखिल भारतीय बहुभाषीय ब्राहृण महासंघ महिला विंग की ...
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • टूटती मर्यादा गिरता चरित्र - डॉ. शशि तिवारी
  • सत्ता का दलाल कौन : पत्रकार पंचायत के बहाने रोटिया...
  • 7.5 करोड़ के लिए टॉपलेस हो जाएंगी दीपिका पादुकोण!
  • कई विवादास्पद बयानों के लिए झटके
  • जब विद्या को देख रुक गईं थी सांसें...
  • अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा फुल न्यूड फोटो का धमाल ट्व...
  • भ्रष्टाचार अन्वेषण ब्यूरो से भयभीत राजस्थान राज्य ...
  • फ़ॉन्ट कन्वर्टर अब नए साइट से डाउनलोड/प्रयोग करें
  • नहीं रहे उर्दू के मशहूर शायर और गीतकार शहरयार
  • Kareena Kapoor Hot Wallpaper
  • बीवी का मर्डर कर लाश से सेक्स किया
  • लव घाव भरता है, लस्ट फ्रस्ट्रेट करता है
  • कहीं प्यार न हो जाए........
  • मो‍हब्‍बत के नशे में कोबरे का जहर
  • विधानसभा पॉर्न क्लीप कांड पर फिल्म बनाएंगे रामगोपा...
  • सिग्नल पर नेता जी ‘बोखलाए’ सिपाही पर जमकर लात घूंस...
  • सोनाक्षी को वैलेंटाइन डे नहीं है पसंद!
  • आदमी ने ही दिया बच्चे को जन्म
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • गर्भवती महिला से बलात्कार, 2 आरोपी गिरफ्तार
  • कायरों, कामुकों और नपुंसकों के लिये नहीं है वेलेन्...
  • जिस्म-2 फिल्म के लिए सन्नी लियोन कोई कसर नहीं छोड़...
  • बदमाश है इमाम बुखारी
  • करोड़ों की लूट में जगतगुरु रामभद्राचार्य नामजद अभि...
  • जल संसाधन विभाग की सौ करोड़ की कृषि भूमि हुई अतिक्...
  • अश्वासन के शिवा कुछ नहीं मिला क्षेत्र को
  • बॉस प्रशिक्षण में सिखे गये हुनर
  • सूचना के अधिकार में अधिकारी लापरवाहा
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • सरकारी संपत्ति का दुरूपयोग वृक्षों की कटाई जारी
  • शा. पोलिटेक्निक कालेज में हो रही अनियमितताएं प्रबं...
  • धड़ल्ले से बिक रहा अवैध शराब आबकारी विभाग खामोश
  • बारह मासी सडक़ निर्माण में आर ई एस विभाग की भ्रष्ट...
  • एक खसरा पर बार-बार ऋण लेने की जांच हो
  • गौवंश के अवैध व्यापार कब कसेगा शिकंजा
  • कुटीर स्वीकृत कर सचिव ने लिये गरीबों से पांच हजार ...
  • शासन की बेरूखी से भाजपा कार्यकत्र्ताओं में मायूषी
  • गौशाला में व्यवस्थाओं की भारी कमियॉ
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • नाबालिंग लडक़ो एंव लड़कियों पर सर चढक़र बोल रहा ह...
  • नाबालिग बच्चे पर पुलिस का कहर टूटा
  • परिवारिक विवाद के चलते पति ने कि पत्नी की हत्या
  • ओव्हर ब्रिज के निर्माण में विलंब क्यों?
  • मुद्दा- ए- जवाबदेही
  • पत्रकार पंचायतः वे पत्रकार वास्तव में सत्ता के दला...
  • करोड़ों की लूट में जगतगुरु रामभद्राचार्य नामजद अभि...
  • sherlyn chopra hot nude twitter pictures
  • माता-पिता करवाते हैं-जीवन भर का बलात्कार
  • दाऊद के पास 12 हजार करोड़ की संपत्ति
  • सूराम सिंह भदोरिया हत्या काण्ड से पूरे गांव में दह...
  • डॉ विनोद लहरी दंपत्ति के पास 50 करोड़ की संपत्ति
  • वेलेन्टाइन डे: फैशन और सेक्स कारोबारियों की बेशर्म...
  • बैतूल जिले में प्रतिदिन लूट रही अस्मत
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • अभिनेत्री बनाने का लालच देकर एक माह तक किया बलात्क...
  • भोजपुरी अभिनेत्री रूबी सिंह ने की खुदकुशी
  • पोर्न वीडियो देख रहे थे मंत्री, कर नहीं रहे थे'
  • करोड़पति 'गांधी', जो टाइम पास के लिए मांगता है भीख...
  • धोखाधड़ी का आरोपी चैनल24 का मालिक गिरफ्तार, रिमांड...
  • क्या 2012 में ही फिर से यूपी में चुनाव होंगे?
  • दोनों बीवी राजी, क्या करेगा काजी?
  • एम के गॉंधी के-निष्ठुर, हृदयहीन तथा धोखेभरे निर्णय...
  • पुलिस इन्स्पेक्टर की कपडे उतारकर पिटाई
  • कौन डरता है पत्रकारों की पंचायतों से
  • सिर से पांव तक हैं बाल
  • देखिये एक इंसान केसे बन जाता है बन्दर ..विडियो
  • पोर्न वीडियो देख रहे तीन मंत्रियों ने दिया इस्तीफा...
  • Shradha Sharma Hot
  • मुख्यमंत्री सहित मंत्रियों व अफसरों के खिलाफ लोकाय...
  • बेपर्दा सन्त-महात्मा कितना सच!
  • टाइम्स ऑफ क्राइम 07 फरवरी से 13 फरवरी 2012
  • हत्यारे हैं ये डाक्टर
  • कटनी पुलिस संरक्षण में बिक रहा गांजा और शराब
  • जनसंपर्क विभाग डेली विजेस कर्मचारी के हवाले
  • बिना योग्यता के बनाया प्राचार्य
  • दिखावें के लिए होती है चालान की कार्यवाही
  • दो गुटों के बीच खूनी संघर्ष
  • जिला अस्पताल में हो रही धांधली
  • खुद के लिए ही नहीं बचा पा रहे बिजली दूसरो को बिजली...
  • वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की उड़ाई जा रही धज्जियॉ
  • देवतालाब में गाजें की बिक्री, पुलिस मौन
  • सरपंच व सचिव के कृत्यों से परेशान ग्रामवासी
  • अज्ञात चोरों ने किया जेवर साफ
  • अज्ञात चोरों ने वृद्धा की निर्मम हत्या
  • दिन दहाड़े भाजें ने किया सगी मामी का कत्ल
  • तीस हजार लाओ सट्टा खवाड़ बनो
  • लव लफड़ा और मेडिसीन....
  • सरपंच सया बाई की भ्रष्टाचारी
  • पत्नी पीहर जाने लगी तो पति व चार दोस्तों ने किया ग...
  • पकड़ी गई तमिल ऐक्ट्रस, एक मॉडल भी गिरफ्तार
  • पुलिस एवं न्यायालयों को नागरिक सहयोग क्यों नहीं कर...
  • डॉ. मीणा ने लायंस क्लब जयपुर मधुरम के सदस्यों को ज...
  • प्रेस की आजादी और पत्रकारों की हिफाजत करें
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • लोकायुक्त पी पी नावलेकर का चेहरा वाले पोस्टर के मा...
  • 11 वर्षीय पुत्री को पिता ने हवस का शिकार बना डाला
  • डॉ राधेश्याम शुक्ल एवम प्रदीप श्रीवास्तव को इंदूर ...
  • दिन में राम-राम, रात में चोरी का काम
  • स्टार करीना कपूर गर्भवती
  • करीना और सैफ 10 फरवरी को करेंगे सगाई
  • जिस्म 2 के लिए 'कुछ भी' कर सकती है पॉर्न स्टार सनी...
  • लक्ष्य को पूरा करने गर्भवती महिलाओं की कर दी नसबंद...
  • भाई की हत्या कर दुकान में चुन दिया
  • नीलाक्ष इन्फ्रास्ट्रेक्चर के संजय सिंह के खिलाफ धो...
  • पॉन्टी चड्ढा का 6000 करोड़ का शराब कारोबार
  • 1,000 से अधिक प्रेमी और सभी के साथ उनके शारीरिक सं...
  • चारा घोटाले में और 26 लोगों को कारावास
  • टाइम्स ऑफ क्राइम प्रतिनिधि
  • मेरी ब्लॉग सूची
  • पंच परमेश्वर योजना में सरपंच भूख से परेशान
  • यातायात के नियम, सडक़ सुरक्षा सप्ताह तक लाखों का ...
  • मांस के साथ में बीमारियां मुफ्त
  • नगर निगम के पार्षद कर रहे गली कूंचों की दलाली
  • रॉयल्टी चोरी के मददगार खनिज नाके
  • सीधी सिंगरौली में कुपोषण से मौत का सिलसिला जारी
  • गले की फंास क्यों बना परसमानिया पठार
  • राधा वल्लभ शारदा है सत्ता का दलाल - आदित्य नारायण ...
  • अवैध उत्खनन का स्वर्ग बना रीवा संभाग
  • यूरिया खाद विक्रय मे हो रही काला बाजारी
  • बैतूल बना खनिज विभाग का अवैध कारोबार
  • शलभ भदौरिया के जानी दुश्मन राधावल्लभ शारदा का द्वं...
  • भारत में न्यायिक सुधार की संभावनाएं और चुनौतियाँ
  • भोपाल पत्रकार भवन समिति के चुनाव को निरस्त करने क...
  • हम भ्रष्टों के भ्रष्ट हमारे, कितने अच्छे मुख्यमंत्...
  • जैन मुनि गिरफ्तार, कई लड़कियों से हैं संबंध
  • No comments:

    Post a Comment

    dhamaal Posts

    जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

    जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / रिपोर्टरों की आवश्यकता है

    ANI NEWS INDIA

    ‘‘ANI NEWS INDIA’’ सर्वश्रेष्ठ, निर्भीक, निष्पक्ष व खोजपूर्ण ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया ऑनलाइन नेटवर्क’’ हेतु को स्थानीय स्तर पर कर्मठ, ईमानदार एवं जुझारू कर्मचारियों की सम्पूर्ण मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिले एवं तहसीलों में जिला ब्यूरो प्रमुख / तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / पंचायत स्तर पर क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों / संवाददाताओं की आवश्यकता है।

    कार्य क्षेत्र :- जो अपने कार्य क्षेत्र में समाचार / विज्ञापन सम्बन्धी नेटवर्क का संचालन कर सके । आवेदक के आवासीय क्षेत्र के समीपस्थ स्थानीय नियुक्ति।
    आवेदन आमन्त्रित :- सम्पूर्ण विवरण बायोडाटा, योग्यता प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के स्मार्ट नवीनतम 2 फोटोग्राफ सहित अधिकतम अन्तिम तिथि 30 मई 2019 शाम 5 बजे तक स्वंय / डाक / कोरियर द्वारा आवेदन करें।
    नियुक्ति :- सामान्य कार्य परीक्षण, सीधे प्रवेश ( प्रथम आये प्रथम पाये )

    पारिश्रमिक :- पारिश्रमिक क्षेत्रिय स्तरीय योग्यतानुसार। ( पांच अंकों मे + )

    कार्य :- उम्मीदवार को समाचार तैयार करना आना चाहिए प्रतिदिन न्यूज़ कवरेज अनिवार्य / विज्ञापन (व्यापार) मे रूचि होना अनिवार्य है.
    आवश्यक सामग्री :- संसथान तय नियमों के अनुसार आवश्यक सामग्री देगा, परिचय पत्र, पीआरओ लेटर, व्यूज हेतु माइक एवं माइक आईडी दी जाएगी।
    प्रशिक्षण :- चयनित उम्मीदवार को एक दिवसीय प्रशिक्षण भोपाल स्थानीय कार्यालय मे दिया जायेगा, प्रशिक्षण के उपरांत ही तय कार्यक्षेत्र की जबाबदारी दी जावेगी।
    पता :- ‘‘ANI NEWS INDIA’’
    ‘‘न्यूज़ एण्ड व्यूज मिडिया नेटवर्क’’
    23/टी-7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, प्रेस काम्पलेक्स,
    नीयर दैनिक भास्कर प्रेस, जोन-1, एम. पी. नगर, भोपाल (म.प्र.)
    मोबाइल : 098932 21036


    क्र. पद का नाम योग्यता
    1. जिला ब्यूरो प्रमुख स्नातक
    2. तहसील ब्यूरो प्रमुख / ब्लाक / हायर सेकेंडरी (12 वीं )
    3. क्षेत्रीय रिपोर्टरों / प्रतिनिधियों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
    4. क्राइम रिपोर्टरों हायर सेकेंडरी (12 वीं )
    5. ग्रामीण संवाददाता हाई स्कूल (10 वीं )

    SUPER HIT POSTS

    TIOC

    ''टाइम्स ऑफ क्राइम''

    ''टाइम्स ऑफ क्राइम''


    23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1,

    प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011

    Mobile No

    98932 21036, 8989655519

    किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।

    http://tocnewsindia.blogspot.com




    यदि आपको किसी विभाग में हुए भ्रष्टाचार या फिर मीडिया जगत में खबरों को लेकर हुई सौदेबाजी की खबर है तो हमें जानकारी मेल करें. हम उसे वेबसाइट पर प्रमुखता से स्थान देंगे. किसी भी तरह की जानकारी देने वाले का नाम गोपनीय रखा जायेगा.
    हमारा mob no 09893221036, 8989655519 & हमारा मेल है E-mail: timesofcrime@gmail.com, toc_news@yahoo.co.in, toc_news@rediffmail.com

    ''टाइम्स ऑफ क्राइम''

    23/टी -7, गोयल निकेत अपार्टमेंट, जोन-1, प्रेस कॉम्पलेक्स, एम.पी. नगर, भोपाल (म.प्र.) 462011
    फोन नं. - 98932 21036, 8989655519

    किसी भी प्रकार की सूचना, जानकारी अपराधिक घटना एवं विज्ञापन, समाचार, एजेंसी और समाचार-पत्र प्राप्ति के लिए हमारे क्षेत्रिय संवाददाताओं से सम्पर्क करें।





    Followers

    toc news